• लॉगिन / रजिस्टर

रेनो ट्राइबर में मिलेंगे कई सीटिंग ऑप्शन, जानिए यहां

संशोधित पर Jun 20, 2019 03:35 PM द्वारा Nikhil for रेनो ट्राइबर

  • 754 व्यूज़
  • Write a कमेंट

रेनो ने अपनी सब-4 मीटर ट्राइबर कार से पर्दा उठा दिया है। यह एक 7-सीटर एमपीवी है। कंपनी ने इसे 182 मिलीमीटर का ग्राउंड क्लीयरेंस दिया है। यह ड्यूल टोन इंटीरियर, 4-एयरबैग और 8-इंच  के टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम के साथ आएगी। इसकी शुरुआती कीमत 6 लाख रुपये से कम रहने की उम्मीद है। रेनो के अनुसार ट्राइबर की खासियत इसका मोड्यूलर सीटिंग लेआउट है।  

इसकी सेकंड रो में 60:40 और थर्ड रो में 50:50 अनुपात में फोल्ड होने वाली सीटें दी गई है। साथ ही, इसकी थर्ड रो की सीटों को जरूरत ना पड़ने पर हटाया भी जा सकता है। यह फीचर्स ट्राइबर को बेहद ख़ास बनता है। इसकी थर्ड रो की सीटों को हटाने पर कार के बूट स्पेस को 84 लीटर से 625 लीटर तक बढ़ाया जा सकता है। वहीं, अर्टिगा में थर्ड रो की सीटों को केवल फोल्ड करने का विकल्प मिलता है, जिसके बाद अर्टिगा में 550 लीटर का बूट स्पेस मिलता है, जो ट्राइबर से 75 लीटर कम है। 

जैसा की हमने पहले भी बताया, ट्राइबर की थर्ड रो में 50:50 अनुपात में बंटी दो सीटें मिलती हैं। ऐसे में अपनी जरूत के हिसाब से एक या दोनों सीटों को हटाया या फोल्ड किया जा सकता है। जिससे कार में 6 या 7 लोगो के बैठने के साथ भरपूर मात्रा में लगेज स्पेस (बूट) भी मिलता है। ट्राइबर की थर्ड रो में सीट बेस और सीट बैक को अलग-अलग पार्ट्स के रूप में रखा गया हैं।

बात की जाए मिडिल यानी सेकंड रो की तो, इसमें 60:40 अनुपात में फोल्ड होने वाली सीटें दी गई है। साथ ही, इन सीटों को आगे-पीछे स्लाइड और अपने कम्फर्ट के अनुसार रेकलाइन भी किया जा सकता है। इसके अलावा, बाईं ओर की सीट को टम्बल फोल्ड करने का भी फीचर दिया गया है। परिणामस्वरूप इस सब-4 एमपीवी में बहुत सारे सीटिंग लेआउट उपलब्ध हैं। रेनो ने ट्राइबर के इन अलग-अलग सीटिंग कॉन्फ़िगरेशन को 'मोड' नाम दिया है। 

आइयें क्रमानुसार जानें इन सभी सीटिंग लेआउट के बारे में:-

7 सीट लेआउट

ट्राइबर के इस 7 सीटर कॉन्फ़िगरेशन में सभी सीटें बैठने के लिए उपलब्ध होगी। थर्ड रो की सीटों तक पहुंचने के लिए, सेकंड रो की 40-सेक्शनस सीट को स्लाइड और फोल्ड किया जा सकता हैं। 7 सीटर लेआउट में, ट्राइबर में 84 लीटर का बूट स्पेस मिलेगा। ट्राइबर की हर रो में एसी वेंट, ब्लोअर कंट्रोल के साथ दिए गए हैं। इसकी सेकंड रो के एसी वेंट को बी-पिलर और थर्ड रो के एसी वेंट को रूफ पर माउंट किया गया है। इसके अलावा, पैसेंजर की सुविधा के लिए इसमें सेकंड और थर्ड दोनों रो में चार्जिंग पोर्ट भी दिया गया है। साथ ही, थर्ड रो में बॉडी पैनल पर आर्मरेस्ट भी दिए गए हैं। 

