टोयोटा इनोवा को किराए पर लेकर ज्वैलरी शॉप लूटने निकले थे शातिर,कार के इस डिवाइस से खुल गई पूरी पोल

प्रकाशित: अगस्त 02, 2021 06:39 pm । भानुटोयोटा इनोवा

  • 2480 व्यूज़
  • Write a कमेंट

26 जुलाई के दिन पुलिस ने ज्वैलरी ठगों के गिरोह का भांडाफोड़ करते हुए उनके पास से कीमत आभूषणों की बरामदगी की है। ये मामला कनार्टका केरल सीमा का है जहां आरोपियों को कार में फिट किए गए सिम इनेबल्ड टेलिमेटिक्स के जरिए रंगे हाथों चोरी करते हुए पकड़ा गया है। टोयोटा इनोवा ओनर ने चोरों की कार में लाइव बातचीत सुनली जिसे उन्होनें रेंट पर ली थी और लूट की योजना का पर्दाफाश हो गया। क्या है पूरा मामला जानिए आगे

ये है पूरा मामला

कर्नाटका में एक कार रेंटल स्टोर पर दो लोग गाड़ी किराए पर लेने के लिए पहुंचे। उन्होनें ओनर से कहा कि उन्हें चिकमंगलुरू पर सूफी बाबा की दरगाह जाने के लिए गाड़ी किराए पर चाहिए। इसके बाद ओनर ने उन्हें टोयोटा इनोवा क्रिस्टा सुपुर्द कर दी। चोरों को ये बात मालूम नहीं थी कि उसमें जीपीएस टेलिमेटिक्स डिवाइस लगा हुआ है। यदि आपको भी इसके बारे में पता नहीं है तो बता दें कि ये डिवाइस एक तरह का एंटी थेफ्ट डिवाइस होता है जो काफी सेल्फ ड्रिवन रेंटल कारों में लगा हुआ होता है। इसमें जीपीएस ट्रेकर और एक माइक्रोफोन भी होता है जिससे कोई भी कार के केबिन में सवार लोगों की बातें सुन सकता है। 

रात में कार ओनर ने ट्रैक किया कि उनकी इनोवा क्रिस्टा 100 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से केरला की तरफ जाने वाले एक हाईवे की ओर बढ़ रही है। ओनर ने जीपीएस पर कार की लोकेशन को ट्रैक किया तो पता चला कि वो सुरथकल से 20 किलोमीटर दक्षिण की ओर किसी रेस्टोरेंट की पार्किंग मेंं मौजूद है। उन्हें ये भी मालूम चला कि उनकी इनोवा काफी देर से रेस्टोरेंट की पार्किंग में ही खड़ी है। इसके बाद कार रेंटल सर्विस ओनर ने सीक्रेट माइक्रो फोन के जरिए उन चोरों की बातें सुन ली जिसमें वो गाड़ी की ब्रेक लाइट्स ढकने,कार के नंबर चेंज करने और कोई डील करने की बातें कर रहे थे। इसके बाद इनोवा ओनर को कुछ गड़बड़ लगी तो उन्होनें इस बात की जानकारी पुलिस को देने की ठानी। 

यह भी पढ़ें:लग्जरी कार पर टैक्स चोरी के मामले में ये छह इंडियन सेलिब्रिटी रह चुके हैं चर्चाओं में

कार रेंट पर लेने वाले ठग अपनी योजना के अनुसार होसनगडी हाईवे की तरफ बढ़ गए जो केरला के उत्तर में पड़ता है। उनका मकसद एक ज्वैलरी शॉप को लूटने का था। रिपोर्ट्स और सीसीटीवी फुटेज के अनुसार उन्होनें ज्वैलरी शॉप के सिक्योरिटी गार्ड को बंधक बनाया और उसे पीटा भी। इसके बाद उन्होनें शॉप से 2.23 करोड़ रुपये की ज्वैलरी लूटनी चाही मगर सेफ को वो गैस कटर से काट नहीं पाए। इसके बाद उनके हाथ 16 लाख रुपये की कीमत की चांदी,महंगी घड़ियां और कुछ कैश हाथ लग गया। 

इसके बाद उन्हें कर्नाटका वापस लौटते समय बॉर्डर पर इंटरसेप्ट कर लिया गया। पुलिस ने लूट के माल में से आधी चांदी और कैश बरामद किया मगर उस दौरान ही लुटेरे भागने में कामयाब हो गए। पुलिस का कहना है कि उन्होनें आरोपियों की पहचान कर ली है। 

यह भी पढ़ें: हिन्दुस्तान एम्बेसडर को मॉडिफाई कर केरल के एक शक्स ने दिया इसे मॉडर्न लुक, जानिए पहले से कितनी बदली ये कार

कैसे काम करता है टेलिमेटिक्स डिवाइस?

आपके फोन की तरह इसमें सिम कार्ड,जीपीएस सेंसर और कुछ अन्य हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दिए जाते हैं। आप इसे आपके स्मार्टफोन की एप से कंट्रोल कर सकते हैं। कारदेखो अपलिंक भी कुछ इसी तरह से काम करता है। ये आपकी कार के ओबीडी-II पोर्ट से आराम से कनेक्ट हो जाता है। ये जीपीएस की मदद से आपको आपकी कार को हर समय ट्रैक करने में मदद करता है। इसके अलावा ये डिवाइस आपको कार को लापरवाही से ड्राइव करने,ज्यादा स्पीड से चलाने जैसी जानकारियां भी देता है। यहां क्लिक कर आप कादेखो अपलिंक के बारे में ज्यादा जान सकते हैं। 

यह भी पढ़ें:महिंद्रा थार का इन कस्टम कलर्स के बाद बदल गया पूरा लुक,देखें फोटोज़

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

टोयोटा इनोवा पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
×
We need your सिटी to customize your experience