• लॉगिन / रजिस्टर

रेनो ट्राइबर के लिए करें इंतज़ार या चुनें मारुति स्विफ्ट, हुंडई ग्रैंड आई10, फोर्ड फिगो या फ्रीस्टाइल में से कोई बेहतर विकल्प

प्रकाशित पर Jun 25, 2019 01:57 PM द्वारा Nikhil for रेनो ट्राइबर

  • 498 व्यूज़
  • Write a कमेंट

रेनो जल्द ही अपनी ट्राइबर एमपीवी भारतीय बाजार में उतारेगी। इसे जुलाई महीने में लॉन्च किया जाएगा। ट्राइबर का सीधे तौर पर किसी कार से मुकाबला नहीं है। लेकिन, इसे मिड-साइज हैचबैक वाली प्राइस रेंज में उतारा जाएगा। ऐसे में 7-सीटर ट्राइबर मारुति स्विफ्ट, हुंडई ग्रैंड आई10, फोर्ड फिगो और फ्रीस्टाइल जैसी 5-सीटर कारों के मुकाबले एक बेहतर विकल्प साबित हो सकती है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या रेनो ट्राइबर की लॉन्च तक इंतज़ार करना सही होगा या चुनें ऊपर बताए गई कारों में से कोई बेहतर विकल्प? आइये जानें 

मॉडल

एक्स-शोरूम दिल्ली प्राइस (केवल पेट्रोल वेरिएंट)

रेनो ट्राइबर

5 लाख रुपये से 7 लाख रुपये (अनुमानित)

मारुति स्विफ्ट

5.14 लाख रुपये से 7.94 लाख रुपये

हुंडई ग्रैंड आईi10

4.79 लाख रुपये से 7.09 लाख रुपये

फोर्ड फिगो 

5.23 लाख रुपये से 7.70 लाख रुपये

फोर्ड फ्रीस्टाइल

5.64 लाख रुपये से 7.45 लाख रुपये

Maruti Suzuki Swift Receives BS6 Petrol Engine, New Safety Features

1. मारुति स्विफ्ट: स्विफ्ट ना केवल अपने सेगमेंट बल्कि पूरे पैसेंजर कार बाजार में सबसे पॉपुलर कार है। इसकी स्पोर्टी डिज़ाइन, कार की डायनामिक ड्राइविंग क्षमता को बेहतर बनाती है। इसमें 1.2-लीटर पेट्रोल और 1.3-लीटर डीजल इंजन मिलता है। परफॉरमेंस के लिहाज़ से दोनों इंजन बेहद शानदार है। साथ ही, कार का माइलेज भी बहुत अच्छा है। स्विफ्ट में ऑटो एलईडी प्रोजेक्टर हैडलैंप, ऑटो क्लाइमेट कंट्रोल, लैदर-रैपड़ स्टीयरिंग व्हील और रिवर्स पार्किंग कैमरा समेत कई फीचर्स मिलते हैं। मारुति स्विफ्ट अपनी लॉन्च से अब तक काफी डिमांड में रही है, जिसके चलते कार की रिसेल वैल्यू भी अच्छी मिलती है। साथ ही यह अपने सेगमेंट में अकेली कार है, जिसमे बीएस6 नॉर्म्स पर अपग्रेडेड इंजन मिल रहा है। 

  • निष्कर्ष: बेहतरीन स्टाइलिंग, स्पोर्टी ड्राइव, फीचर्स और अच्छी रिसेल वैल्यू के लिए इसे खरीद सकते हैं। 

Hyundai Offering Benefits Of Up To Rs 2 Lakh

2. हुंडई ग्रैंड आई10: ग्रैंड आई10 सेगमेंट में अपनी बेहतरीन मटेरियल क्वालिटी के लिए जानी जाती है। इसके इंटीरियर में दिए गए प्लास्टिक की क्वालिटी मुकाबले में मौजूद अन्य कारों से बेहतर है। इसकी पिछली सीटें भी काफी आरामदायक है। यह सेगमेंट की इकलौती कार है, जिसमें रियर एसी वेंट मिलते हैं। इसके अलावा, ग्रांड आई10 में एलईडी डे-टाइम रनिंग लैंप, डायमंड कट-अलॉय व्हील, 7-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम (एप्पल कारप्ले, एंड्रॉयड ऑटो और मिरर लिंक कनेक्टिविटी के साथ) जैसे कई प्रीमियम फीचर्स भी मिलते हैं। जहां सेगमेंट लीडर स्विफ्ट में एएमटी गियरबॉक्स का विकल्प मिलता है, वहीं आई10 में 4-स्पीड टॉर्क कन्वर्टर ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन का ऑप्शन उपलब्ध है। कीमत के लिहाज़ से भी ग्रैंड आई10 का टॉप वेरिएंट स्विफ्ट, फोर्ड फिगो और फ्रीस्टाइल से सस्ता है।      

  • निष्कर्ष: यदि आप कम बजट में प्रीमियम और कम्फर्टेबल कार की तलाश में है, तो ग्रैंड आई10 एक अच्छा विकल्प है।  

Ford Figo

3. फोर्ड फिगो और फ्रीस्टाइल: फिगो और फ्रीस्टाइल दोनों कारों में पेट्रोल यूनिट के तौर पर 1.2-लीटर का 3-सिलेंडर ड्रैगन सीरीज का इंजन मिलता है, जो 96 पीएस की पावर और 120 एनएम का टॉर्क जनरेट करता है। यह इंजन मिड-साइज हैचबैक सेगमेंट में सबसे पॉवरफुल इंजन है। 1.2-लीटर इंजन के अलावा फिगो में 1.5-लीटर पेट्रोल इंजन का विकल्प भी मिलता हैं। 6-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के साथ आने वाला यह इंजन 123 पीएस की पावर और 150 एनएम का टॉर्क देता है। 

दोनों कारों में सेगमेंट की अन्य कारों से ज्यादा फीचर्स मिलते हैं। इनमें ऑटोमैटिक हैडलैंप, रेन सेंसिंग वाइपर, अलॉय व्हील, फ्लोटिंग टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, 6-एयरबैग, इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी प्रोग्राम (ईएसपी), ट्रैक्शन कंट्रोल सिस्टम (टीसीएस) और हिल लॉन्च असिस्ट आदि शामिल हैं।   

Ford Freestyle

  • निष्कर्ष: फिगो और फ्रीस्टाइल दोनों में सेगमेंट का सबसे पावरफुल इंजन और कई सेगमेंट फर्स्ट फीचर्स मिलते हैं, जिनके चलते यह एक अच्छा पैकेज साबित होती है।  

Renault Triber: 5 Things You Should Know

4. रेनो ट्राइबर: रेनो ट्राइबर की खासियत इसका मॉड्‍यूलर सीटिंग लेआउट है। यह एक 7-सीटर कार है, जिसकी थर्ड रो में 50:50 अनुपात में बँटी दो सीटें दी गई है, जिन्हें आवश्यकता नहीं होने पर फोल्ड या कार में से निकाला भी जा सकता है। वहीं, इसकी मिडिल रो में 60:40 अनुपात में फोल्ड होने वाली सीटें दी गई है। इसके चलते ट्राइबर को अपनी जरूरत के अनुसार 2 सीटिंग लेआउट से लेकर 7-सीटर कार में बदला जा सकता है। ट्राइबर की थर्ड रो की सीटों को निकाल देने पर इसमें 625 लीटर तक का बूट स्पेस मिलता है।

बात की जाए फीचर्स की तो, इसमें एप्पल कारप्ले और एंड्रॉइड ऑटो कनेक्टिविटी से लैस 8-इंच का इंफोटेंमेंट सिस्टम, डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, पुश इंजन स्टार्ट/स्टॉप बटन, रियर एसी वेंट्स, मल्टीप्ल ग्लव बॉक्स, सेंटर कूल्ड बॉक्स जैसे फीचर्स दिए गए हैं। सेफ्टी के लिहाज़ से ट्राइबर फिगो और फ्रीस्टाइल से पीछे, मगर स्विफ्ट और आई10 से आगे है। इसमें 4-एयरबैग, एबीएस, ईबीडी, रियर पार्किंग सेंसर, रिवर्स कैमरा, सीट बेल्ट रिमाइंडर और हाई स्पीड अलर्ट सिस्टम जैसे फीचर्स मिलेंगे।

रेनो ट्राइबर में 1.0-लीटर, 3-सिलेंडर पेट्रोल इंजन दिया गया है। यह इंजन 72पीएस की पावर और 96एनएम का टॉर्क जनरेट करने में सक्षम है। सेगमेंट की अन्य कारों की तरह ट्राइबर भी 5-स्पीड मैनुअल और ऑटोमैटिक (एएमटी) दोनों गियरबॉक्स विकल्पों में आएगी। इन गियरबॉक्स विकल्पों के साथ यह क्रमशः 20 किमी/लीटर और 20.5 किमी/लीटर का माइलेज देगी।

  • निष्कर्ष: यदि आप मिड-साइज हैचबैक के बजट में एक 7-सीटर कार चाहते हैं, जिसमे सेगमेंट की अन्य कारों से ज्यादा स्पेस और यूनिक फीचर्स दिए गए हैं तो हमारे अनुसार आपको रेनो ट्राइबर की लॉन्च तक इंतज़ार करना चाहिए। 

साथ ही पढ़ें- रेनो ट्राइबर Vs मारुति अर्टिगा Vs डैटसन गो प्लस : जानिए कौनसी कार देगी ज्यादा माइलेज

द्वारा प्रकाशित

रेनो ट्राइबर पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
  • Ford Freestyle
  • Ford Figo
  • Hyundai Grand i10
  • Maruti Swift
  • Renault Triber
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का
×
आपका शहर कौन सा है?
New
CarDekho Web App
CarDekho Web App

0 MB Storage, 2x faster experience