5 सीट लेआउट 

हमारे अनुसार 5-सीटर कॉन्फ़िगरेशन 'मोड' ऐसा लेआउट होगा, जिसका ट्राइबर में सबसे ज्यादा उपयोग किया जाएगा। इस लेआउट में सेकंड रो पैसेंजर के लिए 200 मिलीमीटर तक का लेग रूम और दो हाइट एडजस्टेबल हेडरेस्ट दिए हैं। हालांकि, मिडिल सीट के लिए कोई हेडरेस्ट नहीं दिया गया है। इसमें सेकंड रो की सीटों में स्लाइडिंग और रेक्लाइन फंक्शन भी दिया गया है। साथ ही, इस लेआउट में सबसे ज्यादा (625 लीटर) बूटस्पेस भी मिलता है, जो 5 लोगो का सामान को ढोने के लिए पर्याप्त है। 

6 सीट लेआउट

ट्राइबर में थर्ड रो की एक सीट निकल देने पर इसमें 6-सीट लेआउट मोड मिलता है। इस कॉन्फ़िगरेशन में 320 लीटर का बूट स्पेस प्राप्त होता है। 

4 सीट लेआउट 

ट्राइबर में 4-सीट लेआउट भी मिलता है। इस हेतु सेकंड रो के 60-सेक्शन सीट को फोल्ड और थर्ड रो की एक सीट का उपयोग किया जा सकता है। या थर्ड रो की दोनों सीट फोल्ड या रिमूव कर और सेकंड रो की 40 सीट को फोल्ड करने पर भी यह लेआउट मिलता है। दोनों ही स्थितियों में 4 पैसेंजर बैठ सकेंगे और सर्फ़बोर्ड, लैंप स्टैंड, फर्नीचर या साइकिल जैसी लंबी वस्तु को भी कार में आराम से कही भी लेजाया जा सकेगा। इसके अलावा, पीछे की दोनों सीटें और मिडिल रो की 60 सेक्शन की सीट को फोल्ड करने पर 3-सीट लेआउट भी मिलेगा। 

2 सीट लेआउट 

अंत में हमारे पास ट्राइबर का टू-सीटर कॉन्फ़िगरेशन है, जिसमें सेकंड रो की सीटों को फोल्ड और थर्ड रो की सीटों को निकल या फोल्ड किया जा सकता है। हैरानी की बात है कि, रेनो ने इस लेआउट मिलने वाले बूटस्पेस को नहीं बताया है। लेकिन कंपनी ने स्पष्ट किया है कि इस लेआउट में दो लोगो के कैंपिंग हेतु पर्याप्त सामान ले जाने जितना स्पेस मिलेगा। 

एक बात जो यहां ध्यान देने वाली है कि इसकी थर्ड रो की सीटें में नी-रूम की कमी है। ऐसे में लंबी दूरी की यात्राओं में वयस्क पैसेंजरो के लिए थर्ड रो पर बैठना असुविधाजनक हो सकता है। 

रेनो ट्राइबर में 1.0-लीटर का पेट्रोल इंजन मिलेगा। यह 5-स्पीड मैनुअल और 5-स्पीड ऑटोमैटिक मैनुअल ट्रांसमिशन (एएमटी) दोनों गियरबॉक्स विकल्पों में उपलब्ध होगी। इसे डैटसन गो+ और रेनो लॉजी व मारुति अर्टिगा के बीच पोज़िशन किया जाएगा। भारतीय बाजार में ट्राइबर का किसी भी कार से सीधा मुकाबल नहीं है। 

साथ ही पढ़ें:- रेनो ट्राइबर Vs मारुति अर्टिगा Vs डैटसन गो प्लस : जानिए कौनसी कार देगी ज्यादा माइलेज

द्वारा प्रकाशित

रेनो ट्राइबर पर अपना कमेंट लिखें

5 कमेंट्स
1
C
chandra
Jun 21, 2019 7:12:15 AM

Waiting for turbocharged version of the car

    जवाब
    Write a Reply
    1
    S
    sameer
    Jun 20, 2019 7:18:38 PM

    With all onboard... it will weigh quite a bit..in that.. the puny 3 pot motor... one needs to work on the revs hard to keep it going..

    जवाब
    Write a Reply
    2
    D
    dr.k.palaninathan. tamil nadu
    Jun 30, 2019 7:28:49 AM

    With first row option and 2 nd row folded what will be the remaining length?can 2 adults of 6 feet use it as a BIRTH? Are there options? Is it possible? As a BIRTh CAR?

      जवाब
      Write a Reply
      1
      a
      ahsan
      Jun 20, 2019 12:10:10 PM

      No this is not a turbocharged engine, same engine carry over from Kwid only some tuning to produce 5bhp more.

        जवाब
        Write a Reply
        Read Full News
        ×
        आपका शहर कौन सा है?
        New
        CarDekho Web App
        CarDekho Web App

        0 MB Storage, 2x faster experience