• लॉगिन / रजिस्टर
  • मारूति एस-प्रेसो front left side image
1/1
  • Maruti S-Presso
    + 47फोटो
  • Maruti S-Presso
  • Maruti S-Presso
    + 5कलर
  • Maruti S-Presso

मारुति एस-प्रेसो

कार बदले
58 रिव्यूरेटिंग दें
Rs.3.69 - 4.91 लाख*
*एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
दिसंबर ऑफर देखें
इस महीने के ऑफर से ना चूकें

मारूति एस-प्रेसो के प्रमुख स्पेसिफिकेशन

माइलेज (तक)21.7 किमी/लीटर
इंजन (तक)998 cc
बीएचपी67.0
ट्रांसमिशनमैनुअल / ऑटोमैटिक
सीटें5
सर्विस कॉस्टRs.3,560/yr
space Image

एस-प्रेसो पर लेटेस्ट अपडेट

लेटेस्ट अपडेट: मारुति सुजुकी इन दिनों एस-प्रेसो के सीएनजी वर्जन पर काम कर रही है। हाल ही में इसे भारत की सड़कों पर टेस्टिंग के दौरान देखा गया है। इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

मारुति एस-प्रेसो वेरिएंट लिस्ट: यह मारुति कार चार वेरिएंट एसटीडी, एलएक्सआई, वीएक्सआई और वीएक्सआई प्लस में उपलब्ध है। 

मारुति एस-प्रेसो प्राइस इन इंडिया: इस मारुति फोर व्हीलर गाड़ी की कीमत 3.69 लाख रुपये से शुरू होती है, इसके टॉप मॉडल की रेट 4.91 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) है। 

मारुति एस-प्रेसो इंजन, परफॉर्मेंस और ट्रांसमिशन: मारुति एस-प्रेसो में बीएस6 मानकों वाला 1.0 लीटर के10बी पेट्रोल इंजन दिया है, जो 68 एचपी की पावर और 90 एनएम का टॉर्क जनरेट करता है। चर्चाएं हैं कि कंपनी यह इंजन आने वाले समय में वैगन-आर, ऑल्टो के10 और सेलेरियो में भी शामिल कर सकती है। इस इंजन के साथ 5-स्पीड मैनुअल और ऑटो गियरशिफ्ट (एजीएस) गियरबॉक्स का विकल्प रखा गया है। कंपनी ने इस कार को लेकर 21.7 किलोमीटर प्रति लीटर माइलेज का दावा किया है। 

मारुति एस-प्रेसो फीचर लिस्ट: एस प्रेसो एसयूवी में फैब्रिक अपहोल्स्ट्री, सेंट्रल माउंटेड डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, 7.0 इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, मैनुअल एडजस्टेबल ओआरवीएम, फ्रंट पावर विंडो, एबीएस, रियर पार्किंग सेंसर और ड्यूल एयरबैग जैसे फीचर दिए गए हैं। 

मारुति एस-प्रेसो साइज: इस कार को हार्टेक्ट प्लेटफॉर्म पर तैयार किया गया है। इसकी लंबाई 3565 मिलीमीटर, चौड़ाई 1520 मिलीमीटर, ऊंचाई 1564 मिलीमीटर और व्हीलबेस 2380 मिलीमीटर है। इसका टर्निंग रेडियस 4.5 मीटर है।

इनसे है मुकाबला: इसका मुकाबला रेनो क्विड और डैटसन रेडी-गो से है।

मारूति एस-प्रेसो प्राइस लिस्ट (वेरिएंट)

एसटीडी998 cc, मैनुअल, पेट्रोल, 21.4 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.3.69 लाख*
std opt998 cc, मैनुअल, पेट्रोल, 21.4 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.3.75 लाख*
एलएक्सआई998 cc, मैनुअल, पेट्रोल, 21.4 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.4.05 लाख*
एलएक्सआई ऑप्शन 998 cc, मैनुअल, पेट्रोल, 21.4 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.4.11 लाख*
वीएक्सआई998 cc, मैनुअल, पेट्रोल, 21.7 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.4.24 लाख*
वीएक्सआई ऑप्शन 998 cc, मैनुअल, पेट्रोल, 21.7 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.4.3 लाख*
वीएक्सआई प्लस 998 cc, मैनुअल, पेट्रोल, 21.7 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.4.48 लाख*
वीएक्सआई एटी 998 cc, ऑटोमैटिक, पेट्रोल, 21.7 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.4.67 लाख*
वीएक्सआई ऑप्शन एटी 998 cc, ऑटोमैटिक, पेट्रोल, 21.7 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.4.73 लाख*
वीएक्सआई प्लस एटी 998 cc, ऑटोमैटिक, पेट्रोल, 21.7 किमी/लीटर1 महीने का इंतजारRs.4.91 लाख*
सभी वेरिएंट देखें
Ask Question

क्या आप उलझन में हैं?

