• लॉगिन / रजिस्टर

हुंंडई आई20 vs टाटा अल्ट्रोज vs टोयोटा ग्लैंजा:जानिए स्पेस,प्रेक्टिकैलिटी और कंफर्ट के लिहाज से कौनसी कार है बेहतर

प्रकाशित: दिसंबर 14, 2020 07:55 pm । भानुहुंडई आई20

  • 3051 व्यूज़
  • Write a कमेंट

कुछ समय से एसयूवी कारों की डिमांड ज्यादा हो जाने के कारण,प्रीमियम हैचबैक सेगमेंट की पॉपुलैरिटी में कमी आ गई थी मगर, नई हुंडई आई20 के आ जाने से अब फिर से ये सेगमेंट पॉपुलर हो चला है हालांकि, इसके शानदार लुक्स,कई इंजन ऑप्शंस और कुछ सब-4 मीटर एसयूवी से ज्यादा प्राइस को देखते हुए लोगों के मन में एक सवाल जरूर आता है। वो सवाल है कि क्या ये कार वैल्यू फॉर मनी साबित होती है या​ फिर इसी प्राइस पॉइन्ट पर आने वाली टाटा अल्ट्रोज और टोयोटा ग्लैंजा में से कोई कार खरीदना होगा बेहतर? जानेंगे आगे:

इन तीनों कारों के बारे में ज्यादा जानने के लिए हमने कंफर्ट और प्रेक्टिकैलिटी के मोर्चे पर इनका टेस्ट लिया। जिस कार को सबसे ज्यादा स्कोर मिले उसे ही इस कंपेरिजन में जीत हासिल हुई। आप चाहेें तो अलग अलग टेस्ट की स्कोरिंग के हिसाब से भी इन तीनों कारों में से किसी को चुन सकते हैं। इस कंपेरिजन में हमनें इसी सेगमेंट की बलेनो को शामिल नहीं किया है क्योंकि बैजिंग और प्राइस को छोड़कर ये कार हूबहू टोयोटा ग्लैंजा जैसी ही है। 

लुक्स

नई आई20 को मिल रही ज्यादा पॉपुलैरिटी का सबसे बड़ा कारण इसके लुक्स हैं। इसकी डिजाइन लेंग्वेज हुंडई के नए मॉडल्स जैसी ही है। इसमें काफी एंगुलर एलिमेंट्स दिए गए हैं जिससे आई20 का ओवरऑल डिजाइन दूसरी कारों से काफी अलग नजर आता है। 

ऑल्ट्रोज का डिजाइन भी काफी अलग सा है। आपको इस कार में शॉप एंगुलर सरफेस नहीं मिलेंगे। यदि आई20 और अल्ट्रोज को एकसाथ खड़ा कर दिया जाए तो काफी लोगों को एक नजर में ऑल्ट्रोज ज्यादा पसंद आएगी। 

लुक्स के मामले में मारुति बलेनो और उसी पर बेस्ड टोयोटा ग्लैंजा का नंबर सबसे आखिर में आता है। इसका डिजाइन अब पांच साल पुराना हो चला है। जब ये कार बाजार में आई थी तो इसके लुक्स को काफी सराहा गया था मगर अब आधा दशक बीत जाने के बाद अब ये पुरानी सी लगने लग गई है। एंगुलर एलिमेंट्स की कमी और इतनी यूनिट्स बिक जाने के बाद अब यदि इन तीनों कारों को एकसाथ खड़ा कर दिया जाए तो आपको इन ग्लैंजा और ​बलेनो का डिजाइन फीका लगेगा। 

अब लुक्स के मामले में आई20 और अल्ट्रोज में से किसी एक को चुनना काफी मुश्किल हो जाता है। ऐसे मेंहमनें हमारी टीम को इसके लिए वोटिंग करने को कहा जिसके बाद कई लोगों ने अल्ट्रोज को चुना। इसके राउंडेड लुक्स ने इसे नंबर 1 चॉइस बनाया और इस मामले में आई20 और ग्लैंजा क्रमश:सेकंड और थर्ड स्पॉट पर रही। 

अब नजर डालते हैं इन तीनों कारों के साइज पर। बता दें कि इन तीनों कारों में से आई20 सबसे स्पेशियस कार है क्योंकि इसकी चौड़ाई भी ज्यादा है और व्हीलबेस भी लंबा है। 

माप

हुंडई आई20

टाटा अल्ट्रोज

टोयोटा ग्लैंजा

लंबाई

3995 मिलीमीटर

3990 मिलीमीटर

3995 मिलीमीटर

चौड़ाई

1775 मिलीमीटर

1755 मिलीमीटर

1745 मिलीमीटर

उंचाई

1505 मिलीमीटर

1523 मिलीमीटर

1510 मिलीमीटर

व्हीलबेस

2580 मिलीमीटर

2501 मिलीमीटर

2520 मिलीमीटर

फीचर्स

जब बात फीचर्स की आती है तो इन तीनों कारों में बेसिक फीचर्स की तो कोई कमी नहीं है। अब डालते हैं इन तीनों कारों पर मिलने वाले स्टैंडर्ड फीचर्स पर एक नजर:

कॉमन फीचर्स

प्रोजेक्टर हेडलैंप्स

ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल

डेटाइम रनिंग लैंप्स

हाइट एडजस्टेबल ड्राइवर सीट

की-लैस एंट्री

टिल्ट एडजस्ट स्टीयरिंग

पुश बटन स्टार्ट

स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो कंट्रोल्स

लैदर कवर वाले स्टीयरिंग व्हील

रिवर्स पार्किंग कैमरा

हालांकि,इन तीनों कारों में से सबसे फीचर लोडेड हुंडई आई20 ही है जिसमें प्रोजेक्टर फॉगलैंप्स,इलेक्ट्रिक सनरूफ,वायरलैस चार्जिंग,कनेक्टेड कार टेक्नोलॉजी,10.25 इंच टचस्क्रीन और सबवूफर के साथ बोस का साउंड सिस्टम जैसे फीचर्स दिए गए हैं। ऐसे में आप इसकी ज्यादा कीमत के बदले जो भी फीचर्स पा रहे हैं वो आपको वाजिब ही लगेेंगे। 

टाटा ने भी अल्ट्रोज में इसके बजट के अनुसार फीचर्स दिए हैं। हालांकि इसमें आई20 की तरह पूरी तरह से डिजिटल इंस्टरुमेंट क्लस्टर नहीं दिया गया है,हां मगर अच्छे ग्राफिक्स वाली 7 इंच टीएफटी डिस्प्ले दी गई है। इसके अलावा इसमें 7 इंच टचस्क्रीन और हार्मन का साउंड सिस्टम भी दिया गया है जो आई20 के बोस साउंड सिस्टम जैसा ही प्रीमियम है। हालांकि अल्ट्रोज के साउंड सिस्टम में सब वूफर का फीचर मौजूद नहीं है। फीचर्स के मामले में भले ही अल्ट्रोज आपको आई20 जितनी आकर्षक नहीं लगे मगर ये एक वैल्यू फॉर मनी कार है। 

दूसरी तरफ बात की जाए ग्लैंजा और बलेनो में स्पेशल फीचर्स के तौर पर ऑटो डिमिंग आईआरवीएम और 60:40 के अनुपात में बंटने वाली स्पिल्ट फोल्डिंग रियर सीट्स दी गई हैं जो कि आई20 और अल्ट्रोज में मौजूद नहीं है। हालांकि फीचर्स के मोर्चे पर बलेनो और ग्लैंजा इन दोनों कारों के आगे कहीं नहीं टिकती है। इसी कारण से हम यही कहेंगे इन दोनों कारों में आपको जरूरत के फीचर्स तो मिल जाएंगे मगर कोई स्पेशल फीचर नहीं मिलेगा। 

कुल मिलाकर फीचर्स के मोर्चे पर यहां 2020 आई20 नंबर 1 कार बनती है और ऑल्ट्रोज दूसरे स्थान पर जबकि ग्लैंजा बलेनो तीसरे स्थान पर आती है। 

केबिन एक्सपीरियंस

फीचर लिस्ट के अलावा प्रीमियम हैचबैक में बैठने के बाद भी प्रीमियम अहसास हो जाता है। और इस मामले में आई20 काफी शानदार है। इसमें ऑल ब्लैक लेआउट दिया गया है जिसमें एबिंएट लाइटिंग और रेड या कॉपर इंटीरियर हाइलाइटिंग दी गई है जिससे काफी स्पोर्टी फीलिंग आती है। इसमें इस्तेमाल किए गए प्लास्टिक की क्वालिटी छूने में काफी अच्छी लगती है और इसका डिजाइन भी काफी अच्छा है। वहीं टर्बो वर्जन में लैदर अपहोल्स्ट्री काफी प्रीमियम है। 

केबिन एक्सपीरियंस के मामले में अल्ट्रोज लगभग नई हुंडई आई20 के बराबर ही है जिसमें वैसा ही प्लास्टिक और ड्यूल टोन इंटीरियर दिया गया है। डैशबोर्ड पर लाइट ग्रे कलर के इस्तेमाल के चलते इसके केबिन में एक खुलेपन का अहसास होता है। इसमें भी लैदर कवर वाला स्टीयरिंग व्हील दिया गया है और ​एंबिएंट लाइटिंग का फीचर दिया गया है मगर ये फीचर्स के फिटमेंट लेवल पर कहीं ना कहीं पीछे रह जाती है। 

केबिन एक्सपीरियंस के मोर्चे पर टोयोटा ग्लैंजा एकबार फिर पीछे छूटती दिखाई देती है क्योंकि इसका केबिन डिजाइन पुराना हो चला है और मैटेरियल की क्वालिटी में भी अब वो बात दिखाई नहीं देती है। हालांकि इसका ऑल ब्लैक केबिन इसे स्पोर्टी लुक जरूर देता है मगर जब केबिन में 5 पैसेंजर्स बैठे हो तो केबिन का पूरा एंबियांस नहीं मिल पाता है। 

कुल मिलाकर इस राउंड में भी हुंडई आई20 का न्यू जनरेशन मॉडल ही प्रभावित करता दिखाई देता है। वहीं फिटमेंट को लेकर कुछ कमियों के कारण अल्ट्रोज़ इससे थोड़ी पीछे रह जाती है। वहीं मारुति बलेनो और टोयोटा ग्लैंजा इस बार भी आखिरी पायदान पर काबिज होती है। 

केबिन स्पेस

प्रीमियम ​फीलिंग की तरह ही केबिन में आराम से बैठने का एक्सपीरियंस भी उतना ही महत्वपूर्ण है। इन तीनों कारों में से आई20 के फ्रंट में सबसे ज्यादा लेगरूम,शोल्डर रूम मिलता है और इसका केबिन भी काफी चौड़ा है। हालांकि नी-रूम के मोर्चे पर ये दूसरे नंबर पर आती है। वहीं ज्यादा हेडरूम के मामले में ये टाटा अल्ट्रोज से थोड़ा पीछे रह जाती है। दूसरी तरफ ग्लैंजा में सबसे ज्यादा नी-रूम स्पेस और हेडरूम स्पेस मिलता है। वहीं केबिन की चौड़ाई के मामले में अल्ट्रोज और आई20 बराबर ही हैं। 

इंटीरियर माप-फ्रंट

पैरामीटर

हुंडई आई20

टाटा अल्ट्रोज

टोयोटा ग्लैंजा

लेगरूम

970-1700 मिलीमीटर

870-1050 मिलीमीटर

970-1150 मिलीमीटर

नी-रूम

600-810 मिलीमीटर

540-760 मिलीमीटर

650-870 मिलीमीटर

हेडरूम

900-970 मिलीमीटर

875-975 मिलीमीटर

920-1000 मिलीमीटर

शोल्डर रूम

1350 मिलीमीटर

1300 मिलीमीटर

1330 मिलीमीटर

केबिन की चौड़ाई

1380 मिलीमीटर

1380 मिलीमीटर

1360 मिलीमीटर

आई20 की सेकंड रो में सबसे ज्यादा हेडरूम और शोल्डर रूम मिलता है वहीं नी-रूम स्पेस के मोर्चे पर ये एक बार फिर सेकंड नंबर पर आती है। ग्लैंजा की सेकंड रो में सबसे ज्यादा नी-रूम स्पेस दिया गया है। सेकंड रो पर हेडरूम और शोल्डर रूम के मोर्चे पर तीनों कारों में से अल्ट्रोज सेकंड नंबर पर है।  

इंटीरियर माप-रियर

पैरामीटर

हुंडई आई20

टाटा अल्ट्रोज

टोयोटा ग्लैंजा

नी-रूम

680-920 मिलीमीटर

625-850 मिलीमीटर

730-980 मिलीमीटर

हेडरूम

930 मिलीमीटर

910 मिलीमीटर

900 मिलीमीटर

शोल्डर रूम

1350 मिलीमीटर

1325 मिलीमीटर

1310 मिलीमीटर

आईडियल नी-रूम

760 मिलीमीटर

700 मिलीमीटर

800 मिलीमीटर

जहां ग्लैंजा की दोनों रो में सबसे ज्यादा नी-रूम स्पेस मिलता है मगर इसकी कम चौड़ाई और छोटी विंडोज़ की वजह से ये इस कंपेरिजन में तीसरे स्थान पर आती है। दूसरी तरफ अल्ट्रोज मामूली से फर्क के चलते सेकंड स्पॉट पर आती है। इसके दरवाजे काफी चौड़े खुलते हैं और उंची रियर सीट्स बुजुर्ग पैसेंजर्स को काफी पसंद आएगी। मगर जब आप आई20 के केबिन में दाखिल होंगे तो इसमें बैठने के बाद आपको शानदार एक्सपीरियंस मिलेगा ​और इसी कारण ये यहां नंबर 1 स्पॉट पर आती है। इसकी रियर सीट पर तीन पैसेंजर बड़े आराम से बैठ सकते हैं। इसका ग्लास एरिया भी काफी बड़ा है जहां ऑल ब्लैक कलर का इंटीरियर होने के बावजूद एक खुलेपन का अहसास होता है। 

बूट स्पेस

जहां पैसेंजर का आराम से बैठ पाना एक काफी महत्व रखता है तो वहीं उतना ही महत्वपूर्ण सामान रखना भी है। बूट स्पेस के मामले में नई आई20 तीसरे पायदान पर आती है जिसमें केवल 311 लीटर का बूट स्पेस दिया गया है। कंपेरिजन करते हुए हम इसमें केवल एक सूटकेस,एक मीडियम साइज का सूटकेस और डफल बैग ही रख पाए जिसके बाद छोटा मोटा सामान रखने लायक स्पेस बच गया। 

बूट स्पेस के मामले में टोयोटा ग्लैंजा दूसरे स्थान पर आती है जिसमें 339 लीटर का बूट स्पेस दिया गया है वहीं इस मामले में 345 लीटर के बूट स्पेस के साथ अल्ट्रोज को नंबर 1 का स्थान दिया जाता है। इसमें आप एक बड़ा सूटकेस,एक मीडियम साइज का सूटकेस,एक छोटा सूटकेस और दो डफल बैग रख सकते हैं। ग्लैंजा में 60:40 के अनुपात में बंटने वाली रियर सीट दी गई है जिससे बूट स्पेस बढ़ाया तो जा सकता है मगर,इसकी हाई लोडिंग लिप और संकरे बूट माउथ के चलते इसमें सामान रखना और उसे बाहर निकालना मुश्किल हो जाता है। इसी कारण से हमनें इसको इस कंपेरिजन में दूसरा स्थान दिया है। 

टाटा अल्ट्रोज में जितना सामान हमनें रखा उसके बावजद उसमें कुछ स्पेस बच ही गया और इसलिए ही हमनें बूट कंपेरिजन टेस्ट में इसे नंबर एक का स्थान दिया। 

