• लॉगिन / रजिस्टर

ग्लोबल एनकैप ने किया मारुति सुजुकी इग्निस का क्रैश टेस्ट, मिली स्विफ्ट से ज्यादा सेफ्टी रेटिंग

संशोधित पर Jun 04, 2019 02:41 PM द्वारा Nikhil for मारुति इग्निस

  • 331 व्यूज़
  • Write a कमेंट

Maruti Ignis crash test

ग्लोबल न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (ग्लोबल एनकैप) ने हाल ही में साउथ अफ्रीका में बिकने वाली सुजुकी इग्निस का फ्रंट ओफ़्सेट क्रैश टेस्ट किया है, जिसमे इग्निस को 3-स्टार रेटिंग प्राप्त हुई है। हालांकि, साउथ अफ्रीका में बिकने वाली इस इग्निस को भारत से ही निर्यात किया जाता है।  

64 किमी/घंटे की स्पीड पर टेस्ट की गई इग्निस, ड्यूल फ्रंट एयरबैग और एबीएस सेफ्टी फीचर से लैस थी। भारत में बिकने वाली इग्निस में भी दो एयरबैग, एबीएस स्टैंडर्ड मिलते है।ऐसे में उम्मीद है कि यदि भारत में बिकने वाली इग्निस को भी टेस्ट किया जाए तो इसे भी 3-स्टार रेटिंग ही हासिल होगी। 

Global NCAP data for Ignis

इग्निस के टेस्ट क्रैश परिणामों के अनुसार ग्लोबल एनकैप ने कार की बॉडी को अस्थिर करार दिया है। इसे एडल्ट सेफ्टी के लिए 49 में से 9.99 अंक मिलें। फ्रंट क्रैश के दौरान यह ड्राइवर की छाती को पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने में नाकाम रही। हालांकि, यह ड्राइवर और फ्रंट पैसेंजर के सिर और गर्दन को पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करती है। चाइल्ड सेफ्टी के लिए इग्निस को 8.0 अंक मिलें।  

ग्लोबल एनकैप द्वारा पिछले साल स्विफ्ट का भी फ्रंट क्रैश टेस्ट किया गया था। जिसमे स्विफ्ट को केवल 2 स्टार रेटिंग ही मिली थी। इस लिहाज़ से इग्निस हैचबैक, स्विफ्ट से ज्यादा सुरक्षति है। स्विफ्ट को एडल्ट सेफ्टी में 7.08 अंक मिले थे, जो इग्निस की तुलना 2.91 अंक कम है। वहीं, चाइल्ड सेफ्टी में स्विफ्ट को 16.23 अंक मिले थे, जो इग्निस से 8.23 अंक ज्यादा है। इग्निस और स्विफ्ट दोनों कारों को ही सुजुकी के हार्टेक्ट आर्किटेक्चर पर तैयार किया गया है। इग्निस और वैगनाआर दोनों को ही हार्टेक्ट-ए और बलेनो और स्विफ्ट को हार्टेक्ट-बी प्लेटफार्म पर बनाया गया है। 

Maruti Swift crash test

इग्निस और स्विफ्ट के सिवा रेनो डस्टर, फोर्ड एस्पायर के पुराने मॉडल (प्री-फेसलिफ्ट वर्ज़न) और महिंद्रा स्कॉर्पियो की बॉडी को भी ग्लोबल एनकैप द्वारा अस्थिर करार दिया जा चुका है। 

ध्यान दें: ग्लोबल एनकैप 64 किमी/घंटे की स्पीड से क्रैश टेस्ट कर कारों को सेफ्टी रेटिंग देती है। एक ज्यादा रेटिंग वाली कार निश्चित रूप से कम रेटिंग वाली कार की तुलना में ज्यादा सुरक्षित होती है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आप अधिक सुरक्षित कार को ओवर-स्पीड के लाइसेंस के रूप में लें। ग्लोबल एनकैप नियंत्रित परिस्थितियों में कारों का क्रैश टेस्ट करती है और कोई भी रेटिंग दुर्घटना की स्थिति में पैसेंजरो की सुरक्षा की गारंटी नहीं दे सकती है।

यह भी पढ़ें: टाटा नेक्सन बनी भारत की सबसे सुरक्षित कार, क्रैश टेस्ट में मिली 5-स्टार रेटिंग

द्वारा प्रकाशित

मारुति इग्निस पर अपना कमेंट लिखें

1 कमेंट
1
N
nagesh kumar
May 30, 2019 5:50:32 PM

Thank you for sharing such information

    जवाब
    Write a Reply
    Read Full News

    कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

    एक्स-शोरूम कीमत न्यू दिल्ली
    ×
    आपका शहर कौन सा है?