• लॉगिन / रजिस्टर
  • डैटसन गो प्लस front left side image
1/1
  • Datsun GO Plus
    + 45फोटो
  • Datsun GO Plus
  • Datsun GO Plus
    + 5कलर
  • Datsun GO Plus

डैटसन गो प्लसडैटसन गो प्लस एक 7 सीटर एमयूवी है जिसकी कीमत Rs. 4.19 - 6.89 Lakh* है। यह 7 वेरिएंट में उपलब्ध है। 1198 cc के /बीएस6 इंजन और 2 तरह के गियरबॉक्स: मैनुअल & ऑटोमेटिक में उपलब्ध है। गो प्लस के अन्य प्रमुख स्पेसिफिकेशन में 950kg का कर्ब वेट, का ग्राउंड क्लीयरेंस और 347re liters का बूटस्पेस शामिल है। गो प्लस में 6 कलर का ऑप्शन दिया गया है। यहां डैटसन गो प्लस के माइलेज,परफॉर्मेंस,प्राइस और यूजर के ओवरऑल एक्सपीरियंस के बेसिस पर 276 से ज्यादा यूजर रिव्यू उपलब्ध हैं।

कार बदलें
262 रिव्यूजइस कार को रेटिंग दें
Rs.4.19 - 6.89 लाख*
*एक्स-शोरूम कीमत in नई दिल्ली
जुलाई ऑफर देखें
इस महीने त्योहारी ऑफर से न चूकें
space Image
space Image

डैटसन गो प्लस के प्रमुख स्पेसिफिकेशन

माइलेज (तक)19.72 किमी/लीटर
इंजन (तक)1198 सीसी
बीएचपी76.43
ट्रांसमिशनमैनुअल/ऑटोमेटिक
सीटें7
सर्विस कॉस्टRs.3,399/yr

गो प्लस पर लेटेस्ट अपडेट

लेटेस्ट अपडेट: डैटसन ने गो+ एमपीवी को बीएस6 नॉर्म्स पर अपग्रेड कर दिया है। इंजन अपग्रेड के चलते इसकी कीमत में इजाफा हुआ है। और किन बदलाव के साथ आई है बीएस6 डैटसन गो+, जानिए यहां

डैटसन गो+ प्राइस और वेरिएंट: डैटसन गो+ एमपीवी पांच वेरिएंट - डी, ए, ए (ओ), टी और टी (ओ) वेरिएंट में उपलब्ध है। इस 7-सीटर कार की कीमत 4.20 लाख रुपये (एक्स-शोरूम दिल्ली) से शुरू होती है।

डैटसन गो+ इंजन: गो+ में 1.2 लीटर 3-सिलेंडर बीएस6 पेट्रोल इंजन दिया गया है, जो दो पावर ट्यूनिंग के साथ आता है। मैनुअल वेरिएंट में यह इंजन 68 पीएस की पावर और 104 एनएम का टार्क जनरेट करता है। वहीं सीवीटी गियरबॉक्स के साथ यह 77 पीएस की पावर और 104 एनएम का टॉर्क जनरेट करता है। इंजन के साथ इस में 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स स्टैंडर्ड दिया गया है, वहीं टॉप वेरिएंट में सीवीटी गियरबॉक्स का विकल्प भी रखा गया है।  

डैटसन गो+ फीचर्स: डैटसन गो+ में डे-टाइम रनिंग एलईडी लाइटें, 14 इंच मशीन कट अलॉय व्हील और 7.0 इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम (एंड्रॉयड ऑटो और एपल कारप्ले कनेक्टिविटी के साथ) जैसे फीचर्स दिए गए हैं। पैसेंजर की सुरक्षा के लिए इसमें ईबीडी के साथ एबीएस, ड्यूल फ्रंट एयरबैग, रियर पार्किंग सेंसर, ब्रेक असिस्ट और इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल (सेगमेंट फर्स्ट) जैसे फीचर दिए गए हैं।  

इनसे है मुकाबला: भारतीय बाजार में डैटसन गो+ का मुकाबला रेनो ट्राइबर से है।

space Image

डैटसन गो प्लस कीमत सूची (वेरिएंट)

