स्कोडा स्लाविया: जानिए इस अपकमिंग सेडान कार के बारे में 11 खास बातें

प्रकाशित: अक्टूबर 27, 2021 07:55 pm । भानुस्कोडा स्लाविया

  • 2400 व्यूज़
  • Write a कमेंट

 

आज कल कारों का रिव्यू करते हुए अक्सर उसके लुक्स, प्रेक्टिकैलिटी, केबिन एक्सपीरियंस और कंफर्ट एवं फीचर पैकेज को देखा जाता है। ऐसे में इन सबके बीच ड्राइविंग एक्सपीरियंस की बात कुछ दब सी जाती है। 

हालांकि हमें अपकमिंग स्कोडा स्लाविया के कैमोफ्लाज्ड प्री प्रोडक्शन मॉडल को ड्राइव करने का मौका मिला और इसका ड्राइविंग एक्सपीरियंस हम आपके साथ इस आर्टिकल के जरिए शेयर करने जा रहे हैं। 

1. स्लाविया, स्कोडा की एमक्यूबी एओ आईएन प्लेटफॉर्म पर बेस्ड दूसरी कार होगी और इस प्लेटफॉर्म पर सबसे पहले स्कोडा कुशाक को तैयार किया गया था। ये अपने सेगमेंट में सबसे लंबी कार साबित हो सकती है। यहां तक कि भारत में किसी समय बिकने वाली पहली जनरेशन की स्कोडा ऑक्टाविया से ज्यादा लंबी, चौड़ी और ऊंची कार होगी।

साइज

स्कोडा स्लाविया

स्कोडा रैपिड

होंडा सिटी

मारुति सियाज

लंबाई

4541मिलीमीटर

4413मिलीमीटर

4549मिलीमीटर

4490मिलीमीटर

चौड़ाई

1752मिलीमीटर

1699मिलीमीटर

1748मिलीमीटर

1730मिलीमीटर

ऊंचाई

1487मिलीमीटर

1466मिलीमीटर

1489मिलीमीटर

1485मिलीमीटर

व्हीलबेस

2651मिलीमीटर

2552मिलीमीटर

2600मिलीमीटर

2650मिलीमीटर

2. जिस तरह कुशाक की तर्ज पर टाइगन को तैयार किया गया है, उसी तर्ज पर स्कोडा ​स्लाविया सेडान की तर्ज पर फोक्सवैगन इंडिया की ओर से वर्टुस तैयार की जाएगी। 

3. स्कोडा की इस नई कार में डीजल इंजन की चॉइस नहीं दी जाएगी। इसमें कुशाक वाले पेट्रोल इंजन की ही पेशकश की जाएगी जिनका आउटपुट भी समान होगा। हालांकि इसके टॉर्क आउटपुट और माइलेज फिगर के बारे में बाद में जानकारी सामने आएगी। स्लाविया में कुशाक वाला 1 लीटर 4 सिलेंडर इंजन दिया जाएगा जो 115 पीएस की पावर जनरेट करने में सक्षम होगा, वहीं इसमें एक्टिव सिलेंडर डि​एक्टिवेशन फीचर से लैस 1.5 लीटर 4 सिलेंडर इंजन का ऑप्शन भी दिया जाएगा जो 150 पीएस का पावर आउटपुट देगा। 

4. दोनों इंजन के साथ 6 स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन स्टैंडर्ड दिया जाएगा। 1 लीटर इंजन के साथ 6 स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स तो वहीं 1.5 लीटर इंजन के साथ 7 स्पीड डीएसजी ट्रांसमिशन के ऑप्शंस भी मिलेंगे। 

5. 1 लीटर पेट्रोल इंजन ड्राइविंग एक्सपीरियंस: इस इंजन का अनुभव हम अलग अलग कारों में अलग अलग सेटिंग्स के साथ कर चुके हैं। स्कोडा रैपिड, फोक्सवैगन वेंटो और फोक्सवैगन पोलो में इस इंजन की परफॉर्मेंस हमें काफी पसंद आई। मगर, ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के साथ इस इंजन की थ्रॉटल ट्यूनिंग हमें काफी आक्रामक लगी। 

कुशाक में इस चीज को बदला गया है जो इस्तेमाल करने में आसान लगता है। स्लाविया में दिए गए इंजन में भी यही बात महसूस होती है। पावर डिलीवरी काफी स्मूद महसूस होती है और काफी प्रेडिक्टेबल भी महसूस होती है। हालांकि इस दौरान टर्बो लैग भी आ जाता है, बाकी कम रेव्स पर सिटी में इस कार को आराम से ड्राइव किया जा सकता है। यहां तक कि टर्बोचार्ज आ जाने पर भी ड्राइविंग में कोई जर्क नहीं आता है। 

इस इंजन की सबसे खास बात ये है कि एंट्री लेवल इंजन होने के बावजूद आपको सिटी और हाईवे पर ड्राइविंग करने में कोई परेशानी नहीं आएगी और इससे आपको लगातार अच्छी परफॉर्मेंस मिलती रहेगी। मैनुअल गियरबॉक्स की शिफ्टिंग काफी अच्छी है, मगर हमें इसके साथ दिया गया ऑटोमैटिक गियरबॉक्स ज्यादा पसंद आया। 