अपना प्रश्न पूछें और 48 घंटों के भीतर जवाब पाएं।

हाल ही में पूछे गए प्रश्न

मारूति एस-प्रेसो की तुलना उसके जैसी कारों के साथ

नई दिल्ली में एक्स-शोरूम कीमत

मारूति एस-प्रेसो रिव्यू

ज्यादा ग्राउंड क्लीयरेंस और कम कीमत वाली मारुति की यह माइक्रो एसयूवी क्या छोटी सिटी कार की परिभाषा को नई पहचान देने में कामयाब हुई है? आईये जानें 

मारुति ने अपनी इस लेटेस्ट कार की प्राइस कॉफ़ी के एक प्रकार के नाम पर रखा है, जिसका उपयोग अधिकांश भारतीय नहीं करते हैं। कुछ उसी प्रकार एस-प्रेसो कार भी मारुति की अन्य कारों से कुछ हटकर है। यह पहली बार है जब मारुति ने इस प्रकार की कोई कार उतारी है। हालांकि, रेनो इंडिया क्विड के साथ कई सालों पहले ही इस सेगमेंट में कदम रख चुकी है और बेहद सफल भी रही।

एक्सटीरियर

मारुति सुजुकी अपनी इस कार को मिनी-एसयूवी कहती है। लेकिन हम इस बात से पूरी तरह सहमत नहीं है। इस बात में कोई शक नहीं की इसमें किसी एसयूवी कार की तरह 180 मिलीमीटर का ऊंचा ग्राउंड क्लेअरन्स और टाल-बॉय स्टान्स मिलता है। मगर, यह विटार ब्रेज़ा जैसी एसयूवी के छोटे वर्ज़न की बजाएं ऑल्टो का उठा हुआ मॉडल ज्यादा लगता है। हालांकि, कंपनी ने इसमें कई एलिमेंट विटारा ब्रेज़ा से कुछ मिलते-जुलते दिए हैं।  

बात की जाए एस-परेसो के फ्रंट डिज़ाइन की तो, इसके चौकोर हेडलैम्प्स, टूथ ग्रिल और बड़ा बम्पर आपको ब्रेज़ा की थोड़ी याद दिलाएंगे। इसका लम्बा और सपाट बोनट और ए-पिलर के तीखे एंगल जैसे एलिमेंट्स इसे कुछ हद तक एसयूवी जैसा लुक देते हैं। यह छोटी और ऊँची कार है और शायद एक नज़र में सबको पसंद ना आए। इसमें ड्यूल-टोन बंपर्स मिलते हैं। आश्चर्य की बात है कि इसमें फॉगलैम्प जैसे बेसिक फीचर की कमी है। फॉग लैंप की जगह एस-प्रेसो में ऑफिशियल एक्सेसरीज के रूप में डे-टाइम रनिंग लैंप मिलते है।

साइड से देखने पर एस-प्रेसो में अलॉय व्हील की कमी खलती है। गौरतलब है कि कंपनी ने इसके टॉप वेरिएंट में भी अलॉय व्हील की पेशकश नहीं की है। इसके फेंडर्स पर मिलने वाले छोटे टर्न इंडीकेटर्स 20-साल पुरानी मारुति जेन से लिए गए हैं जो मारुति की डिजाइनिंग पर कुछ सवाल तो जरूर खड़ा करते हैं। इसमें डोर काफी बड़े हैं जो एक अच्छी बात है। लेकिन इसमें साइड क्लैडिंग और व्हील आर्च क्लैडिंग की कमी है। यदि इसमें ये दोनों चीज़े होती तो शायद एस-प्रेसो और ज्यादा आकर्षक होती। हालांकि, मारुति ने कार की प्राइसिंग को कम से कम रखने के लिए इन फीचर्स को पेश नहीं किया है। लेकिन इच्छुक ग्राहक क्लैडिंग और अलॉय व्हील्स को एक्सेसरीज के रूप में मारुति से लगवा सकते हैं। ग्राहकों को अलॉय व्हील्स, डीआरएल और क्लैडिंग एक्सेसरीज के लिए लगभग 40,000 रुपये अधिक चुकाने होंगे। 

एस-प्रेसो की रियर डिज़ाइन भी काफी सिंपल है। इसमें भी फ्रंट की तरह ऊँचा ड्यूल टोन बम्पर मिलता है। इसकी टेललैंप में एलईडी एलिमेंट्स दिए गए हैं। कार का बूट गेट के बाएं निचले हिस्से पर 'एस-प्रेसो' की बैजिंग दी गई है। यदि यह बैजिंग बूटगेट के सेंटर में होती तो और अच्छा लगता। इसके अलावा, इस पर वेरिएंट बैजिंग नहीं दी गई है।      

साइज के लिहाज़ से एस-प्रेसो ऑल्टो से बड़ी है। यह अपने सेगमेंट में भी सबसे ऊंची कार है। लेकिन अन्य मामलों में रेनो क्विड एस-प्रेसो से आगे है। 

 साइज (मिलीमीटर में) मारुति एस-प्रेसो रेनो क्विड डैटसन रेडी-गो
लंबाई  3665 3731 3429
चौड़ाई  1520 1579 1560
ऊंचाई  1564 1490 1541
व्हीलबेस 2380 2422 2348

इंटीरियर

एस-प्रेसो के डोर काफी चौड़े खुलते हैं जिससे कार में बैठना और उतरना आसान है। वहीं, ऑल्टो और क्विड में बैठने के लिए आपको ज्यादा झुकना पड़ता है। कार में बैठते ही इसका सर्कुलर एलिमेंट्स वाला स्पोर्टी डैशबोर्ड आपका ध्यान अपनी ओर खींचने में कामयाब होता है। इसके डैशबोर्ड के सेंटर में डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर दिया गया है। इंस्ट्रुंनेट क्लस्टर के नीचे वैगनआर वाला टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है। इसके नीचे हजार्ड लैंप और फ्रंट पावर विंडो के स्विच दिए गए हैं। इस पूरे सेटअप के चारों ओर सर्कल दिया गया है जो मिनी कूपर कार की याद दिलाता है। यह सर्कल ऑरेंज एक्सटीरियर कलर के ऑरेंज कलर में आता है। वहीं, कोई अन्य एक्सटीरियर पेंट के साथ यह सर्कल सिल्वर कलर में आता है। इंटीरियर के प्लास्टिक की क्वालिटी और फिटिंग-फिनिशिंग इस सेगमेंट के हिसाब से अच्छी है। 

एस-प्रेसो की एक बात जो हमे बेहद अच्छी लगी वह ये कि छोटे साइज के होने के बावजूद भी इसमें अच्छा केबिन स्पेस मिलता है। यह छोटी फॅमिली के लिए एक अच्छी कार साबित होती सकती है। इसमें 6 फ़ीट के चार वयस्क लोग आसानी से बैठ सकते हैं। पांचवें पैसेंजर के तौर पर इसमें एक अवयस्क/बच्चा ही कम्फर्टेबल तरीके से बैठे सकेगा। एस-प्रेसो की चौड़ाई क्विड से 60 मिलीमीटर कम है लेकिन इसमें क्विड से अच्छा शोल्डर स्पेस मिलता है। फ्रंट में आप देखेंगे कि मारुति ने पावर विंडो के बटनों को डैशबोर्ड पर पोज़िशन किया है। साथ ही, डोर पैड को भी सकड़ा बनाया है जिससे फ्रंट में भी अच्छी चौड़ाई मिल पाती है। इसके अलावा, एस-प्रेसो में पर्याप्त मात्रा में हेडरूम भी मिलता है। लेकिन 6 फ़ीट से ज्यादा बड़े पैसेंजर/ड्राइवर को थोड़ी सी परेशानी हो सकती है क्योँकि इसकी फ्रंट सीट्स को थोड़ा उठा हुआ बनाया गया है। गौरतबल है कि ऑल्टो में एस-प्रेसो से ज्यादा हेडरूम मिलता है। 

फ्रंट सीट्स  एस-प्रेसो  क्विड ऑल्टो
हेडरूम 980 मिलीमीटर 950 मिलीमीटर 1020 मिलीमीटर
केबिन की चौड़ाई  1220 मिलीमीटर 1145 मिलीमीटर 1220 मिलीमीटर
नी-रूम (न्यूनतम)  590 मिलीमीटर 590 मिलीमीटर 610 मिलीमीटर
नी-रूम (अधिकतम) 800 मिलीमीटर 760 मिलीमीटर 780 मिलीमीटर
सीट बेस की लंबाई 475 मिलीमीटर 470 मिलीमीटर  -
बैकरेस्ट की ऊंचाई 660 मिलीमीटर 585 मिलीमीटर 640 मिलीमीटर

मारुति एस-प्रेसो में फैब्रिक सीटें दी गई है जो बेहद सॉफ्ट और सिटी राइड के लिए कम्फर्टेबल है। हालांकि, लंबी दूरी की यात्रा में आपको थोड़ा डिसकम्फर्ट अनुभव हो सकता है। इसके अलावा, एस-प्रेसो की सीटों की लंबाई भी थोड़ी ज्यादा होनी चाहिए थी। इसमें एडजस्टेबल हेडरेस्ट की भी कमी है। लेकिन इसके फिक्स-हेडरेस्ट गर्दन और सिर को अच्छा सपोर्ट देते है।