डी पेट्रोल1198 सीसी, मैनुअल, पेट्रोल, 19.72 किमी/लीटरRs.4.19 लाख*
ए पेट्रोल1198 सीसी, मैनुअल, पेट्रोल, 19.72 किमी/लीटरRs.5.09 लाख*
ए ऑप्शन पेट्रोल1198 सीसी, मैनुअल, पेट्रोल, 19.72 किमी/लीटर
टॉप सेलिंग
Rs.5.65 लाख*
टी1198 सीसी, मैनुअल, पेट्रोल, 19.44 किमी/लीटरRs.5.99 लाख*
टी ऑप्शन1198 सीसी, मैनुअल, पेट्रोल, 19.44 किमी/लीटरRs.6.25 लाख*
टी सीवीटी1198 सीसी, ऑटोमेटिक, पेट्रोल, 19.41 किमी/लीटरRs.6.69 लाख*
टी ऑप्शन सीवीटी1198 सीसी, ऑटोमेटिक, पेट्रोल, 19.41 किमी/लीटरRs.6.89 लाख*
सभी वेरिएंट देखें
space Image

सवाल और जवाब

  • अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
  • नई प्रशन

डैटसन गो प्लस की तुलना उसके जैसी कारों के साथ

नई दिल्ली में एक्स-शोरूम कीमत

डैटसन गो प्लस रिव्यू

एक्सटीरियर

2018 में डैटसन ने गो और गो+ दोनों का फेसलिफ्ट वर्ज़न लॉन्च किया था। यह पहले से कही ज्यादा शार्प और बेहतर दिखती है। ये बदलाव उतने ज्यादा बड़े नहीं है कि आप एक बार में पहचान जाएंगे लेकिन पहले से अलग दिखने में पर्याप्त है। इसमें पहले से ज्यादा बड़ी ग्रिल और बोनट पर शार्प क्रीज़ लाइन्स दी गई है जो इसे पहले से ज्यादा आक्रामक लुक देते हैं।

कंपनी ने कार के हेडलमैप्स को भी माइल्ड अपडेट दिया है। लेकिन नए डिज़ाइन के हेडलैम्प्स अब भी कन्वेंशनल बल्ब के साथ ही आएँगे। साथ ही, कार के बम्पर डिज़ाइन भी फ्रेश है। इस पर वर्टीकल आकार के डे-टाइम रनिंग लैम्प्स (डीआरएल) भी दिए गए हैं जो ब्लैक कलर हाउसिंग में आती है।  ये डीआरएल कार के ओवरऑल प्रजेंस को निखारते हैं और ये काफी ब्राइट भी है। 

बात की जाए साइड प्रोफाइल की तो यह लगभग प्री-फेसलिफ्ट मॉडल के जैसी ही है। हालांकि, कंपनी ने इसमें हलके-फुल्के कॉस्मेटिक बदलव किए हैं। इसके आउटर मिरर (ओआरवीएम) अब बॉडी-कलर पेंट स्कीम में आएँगे।  साथ ही,  फ्रंट की तरह इसकी साइड प्रोफाइल पर भी शार्प लाइन्स दी गई है। 

इसके अलावा, कंपनी ने इसके टॉप वैरिएंट में 14 इंच के नए ड्यूल-टोन डायमंड कट अलॉय व्हील्स दिए हैं जिनपर अब पहले से ज्यादा चौड़े 165/70 आर14 सेक्शन के टायर्स मिलेंगे। हालांकि यह पहले की तुलना में (155/70 आर13) ज्यादा बड़े नहीं है।

कार की रियर डिज़ाइन भी अब पहले से बेहतर लगती है। कार के रियर बम्पर पर मिलने वाली क्रीज़ लाइन इसे काफी आकर्षक बनाती है। वहीं, प्रैक्टिकल अप्रोच को बढ़ाने के लिए इसमें अब रियर विंडस्क्रीन वॉशर और वाइपर भी दिए गए हैं। 

गो+ की डिज़ाइन पहले काफी सिंपल थी। लेकिन फेसलिफ्ट अपडेट के साथ हुए इन बदलावों से इसकी डिज़ाइन में थोड़ा प्रीमियम और मॉडर्न टच आ गया है। 

इंटीरियर

फेसलिफ्ट अपडेट के साथ डैटसन गो+ के इंटीरियर बिलकुल ही नया है। कंपनी ने इसमें नए डिज़ाइन का डैशबोर्ड दिया है। गो हैचबैक से अलग डैटसन गो+ में ऑल-ब्लैक की जगह ड्यूल-टोन थीम दी गई है। साथ ही इसके साइड एसी वेंट्स, सेंटर कंसोल, डोर हैंडल, स्टीयरिंग व्हील और गियर पैनल के पास सिल्वर कलर हाइलाइट्स भी दी गयी है। 

कंपनी ने कार के सेंट्रल एसी वेंट की डिज़ाइन में भी बदलाव किया है। एक चीज़ जिसकी कमी अब भी खल रही है वो ये कि कंपनी ने इसमें अब भी स्टीयरिंग व्हील को एडजस्ट करने का कोई फंक्शन नहीं दिया है। साथ ही इसपर अब भी आपको ऑडियो या टेलीफोनी के लिए कोई कंट्रोल नहीं मिलेंगे। 

कार का इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर नया है। यह निसान माइक्रा वाली यूनिट है। इस इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर के बाएं में एनालॉग टेकोमीटर, सेंटर में स्पीडोमीटर और दाएं हिस्से में वॉर्निंग इंडीकेटर्स और ऑरेंज बैकलाइट वाली मल्टी-इनफार्मेशन डिस्प्ले (एमआईडी) दी गई है। इस एमआईडी में आप ओडोमीटर, ट्रिपमीटर, फ्यूल लेवल, फ्यूल रेंज (डिस्टेंस टू एम्प्टी) और टाइम आदि देख सकते हैं। लेकिन गौरतलब है कि इसमें लेन-चेंज-इंडिकेटर नहीं दिया गया है जो कि बेहद बेसिक और जरुरी फीचर है।  

डैटसन गो में सबसे बड़ा बदलाव के रूप में 7-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है। इस इंफोटेनमेंट का टच रिस्पांस अच्छा है। कनेक्टिविटी के लिए इसमें एप्पल कारप्ले, एंड्रॉयड ऑटो, यूएसबी, ऑक्स-इन और ब्लूटूथ मिलता है। यूएसबी और ऑक्स -इन पोर्ट को गियर शिफ्टर के नीचे पैनल पर दिया गया है, जिसपर शायद आपकी एक बार में नज़र पा पड़े।  यह इंफोटेनमेंट सिस्टम रिवर्स कैमरा व्यू को भी सपोर्ट करता है लेकिन इसके लिए आपको कैमरा एक्सेसरीज के रूप में अलग से लगवाना होगा। डैटसन ने इसमें केवल दो ही स्पीकर्स दिए गए है जिनकी ऑडियो क्वालिटी कुछ ख़ास नहीं है। इन्हें शायद आप जरूर अपडेट करवाना चाहेंगे। इंफोटेनमेंट सिस्टम के नीचे की ओर  एयर कंडीशनिंग सिस्टम के कंट्रोल्स दिए हैं जिन्हें आपको मैनुअली एडजस्ट करना होगा।  

डैटसन ने अब इसके गियर लीवर पोज़िशन में भी बदलाव किया है। इसे अब डैशबोर्ड की जगह सेंटर-कंसोल टनल पर दिया है। गियर लीवर के साइड में पैसेंजर सीट की ओर इसमें 12-वोल्ट का पावर सॉकेट दिया गया है। साथ ही, कस्टमर्स के फीडबैक पर डैशबोर्ड पर माउंटेड हैंडब्रेक को भी अब पारम्परिक रूप से दोनों फ्रंट सीटों के बीच दिया गया है।