इसमें दिया गया ऑटोमैटिक गियरबॉक्स काफी तेजी के साथ स्मूद तरीके से शिफ्ट होता है। दो से ज्यादा गियर की डाउनशिफ्टिंग के बावजूद गाड़ी कहीं अटकती नहीं है और आप इसमें पैडल शिफ्टर्स का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। 

टॉप स्पीड तक पहुंचने पर इसका इंजन आवाज करने लग जाता है और इस दौरान आप इससे परफॉर्मेंस की उम्मीद ना ही रखें। ऐसे में 2500 से 3000 आरपीएम के बीच ही इसकी असल परफॉर्मेंस दिखाई पड़ती है। स्कोडा ने इंजन नॉइस इंसुलेशन पर काफी अच्छा काम किया है। 

6. 1.5 लीटर पेट्रोल इंजन के साथ ड्राइविंग एक्सपीरियंस: यह वीडियो देखने के बाद आपको इस इंजन के बारे में बेहतर तरीके से मालूम चल जाएगा। 1 लीटर इंजन के मुकाबले ये 1.5 लीटर इंजन ज्यादा स्मूद, पंची और अच्छी ड्राइवेबिलिटी देता है और ड्राइविंग एक्सपीरियंस को थोड़ा बेहतर बनाता है। 

यह भी पढ़ें: कुछ ऐसी होंगी फॉक्सवैगन वेंटो और स्कोडा रैपिड की जगह लेने वाली नई सेडान कारें

इस 4 सिलेंडर इंजन का साउंड काफी अच्छा है और पैडल पर वाइब्रेशंस भी कम आते हैं और स्पोर्टी ड्राइविंग के लिए भी आप इसे रेव रेंज से बाहर लेकर जा सकते हैं। 70 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड पर आप ओवरटेकिंग कर सकते हैं। ये 3-4 लोगों के साथ हाईवे ड्राइविंग के लिहाज से काफी अच्छा है। इसके अलावा 1 लीटर इंजन के मुकाबले ये रियल वर्ल्ड कंडीशन में अच्छा माइलेज रिटर्न भी देता है। 

इस इंजन के साथ डीएसजी गियरबॉक्स का कॉम्बिनेशन तो और भी ज्यादा प्लस पॉइन्ट साबित होता है। इसका रिस्पॉन्स काफी अच्छा है और ये काफी ज्यादा स्मूद है। 

7. स्लाविया की राइड क्वालिटी भी काफी इंप्रेसिव है। हमने इसे स्कोडा के पुणे स्थित चाकन प्लांट के आसपास ड्राइव किया और ये प्लांट मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे के पास ही मौजूद है। यहां हमने इसे हर त​रह के रास्तों पर ड्राइव किया, जहां टूटी फूटी सड़कें भी थी तो कहीं अंडर ​कंस्ट्रक्शन रोड भी थी। वहीं एक्सप्रेस वे पर भी हम इसे लेकर गए। इन तमाम रास्तों पर स्कोडा स्लाविया का राइड एक्सपीरियंस स्ट्रॉन्ग नजर आया और हेंडलिंग भी काफी प्रेडिक्टिबल रही। इस दौरान कार में ड्राइवर समेत तीन पैसेंजर्स मौजूद थे। कुछ उछाल भरे रास्तों से आने वाले झटकों को हमने महसूस जरूर किया, मगर इसमें उतना बाउंस नजर नहीं आया और ये गड्ढों पर से भी आराम से निकल गई।

8. इसका स्टीयरिंग व्हील काफी लाइटवेटेड है जो हमें रैपिड/वेंटो/पोलो की काफी याद दिला रहा था। यदि आपके पास फोक्सवैगन या स्कोडा का कोई पुराना मॉडल मौजूद है तो आपको स्लाविया को ड्राइव करते वक्त कोई विदेशी मॉडल ड्राइव करने जैसा एक्सपीरियंस मिलेगा। 

9. चूंकि ये कंपनी का काफी प्रीमियम मॉडल होगा, ऐसे में इसमें सीएनजी ऑप्शन मिलना मुश्किल है और स्कोडा दूसरे वैक्लिप्क ईंधन के बारे में रिसर्च कर रही है। 

10. स्कोडा स्लाविया के प्रोडक्शन वर्जन में फीचर्स के तौर पर डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर और 6 एयरबैग्स नजर आ सकते हैं। स्कोडा इसका इंटरनल क्रैश टेस्ट करने के ​बाद ही इसे ग्लोबल एनकैप क्रैश टेस्ट के लिए भेजेगी। 

11. स्कोडा स्लाविया से 18 नवंबर को पर्दा उठाएगी जिसके बाद इसे कई बार शोकेस किया जाएगा। ये कार भारत में मार्च 2022 के आसपास लॉन्च की जा सकती है। 

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

स्कोडा स्लाविया पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

नई दिल्ली में *एक्स-शोरूम कीमत
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का

ट्रेंडिंगसेडान

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience