टाटा पंच के इंटीरियर में ऐसा क्या है खास जो हमें आया सबसे ज्यादा पसंद, जानिए यहां

प्रकाशित: अक्टूबर 20, 2021 07:52 pm । cardekhoटाटा पंच

  • 2322 व्यूज़
  • Write a कमेंट

  • टाटा पंच का डैशबोर्ड कम बटन्स के चलते एकदम क्लीन व मॉडर्न लगता है।
  • इस प्राइस पॉइंट पर पंच में सबसे बेस्ट क्वॉलिटी का इंटीरियर मिलता है।
  • इसमें चार लोगों के बैठने के लिए अच्छा स्पेस मिलता है।
  • इस एसयूवी कार की फ्रंट और रियर सीटें अच्छी तरह से कॉन्टूर्ड हैं और बेहद कम्फर्टेबल भी हैं।
  • पंच कई प्रीमियम फीचर्स के साथ आती है। इसमें ऑप्शनल पैक्स भी दिए गए हैं जिसके चलते आप अपने अनुसार कार को कस्टमाइज़ भी करवा सकते हैं।

टाटा पंच भारत में लॉन्च हो चुकी है। हाल ही में हमें इस मिनी एसयूवी कार को ड्राइव करने का मौका मिला। टाटा की दूसरी नई कारों की तरह इसकी एक्सटीरियर डिज़ाइन भी बेहद यूनिक है, लेकिन इसका इंटीरियर इससे भी ज्यादा अच्छा है। टाटा पंच के इंटीरियर में ऐसा क्या कुछ है ख़ास जो हमें सबसे ज्यादा पसंद आया और टाटा की दूसरी कारों में नहीं मिलता है, इसके बारे में जानेंगे यहां:-

डैशबोर्ड डिज़ाइन

पंच के डैशबोर्ड की डिज़ाइन एकदम सिंपल है। इसके डैशबोर्ड पर बटन का कम से कम इस्तेमाल किया गया है जिसके चलते इसका लेआउट एकदम क्लीन है। इसकी डैशबोर्ड डिज़ाइन बिलकुल भी बोरिंग नहीं लगती है, इसकी वजह इसमें जोड़े गए कुछ एलिमेंट्स हैं जो इसके पूरे केबिन को आकर्षक दिखाते हैं। इसके डैशबोर्ड पर व्हाइट पैनल मिलता है जो इसे अच्छा फ्लो देता है और यह इसके केबिन को चौड़ा भी दिखाता है। इसमें डैशबोर्ड पर 7-इंच के डिस्प्ले को थोड़ा ऊंचा पोज़िशन किया गया है जिसके चलते इसे मूविंग कार में इस्तेमाल करना भी बेहद आसान है।

क्वालिटी

इसके केबिन की सबसे बड़ी हाइलाइट इसकी क्वॉलिटी है जो कुछ सालों पहले टाटा व्हीकल्स की सबसे बड़ी कमजोरी हुआ करती थी। प्रतिद्वंदी कारों की तरह पंच में भी सॉफ्ट टच प्लास्टिक नहीं दिया गया है, लेकिन इसमें इस्तेमाल हुआ टेक्सचर इस कार को बेहद प्रीमियम दिखाता है। इसमें डैशबोर्ड पर इस्तेमाल हुआ व्हाइट पैनल फेडिंग ट्राई एरो पैटर्न के साथ आता है जो दिखने में बेहद यूनीक लगता है और इसके ऊपर की तरफ दिए गए ब्लैक इंसर्ट पर टेक्सचर मिलता है जो टच करने में बेहद प्रीमियम लगता है। डैशबोर्ड के नीचे की तरफ इस्तेमाल हुए प्लास्टिक पर भी ऊपर की तरह ही ग्रेनिंग मिलती है। ऐसे में इसके केबिन की क्वालिटी एक जैसी ही लगती है। इसके गियर लीवर, पावर विंडो बटन और स्टॉक जैसे टचपॉइंट पर भी अच्छी खासी फिनिशिंग मिलती है। इसमें अल्ट्रोज़ वाला ही स्टीयरिंग व्हील दिया गया है। इसका डायमीटर काफी छोटा है और इस पर दिए गए रैप्ड रिम इसे स्पोर्टी लुक देते हैं।

ड्राइविंग पोज़िशन

पंच कार का डैशबोर्ड और विंडो लाइन काफी नीची है, ऐसे में इसमें आगे की तरफ अच्छी विज़िबिलिटी मिल है। हालांकि इसका ए पिलर ब्लाइंड स्पॉट बना देता है जिसके चलते बाहर का कुछ व्यू देखना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। ड्राइविंग पोज़िशन की बात करें तो अल्ट्रोज़ की तरह ही इसका स्टीयरिंग व्हील भी थोड़ा बाएं तरफ पोज़िशन किया गया है, ऐसे में इसकी आदत पड़ने में कुछ समय लगता है। इसमें टिल्ट एडजस्टेबल स्टीयरिंग व्हील दिया गया है, जिसे आप अपनी हाइट के हिसाब से एडजस्ट कर सही ड्राइविंग पोजिशन हासिल इस कार से लंबी दूरी तय कर सकते हैं।

कम्फर्ट

कम्फर्ट की बात करें तो इसकी फ्रंट सीटें काफी चौड़ी और अच्छी तरह से कॉन्टूर्ड हैं, ऐसे में लंबे सफर के दौरान यह बेहद कम्फर्टेबल लगती हैं। इसमें बैक सीट पर अच्छा खासा स्पेस मिलता है। पैसेंजर्स को इसमें अच्छा खासा  नीरूम और हेडरूम स्पेस मिलता है। इसमें हाई माउंटेड फ्रंट सीटें दी गई हैं जिसके चलते इसमें अच्छा लेगरूम भी मिलता है। इसकी बेंच सीट अच्छी तरह से कॉन्टूर्ड है, इसमें अच्छा-खासा अंडर थाई सपोर्ट भी मिलता है। इसका बैकरेस्ट एंगल भी बेहद कम्फर्टेबल है। इस कार की सीट कुशनिंग बेहद सॉफ्ट है जो लंबे सफर के दौरान थोड़ी असुविधाजनक लगती है।

प्रेक्टिकेलिटी

इसमें फ्रंट पर बड़ा ग्लवबॉक्स अलग कम्पार्टमेंट के साथ दिया गया है जिसमें कार के मैनुअल और पेपर्स को आसानी से रखा जा सकता है। इसके डोर पॉकेट इतने ज्यादा बड़े नहीं है, लेकिन इसकी डिज़ाइनिंग बेहद अच्छी है। इसमें 1-लीटर तक की बॉटल आसानी से रखी जा सकती है। इस कार में स्टीयरिंग व्हील के दाएं तरफ मोबाइल और वॉलेट रखने के लिए भी जगह दी गई है। साथ ही इसमें सेंटर कंसोल के नीचे भी जगह दी गई है। इसमें गियर लीवर के पीछे की तरफ दिए गए कप होल्डर्स की डिज़ाइनिंग अच्छी से की गई है, लेकिन इसे फ्रंट सीटों के मुकाबले थोड़ा दूर पोज़िशन किया गया है। ऐसे में इसे रियर पैसेंजर के साथ शेयर करना पड़ता है। इसके टॉप वेरिएंट में रियर आर्मरेस्ट दिया गया है, लेकिन यहां कप होल्डर्स का अभाव है। इस गाड़ी में रियर पैसेंजर्स के लिए यूएसबी पोर्ट और 12 वोल्ट चार्जिंग पोर्ट नहीं दिया गया है। हालांकि, इसमें बड़े डोर पॉकेट और सीटबैक पॉकेट जरूर मिलते हैं।

बूट स्पेस की बात करें तो इस प्राइस पर आपको इससे बेहतर कुछ नहीं मिलेगा। इसमें 360-लीटर का बूट स्पेस मिलता है जिसके चलते इसमें लगेज को आसानी से रखा जा सकता है। इसका लोडिंग लिप ऊंचा है, ऐसे में बड़े और हैवी सामान को रखने में कई बार परेशानी आ सकती है। इसकी रियर सीट फोल्ड भी हो जाती है जिसके चलते जरूरत पड़ने पर इसमें बूट स्पेस को बढ़ाया जा सकता है। मगर, इसकी सीटें फ्लैट फोल्ड नहीं होती हैं।

निष्कर्ष :

डिज़ाइन, स्पेस, क्वॉलिटी और प्रेक्टिकेलिटी के मामले में पंच ऑल राउंडर कार साबित होती है। भारत में पंच की कीमत 5.5 लाख रुपए से 8.5 लाख रुपए के बीच है। प्राइस के मोर्चे पर इसका मुकाबला निसान मैग्नाइट, रेनो काइगर, मारुति  स्विफ्ट और हुंडई ग्रैंड आई10 निओस से है।

यह भी देखें: टाटा पंच ऑन रोड प्राइस

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

टाटा पंच पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का
×
We need your सिटी to customize your experience