कंपनी ने कार की सीटों में भी बदलाव किया है। कंपनी इस नई सीटों को "एंटी-फटीग सीट" कहती है। ये सीटें लम्बी दूरी की यात्रा में भी आपको अच्छी कुशनिंग और पीठ को अच्छा सपोर्ट देती है।  यह एक जरुरी अपडेट था क्योंकि डैटसन की कारें पहाड़ी इलाकों में ज्यादा पॉपुलर है जहां छोटी दूरी की यात्रा भी विकट रास्तों के काऱण भारी लगती है। लेकिन स्टीयरिंग व्हील की तरह इसमें ड्राइवर सीट की हाइट को भी एडजस्ट नहीं किया जा सकता है। हालांकि, कंपनी ने फेसलिफ्ट अपडेट के साथ इसमें इलेक्ट्रिकली एडजस्टेबल ओआरवीएम का फीचर जरूर पेश किया है जिससे इन मिरर को सेट करने में आपको कोई परेशानी नहीं होगी।    

एडजस्टमेंट की बात निकली है तो बता दें कि इसकी फ्रंट और रियर दोनों सीटों पर फिक्स हेडरेस्ट मिलते हैं जिन्हें भी एडजस्ट नहीं किया जा सकता है जो कि ऊंचे कद वाले लोगो के लिए थोड़ा मुश्किल पैदा कर सकता है।   

कार की रियर सीटों पर भी अच्छा हेडरूम और लेगरूम मिलता है। लेकिन इस बेंच सीट को थोड़ा नीचे पोज़िशन किया गया है जिससे आपके घुटने ऊपर की ओर रहते है। परिणामस्वरुप, थाई-सपोर्ट की कमी महसूस होती है। इसके अलावा, तीन एडल्ट पैसेंजर के बैठने पर इसमें शोल्डर रूम की भी कमी लगती है। इसमें सेंटर आर्मरेस्ट, स्टोरेज स्पेस, सीट बैक पॉकेट और डोर बोतल होल्डर जैसे बेसिक फीचर्स की कमी है।  

फेसलिफ्टेड गो+ की थर्ड रो का एक्सपीरियंस पहले जैसा ही है। यह केवल छोटे बच्चों के लिए उपयुक्त है। इसमें किसी भी तरह से एडल्ट पैसेंजर कम्फर्टेबल हो कर नहीं बैठ पाएंगे। साथ ही, इसकी थर्ड रो में कोई हेडरेस्ट नहीं मिलता है। कंपनी को कम से कम इसमें फिक्स हेडरेस्ट को देना चाहिए था। 

कहने को डैटसन गो+ एक 7 सीटर कार है लेकिन क्या इसमें सच में 7 लोग बैठ सकते हैं। 7 एडल्ट पैसेंजर्स का इसमें साथ बैठना अनकम्फर्टेबल होगा और यदि आपकी हाइट अगर ज्यादा है फिर तो कहने ही क्या! साथ ही इसमें हेडरेस्ट और रियर एसी वेंट्स की भी कमी है। हमारे अनुसार इसकी थर्ड रो को केवल बच्चों के लिए ही उपयोग किया जाना चाहिए या इसे फोल्ड कर 347 लीटर बूटस्पेस का लुफ्त उठा सकते है। 

परफॉरमेंस

गो+ में प्री-फेसलिफ्ट मॉडल वाला ही 1.2 लीटर, 3-सिलिंडर पेट्रोल  इंजन मिलता है जो 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स के साथ 68पीएस की अधिकतम पावर और 104एनएम का अधिकतम टॉर्क जनरेट करने की क्षमता रखता है।  वहीं, सीवीटी गियरबॉक्स के साथ यह 77पीएस की पावर जनरेट करती है।

  

फेसलिफ्ट अपडेट के साथ इंजन के आउटपुट में कोई बदलाव नहीं हुआ है। लेकिन डैटसन के इंजीनियरों ने इसके मैनुअल गियरबॉक्स के गियर-रेश्यो को जरूर रीट्यून किया है।  जिससे कार का पिक-अप अब भी अच्छा मिलता है और 2000आरपीएम के बाद यह कलाम की परफॉर्मेंस देती है। डैटसन का दावा है कि उनकी ये 7 सीटर कार सिर्फ 13.3 सेकण्ड्स में 0 से 100 किमी/घंटे की स्पीड पर दौड़ सकती है। 

