• English
  • menu
  • Login / Register

केरल में गहरे कूएं में समाई मारुति ऑल्टो, सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई पूरी घटना

प्रकाशित: मई 09, 2022 07:40 pm । भानु

  • 2354 व्यूज़
  • Write a कमेंट

केरल में एक मारुति ऑल्टो के कूएं मे समा जाने का मामला सामने आया है। गनीमत ये रही कि इस कार में सवार सभी पैसेंजर्स सुरक्षित हैं जिन्हें कूएं से बाहर निकाल लिया गया। वैसे भारत में आए दिन ऐसे कोई ना कोई हादसे सामने आते रहते हैं जिनमें लोगों को गंभीर रूप से चोटें भी आती है वहीं कई बार मौत होने की बात भी पढ़ी सुनी जा सकती है। 

आखिर कूएं में कैसी गिरी ये मारुति ऑल्टो 

अभी ये बात तो सामने नहीं आई है कि आखिर मारुति ऑल्टो कूएं में कैसे गिरी मगर रिपोर्ट्स और सीसीटीवी फुटेज के जरिए सामने आया है कि किसी चीज से टकराने से बचने के लिए ऑल्टो को ड्राइव कर रहा व्यक्ति नियंत्रण खो बैठा और कार कूएं में गिर गई। हालांकि इस दौरान कार ने एक दोपहिया वाहन को भी टक्कर मारी जिसपर सवार व्यक्ति साइज में जा गिरा। इसके बार कार कूएं की दीवार से टकरा गई और ​इसके बाद वो कूएं में समा गई। 

अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस दो लेन वाली रोड पर कुछ व्हीकल ऑल्टो के सामने से दूसरी लेन में जाने का प्रयास कर रहे थे। इस दौरान ड्राइवर ने ब्रेक लगाने के बजाए दूसरे व्हीकल्स से बचने के लिए कार को रॉन्ग साइड ले गया और ये हादसा पेश आया। 

रिपोर्ट्स की मानें तो ऑल्टो में ड्राइवर समेत चार पैसेंजर्स सवार थे जिन्हें मौके पर मौजूद लोगों,पुलिस और फायर ब्रिगेड की सहायता से बाहर निकाल लिया गया। इस दौरान कार को भी कूएं से बाहर निकाल लिया गया जिसपर काफी डैमेज आए हैं। इस तरह की घटना में गाड़ी के इंजन को भी नुकसान पहुंचता है। 

यह संभव है कि इस घटना में ड्राइवर की गलती रही हो,लेकिन सड़क के किनारे कुएं का होना भी इस लिहाज से खतरें को आमंत्रण देने के बराबर है। 

क्या ऐसी दुर्घटनओं पर लगाया जा सकता है अंकुश?

व्हीकल ड्राइव करते समय सही निर्णय लेने और पूरी तरह से सतर्क रहने से सड़क दुर्घटनाओं को रोकने में काफी मदद मिल सकती है। यदि ड्राइवर ने कार को दूसरे व्हीकल्स से टकराने से बचने के दौरान एक्सलरेट करने के बजाए ब्रेक्स लगाए होते तो शायद तस्वीर कुछ और ही होती। इस समय ड्राइवर को सामने से आते वाहनों को रास्ता दे देना चाहिए था। 

सड़क पर सुरक्षित रहने के लिए क्या करना चाहिए?

डिफेंसिव ड्राइविंग सामान्य रूप से दुर्घटनाओं से बचने में आपकी मदद कर सकती है, लेकिन कुछ स्थितियों में संयम बरतना भी उतना ही आवश्यक और उपयोगी साबित हो सकता है। नीचे हमनें कूएं,नालों या सड़क से कार को उतरने से बचाने के लिए कुछ आसान टिप्स सुझाए हैं जिनके बारे में आप जानेंगे आगे:

स्लो डाउन: दूसरे व्हीकल्स से आगे निकलने के बजाय ट्रैफिक की स्पीड के बराबर ही चलने की कोशिश करें। किसी कस्बे या शहर में व्हीकल ड्राइव करते समय अपनी स्पीड पर कंट्रोल रखना महत्वपूर्ण है। यह आपको पैदल चलने वालों से भी सेफ रखता है जो कि सड़क पर अचानक से प्रकट हो सकते हैं। 

पूरी तरह से अलर्ट रहें: भारत में हाइवे पर ड्राइविंग करते समय नींद या झपकी पर भी कंट्रोल रखना काफी जरूरी है। लंबी दूरी तय करते समय आपको ठीक से जागना और सतर्क रहना चाहिए। इस दौरान अपने पांव को आराम देने के लिए समय समय पर ब्रेक भी लेते रहें। जरूरी हो तो किसी और को भी कार ड्राइव करने दें। ऐसे समय पर एनर्जी ड्रिंक मददगार हो सकते हैं, लेकिन वे सही मात्रा में नींद का विकल्प नहीं बन सकते हैं।

दूर तक देखने की कोशिश करें: आप भविष्यवक्ता नहीं हो सकते, लेकिन यदि आप जितना संभव हो सके आगे देखने की कोशिश कर सकते हैं तो आप संभावित खतरे को देख सकते हैं। इससे आपको अपने आगे के व्हीकल्स से सुरक्षित दूरी बनाए रखने और यातायात और मौसम की स्थिति के अनुसार अपनी स्पीड मेंटेन करने में ​भी मदद मिलती है। 

उचित दूरी बनाए रखें: अपने और सामने की कार के बीच दो या तीन सेकंड की दूरी रखने की कोशिश करें। इसके अलावा, यह सुनिश्चित करने के लिए अपने साइड और रियरव्यू मिरर में ये देखें कि दूसरी गाड़ी का ड्राइवर कहीं आपको लापरवाही से ओवरटेक करने की कोशिश तो नहीं कर रहा। 

ओवरटेकिंग लेन से बचें: दाहिनी लेन हमेशा ओवरटेकिंग लेन होती है, इसलिए उस लेन में ड्राइव करने से तब तक बचें जब तक कि आप स्लो स्पीड कार से आगे नहीं निकलने वाले ना हों। यदि आपको उस लेन में रहने के लिए मजबूर किया जाता है, तो तेज गति में चल रहे व्हीकल्स को सम्मान देना ही सेफ रहेगा। 

यह भी पढ़ें:महिंद्रा एक्सयूवी700 की शानदार पुलिस कार के तौर पर हुई रें​डरिंग,देखिए वीडियो

ध्यान रखें कि कार के भी ब्लाइंड स्पॉट्स होते हैं: इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौनसा व्हीकल इस्तेमाल कर रहे हैं मगर ये बात ध्यान रखें कि ड्राइवर को सड़क का 360 डिग्री व्यू नहीं मिल सकता है। ए,बी,सी पिलर के पीछे वाला एरिया ड्राइवर नहीं देख सकता है वहीं रियर पैसेंजर्स,डी पिलर्स,छोटी विंडशील्ड या सनशेड्स से भी पीछे का व्यू नहीं मिलता है। इसे चैक करने का सबसे अच्छा तरीका ये है क्या ड्राइवर आपको देख सकता है, और आपको यह देखना है कि क्या आप ड्राइवर का चेहरा देख सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: इन 5 आफ्टरमार्केट वेंटिलेटेड सीट कवर्स से आप किसी भी कार में पा सकतें है कूल्ड सीट्स का फीचर

टर्न लेने से पहले इंडिकेटर दें: यहां तक ​​​​कि अगर आपको कार को थोड़ा सा भी घुमाना है, आगे के पहिये को मोड़ना है या लेन बदलना है, तो समय से पहले अपने इंडिकेटर्स ऑन करना बेहद महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ें:मारुति एक्सएल6 को मिला नया डिजिटल मॉडिफिकेशन, हॉट पिंक, ग्रीन और ऑरेंज कलर में फैमिली एमपीवी से ज्यादा रेसिंग कार का आ रहा है फील

खराब ड्राइविंग करने वालों से सावधान रहें: सड़क पर खराब ड्राइविंग करने वाले अलग से ही नजर आ जाते हैं। ड्राइव करते वक्त फोन पर बात करने वाले, नशा करके ड्राइविंग करने वाले  और थके हुए ट्रक ड्राइवर सभी ऐसे लोग हैं जो बिना मतलब के आपको चोट पहुंचा सकते हैं।

हादसे का शिकार हुई ऑल्टो एक ऐसी कार है जिसमें काफी कम सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं। आने वाले समय में ऑल्टो का न्यू जनरेशन मॉडल भी मार्केट में लॉन्च किया जाएगा। इस बार ये कार पहले से ज्यादा सेफ्टी फीचर्स से लैस होगी और इसकी बॉडी भी काफी मजबूत होगी। इस अपकमिंग कॉम्पैक्ट हैचबैक में टॉल बॉय डिजाइन नजर आएगी और इसमें काफी ज्यादा स्पेस भी मिलेगा। ऑल्टो के नए मॉडल के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें। 

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

Write your कमेंट

Read Full News

ट्रेंडिंगकारें

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience