• लॉगिन / रजिस्टर

भारत में 2022 तक मास-मार्केट हाइब्रिड कारें लॉन्च करेगी टोयोटा

प्रकाशित: अप्रैल 21, 2020 06:01 pm । भानु

  • 1344 व्यूज़
  • Write a कमेंट

  • पूरी तरह इलेक्ट्रिक कारों की जगह हाइब्रिड मॉडल बनाने पर ध्यान देगी टोयोटा
  • कंपनी का मानना है कि इलेक्ट्रिक से ज्यादा ईको फ्रेंडली होती है हाइब्रिड कारें 
  • भारत में कैमरी और वेलफायर के रूप में मौजूद है टोयोटा की दो हाइब्रिड कारें 
  • कॉम्पैक्ट इलेक्ट्रिक व्हीकल तैयार करने के लिए टोयोटा ने सुजुकी और डायहत्सु से मिलाया हाथ
  • सुजुकी के साथ मिलकर भारत में बैट्री तैयार करने वाला प्लांट भी स्थापित करेगी ये कंपनी

भारत में पिछले कुछ महीनों से इलेक्ट्रिक व्हीकल के प्रति मार्केट का रुझान ढीला ही चल रहा है, मगर आने वाले समय में ऑटोमोटिव इंडस्ट्री ईको फ्रेंडली व्हीकल बनाने पर ही अपना ध्यान केंद्रित करेगी। कुछ ऐसी ही दिशा में टोयोटा मोटर्स (Toyota Motors) भी काम करने की सोच रही है। लेकिन, कंपनी प्योर इलेक्ट्रिक व्हीकल की जगह हाइब्रिड कारें बनाने पर विचार कर रही है। कंपनी की योजना भारत में 2022 से ज्यादा से ज्यादा हाइब्रिड कारें तैयार करने की है। 

वर्तमान में भारतीय बाज़ार में टोयोटा की दो हाइब्रिड कार प्रीमियम सेडान कैमरी और लग्जरी एमपीवी वेलफायर मौजूद है, जिनकी कीमत काफी ज्यादा है। दोनों कारें एक वेरिएंट में उपलब्ध है, जहां कैमरी हाइब्रिड (Toyota Camry Hybrid) की प्राइस 37.88 लाख रुपये है तो वहीं वेलफायर की कीमत 79.50 लाख रुपये (एक्स-शोरूम, दिल्ली) है। 

यह भी पढ़ें: सुज़ुकी और टोयोटा खरीदेंगी एकदूसरे के शेयर्स

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के वाइस चेयरमैन विक्रम किर्लोस्कर ने ​हाल ही में कहा था कि “टोयोटा का हाइब्रिड आर्किटेक्चर फुल हाइब्रिड, प्लग-इन हाइब्रिड, हायड्रोजन और प्योर ईवी के लिए कॉमन है। उन्होंने आगे कहा कि आप 2022 से हाइब्रिड कारें तैयार होते देखेंगे और मुझे नहीं मालूम कि 2025 तक हमारे पोर्टफोलियों में कितनी नॉन हाइब्रिड कारें होंगी।”

टोयोटा ने डायहत्सु (Daihatsu) और सुजुकी से कॉम्पैक्ट ईवी तैयार करने के लिए हाथ मिलाया है। साथ ही कंपनी ने भारत में सुजुकी के साथ मिलकर अफोर्डेबल कार तैयार करने के लिए भी पार्टनरशिप की है। दोनों कंपनियां इस पार्टनरिशप के तहत भारत में लिथियम आयन प्लांट भी स्थापित करेगी। इसके अलावा टोयोटा और सुजुकी (Suzuki) एक-दूसरे से हाइब्रिड टेक्नोलॉजी भी शेयर करेगी। बता दें कि भारत में मारुति-सुजुकी की सियाज़ (Ciaz), अर्टिगा (Ertiga) और बलेनो (Baleno) में माइल्ड-हाइब्रिड पावरट्रेन दी जा चुकी है। 


भारत में टोयोटा ने जहां हाइब्रिड कारों के लिए 2022 की समय-सीमा निर्धारित की है, वहीं जापान की ही दूसरी कंपनी होंडा (Honda) की योजना इंडिया में 2021 तक बड़े पैमाने पर मास मार्केट हाइब्रिड कारें तैयार करने की है। इसी दौरान कुछ दूसरे ब्रांड भारत में प्योर इलेक्ट्रिक व्हीकल तैयार करने में जुटे होंगे। इस समय भारतीय बाज़ार में तीन लॉन्ग रेंज ईवी मौजूद हैं जो 300 किलोमीटर से ज्यादा की दूरी तय करने में सक्षम है। इनमें टाटा नेक्सन ईवी (Tata Nexon EV), एमजी जेडएस ईवी (MG ZS EV) और हुंडई कोना इलेक्ट्रिक (Hyundai Kona EV) शामिल है। इन सब कारों की कीमत 25 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) के करीब है। 

यह भी पढ़ें: आपको कोरोना से बचाएगा एमजी हेक्टर और जेडएस ईवी में मिलने जा रहा ये खास फीचर

  • New Car Insurance - Save Upto 75%* - Simple. Instant. Hassle Free - (InsuranceDekho.com)
  • Sell Car - Free Home Inspection @ CarDekho Gaadi Store
द्वारा प्रकाशित

Write your कमेंट

Read Full News
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का
×
आपका शहर कौन सा है?