केबिन स्टोरेज स्पेस की बात करे तो, एस-प्रेसो के फ्रंट में पर्याप्त स्पेस मिलता है। इसके डैशबोर्ड पर एक छोटा ग्लव बॉक्स, एक ओपन स्टोरेज स्पेस, 1-लीटर बोतल व कुछ अन्य छोटी-मोटी चीज़ें रखने के लिए डोर पर स्टोरेज, सेंटर कंसोल पर दो कप होल्डर और ड्राइवर नी-साइड छोटा स्टोरेज मिलता हैं। रियर पैसेंजर के लिए सेंटर कंसोल टनल के अंतिम छोर पर एक छोटा स्पेस मिलता है। इसके अलावा, रियर पैसेंजर के लिए डोर होल्डर या सीटबैक पॉकेट जैसी सुविधाओं की कमी है।  

मारुति एस-प्रेसो की पिछली सीटों पर क्विड और ऑल्टो से अच्छा नी-रूम मिलता है। साथ ही इन सीटों पर 6 फ़ीट से ज्यादा ऊंचाई वाले पैसेंजर को भी पर्याप्त हेडरूम मिलता है। केवल एक कमी जो यहां खलती है वह ये कि फ्रंट की तरह इसकी पिछली सीटों पर भी फिक्स हेडरेस्ट मिलते हैं जो लम्बे व्यक्ति की गर्दन को उतना अच्छा सपोर्ट नहीं देते हैं।  

रियर सीट मारुति एस-प्रेसो  रेनो क्विड मारुति ऑल्टो
हेडरूम 920 मिलीमीटर 900 मिलीमीटर 920 मिलीमीटर
शोल्डर रूम  1200 मिलीमीटर 1195 मिलीमीटर 1170 मिलीमीटर
नी-रूम (न्यूनतम) 670 मिलीमीटर 595 मिलीमीटर 550 मिलीमीटर
नी-रूम (अधिकतम) 910 मिलीमीटर 750 मिलीमीटर 750 मिलीमीटर
आइडियल नी-रूम* 710 मिलीमीटर 610 मिलीमीटर 600 मिलीमीटर
सीट बेस की लंबाई 455 मिलीमीटर 460 मिलीमीटर 480 मिलीमीटर
बैकरेस्ट की ऊंचाई 550 मिलीमीटर 575 मिलीमीटर 510 मिलीमीटर

*फ्रंट सीट को 5'8" से 6' के पैसेंजर/ड्राइवर के अनुसार एडजस्ट करने पर। 

कुल मिलकर एस-प्रेसो में 5-सीटर की जगह 4-सीटर कार कहना सही होगा। क्योंकि इसमें चार वयस्क लोग कम्फर्टेबल होकर बैठ सकेंगे। रियर सीट पर तीन वयस्क लोगो को तंग होकर बैठना पड़ेगा।

मारुति एस-प्रेसो में 270-लीटर का बूटस्पेस मिलता है। इसमें दो मध्यम आकार के सूटकेस के अलावा कई अन्य छोटे मोटे समान या बैग को भी एक साथ रखा जा सकेगा।

टेक्नोलॉजी और फीचर्स

 

मारुति एस-प्रेसो के टॉप वेरिएंट में मैनुअल एसी, फ्रंट पावर विंडो, पावर स्टीयरिंग, स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो और टेलीफोनी कंट्रोल्स, 7-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, एंड्रॉयड ऑटो और एप्पल कारप्ले कनेक्टिविटी का फीचर मिलता है। रेनो क्विड की तुलना में इसमें रिवर्स कैमरा, रियर पावर विंडो और रियर चार्जिंग सॉकेट जैसे फीचर्स की कमी है। कार का इंफोटेनमेंट सिस्टम का टच अच्छा है और इसे इस्तमाल करना भी आसान है। हालाँकि एंड्रॉइड ऑटो के माध्यम से फोन को कनेक्ट करने में काफी समय लेता है।

इसके फ्रंट में (डोर पर) दो स्पीकर्स दिए हैं जिनकी साउंड क्वालिटी शानदार है। इसके रियर डोर पर स्पीकर फिट करने के लिए कोई स्लॉट नहीं दिया गया है। ऐसे में आफ्टरमार्केट जो लोग कार में अतिरिक्त स्पीकर लगवाना चाहते हैं उन्हें रियर पार्सल ट्रे का इस्तमाल करना होगा।   

एस-प्रेसो में मिलने वाला मैनुअल एसी काफी अच्छे से काम करता है और बेहद कम समय में केबिन को ठंडा कर देता है। हमारे अनुसार यह किसी अन्य छोटी कार में मिलने वाले एयर कंडीशन सिस्टम से कही बेहतर है। हमने एस-प्रेसो को जोधपुर (राजस्थान) के तपते और उमस से भरे मौसम में टेस्ट किया लेकिन उसके बावजूद भी कार को केबिन चिल्ड़ करने में कोई समस्या नहीं हुई।

जैसा कि हमने पहले भी बताया एस-प्रेसो में स्पीडोमीटर, ओडोमीटर व फ्यूल गेज आदि डैशबोर्ड के सेंटर में मिलते हैं। ऐसे में जिन लोगो के पास कोई और कार भी है उन्हें एस-प्रेसो के इस सेटअप के साथ एडजस्ट होने में थोड़ा समय  लग सकता है। हालांकि यदि किसी के पास पहले ही टोयोटा इटिऑस, शेवरले स्पार्क, टाटा इंडिका विस्टा या मांजा में से कोई कार है तो उन्हें ज्यादा परेशानी नहीं होगी क्योंकि इन कारों में भी सेंट्रली-माउंटेड इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर मिलता है/था। एस-प्रेसो में टेको मीटर नहीं दिया गया है।

हमारे अनुसार एस-प्रेसो को टेक्निकल और फीचर्स पॉइंट पर और बेहतर बनना चाहिए था। अगर मारुति अपनी इस कार में डे/नाईट मिरर, इलेक्ट्रिक ओ.आर.वी.एम. (आउटसाइड रियर व्यू मिरर), रियर वाइपर/वॉशर और रियर डिफॉगर, हाइट एडजस्टेबल ड्राइवर सीट और टिल्ट एडजस्टेबल स्टीयरिंग व्हील जैसे बेसिक फीचर्स और जोड़ देती तो कार की प्रैक्टिकल अप्रोच बढ़ जाती।

परफॉर्मेंस

एस-प्रेसो में ऑल्टो के10 और वैगनआर वाला 1.0-लीटर, 3-सिलेंडर इंजन दिया गया है जो 5500आरपीएम पर 68पीएस की पावर और 3500आरपीएम पर 90एनएम का टॉर्क जनरेट करता है। मारुति ने इंजन से पैदा होने वाले वाइब्रेशन को काफी हद तक कंट्रोल किया है। लेकिन गलत गियर पर गलत स्पीड से कार चलने पर आपको जरूर केबिन में वाइब्रेशन महसूस होंगे। 

मारुति ने अपने इस जाने-माने इंजन को बीएस6 उत्सर्जन मानकों पर अपग्रेड कर पेश किया है। हालांकि, इन सख्त उत्सर्जन नॉर्म्स पर अपडेट होने के बावजूद भी इसकी परफॉर्मेंस में कोई अंतर नहीं आया है। यह शहर में शानदार प्रदर्शन करता है और दूसरे-तीसरे गियर में भी आप आसानी से सिटी ड्राइविंग कर सकते हैं।

 हाईवे पर, यह इंजन 80 से 100 किमी/घंटा की स्पीड आराम से पकड़ लेती है और तीन अंकों वाली स्पीड पर भी कार स्टेबल महसूस होती है। हालांकि, इसके सस्पेंशन को स्टिफ (हार्ड) रखा गया है लेकिन फिर भी कार की ज्यादा ऊंचाई के चलते हाई स्पीड पर बॉडी रोल होता है। ऐसे में तेज़ स्पीड पर ओवरटेक न करें।    

मैनुअल गियरबॉक्स से आपको कोई ख़ासा शिकायत नहीं होगी। हालांकि इसका गियर ट्रेवल थोड़ा ज्यादा है। बात करें एएमटी गियरबॉक्स की तो, इसकी परफॉर्मेंस सैंट्रो और क्विड की तुलना में अच्छी है। चूँकि यह ऑटोमैटिक गियरशिफ्ट करता है तो आपको बार-बार गियरबदलने और क्लच के इस्तमाल से राहत मिलती है। यह स्मूथ तरीके से ऑटोमैटिक गियर शिफ्टिंग करता है। हालांकि, पूरी तरह से आपको गियरशिफ्टिंग का पता नहीं चलेगा ऐसा भी नहीं है। साथ ही ओवरटेक के दौरान यह डाउनशिफ्टिंग में एक-दो सेकण्ड्स का टाइम भी लेता है। 

राइड और हैंडलिंग

एस-प्रेसों शहर में बेहद अच्छी राइड क्वालिटी और हैंडलिंग देती है। केबिन से रोड और आस-पास का अच्छा व्यू (विजिबिलिटी) मिलती है। कार के छोटे साइज लेकिन ज्यादा ऊंचाई और ग्राउंड क्लीयरेंस के चलते यह आसानी से स्पीड ब्रेकर्स या रोड की अन्य बाधाओं को पार कर लेती है और बिना गियर बदले आप वापस रेव कर सकते हैं। कार को छोटे तंग इलाको से भी निकालना आसान है। हालांकि, इसमें पतले टायर्स मिलते हैं जिसके चलते रोड पर इनकी पकड़ उतनी ज्यादा मजबूत नहीं होती। इसलिए हाई-स्पीड पर ब्रेकिंग न करें। इसके अलावा, जैसा की हमने भी बताया गाड़ी के सस्पेंशन को थोड़ा स्टिफ रखा गया है जिससे सिटी स्पीड पर राइड थोड़ी बाउंसी लगती है। लेकिन थोड़ी तेज़ स्पीड पर केबिन के अंदर बंप्स का पता नहीं चलता है।    

तीन अंकों की स्पीड पर भी कार सीधी रोड पर स्टेबल रहती है। लेकिन पतले टायर्स और बॉडी रोल के चलते तेज़ स्पीड पर शार्प टर्निंग या ओवरटेकिंग को भी अनदेखा करें।

एस-प्रेसो में ऑल्टो के10 और वैगनआर वाला 1.0-लीटर, 3-सिलेंडर इंजन दिया गया है जो 5500आरपीएम पर 68पीएस की पावर और 3500आरपीएम पर 90एनएम का टॉर्क जनरेट करता है। मारुति ने इंजन से पैदा होने वाले वाइब्रेशन को काफी हद तक कंट्रोल किया है। लेकिन गलत गियर पर गलत स्पीड से कार चलने पर आपको जरूर केबिन में वाइब्रेशन महसूस होंगे। 

मारुति ने अपने इस जाने-माने इंजन को बीएस6 उत्सर्जन मानकों पर अपग्रेड कर पेश किया है। हालांकि, इन सख्त उत्सर्जन नॉर्म्स पर अपडेट होने के बावजूद भी इसकी परफॉर्मेंस में कोई अंतर नहीं आया है। यह शहर में शानदार प्रदर्शन करता है और दूसरे-तीसरे गियर में भी आप आसानी से सिटी ड्राइविंग कर सकते हैं।

 हाईवे पर, यह इंजन 80 से 100 किमी/घंटा की स्पीड आराम से पकड़ लेती है और तीन अंकों वाली स्पीड पर भी कार स्टेबल महसूस होती है। हालांकि, इसके सस्पेंशन को स्टिफ (हार्ड) रखा गया है लेकिन फिर भी कार की ज्यादा ऊंचाई के चलते हाई स्पीड पर बॉडी रोल होता है। ऐसे में तेज़ स्पीड पर ओवरटेक न करें।    

मैनुअल गियरबॉक्स से आपको कोई ख़ासा शिकायत नहीं होगी। हालांकि इसका गियर ट्रेवल थोड़ा ज्यादा है। बात करें एएमटी गियरबॉक्स की तो, इसकी परफॉर्मेंस सैंट्रो और क्विड की तुलना में अच्छी है। चूँकि यह ऑटोमैटिक गियरशिफ्ट करता है तो आपको बार-बार गियरबदलने और क्लच के इस्तमाल से राहत मिलती है। यह स्मूथ तरीके से ऑटोमैटिक गियर शिफ्टिंग करता है। हालांकि, पूरी तरह से आपको गियरशिफ्टिंग का पता नहीं चलेगा ऐसा भी नहीं है। साथ ही ओवरटेक के दौरान यह डाउनशिफ्टिंग में एक-दो सेकण्ड्स का टाइम भी लेता है।

सेफ्टी

मारुति की इस माइक्रो-एसयूवी के सभी वेरिएंट्स में ड्राइवर साइड एयरबैग, एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्ट (एबीएस), इलेक्ट्रॉनिक ब्रेकफोर्स डिस्ट्रीब्यूशन (ईबीडी), रिवर्स पार्किंग सेंसर, फ्रंट सीटबेल्ट रिमाइंडर और हाई स्पीड अलर्ट सिस्टम जैसे फीचर्स मिलते हैं। वहीं, वीएक्सआई+ वेरिएंट में पैसेंजर साइड एयरबैग अतिरिक्त मिलता है। हालांकि, अन्य वेरिएंट्स में भी पैसेंजर साइड एयरबैग का ऑप्शन मिलता है लेकिन इसके लिए ग्राहकों को 6,000 रुपये की अतिरिक्त राशि चुकानी होगी। हम आपको सलाह देंगे की आप पैसेंजर साइड एयरबैग का ऑप्शन जरूर चुनें।  

एस-प्रेसो को क्रैश टेस्ट नॉर्म्स के अनुसार तैयार किया गया है। हालांकि, एनकैप द्वारा अब तक इसका क्रैश टेस्ट नहीं किया गया है।  

वेरिएंट्स

मारुति एस-प्रेसो कुल तीन वैरिएंट: एलएक्सआई, वीएक्सआई और वीएक्सआई+ में उपलब्ध है। इसके टॉप वेरिएंट - वीएक्सआई+ को छोड़कर अन्य सभी वेरिएंट ऑप्शन (ओ) सब-वेरिएंट में भी आते हैं। इन ऑप्शनल वेरिएंट के साथ पैसेंजर एयरबैग और फ्रंट सीटबेल्ट्स में प्रीटेशनर व फ़ोर्स लिमिटर जैसे सेफ्टी फीचर अतिरिक्त मिलते हैं।  

आपको बता दें कि एस-प्रेसो के बेस वेरिएंट - एलएक्सआई में फ्रंट पावर विंडो, पावर स्टीयरिंग और एसी जैसे बेसिक फीचर्स की कमी है। ऐसे में आप इस वेरिएंट को भूल ही जाएं तो बेहतर है। यदि आपका बजट कम है तो आप एलएक्सआई (ओ) वेरिएंट ले सकते हैं इसमें ऊपर बताए गए अतिरिक्त सेफ्टी फीचर्स के अलावा एसी और पावर स्टीयरिंग भी मिल जाता है। इसके अलावा, वीएक्सआई (ओ) और वीएक्सआई+ में से हम आपको अपना बजट थोड़ा बढ़ाकर वीएक्सआई+ लेने की सलाह देंगे क्योंकि इसमें इंटरनली एडजस्टेबल आउटसाइड रियर व्यू मिरर (ओआरवीएम), टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो कंट्रोल जैसे फीचर्स भी मिलते हैं।  

निष्कर्ष

क्या मारुति एस-प्रेसो छोटी सिटी कार की परिभाषा को नई पहचान देती हैं? पूरी तरह से नहीं। हाँ, लेकिन यह एक सस्ती हैचबैक कार से हर मामले में बेहतर साबित होती है। यह एंट्री-लेवल सेगमेंट में सबसे ज्यादा स्पेशियस कार है। कार का बूट भी छोटी फॅमिली के लिए पर्याप्त है। यह पूरा पैकेज मारुति के भरोसेमंद 1.0-लीटर पेट्रोल इंजन के साथ आता है जिसकी परफॉरमेंस बेहद अच्छी है। इंजन के साथ एएमटी गियरबॉक्स का भी ऑप्शन मिलता है जो आपको बार-बार गियर बदलने के झंझट से आजादी देता है। हमारे अनुसार पहली बार कार खरीदने वालो के लिए मारुति एस-प्रेसो एक अच्छा विकल्प है। 

हालांकि, एस-प्रेसो की डिज़ाइन उस प्रकार की नहीं है जिसे सब पसंद कर सकें। इस मामले में एस-प्रेसो के मुकाबले वाली रेनो क्विड कहीं आगे है। इसके अलावा, फीचर्स और प्राइसिंग के मोर्चे पर भी रेनो क्विड ज्यादा वैल्यू-फॉर-मनी लगती है। इसके अलावा एस-प्रेसो ना खरीदने का एक और कारण मारुति वैगनआर है। क्योंकि मारुति एस-प्रेसो 3.69 लाख से 4.91 लाख रुपये (एक्स-शोरूम दिल्ली) की प्राइस रेंज में उपलब्ध है। इस लिहाज़ से इसकी कीमत मारुति वैगनआर के काफी करीब है। ग्राहक अपने बजट को 50 से 70 हज़ार रुपये और बढ़ाकर (यानि मासिक ईएमआई में 1000-1500 रुपये का इज़ाफ़ा) एस-प्रेसो से बड़ी और बेहतर कार के रूप में वैगनआर ले सकते हैं।     

मारूति एस-प्रेसो की खूबियां और खामियां

खूबियां

  • अच्छा स्पेस: 6-फुट की ऊंचाई वाले चार जाने कम्फर्टेबल होकर बैठ सकते हैं।
  • सिटी कंडीशन में इंजन की शानदार परफॉर्मेंस
  • 270-लीटर का स्पेशियस बूट

खामियां

  • रियर पावर विंडो, बोत्तल होल्डर जैसे कई अन्य बेसिक फीचर्स की कमी
  • 100 से ज्यादा की स्पीड पर पतले व्हील्स के चलते ओवरटेकिंग, शार्प टर्निंग या इमरजेंसी ब्रेकिंग खतरनाक साबित हो सकती है। 
  • फीचर्स के अनुसार ज्यादा कीमत (ओवरप्राइसड) 

फीचर जो बनाते हैं खास

  • मारूति एस-प्रेसो की खूबियां और खामियां

    एंड्रॉइड ऑटो और एप्पल कारप्ले से लैस 7-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम

  • मारूति एस-प्रेसो की खूबियां और खामियां

    सेगमेंट में पहली बार स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो कन्ट्रोल्स का फीचर

  • मारूति एस-प्रेसो की खूबियां और खामियां

    पावरफूल एयर कंडीशनिंग सिस्टम 

space Image

मारूति एस-प्रेसो यूजर रिव्यू

4.4/5
पर बेस्ड58 यूजर रिव्यू
Write a Review and Win
200 Paytm vouchers & an iPhone 7 every month!
Iphone
  • All (58)
  • Looks (28)
  • Comfort (5)
  • Mileage (9)
  • Engine (12)
  • Interior (5)
  • Space (5)
  • Price (10)
  • More ...
  • नई
  • उपयोगी
  • CRITICAL
  • My mini SUV.

    The S-Presso is powered by a BS VI-compliant 1-litre petrol engine. It is the eighth vehicle in the Maruti Suzuki portfolio to come equipped with the enhanced emission st...और पढ़ें

    द्वारा chandan sinha
    On: Nov 28, 2019 | 6900 Views
  • New compact-mini SUV

    It's definitely a bang for the buck(3.69 - 4.91 lacs). Mass segment car, after all, we get Maruti's trusted sales and service. It's design is either a hit or a miss and s...और पढ़ें

    द्वारा yasasvy guntur
    On: Nov 18, 2019 | 10919 Views
  • for VXI Plus AT

    Very nice car.

    It is a nice car with comfortable driving. Slight improvement in rear seats is required. Overall this is a perfect mini SUV car.

    द्वारा user
    On: Nov 29, 2019 | 74 Views
  • for VXI AT

    Very Nice Car

    The Maruti S-Presso is a budget mini SUV car, it has very nice boot space and ground clearance. Its body finish is super. It has comfort and safe driving experience. I lo...और पढ़ें

    द्वारा mc rajeev thrissur
    On: Nov 13, 2019 | 2067 Views
  • An Affordable 'Micro SUV' - Maruti S-Presso

    Maruti S-Presso is an excellent car at this budget. Ride quality is superb. Seating is comfortable and the engine is quite smooth. 

    द्वारा anonymous
    On: Nov 11, 2019 | 83 Views
  • सभी देखें एस-प्रेसो रिव्यूज
space Image

मारूति एस-प्रेसो वीडियो

  • Maruti S-Presso vs Renault Kwid | AMT Comparison | ZigWheels.com
    11:37
    Maruti S-Presso vs Renault Kwid | AMT Comparison | ZigWheels.com
    Dec 09, 2019
  • Maruti S Presso AMT vs Renault KWID AMT | Automatic Comparison Review In Hindi | CarDekho.com
    11:8
    Maruti S Presso AMT vs Renault KWID AMT | Automatic Comparison Review In Hindi | CarDekho.com
    Dec 09, 2019
  • Maruti Suzuki S-Presso Launched In India | Walkaround Review | Price, Features, Interior & More
    6:56
    Maruti Suzuki S-Presso Launched In India | Walkaround Review | Price, Features, Interior & More
    Nov 08, 2019
  • Maruti Suzuki S-Presso First Look Review In Hindi | Price, Variants, Features & more | CarDekho
    6:29
    Maruti Suzuki S-Presso First Look Review In Hindi | Price, Variants, Features & more | CarDekho
    Nov 08, 2019
  • Maruti S-Presso Detailed Walkaround in Hindi | Launch Price 3.69 Lakh | CarDekho
    7:3
    Maruti S-Presso Detailed Walkaround in Hindi | Launch Price 3.69 Lakh | CarDekho
    Nov 08, 2019

मारूति एस-प्रेसो कलर

  • solid fire red
    सॉलिड फायर रेड
  • metallic graphite grey
    मैटेलिक ग्रेफाइट ग्रे
  • solid superior white
    सॉलिड सुपीरियर व्हाइट
  • metallic silky silver
    मैटेलिक सिल्की सिल्वर
  • solid sizzle orange
    सॉलिड सीज़्ज़ल ऑरेंज
  • pearl starry blue
    पर्ल स्टारी ब्लू

मारूति एस-प्रेसो फोटो

  • तस्वीरें
  • मारूति एस-प्रेसो front left side image
  • मारूति एस-प्रेसो side view (left)  image
  • मारूति एस-प्रेसो rear left view image
  • मारूति एस-प्रेसो front view image
  • मारूति एस-प्रेसो rear view image
  • CarDekho Gaadi Store
  • मारूति एस-प्रेसो grille image
  • मारूति एस-प्रेसो front fog lamp image
space Image

मारूति एस-प्रेसो न्यूज़

space Image
space Image

भारत में मारूति एस-प्रेसो की कीमत

सिटीएक्स-शोरूम कीमत
मुंबईRs. 3.69 - 4.9 लाख
बैंगलोरRs. 3.69 - 4.91 लाख
चेन्नईRs. 3.69 - 4.91 लाख
हैदराबादRs. 3.69 - 4.91 लाख
पुणेRs. 3.69 - 4.91 लाख
कोलकाताRs. 3.69 - 4.91 लाख
कोच्चिRs. 3.69 - 4.91 लाख
अपना शहर चुनें

ट्रेंडिंग मारूति कार्स

  • लोकप्रिय
  • अपकमिंग

मारुति एस-प्रेसो पर अपना कमेंट लिखें

10 कमेंट्स
1
a
anser raguman
Dec 3, 2019 11:55:59 AM

Insiyal amount

    जवाब
    Write a Reply
    1
    M
    mohad inam qureshi
    Nov 19, 2019 1:50:55 AM

    Mujhe lagta he india me electronic par company ko fokas karna chaiye dusri country kaha ki kaha chali gayi hamara desh Abhi piche hi he

      जवाब
      Write a Reply
      1
      P
      partha sarathi sil
      Nov 2, 2019 1:16:09 AM

      Road tax 55000 for 10 years or 5 years?

        जवाब
        Write a Reply
        ×
        आपका शहर कौन सा है?