• English
  • menu
  • Login / Register

फोक्सवैगन पोलो का प्रोडक्शन हुआ बंद

प्रकाशित: अप्रैल 08, 2022 08:47 pm । सोनूफॉक्सवेगन पोलो

  • 3489 व्यूज़
  • Write a कमेंट

फोक्सवैगन ने कुछ समय पहले कहा था कि वह अपनी पॉपुलर हैचबैक पोलो को भारत में बंद करेगी। अब कंपनी ने इस गाड़ी का प्रोडक्शन पूरी तरह से बंद कर दिया है।

भारत में पांचवी जनरेशन की पोलो उपलब्ध थी और इसे यहां पेश किए 12 साल से ज्यादा का समय हो चुका है। इन 12 साल में कंपनी ने इसके कई फेसलिफ्ट और मिड-लाइफ अपडेट वर्जन उतारे और इसे कई बार जनरेशन अपडेट भी दिया जा चुका है। पोलो के बंद होने के बाद अब फोक्सवैगन की एंट्री लेवल कार जल्द लॉन्च होने वाली वर्टस सेडान होगी।

फोक्सवैगन पोलो को अभी तो बंद कर दिया है लेकिन कहा जा रहा है कि जल्द ही यह नए अवतार में फिर से वापसी करेगी। फोक्सवैगन इंडिया के ब्रांड डायरेक्टर आशीष गुप्ता ने कुछ समय पहले एक इंटरव्यू में नई पोलो के आने के संकेत दिए थे।

volkswagen polo legend edition

पोलो कार का प्रोडक्शन बंद करने से कुछ समय पहले कंपनी ने इसका एक स्पेशल एडिशन भी उतारा था जिसे लेजेंड एडिशन नाम दिया गया था। यह इसके टॉप मॉडल जीटी टीएसआई पर बेस्ड था जिसमें 115पीएस 1.0 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन दिया गया था। इसमें रेगुलर मॉडल से अलग दिखाने के लिए कुछ कॉस्मेटिक अपडेट किए गए थे और इसमें लेजेंड बैजिंग व कुछ साइड बॉडी ग्राफिक्स दिए गए थे।

फोक्सवैगन ने भारत में पोलो कार का प्रोडक्शन 2009 में शुरू किया था और यहां सबसे पहले इसे 2010 में लॉन्च किया गया था। इन 12 साल के सफर में इसे तीन फेसलिफ्ट अपडेट क्रमशः 2012, 2014 और 2019 में दिए गए थे। इसकी फीचर लिस्ट और पावरट्रेन भी अब तक कई बार अपग्रेड हो चुके हैं। 

पांचवी जनरेशन की पोलो केवल पेट्रोल इंजन ऑप्शन में उपलब्ध थी। यह दो पेट्रोल इंजनः 1.0 लीटर एमपीआई (75पीएस/95एनएम) और 1.0 लीटर टीएसआई टर्बो-पेट्रोल (110पीएस/175एनएम) में उपलब्ध थी। पहले वाले इंजन के साथ 6-स्पीड ऑटोमेटिक गियरबॉक्स दिया गया था जबकि बाद वाले इंजन के साथ 6-सपीड मैनुअल और 6-स्पीड ऑटोमेटिक गियरबॉक्स की चॉइस मिलती थी। बीएस6 नॉर्म्स लागू होने से पहले इसके पोलो जीटी वेरिएंट में 1.0 लीटर टीएसआई इंजन 7-स्पीड ड्यूल-क्लच ऑटोमेटिक गियरबॉक्स के साथ दिया गया था। कुछ सालों पहले इसमें 1.6 लीटर पेट्रोल, 1.6 लीटर डीजल और 1.5 लीटर डीजल इंजन की चॉइस भी मिलती थी।

पोलो में रेन-सेंसिंग वाइपर, रियर वेंट्स के साथ ऑटो एसी, 6.5 इंच टचस्क्रीन सिस्टम और क्रूज कंट्रोल जैसे फीचर दिए गए थे। पैसेंजर की सुरक्षा के लिए इसमें ड्यूल फ्रंट एयरबैग, एबीएस और रियर पार्किंग सेंसर जैसे फीचर मिलते थे। 

volkswagen polo legend edition

बंद होने से पहले यह कार चार वेरिएंटः ट्रेंडलाइन, कंफर्टलाइन, हाईलाइन प्लस और जीटी में उपलब्ध थी। इसकी प्राइस रेंज 6.45 लाख से 10.25 लाख रुपये (एक्स-शोरूम पैन इंडिया) के बीच थी। पोलो का कंपेरिजन हुंडई आई20, टाटा अल्ट्रोज, मारुति सुजुकी बलेनो, टोयोटा ग्लैंजा और होंडा जैज से था।

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

फॉक्सवेगन पोलो पर अपना कमेंट लिखें

2 कमेंट्स
1
A
ankur
Apr 9, 2022 9:32:41 PM

Goodbye until we meet again,GT TDI is a must want

और देखें...
    जवाब
    Write a Reply
    1
    C
    charles joseph
    Apr 9, 2022 3:34:38 PM

    Waiting eagerly for the 6th gen polo. If prices at 10-14L on road , will sell like hot cake. And a GT TDI please ?

    और देखें...
      जवाब
      Write a Reply
      Read Full News

      ट्रेंडिंगहैचबैक

      • लेटेस्ट
      • अपकमिंग
      • पॉपुलर
      ×
      We need your सिटी to customize your experience