• लॉगिन / रजिस्टर

अब पीएसए और एफसीए जैसे बड़े ऑटोमोबाइल ग्रुप भी साथ मिलकर करेंगे काम

संशोधित पर Nov 01, 2019 09:00 PM द्वारा Bhanu

  • 1591 व्यूज़
  • Write a कमेंट

  • जीप की सहयोगी कंपनी बनेगी सिट्रॉएन 
  • ग्रुप पीएसए और एफसीए मिलकर तैयार करेंगी कुछ नए प्रॉडक्ट्स
  • दोनों ग्रुप के बीच साझेदारी के बाद 10 से भी ज्यादा ब्रांड आ जाएंगे साथ
  • सीके बिड़ला समूह के सहयोग से ग्रुप पीएसए 2021 तक सिट्रॉएन ब्रांड के साथ भारतीय बाजार में प्रवेश करेगा
  • भारत में एफसीए के घरेलू स्तर पर संचालित होने वाले ब्रांड्स में फिएट, जीप, अबार्थ और मासेराती ही शामिल हैं।

इन दिनों काफी सारी कंपनीज़ इलेक्ट्रिक वाहन और ऑटोनॉमस ट्रांसपोर्ट टेक्नोलॉजी तैयार करने के लिए एकदूसरे के साथ आ रही हैं।इनमें फोर्ड-महिंद्रा, टोयोटा-सुज़ुकी जैसी कंपनीज़/ग्रुप शामिल हैं। हाल ही में ग्रुप पीएसए और एफसीए (फिएट क्रिस्लर ऑटोमोबाइल्स) ने भी साथ में मिलकर काम करने की घोषणा की है। यदि दोनों ग्रुप साथ आते हैं तो ये विश्व का चौथा सबसे बड़ा ग्लोबल ओईएम यानी ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्यूफैक्चरर के बीच करार होगा। 

प्रस्तावित समझौते में कहा गया है कि दोनों कंपनी की इस नए ग्रुप में 50 प्रतिशत की हिस्सेदारी रहेगी। इस ग्रुप में 11 बोर्ड ऑफ डायरेक्टरर्स जिसमें 5 एफसीए और 5 पीएसए से नामांकित सदस्य होंगे। वहीं, पहले 5 साल के लिए पीएसए ग्रुप के मौजूदा सीईओ कार्लोस तावारेस नए ग्रुप के सीईओ होंगे। 

बता दें कि एफसीए ग्रुप के अंतर्गत आने वाले ब्रांड्स में जीप, फिएट, डॉज, अल्फा रोमियो और मासेराती शामिल हैं। वहीं, फ्रेंच ऑटोमोटिव ग्रुप पीएसए के अंतर्गत प्यूज़ो, सिट्रॉएन,डीएस, ओपल और वॉक्सहॉल जैसे ब्रांड्स आते हैं। 

सीके बिड़ला समूह के सहयोग से ग्रुप पीएसए 2021 तक सिट्रॉन ब्रांड के साथ भारतीय बाजार में प्रवेश करने की तैयारी में है। फिलहाल भारत में एफसीए के घरेलू स्तर पर संचालित होने वाले ब्रांड्स में फिएट, जीप, अबार्थ और मासेराती ही शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: एमजी मोटर्स ने हेक्टर के प्रोडक्शन को दी रफ्तार, जल्द कम होगा वेटिंग पीरियड

द्वारा प्रकाशित

Write your कमेंट

Read Full News
×
आपका शहर कौन सा है?