हालाँकि, कार का वजन बढ़ने से इसकी ड्राइवाबिलिटी पर जरूर फर्क पड़ा है।  यह इंजन अब भी बिना क्नॉकिंग के चौथे गियर में 30 किमी/घंटे से पिक कर लेता है लेकिन स्पीड बढ़ने में थोड़ा समय लेता है।इससे साफ है कि जब कार फुल लोडेड होगी तब आपको स्पीड पिक करने के लिए थ्रोटल लीवर पर ज्यादा जोर देना पड़ेगा।  इससे ये भी साबित होता है कि इसके पावरट्रेन को सिटी उपयोग के हिसाब से ट्यून किया है।

 हाईवे पर यह आसानी से 100 किमी/घंटा की स्पीड पिक कर लेती है। कंपनी के अनुसार गो हैचबैक 19.83 किमी/लीटर का माइलेज देने में सक्षम है जो कि प्री-फेसलिफ्ट मॉडल से कम है।    

डैटसन गो के साथ मैनुअल गियरबॉक्स के अलावा सीविटी ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का भी ऑप्शन मिलता है। यह सेटअप निसान माइक्रा से लिया गया है। सीवीटी गियरबॉक्स के साथ यह इंजन मैनुअल गियरबॉक्स वाले वेरिएंट की तुलना में 9पीएस की ज्यादा पावर जनरेट करता है। कंपनी इस गियरबॉक्स को इंजन के साथ बेहद सटीक ढंग से ट्यून किया है जिससे आपको एफर्टलेस और स्मूथ ड्राइविंग एक्सपीरियंस मिलता है। इसमें पावर डिलीवरी एक समान रहती है लेकिन हार्ड एक्सेलरेशन की स्थिति में हल्का झटका जरूर लगता है। डैटसन गो सीवीटी क्रीप फंक्शन के साथ आती है जिससे आपको बम्पर-टू-बम्पर ट्रैफिक कंडीशन में थ्रोटल पैडल दबाने की जरूरत नहीं होती। 

हाईवे पर ये सीवीटी गियरबॉक्स 2000आरपीएम से कम रेवोलुशन पर 80-100 किमी/घंटा की स्पीड पर आसानी से क्रूज कर लेता है जिससे इंजन नॉइज़ कम रहती है और माइलेज भी अच्छा मिलता है। इसमें स्पोर्ट मोड भी दिया गया है लेकिन इसपर माइलेज के साथ आपको समझौता करना पड़ेगा।  डैटसन के अनुसार गो+ सीवीटी 19.41 किमी/लीटर का माइलेज देने में सक्षम है।  

राइड और हैंडलिंग

फेसलिफ्ट अपडेट के बाद डैटसन गो का ग्राउंड क्लीयरेंस 10मिलीमीटर की बढ़ोतरी के साथ 180मिलीमीटर हो गया है। कंपनी ने इसके सस्पेंशन सेटअप को भी ट्यून किया है जिससे ये पहले की तुलना में ज्यादा बेहतर कुशिनिंग  प्रदान करता है और स्पीड ब्रेकर्स और गड्डो पर से आसानी से निकल जाता है। हाई स्पीड पर स्पीड भी कार स्टेबल रहती है और छोटे गड्डो व ख़राब रास्तो का आपको  केबिन में पता नहीं चलेगा। परन्तु छोटे टायर्स के कारण हाई स्पीड पर टर्न के दौरान रोलिंग महसूस होती है।

डैटसन ने इंजन नॉइज़ को कण्ट्रोल करने की कोशिश की है। लेकिन आइड्लिंग व रेविंग के दौरान वाइब्रेशन व रोड-विंड नॉइज़ केबिन में सुनाई देती है। कार के फ्लोर बोर्ड का इंसुलेशन भी अच्छा नहीं है और अंडरबॉडी एक पत्थर लगने पर भी इसकी आवाज केबिन में सुनाई देती है। 

कार का क्लच ट्रेवल कम है जो कि सिटी ड्राइविंग के अनुकूल है। कार का स्टीयरिंग व्हील लाइट है जिससे सिटी ट्रैफिक में जल्दी से टर्न करने या यू-टर्न लेने में सुविधा रहती है। हालांकि, स्पीड बढ़ने के साथ  स्टीयरिंग व्हील का फीडबैक आपको कम लगेगा जिससे हाई स्पीड पर लेन चेंज करने या ओवरटेकिंग करने पर कॉन्फिडेंस कम होने लगता है।

सुरक्षा

फेसलिफ्ट अपडेट के साथ कंपनी ने कार के स्ट्रक्चर और सेफ्टी पॉइंट में सुधार किए हैं। इस प्रक्रिया में कार का वजन 150 किलोग्राम तक बढ़ गया है। परिणामस्वरूप, यह इंडियन क्रैश टेस्ट नॉर्म्स को पूरा करता है। 

यहां तक ​​कि अब इसके सभी वैरिएंट्स में अब आपको ड्यूल फ्रंट एयरबैग्स, ईबीडी (इलेक्ट्रॉनिक ब्रेकफोर्स डिस्ट्रीब्यूशन), बीए (ब्रेक असिस्ट), रियर पार्किंग सेंसर्स और फॉलो-मी-होम हैडलैंप्स, और एबीएस (एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम) के साथ इलेक्ट्रॉनिक ब्रेकफोर्स डिस्ट्रीब्यूशन (ईबीडी) जैसे फीचर्स स्टैंडर्ड मिलते हैं। वहीं, इसके टी और टी (ओ) टॉप वेरिएंट में  व्हीकल डायनेमिक्स कंट्रोल (वीडीसी) भी मिलता है।

डैटसन गो प्लस की खूबियां और खामियां

CarDekho Experts
कारदेखो के एक्सपर्ट
अपनी प्राइस रेंज के अनुसार डैटसन गो+ कम्फर्ट और परफॉर्मेंस का बेहतरीन पैकेज है। साथ ही, सीवीटी गियरबॉक्स का ऑप्शन इसे आपकी शार्टलिस्ट में शामिल करने की परफेक्ट वजह है। 

पसंद की जाने वाली चीज़े

  • ड्यूल एयरबैग्स, एबीएस, ईबीडी, ब्रेक असिस्ट, रियर पार्किंग सेंसर्स, फॉलो-मी-होम हेडलैंप फंक्शन, सीट बेल्ट रिमाइंडर, स्पीड अलर्ट सिस्टम जैसे सेफ्टी फीचर्स सभी वेरिएंट्स में स्टैंडर्ड मिलते हैं।
  • थर्ड रो फोल्ड करने पर अच्छा केबिन स्पेस
  • सेगमेंट में पहली बार सीवीटी ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का ऑप्शन
  • फेसलिफ्ट अपडेट के बाद पहले की तुलना में केबिन और अलोय व्हील की अच्छी डिज़ाइन

नापसंद की जानें वाली चीज़ें

  • इसमें केवल दो स्पीकर्स मिलते हैं जिनकी ऑडियो क्वालिटी भी कुछ ख़ास नहीं है।
  • अंडरबॉडी इंसुलेशन की कमी।
  • सेकंड रो में स्टोरेज स्पेस की कमी।
  • एडजस्टेबल हेडरेस्ट का अभाव

फीचर जो बनाते हैं खास

  • डैटसन गो प्लस की खूबियां और खामियां

    सभी वेरिएंट्स में ड्यूल एयरबैग की सुरक्षा

  • डैटसन गो प्लस की खूबियां और खामियां

    एलईडी डीआरएल काफी ब्राइट है और कार के एस्थेटिक को बढाती है। 

  • डैटसन गो प्लस की खूबियां और खामियां

    नया टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम कार को प्रीमियम लुक देता है। यह एंड्रॉयड ऑटो और एप्पल कारप्ले सपोर्ट के साथ आता है। 

space Image

डैटसन गो प्लस यूज़र रिव्यू

4.3/5
पर बेस्ड262 यूजर रिव्यू
  • All (262)
  • Looks (58)
  • Comfort (65)
  • Mileage (67)
  • Engine (27)
  • Interior (25)
  • Space (44)
  • Price (76)
  • More ...
  • नई
  • उपयोगी
  • VERIFIED
  • CRITICAL
  • Love This Car

    Very good Car at this price. A true value for money. Great features... Excellent I love this car... Good boot space...Mind-blowing.

    द्वारा aj rajput
    On: Apr 10, 2020 | 34 Views
  • Nice Car For Family

    Good looking car and advance feature best in family and comfortable for a long journey. Low maintenance cost and features are great

    द्वारा shekhar raja
    On: Apr 25, 2020 | 47 Views
  • The Budget Friendly Car

    I purchased Datsun GOplus at 2018 it was a budget-friendly car and 7 seaters at a very low price of below 7, while coming to the other 7 seaters they are around 12-15lakh...और देखें

    द्वारा prashanth venneti
    On: Apr 14, 2020 | 1887 Views
  • Need some Modification.

    Few features in-car need to modify or change, Gear needs to be bit stylish overall look is good. 

    द्वारा neelima nirmal
    On: May 10, 2020 | 58 Views
  • Never Buy

    Never buy any Datsun company cars. You will feel like you are riding in auto. Outside noise will come and you can also hear air noise. Poor resale value. Please do not bu...और देखें

    द्वारा klokeskverified Verified Buyer
    On: Feb 21, 2020 | 154 Views
  • सभी गो प्लस रिव्यूज देखें
space Image

डैटसन गो प्लस कलर

  • व्हाइट
    व्हाइट
  • सन स्टोन ब्राउन
    सन स्टोन ब्राउन
  • रूबी रेड
    रूबी रेड
  • विविड ब्लू
    विविड ब्लू
  • क्रिस्टल सिल्वर
    क्रिस्टल सिल्वर
  • ब्रॉन्ज़ ग्रे
    ब्रॉन्ज़ ग्रे

डैटसन गो प्लस फोटो

  • तस्वीरें
  • Datsun GO Plus Front Left Side Image
  • Datsun GO Plus Side View (Left)  Image
  • Datsun GO Plus Rear Left View Image
  • Datsun GO Plus Front View Image
  • Datsun GO Plus Rear view Image
  • Datsun GO Plus Grille Image
  • Datsun GO Plus Front Fog Lamp Image
  • Datsun GO Plus Headlight Image
space Image
space Image

और ऑप्शन देखें

डैटसन गो प्लस पर अपना कमेंट लिखें

77 कमेंट्स
1
R
rakesh kumar
Feb 26, 2020 3:25:02 PM

Rakesh Kumar (Agra). I have bought Datsun GO+ on 25 Dec 2015. Best car in a limited budget, very comfortable for a small family, good for multipurpose use & 20-22 km mileage without AC on highway

    जवाब
    Write a Reply
    1
    C
    chhogalal dawar
    Nov 1, 2018 5:13:02 AM

    good car

      जवाब
      Write a Reply
      1
      C
      cardekho
      Oct 30, 2018 6:20:13 AM

      (Y)

        जवाब
        Write a Reply
        space Image
        space Image

        भारत में डैटसन गो प्लस की कीमत

        सिटीएक्स-शोरूम कीमत
        मुंबईRs. 4.29 - 6.99 लाख
        बैंगलोरRs. 4.19 - 6.89 लाख
        चेन्नईRs. 4.19 - 6.89 लाख
        हैदराबादRs. 4.19 - 6.89 लाख
        पुणेRs. 4.19 - 6.89 लाख
        कोलकाताRs. 4.19 - 6.89 लाख
        कोच्चिRs. 4.23 - 6.95 लाख
        अपना शहर चुनें
        space Image

        ट्रेंडिंग डैटसन कारें

        जुलाई ऑफर देखें
        ×
        आपका शहर कौन सा है?