फोक्सवैगन पोलो जीटीआई के फेसलिफ्ट वर्जन से उठा पर्दा

प्रकाशित: जून 30, 2021 07:18 pm । स्तुतिफॉक्सवेगन पोलो

  • 618 व्यूज़
  • Write a कमेंट

  • इसकी हेडलाइट्स और टेललैंप्स पर छठी जनरेशन पोलो रेगुलर मॉडल वाले ही अपडेट्स दिए गए हैं।
  • स्टैंडर्ड हैचबैक की तरह इसमें भी ग्रिल के नीचे की तरफ एलईडी लाइट दी गई है।  
  • इसमें 2.0-लीटर टीएसआई इंजन के साथ 7-स्पीड डीएसजी गियरबॉक्स स्टैंडर्ड दिया गया है। 
  • फोक्सवैगन इसमें ऑप्शनल 9.2-इंच टचस्क्रीन भी दे रही है।  
  • आईक्यू ड्राइव सिस्टम एसेलेरेशन, स्टीयरिंग और ब्रेक्स के ऑटोनॉमस कंट्रोल में मदद करता है। 
  • इस हैचबैक में अडेप्टिव हेडलाइट्स भी दी गई हैं। 
  • पिछली जनरेशन की पोलो जीटीआई की भारत में केवल 99 यूनिट्स ही उतारी गईं थी। 

फोक्सवैगन ने स्टैंडर्ड फेसलिफ्ट पोलो से पर्दा उठाने के बाद अब फेसलिफ्ट पोलो जीटीआई को भी शोकेस कर दिया है।  छठी जनरेशन पोलो रेगुलर मॉडल से अलग दिखाने के लिए इसमें जीटीआई ट्रीटमेंट दिया गया है। बता दें कि छठी जनरेशन की पोलो अभी तक भारत में बिक्री के लिए उपलब्ध नहीं हुई है।

सबसे पहले बात करते हैं इसके एक्सटीरियर पर हुए बदलावों की...

इसमें फ्रंट ग्रिल और एयर डैम पर हनीकॉम्ब पैटर्न दिया गया है। आगे की तरह इसमें दी गई हेडलाइट यूनिट्स रेगुलर पोलो की तरह ही दिखाई पड़ती है। इसमें ग्रिल के नीचे की तरफ एलईडी लाइट्स भी दी गई हैं। इस कार में सिग्नेचर जीटीआई रेड स्ट्राइप दी गई है जो एलईडी लाइट के ऊपर की तरफ पूरी ग्रिल तक जाती दिखाई पड़ती है। साथ ही इसमें ग्रिल पर ट्रेडिशनल जीटीआई बैजिंग भी दी गई है। इस कार में नए डिज़ाइन की फॉग लैंप हाउसिंग मिलती है। फेसलिफ्ट पोलो जीटीआई में स्टैंडर्ड हैचबैक की तरह ही अब छोटे फॉग लैंप्स दिए गए हैं।

इस हैचबैक कार में नए डिजाइन के अलॉय व्हील दिए गए हैं जो लेम्बोर्गिनी की कारों की तरह लगते हैं। रियर साइड पर दिए गए टेललैंप रेगुलर पोलो की तरह ही पतले हैं। इसमें जीटीआई बैजिंग को बूट के सेंटर पर फोक्सवैगन लोगो के नीचे की तरफ दिया गया है। इस गाड़ी में फेंडर, रेड ब्रेक कैलिपर और ट्विन टिप एग्ज़हॉस्ट पर भी जीटीआई बैजिंग मिलती है जो इसे स्टैंडर्ड मॉडल से अलग बनाती है। इसका रियर बंपर भी पहले से थोड़ा अलग है।

फेसलिफ्ट पोलो जीटीआई के इंटीरियर में भी कई बदलाव हुए हैं। इसमें डैशबोर्ड, सेंटर कंसोल और डोर लॉक पर मिलने वाली ब्लैक थीम को अब रेड ट्रिम से बदल दिया गया है। इस गाडी में नई स्टीयरिंग व्हील डिज़ाइन (इस पर भी रेड ट्रिम है), क्लाइमेट कंट्रोल सिस्टम के लिए टच कंट्रोल्स और नई गियर नॉब डिज़ाइन दी गई है। इसका टचस्क्रीन साइज़ भी पहले से बड़ा है। साथ ही इसमें ऑप्शनल 9.2-इंच टचस्क्रीन भी दिया गया है। इसके इंफोटनेमेंट सिस्टम को भी अपडेट किया गया है जिससे इसमें कंपनी की लेटेस्ट ऑनलाइन सर्विसेज मिल सकें। इसमें अब भी टार्टन सीटें मिलती हैं।

इस गाड़ी के इंजन में कोई बदलाव नहीं हुआ है। इसमें अब भी 2.0-लीटर टीएसआई (टर्बो-पेट्रोल) इंजन दिया गया है जो 207 पीएस की पावर और 320 एनएम का टॉर्क जनरेट करता है। पावर ट्रांसमिशन के लिए इसमें इंजन के साथ 7-स्पीड डीएसजी गियरबॉक्स दिया गया है जो फ्रंट व्हील्स तक पावर पहुंचाने में सक्षम है। कंपनी ने इस गाड़ी में 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स शामिल करने के बारे में कोई जानकारी साझा नहीं की है।

यह भी पढ़ें : जानिए एशिया के सबसे लंबे टेस्ट ट्रैक ‘नैट्रेक्स इंडिया’ से जुड़ी पांच खास बातें

पोलो जीटीआई में आईक्यू.ड्राइव स्टैंडर्ड दिया गया है। यह ऑटोमेटेड सिस्टम है जो ऑटोमेटिक एसेलेरेशन, ब्रेकिंग और स्टीयरिंग कंट्रोल में मदद करता है। हालांकि इसके लिए भी ड्राइवर को अपने हाथों को हमेशा स्टीयरिंग व्हील पर रखना होता है। कंपनी ने इसमें आईक्यू.लाइट्स भी स्टैंडर्ड दी है जो मैट्रिक्स एलईडी हेडलाइट्स के साथ आती हैं, जिसे अडेप्टिव हेडलाइट्स के नाम से भी जाना जाता है।

कंपनी ने पिछली जनरेशन की पोलो जीटीआई की केवल 99 यूनिट्स को ही भारत में उतारा था। चूंकि इसे इंपोर्ट करके बेचा जाता है, ऐसे में इसकी प्राइस भी ज्यादा रखी गई थी। वर्तमान में भारत में स्टैंडर्ड पोलो का पांचवा जनरेशन मॉडल उपलब्ध है जिसे कंपनी 2023 तक नया अपडेट दे सकती है। यदि कंपनी नई पोलो जीटीआई को भारत लाती है तो ऐसे में इसे रेगुलर मॉडल के अपडेटेड वर्जन की लॉन्चिंग के बाद ही उतारा जाएगा।

यह भी देखें: फोक्सवैगन पोलो ऑन रोड प्राइस

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

फॉक्सवेगन पोलो पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
×
We need your सिटी to customize your experience