इन विदेशी ब्रांड्स ने खासतौर पर इंडियन मार्केट के लिए तैयार की हैं ये टॉप 10 कारें, डालिए इनपर नजर

संशोधित: जनवरी 27, 2022 11:25 am | सोनू | स्कोडा कुशाक

  • 784 व्यूज़
  • Write a कमेंट

भारत ने हाल ही में 73वां गणतंत्र दिवस मनाया है। पिछले सात दशकों में भारत ने सबसे पावरफुल और डेवलपिंग देशों में अपनी पहचान बनाई है। भारत का ऑटो सेक्टर भी दुनिया के सबसे बड़े उभरते मैन्युफैक्चरिंग हब में से एक है। भारत के कार मार्केट में बढ़ती डिमांड को देखते हुए कई विदेशी कंपनियों ने यहां खासतौर पर भारतीयों के लिए बनी कारें उतारी हैं। स्कोडा, किया और रेनो जैसी कुछ विदेशी कंपनियां हैं जो ग्लोबल मार्केट के अलावा भारतीय ग्राहकों की जरूरतों के हिसाब से भी कारें तैयार कर रही हैं।

यहां हमने विदेशी कंपनियों की उन टॉप 10 कारों का जिक्र किया है जो खासतौर पर भारतीय मार्केट के बनी हैं और जिनका वर्ल्ड डेब्यू देश में ही हुआ हैः

स्कोडा कुशाक

स्कोडा के इंडिया 2.0 प्रोजेक्ट प्लान का फोकस भारत के लिए कारें बनाना है और इसकी शुरूआत कुशाक एसयूवी के साथ हुई। भारत में कॉम्पैक्ट एसयूवी कारों की बढ़ती डिमांड को देखते हुए स्कोडा ने कुशाक को उतारने का फैसला किया। संस्कृत में इसका नाम किंग है। इसका कंपेरिजन क्रेटा और सेल्टोस से है जिनकी प्राइस रेंज 10 लाख से 20 लाख रुपये (एक्स-शोरूम दिल्ली) के बीच है। कुशाक को स्कोडा के एमक्यूबी ए0 इन प्लेटफार्म पर तैयार किया गया है और यह काफी हद तक देश में ही बनी है। इसमें 115पीएस 1.0 लीटर और 150पीएस 1.5 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन की चॉइस मिलती है। दोनों इंजन के साथ इसमें 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स स्टैंडर्ड दिया गया है, वहीं 1.0 लीटर इंजन के साथ 6-स्पीड ऑटोमेटिक और 1.5 लीटर इंजन के साथ 7-स्पीड डीएसजी गियरबॉक्स की चॉइस भी मिलती है।

स्कोडा स्लाविया

कुशाक के बाद स्कोडा ने इंडिया 2.0 प्रोजेक्ट के तहत यहां स्लाविया सेडान का वर्ल्ड डेब्यू किया। यह मेड-इन-इंडिया और मेड-फोर-इंडिया कार है जो स्कोडा रैपिड से रिप्लेस होगी। स्कोडा की यह अपकमिंग कार 95 फीसदी तक देश में ही तैयार हुई है। इसे कुशाक वाले प्लेटफार्म पर तैयार किया गया है और इसमें इंजन व ट्रांसमिशन ऑप्शन भी इसी कार वाले मिलेंगे।

फोक्सवैगन वर्टस

फोक्सवैगन की यह कार मेड-इन-इंडिया और मेड-फोर-इंडिया है। वर्टस को स्लाविया वाले एमक्यूबी ए0 इन प्लेटफार्म पर तैयार किया गया है। इसे कंपनी वेंटो सेडान से रिप्लेस करेगी। इसमें स्लाविया वाले 115पीएस 1.0 लीटर और 150पीएस 1.5 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन की चॉइस मिल सकती है।

रेनो ट्राइबर

रेनो ट्राइबर ने 2019 में भारत से अपना ग्लोबल डेब्यू किया था। यह एक सब-4 मीटर एमपीवी कार है जिसे रेनो के पोर्टफोलियो में काइगर और क्विड के बीच पोजिशन किया गया है। इसे काफी अग्रेसिव प्राइस पर उतारा गया और इसमें सात लोग तक बैठ सकते हैं। 2021 में इसे पैसेंजर सेफ्टी के लिए 4-स्टार रेटिंग मिली थी और यह भारत की सबसे सुरक्षित एमपीवी कार में से एक है। टाइगर में 72पीएस 1.0 लीटर पेट्रोल इंजन दिया गया है।

रेनो काइगर

ट्राइबर की लोकप्रियता को देखते हुए कंपनी ने फिर यहां काइगर को उतारा। यह भी ट्राइबर वाले सीएमएफ ए प्लस प्लेटफार्म पर बनी है। काइगर सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी कारों में सबसे अफोर्डेबल ऑप्शन में से एक है। इसकी प्राइस रेंज 5 लाख से 10 लाख रुपये (एक्स-शोरूम दिल्ली) के बीच है। इसमें 72पीएस 1.0 लीटर पेट्रोल और 100पीएस 1.0 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन की चॉइस मिलती है। इंजन के साथ इसमें 5-स्पीड मैनुअल, 5-स्पीड एएमटी (पेट्रोल) और सीवीटी ट्रांसमिशन (टर्बो पेट्रोल) की चॉइस मिलती है।

रेनो क्विड

क्विड रेनो की पहली मेड-फोर-इंडिया कार थी और इसी ने भारत में रेनो की सेल्स बढ़ाई थी। रेनो क्विड को एंट्री लेवल सेगमेंट में उतारा गया है और इसका कंपेरिजन मारुति ऑल्टो से है। यह काफी स्टाइलिश और एसयूवी कार जैसा बॉडी स्टांस लिए है। इसे 2015 में लॉन्च किया गया था और यह उस दौरान काफी फीचर लोडेड कार थी। उस समय इसमें 7.0 इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है जो शायद ही इस सेगमेंट की कारों में पहले कभी दिया गया था। यह कार ग्लोबल मार्केट में भी काफी पॉपुलर है और विदेशों में इसका इलेक्ट्रिक वर्जन (के-जेडई) भी उपलब्ध है। इस हैचबैक कार की प्राइस रेंज 4 लाख से 6 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) के बीच है।

निसान मैग्नाइट

Renault Kiger Vs Nissan Magnite

निसान मैग्नाइट ने 2020 के आखिर में सबसे अफोर्डेबल सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी कार के रूप में डेब्यू किया। इस एसयूवी कार को खासतौर पर भारत के हिसाब से डिजाइन और तैयार किया गया है। इसकी इंट्रोडक्ट्री प्राइस भी 5 लाख रुपये से कम रखी गई। 2021 में ज्यादा डिमांड के चलते इसका वेटिंग पीरियड छह महीने से ज्यादा हो गया था। यह रेनो काइगर वाले प्लेटफार्म पर बनी है और इसमें इंजन भी काइगर वाले ही दिए गए हें। इसे क्रैश टेस्ट में 4-स्टार सेफ्टी रेटिंग मिली हुई है।

किया सोनेट

सेल्टोस को मिली सफलता के बाद कंपनी ने यहां मेड-फोर-इंडिया सोनेट सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी को उतारा। ब्रेजा और वेन्यू के टक्कर वाली इस कार में तीन इंजन ऑप्शन, छह ट्रांसमिशन ऑप्शन और कई सेगमेंट फर्स्ट फीचर दिए गए हैं। यह 1.2 लीटर पेट्रोल, 1.0 लीटर टर्बो पेट्रोल और 1.5 लीटर डीजल इंजन ऑप्शन में मिलती है। इसमें आईएमटी गियरबॉक्स भी दिया गया है जो अभी कुछ ही कारों में मिलता है। इसकी शुरूआती प्राइस 7 लाख रुपये से कम है।

किया केरेंस

किया की नई थ्री-रो एमपीवी केरेंस भी मेड-फोर-इंडिया कार है जिसे बाद में ग्लोबल मार्केट में भी उतारा जाएगा। यह हुंडई अल्कजार वाले प्लेटफार्म पर बनी है लेकिन इसका डिजाइन इससे काफी अलग है। इसमें एसयूवी और एमपीवी दोनों की झलक दिखाई देती है। यह 6-सीटर और 7-सीटर कॉन्फिग्रेशन में मिलेगी। इसमें इंजन और ट्रांसमिशन ऑप्शन सेल्टोस वाले दिए जाएंगे।

हुंडई अल्कजार

हुंडई अल्कजार क्रेटा का एक्सटेंडेड वर्जन है जिसे 6-सीटर और 7-सीटर कॉन्फिग्रेशन में पेश किया जाएगा। अल्कजार ने 2021 में भारत से अपना ग्लोबल डेब्यू किया था और इसका कंपेरिजन एमजी हेक्टर प्लस, महिंद्रा एक्सयूवी700 व टाटा सफारी से होगा। इसमें 159पीएस 2.0 लीटर पेट्रोल और 115पीएस 1.5 लीटर डीजल इंजन की चॉइस मिलेगी। इंजन के साथ इसमें 6-स्पीड मैनुअल और ऑटोमेटिक गियरबॉक्स का ऑप्शन मिलेगा। अल्कजार और कारेन्स एक ही प्लेटफार्म पर बनी होगी।

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

स्कोडा कुशाक पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
  • स्कोडा कुशाक
  • रेनॉल्ट काइगर
  • किया केरेंस

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

नई दिल्ली में *एक्स-शोरूम कीमत

ट्रेंडिंगएसयूवी

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience