महिद्रा एक्सयूवी700 में दिए गए फ्लश डोर हैंडल्स किस तरह से करते हैं काम और किन दूसरी कारों में दिया गया है ये फीचर,जानिए यहां

प्रकाशित: अगस्त 30, 2021 05:22 pm । भानुमहिंद्रा एक्सयूवी700

  • 1597 व्यूज़
  • Write a कमेंट

हाल ही में लॉन्च की गई महिंद्रा एक्सयूवी700 में काफी सारे सेगमेंट फर्स्ट फीचर्स दिए गए हैं जिनमें फ्लश फिटिंग डोर हैंडल्स भी शामिल है। ये फीचर इन दिनों काफी चर्चाओं में है। वैसे भी कार में एंट्री लेने से पहले आप सबसे पहले उसके डोर हैंडल के ही कॉन्टेक्ट में आते हैं और महिंद्रा में दिए गए डोर हैंडल काफी यूनीक है जिसके बारे में हम आपको आगे बताएंगे। 

कनवेंशनल लिफ्ट और पुल टाइप हैंडल्स के मुकाबले फ्लश डोर हैंडल्स कार की बॉडी में ही इंटीग्रेटेड होते हैं जो कई बार दिखाई भी नहीं देते हैंं। इस तरह के डोर हैंडल्स से कारों का डिजाइन कुछ कुछ कॉन्सेप्ट कारों जैसा हो जाता है। ये डोर हैंडल्स किस तरह से काम करते हैं इस बारे में आप जानेंगे आगे:

फ्लश डोर हैंडल्स दो प्रकार के होते हैं: उपर दिए गए वीडियो में आपको एक इलेक्ट्रॉनिकली पॉप आउट हैंडल्स नजर आएंगे और दूसरे तरीके के हेंडल्स आपको टेस्ला मॉडल 3 में नजर आ जाएंगे। पोर्श 911,जगुआर एफ टाइप,एस्टन मार्टिन डीबी11,लंबॉर्गिनी हराकेन जैसी सुपरकारों में फ्लश फिटिंग डोर हैंडल्स दिए गए हैं। वहीं अपकमिंग ऑडी ई ट्रॉन जीटी में भी ये युनिट्स दी जाएंगी। नीचे हमनें ऐसी कारों की एक लिस्ट तैयार की है जिनमें आपको फ्लश फिटिंग डोर हैंडल्स का फीचर मिल जाएगा:

महिंद्रा एक्सयूवी700 (11.99 लाख रुपये से लेकर 14.99 लाख रुपये): अपने मुकाबले में मौजूद हुंडई अल्कजार और टाटा सफारी जैसी कारों को एक्टिव सेफ्टी फीचर्स और एडवांस्ड ड्राइवर ​असिस्टेंस फीचर्स के चलते इस कार ने पीछे छोड़ दिया है। इसके लोअर वेरिएंट में मैकेनिकल फ्लश डोर हैंडल्स दिए हैं जबकि इसके टॉप मॉडल में पॉप आउट हैंडल्स दिए गए हैं। 

रेंज रोवर इवोक (70 लाख रुपये): इवोक में दिए गए फ्लश डोर हैंडल्स कार को अनलॉक करने पर अपने आप बाहर निकलर आ जाते हैं। इस कार में डैशबोर्ड के बीच 10 इंच का इंफोटेनमेंट सिस्टम,टच सेंसिटिव एसी और क्लाइमेट कंट्रोल पैनल भी दिया गया है। 2021 इवोक के इंटीरियर रियरव्यु मिरर में ऑप्शनल क्लीयरसाइट रियरव्यु कैमरा भी दिया गया है। ये काफी अच्छी ऑफ रोडिंग कार है जिसमें ऑल व्हील ड्राइव सिस्टम और टेरेन रिस्पॉन्स 2 भी दिए गए हैं। 

रेंज रोवर वेलार (82 लाख रुपये): इसमें लग्जरी एसयूवी में इवोक की तरह पॉप आउट फ्लश डोर हैंडल्स दिए गए हैं। इसका मुकाबला मर्सिडीज बेंज जीएलई,पोश मकेन,जगुआर एफ पेस और बीएमडब्ल्यू एक्स5 से है। इसके मुकाबले मे मौजूद इससे ज्यादा स्पोर्टी और कम कीमत में उपलब्ध है। मगर इस एसयूवी में आपको 748 लीटर का बूट स्पेस मिलेगा। इसमें टेरेन रिस्पॉन्स 2 के साथ ऑल व्हील ड्राइव सिस्टम दिया गया है। 

टेस्ला मॉडल 3 (संभावित कीमत 60 लाख रुपये): टेस्ला की ओर से भारत में लॉन्च की जाने वाली सबसे पहली कार मॉडल 3 होगी जिसमें मैकेनिकल फ्लश डोर हैंडल्स होंगे जो इस्तेमाल करने में काफी आसान होंगे। इस कार में एक से बढ़कर एक फीचर्स दिए जाएंगे जिनके बारे में आप दिए गए लिंक पर जान सकते हैं। इस कार को यहां पूरी तरह से इंपोर्ट कर बेचा जाएगा जिसकी कीमत 60 लाख रुपये के आसपास हो सकती है।

जगुआर आई पेस (1.2 करोड़ रुपये): आईपेस इलेक्ट्रिक कार में ऑटोमैटिक पॉप आउट फ्लश डोर हैंडल्स दिए गए हैं। इस कार को 0 से 100 किलोमीटर प्र​ति घंटे की स्पीड पकड़ने में 4.8 सेकंड का समय ही लगता है जबकि इसका वजन 2200 किलोग्राम है और इसमें 90 केडब्ल्यूएच का बैट्री पैक दिया गया है। भले ही ये कार काफी भारी हो मगर इसके ड्राइविंग डायनैमिक्स,एयर सस्पेंशन और टॉर्क वेक्​टरिंग एक लाजवाब ड्राइविंग एक्सपीरियंस देते हैं। 

मर्सिडीज बेंज एस क्लास (2.2 करोड़ रुपये):2021 एस क्लास के टॉप मॉडल में कंपनी ने फ्लश डोर हैंडल्स दिए हैं। इन पॉप आउट हैंडल्स में क्रोम का इस्तेमाल किया गया है। इसके अलावा इस कार में 12.8 इंच इंफोटेनमेंट स्क्रीन और 12.3 इंच ड्राइवर डिस्प्ले भी दी गई है। दिए गए लिंक पर क्लिक कर आप मर्सिडीज बेंज एस क्लास फीचर लिस्ट पर नजर डाल सकते हैं। 

फ्लश डोर हैंडल्स की खूबियां और खामियां

खूबियां:

कई कारों में अब टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और डिजिटल ड्राइवर डिस्प्ले का फीचर दिया जाने लगा है मगर फ्लश फिटिंग डोर हैंडल्स अब भी एक लग्जरी फीचर के तौर पर देखे जाते हैं। हालांकि ये फीचर कार को अल्ट्रा मॉर्डन कारों की फेहरिस्त में लाकर खड़ा कर देता है।

खामियां:

ऑटोमेटेड पॉप आउट मैकेनिज्म से कार की मैन्युफैक्चरिंग कॉस्ट काफी बढ़ जाती है। ऐसे में वैल्यु फॉर मनी फैक्टर ढूंढने वाले कस्टमर्स के लिए ऐसी कारें खरीद पाना काफी मुश्किल हो जाता है। 

इसमें कोई शक नहीं कि फ्लश डोर हैंडल्स से कार का लुक काफी ज्यादा आकर्षक हो जाता है मगर ये इलेक्ट्रिकली ऑपरेटेड होते हैं जिससे इनपर कम ही भरोसा किया जा सकता है।

कितने सेफ होते हैं ये:

2019 में फ्लोरिडा में पेड़ से टकराने के बाद एक टेस्ला मॉडल एस में आग लग गई थी। उस कार के ड्राइवर को महज इसलिए ही नहीं बचाया जा सका क्योंकि आपातकालीन सेवाकर्मियों को कार के डोर खोलने के लिए कोई हेंडल ही नजर नहीं आए। हालांकि ऐसी स्थिती में इस कार में ऑटोमैटिकली दरवाजे खुल जाते हैं मगर बदकिस्मती से उस समय ऐसा हो नहीं पाया। दूसरी तरफ टेस्ला ने इमरजेंसी वर्कर्स के लिए अपनी कारों को लेकर एक गाइडलाइन भी निकाली है मगर कई वर्कर्स इस नई टेक्नोलॉजी को समझ पाने में नाकामयाब हुए। 

निष्कर्ष:

मैकेनिकल फ्लश डोर हैंडल्स को लेकर अभी तक तो कोई समस्या सामने नहीं आई है मगर दुर्घटना के समय यदि ये खराब हो जाएं तो फिर अंदर बैठे लोगों को समझ नहीं आएगा कि इन्हें कैसे खोला जाए। ऐसे में कारमेकर्स इन डोर हैंडल्स में सुधार लाने के पूरे प्रयास कर रहे हैं। ऐसे में इनका इस्तेमाल करने वाले लोगों को यूजर मैनुअल को ध्यान से पढ़ने की सलाह दी जाती है। 

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

महिंद्रा एक्सयूवी700 पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
  • महिंद्रा एक्सयूवी700
  • जगुआर एफ टाइप
  • लैंड रोवर रेंज rover evoque
  • लैंड रोवर रेंज rover velar
  • मर्सिडीज एस-क्लास
  • जगुआर आई- पेस

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

नई दिल्ली में *एक्स-शोरूम कीमत

ट्रेंडिंगएसयूवी

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience