• लॉगिन / रजिस्टर

हुंडई ने शोकेस किया नया ईवी प्लेटफार्म, इस पर बनी कारों की रेंज होगी 500 किलोमीटर के करीब

प्रकाशित: दिसंबर 02, 2020 06:08 pm । सोनू

  • 2311 व्यूज़
  • Write a कमेंट
  • हुंडई की योजना 2025 तक 23 इलेक्ट्रिक गाड़ियां लाने की है जिनमें से 11 प्योर इलेक्ट्रिक कारें होंगी।
  • ई-जीएमपी प्लेटफार्म पर बनी पहली कार 2021 तक लान्च की जाएगी।
  • इस प्लेटफार्म पर बने मॉडल रियर-व्हील-ड्राइव होंगे, जबकि ऑल-व्हील-ड्राइव का ऑप्शन भी इनमें दिया जाएगा।
  • ई-जीएमपी पर बेस्ड इलेक्ट्रिक कार 350किलोवॉट तक की चार्जिंग कैपेसिटी सपोर्ट करेंगे।
  • इसके इंटीग्रेटेड चार्जिंग कंट्रोल यूनिट से अन्य इलेक्ट्रिक उपकरण व दूसरी इलेक्ट्रिक कार की बैटरी को बिना किसी अतिरिक्त कंपोनेंट के चार्ज किया जा सकेगा।

इन दिनों इलेक्ट्रिक कारों के प्रति लोगों का रूझान तेजी से बढ़ा है और यही वजह है कि कई कंपनियों ने इस सेगमेंट में अपनी कारें भी उतार दी है। अब हुंडई और किया मोटर्स ने मिलकर खासतौर पर इलेक्ट्रिक कारों के लिए एक नया प्लेटफार्म तैयार किया है जिसे ई-जीएमपी नाम दिया गया है।

इस प्लेटफार्म बनी पहली इलेक्ट्रिक कार को 2021 तक लॉन्च किया जाएगा, जिसमें हुंडई आईनिक 5 का नाम शामिल है। वहीं आईनिक 6 और आईनिक 7 को 2024 तक पेश किया जाएगा। हुंडई ने साल 2025 तक कुल 23 इलेक्ट्रिक कारें उतारने की योजना बनाई है जिनमें से 11 तो प्योर इलेक्ट्रिक कार होंगी। आईनिक, हुंडई का सब-ब्रांड है जो खासतौर पर इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए ही है।

वर्तमान में हुंडई की इलेक्ट्रिक कार सेगमेंट में एकमात्र गाड़ी कोना ईवी है। यह फ्रंट व्हील ड्राइव कार है जबकि ई-जीएमपी पर बनी कारों में पीछे वाले पहियों पर पावर सप्लाई होगी। हालांकि कंपनी का कहना है कि अतिरिक्त मोटर जोड़कर इनमें ऑल-व्हील-ड्राइव का ऑप्शन भी शामिल किया जा सकता है। ई-जीएमपी प्लेटफार्म पर हाई-परफॉर्मेंस कार को भी तैयार किया जा सकता है। कंपनी के अनुसार इस प्लेटफार्म पर बने हाई परफॉर्मेंस मॉडल महज 3.5 सेकंड से भी कम समय में 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पा सकेंगे और इनकी टॉप स्पीड 260 किलोमीटर प्रति घंटा होगी।

हुंडई के अनुसार नए ई-जीएमपी प्लेटफार्म पर कई सेगमेंट की इलेक्ट्रिक कार तैयार की जा सकती है। इस प्लेटफार्म पर बनी कारों का व्हीलबेस बड़ा होगा जिसके फलस्वरूप इनके केबिन में अच्छा-खासा स्पेस मिलेगा। इनमें बैटरी पैक को दोनों एक्सल के बीच में फ्लोर में फिट किया जाएगा जिससे बैटरी वैट डिस्ट्रीब्यूशन भी सही रहेगा।

ई-जीएमपी बेस्ड इलेक्ट्रिक कारें 800वी 350किलोवॉट तक फास्ट चार्जिंग सपोर्ट करेंगी। इनमें हुंडई की पेटेंट टेक्नोलॉजी दी जाएगी जो बिना किसी अतिरिक्त कंपोनेट के चार्जिंग को 400वी से 800वी तक बूस्ट कर सकेगी। इनमें व्हीकल-टू-लोड (वी2एल) फंक्शन भी मिलेगा, जिसकी मदद से उपभोक्ता अपनी कार की बैटरी से दूसरी इलेक्ट्रिक कार की बैटरी को भी चार्ज कर सकेगा। वी2एल फंक्शन 3.5 किलोवॉट की पावर सप्लाई करेगा। कंपनी के अनुसार ई-जीएमपी प्लेटफार्म पर बनी बैटरी से चलने वाली इलेक्ट्रिक कारें फुल चार्ज में 500 किलोमीटर से ज्यादा रेंज देंगी। हाई स्पीड चार्जिंग से इन्हें महज 18 मिनट में 80 प्रतिशत तक चार्ज किया जा सकेगा।

अंतरराष्ट्रीय मार्केट में इलेक्ट्रिक कारों को लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप किए हुए हैं, ऐसे में अनुमान लगाए जा सकते हैं कि हुंडई की पहली डेडिकेटेड इलेक्ट्रिक कार को विदेश में ही लॉन्च किया जाएगा। भारत में कंपनी आने वाले कुछ सालों में मास मार्केट इलेक्ट्रिक कार लॉन्च कर सकती है। वर्तमान में भारत में हुंडई की कोना इलेक्ट्रिक कार बिक्री के लिए उपलब्ध है। इसकी रेंज 450 किलोमीटर के करीब है जबकि इसकी कीमत करीब 24 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) है।

यह भी पढे़ं : टेस्टिंग के दौरान नज़र आई हुंडई की माइक्रो एसयूवी, 2021 तक होगी लॉन्च

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

Write your कमेंट

Read Full News
×
आपका शहर कौन सा है?