राइड क्वालिटी

बूट में सामान रखने के बाद और पैसेंजर्स के गाड़ी में सवार हो लेने के बाद अब बात आती है कंफर्टेबल राइडिंग की। ऐसे में इन तीनों कारों में आई20 की राइड क्वालिटी काफी बेहतर है। ये गड्ढों और खराब रास्तों पर से आराम से गुजर जाती है। हालांकि कोई ज्यादा खराब रास्ता या गड्ढा आ जाने पर इसमें केबिन में पीछे की सीटों पर वर्टिकल मूवमेंट को महसूस किया जा सकता है। इसका नॉइस इंसुलेशन काफी अच्छा है। 

आई20 की तरह अल्ट्रोज भी काफी आराम से चलती है। खराब रास्तों पर ये काफी कंट्रोल में रहती है और केबिन तक कोई तकलीफ पहुंचने नहीं देती है। इसकी सबसे खराब बात ये है कि सड़क पर कंकरो के टायरों से रगड़ने की आवाज को केबिन तक महसूस किया जा सकता है। 

दूसरी तरफ टोयोटा ग्लैंजा सिटी में काफी आराम से चलती है जहां गड्ढों और स्पीड ब्रेकर्स से आने वाले झटकों से पैसेंजर्स बचे रहते हैं। हालांकि हाईवे पर ये काफी हल्की महसूस होती है जिसे तेज स्पीड पर कंट्रोल करके रखना पड़ता है। 

कुल मिलाकर राइड क्वालिटी के मोर्चे पर हमनें टाटा अल्ट्रोज को उसकी ऑल राउंड परफॉर्मेंस और खराब सड़कों से निपटने की क्षमता को देखते हुए नंबर 1 पर रखा है। वहीं इस मामले में आई20 को दूसरा स्थान दिया जाता है खराब सड़कों से निपटने में अल्ट्रोज से थोड़ी कम अच्छी है। हाईवे परफॉर्मेंस में औसत से भी नीचे प्रदर्शन करने के कारण ग्लैंजा को सबसे अंतिम स्थान दिया जाता है। 

सेफ्टी

सेफ्टी का पैमाना सही आंकने के लिए उसका क्रैश टेस्ट किया जाना बेहद जरूरी है। चूंकि टाटा ऑल्ट्रोज को ग्लोबल एनकैप में 5 स्टार सेफ्टी रेटिंग दी जा चुकी है,ऐसे में जाहिर तौर पर इसे इस कंपेरिजन में नंबर 1 का स्थान दिया जाना लाजमी है। गौर करने वाली बात ये है कि अल्ट्रोज में केवल ड्यूल फ्रंट एयरबैग ही दिए गए हैं। 

दूसरी तरफ हुंडई आई20 2020 मॉडल में साइड और कर्टेन एयरबैग दिए गए हैं। इसके अलावा इसमें कुछ चुनिंदा पावरट्रेन ऑप्शंस के साथ व्हीकल स्टेबिलिटी मैनेजमेंट का फीचर भी दिया जा रहा है। जहां इन तीनों कारों में से हुंडई आई20 में सबसे ज्यादा सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं मगर ग्लोबल एनकैप द्वारा इसका क्रैश टेस्ट नहीं किया गया है। ऐसे में हम इसे सेकंड स्पॉट पर रखते हैं। 

टोयोटा ग्लैंजा और मारुति बलेनो में केवल ड्यूल फ्रंट एयरबैग्स के अलावा और कोई एक्सट्रा फीचर नहीं दिया गया है,वहीं ग्लोबल एनकैप से इसे कोई सेफ्टी रेटिंग नहीं दी गई है। ऐसे में ये तीसरे पायदान पर है। 

सेफ्टी

पैरामीटर

हुंडई आई20

टाटा अल्ट्रोज

टोयोटा ग्लैंजा

ड्यूल फ्रंट एयरबैग

साइड और कर्टेन एयरबैग

ईबीडी के साथ एबीएस

इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल

व्हीकल स्टेबिलिटी मैनेजमेंट

तीनों में से कौन है वैल्यू फॉर मनी प्रोडक्ट?

यदि इस कंपेरिजन में मारुति बलेनो को शामिल कर दिया जाता तो इस मोर्चे पर वो सही चॉइस साबित होती। टोयोटा ग्लैंजा केवल टॉप वेरिएंट्स में ही उपलब्ध है और यदि आप बलेनो का डेल्टा वेरिएंट लेते हैं तो आप आई20 के टॉप 1.2 मैनुअल वेरिएंट के मुकाबले 3 लाख रुपये तक बचा सकते हैं। यहां तक कि यदि आप ग्लैंजा का वी वेरिएंट चुनते हैं तो भी आप 2 लाख रुपये एक्सशोरूम की बचत कर सकते हैं। 

दूसरी तरफ आई20 के कंपेरिजन में आप टाटा अल्ट्रोज खरीदकर 1.5 लाख रुपये तक की बचत कर सकते हैं। जिसमें आपको यूजफुल और अच्छे फीचर्स मिल जाएंगे। ऐसे में वैल्यू फॉर मनी कैटेगरी में अल्ट्रोज को दूसरा स्थान दिया जाता है। 

इन तीनों कारों में से आई20 की प्राइस सबसे ज्यादा है और कोई इसी प्राइस पॉइन्ट पर एक माइक्रो एसयूवी लेने की भी सोच सकता है। हालांकि जब बात फीचर्स और ओवरऑल प्रीमियम एक्सपीरियंस की आती है तो ये कार सबसे शानदार साबित होती है। आई20 की कीमत ज्यादा होने के कारण हम आई20 को वैल्यू फॉर मनी प्रोडक्ट तो नहीं कह सकते हैं,इसलिए इसके नंबर 3 का स्थान दिया जाता है। 

इंजन ऑप्शंस

तीनों कारों में से आई20 में आपकी जरूरत के हिसाब से सबसे ज्यादा इंजन गियरबॉक्स का कॉम्बिनेशन दिया गया है। इसमें दो तरह के पेट्रोल इंजन के साथ मैनुअल और ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का ऑप्शन दिया गया है। वहीं इसमें डीजल इंजन के साथ ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का कॉम्बिनेशन नहीं दिया गया है। वैसे इस सेगमेंट में किसी कार में डीजल के साथ ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का कॉम्बिनेशन देखने को नहीं मिलता है। वहीं ग्लैंजा और बलेनो के कुछ वेरिएंट्स को छोड़कर दूसरी कारों में हाइब्रिड फीचर भी मौजूद नहीं है। 

पेट्रोल

पैरामीटर

हुंडई आई20

टाटा अल्ट्रोज

टोयोटा ग्लैंजा

इंजन

1.2-लीटर

1.0-लीटर टर्बो

1.2-लीटर

1.2-लीटर

पावर

85पीएस / 88पीएस

120पीएस

86पीएस

83पीएस / 90पीएस (हायब्रिड)

टॉर्क

115एनएम

172एनएम

113एनएम

113एनएम

गियरबॉक्स

5-स्पीड मैनुअल / सीवीटी

6आईएमटी / 7डीसीटी

5-स्पीड मैनुअल

5-स्पीड मैनुअल / सीवीटी (केवल नॉन हायब्रिड)

अल्ट्रोज का डीजल मॉडल इसके पेट्रोल मॉडल से ज्यादा पावरफुल है जो कि ज्यादा रिफाइन भी नहीं है और कम पावरफुल है। सिटी और हाईवे पर टाटा अल्ट्रोज डीजल ज्यादा अच्छा परफॉर्मेंस देती है। मगर ये इसके पेट्रोल और डीजल इंजन के साथ केवल मैनुअल गियरबॉक्स का ही ऑप्शन दिया गया है। वैसे टाटा ने कहा है कि वो जल्द ही टर्बो पेट्रोल इंजन के साथ ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का ऑप्शन देगी। 

यह भी पढ़ें: न्यू हुंडई आई20 Vs टाटा अल्ट्रोज डीजल: जानिए असल में किस हैचबैक कार का परफॉर्मेंस है बेहतर

डीजल

पैरामीटर

हुंडई आई20

टाटा अल्ट्रोज

इंजन

1.5-लीटर

1.5-लीटर

पावर

100पीएस

90पीएस

टॉर्क

240एनएम

200एनएम

ग्लैंजा और बलेनो में डीजल इंजन का ऑप्शन नहीं दिया गया है। मगर इसका 1.2 ड्यूल जेट इंजन के साथ माइल्ड हायब्रिड सिस्टम और 5 स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स किसी डीजल इंजन जैसा ही परफॉर्म करता है। इस इंजन के साथ ये हाईवे पर 24 किलोमीटर प्रति लीटर और सिटी में 18 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज निकाल लेती हैं। इसके अलावा इनमें ऑटोमैटिक सीवीटी का ऑप्शन भी दिया गया है जो सिटी ड्राइविंग के लिहाज से ज्यादा कंफर्टेबल साबित होता है। मगर मैनुअल की तरह सीवीटी गियरबॉक्स के साथ माइल्ड हायब्रिड सिस्टम नहीं दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: असल में कितना माइलेज देती है नई हुंडई आई20 1.5 लीटर डीजल, जानिए यहां

निष्कर्ष

हमारे द्वारा किए गए इस पूरे टेस्ट में काफी मोर्चों पर टोयोटा ग्लैंजा और मारुति बलेनो ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। मगर वैल्यू फॉर मनी कार के मोर्चे पर ये दोनों कारें अल्ट्रोज और आई20 से बेस्ट साबित हुई। बलेनो का डेल्टा वेरिएंट ना सिर्फ आपके काफी सारे पैसे बचाएगा मगर इसमें आप जो फीचर्स नहीं दिए गए हैं उन्हें मार्केट से भी लगवा सकते हैं। ऐसे में आप अपनी जरूरत के हिसाब से पैसा खर्च कर मनचाहे फीचर्स लगवा सकते हैं। 

इस मोर्चे पर टाटा अल्ट्रोज दूसरे नंबर पर आती है। इसकी कीमत थोड़ी कम है और इसमें अच्छे फीचर्स दिए गए हैं जिससे ये वैल्यू फॉर मनी कार बनती है। माना कि इसमें सनरूफ जैसा फीचर नहीं दिया गया है मगर ये कार फ्यूल और सर्विस बिल को कम कर सकती है। 

यदि किसी को एक हैचबैक में प्रीमियम फीलिंग चाहिए तो उसके लिए हुंडई आई20 परफेक्ट साबित होगी। इसमें ऐसे फीचर्स दिए गए हैं जो कि सेगमेंट की किसी और कार में आपको देखने को नहीं मिलेंगे। वहीं इसके केबिन की चौड़ाई भी अच्छी खासी है और इसमें काफी सारे पावरट्रेंस ऑप्शन दिए गए हैं। मगर इन सबके लिए जो आप कीमत चुका रहे हैं वो कुछ ज्यादा ही है। इसके टॉप वेरिएंट की प्राइस पर तो आप एक सब-4 मीटर एसयूवी घर ला सकते हैं। मगर इसकी प्राइस को छोड़ दे तो ये कार इस पूरे सेगमेंट में सबसे शानदार साबित होती है। 

यह भी पढ़ें: नई हुंडई आई20 को मिली 30,000 से ज्यादा बुकिंग

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

हुंडई आई20 पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
  • टाटा अल्ट्रोज़
  • टोयोटा ग्लैंजा
  • हुंडई आई20
बड़ी बचत !!
44% की बचत करें! पुरानी हुंडई कारें पर सरवोततम सौदो का पता लगाए
नई दिल्ली में उपलब्ध हुंडई आई20 के यूज़्ड मॉडल्स देखे

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
×
आपका शहर कौन सा है?