मारूति बलेनो आरएस से जुड़ी पांच अहम और दिलचस्प बातें

संशोधित: फरवरी 17, 2017 01:35 pm | raunak | मारुति बलेनो 2015-2022

  • 10 व्यूज़
  • Write a कमेंट

मारूति सुज़ुकी बलेनो किसी पहचान की मोहताज नहीं है, इसने कंपनी को बिक्री के अच्छे आंकड़े दिलाए हैं। अब कंपनी इस के पावरफुल अवतार बलेनो आरएस के साथ परफॉर्मेंस हैचबैक या हॉट हैचबैक सेगमेंट में कदम रखने लाने वाली है। बलेनो आरएस को 3 मार्च को लॉन्च किया जाएगा, इसका मुकाबला फॉक्सवेगन की पोलो जीटी टीएसआई और फिएट अबार्थ पुंटो से होगा। कंपनी ने इसका कॉन्सेप्ट इंडियन ऑटो एक्सपो-2016 में दिखाया था, तभी से यह कार चर्चाओं में बनी हुई है। हाल ही में इसके स्पेसिफिकेशन से जुड़ी जानकारी भी लीक हुईं थीं। यहां हम लाए हैं बलेनो आरएस से जुड़ी वो पांच दिलचस्प बातें जो कई मामलों में इसे बनाती हैं कुछ खास और अलग...

1. मारूति की अब तक की सबसे पावरफुल पेट्रोल कार

दुनियाभर में इस समय सभी कार कंपनियों में नए और पावरफुल टबोचार्ज्ड इंजन देने की होड़ मची हुई है, ऐसे में भला सुज़ुकी कैसे पीछे रहती, सुज़ुकी ने साल 2015 में नए बूस्टरजेट इंजन की शुरूआत की, इस सीरीज का पहला इंजन 1.0 लीटर का बूस्टरजेट इंजन था, फिलहाल यह इंजन अंतरराष्ट्रीय बाजार में उपलब्ध बलेनो में दिया गया है। भारत में यह इंजन अब तक किसी भी कार में नहीं आया।

बलेनो आरएस को भारत में इसी इंजन के साथ उतारा जाएगा, यह 100 पीएस की पावर और 150 एनएम का टॉर्क देगा। इसकी पावर मारूति की सियाज़ से भी ज्यादा है। भारत में यह अब तक की सबसे पावरफुल मारूति कार होगी। बलेनो आरएस में 5-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन और ऑल डिस्क ब्रेक्स मिलेंगे।

2. भविष्य में आ सकते हैं ज्यादा पावरफुल बूस्टरज़ेट इंजन

बलेनो आरएस के साथ देश में बूस्टरजेट इंजन की शुरूआत होने वाली है, उम्मीद की जा सकती है कि भविष्य में सुज़ुकी  ज्यादा पावरफुल 1.4 लीटर के बूस्टरजेट इंजन को भी यहां लाएगी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में उपलब्ध विटारा एस में यह इंजन दिया गया है, संभावनाएं हैं कि भारत आने वाली फेसलिफ्ट एस-क्रॉस में 1.4 लीटर का बूस्टरजेट इंजन दिया जा सकता है।

3. टॉप वेरिएंट अल्फा में आ सकती है बलेनो आरएस

बलेनो आरएस का मुकाबला फॉक्सवेगन पोलो जीटी टीएसआई और अबार्थ पुंटो से है, ऐसे में संभावना है कि बलेनो आरएस केवल टॉप वेरिएंट अल्फा में ही आएगी। अल्फा वेरिएंट में एपल कारप्ले और एंड्रॉयड ऑटो सपोर्ट करने वाला 7 इंच का सुज़ुकी स्मार्टप्ले इंफोटेंमेंट सिस्टम, एलईडी टेल लैंप्स और बाय-जेनन हैडलैंस जैसे सेगमेंट फर्स्ट फीचर दिए गए हैं। इन फीचर की वजह से बलेनो आरएस कई मामलों में मुकाबले में मौजूद कारों से आगे रहेगी।

4. इंटरनेशनल मॉडल की तुलना में कम पावरफुल

अंतरराष्ट्रीय बाजार में उपलब्ध बलेनो में 1.0 लीटर का बूस्टरजेट इंजन दिया गया है, वहां इसकी पावर 111 पीएस और टॉर्क 170 एनएम है। भारत में लॉन्च होने वाली बलेनो आरएस में यही इंजन 100 पीएस की पावर और 150 एनएम का टॉर्क देगा। इस तरह इंटरनेशनल मॉडल की तुलना में यहां 10 पीएस की कम पावर और 20 एनएम का कम टॉर्क मिलेगा। दोनों ही मॉडल में 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स दिया गया है।

5. स्टैंडर्ड बलेनो से ऐसे दिखेगी अलग

मारूति ने बलेनो आरएस का कॉन्सेप्ट इंडियन ऑटो एक्सपो-2016 में दिखाया था, संभावना है कि इसके प्रोडक्शन वर्जन में बॉडी स्कर्टिंग भी दी जा सकती है। इसे कई बार टेस्टिंग के दौरान देखा जा चुका है, टेस्ट कार का कलर मिडनाइट ब्लैक पर्ल था, ऐसे में उम्मीद है कि इस नए कलर का विकल्प भी यहां मिलेगा। मौजूदा बलेनो में तो यह कलर ऑप्शन नहीं दिया गया है।

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

मारुति बलेनो 2015-2022 पर अपना कमेंट लिखें

1 कमेंट
1
s
shafeek
Feb 17, 2017 6:46:57 PM

its the best car from suzuki family .........

और देखें...
    जवाब
    Write a Reply
    Read Full News

    ट्रेंडिंगहैचबैक

    • लेटेस्ट
    • अपकमिंग
    • पॉपुलर
    ×
    We need your सिटी to customize your experience