• लॉगिन / रजिस्टर

मुकाबलाः डैटसन रेडी-गो का ऑल्टो, क्विड और इयॉन से

संशोधित: जून 07, 2016 07:30 pm | nabeel | डैटसन रेडी-गो 2016-2020

  • 10 व्यूज़
  • Write a कमेंट

एंट्री लेवल हैचबैक सेगमेंट, भारतीय कार बाज़ार का सबसे महत्वपूर्ण सेगमेंट है। डैटसन ने यहां रेडी-गो के साथ तीसरी कोशिश की है। इस सेगमेंट में ऑल्टो-800 का दबदबा शुरू से ही बरकरार है। ऑल्टो के बाद दूसरी प्रमुख कार हुंडई इयॉन है। हालांकि रेनो क्विड के आने के बाद से इस सेगमेंट की तस्वीर काफी बदल गई है। क्विड ने सेगमेंट की मजबूत कारों को काफी टक्कर दी है। ऐसे में हम यहां जानने की कोशिश करेंगे कि पहले से मजबूत स्थिति वाली कारों को रेडी-गो कहां तक और कितनी टक्कर दे पाएगी...

इंजन स्पेसिफिकेशन

मॉडल डैटसन रेडी-गो मारूति ऑल्टो-800 रेनो क्विड हुंडई इयॉन
कीमत 2.39 -3.30 लाख रूपए 2.5 से 3.8 लाख रूपए 2.7 से 3.7 लाख रूपए 3.3 से 4.5 लाख रूपए
इंजन (सीसी) 799 796 814 814

पावर (पीएस)

54 48 54 56

टॉर्क (एनएम)

72 69 72 76
ट्रांसमिशन 5-स्पीड मैनुअल 5-स्पीड मैनुअल 5-स्पीड मैनुअल 5-स्पीड मैनुअल

माइलेज (किमी प्रति लीटर)

25.17 24.7 21.1 21.1

आंकड़ों पर नज़र डालें तो हुंडई इयॉन सेगमेंट की सबसे पावरफुल और ऑल्टो-800 सबसे कम ताकतवर कार है। लेकिन ड्राइविंग की बात करें तो ऑल्टो चलाने में सबसे ज्यादा स्मूद है। माइलेज़ की बात करें तो क्विड और रेडी-गो के दावे सबसे ज्यादा हैं।

कद काठी और जगह

मॉडल डैटसन रेडी-गो मारूति ऑल्टो-800 रेनो क्विड हुंडई इयॉन
लंबाई (एमएम) 3429 3430 3679 3459
चौड़ाई (एमएम) 1560 1490 1579 1550
ऊंचाई (एमएम) 1541 1475 1478 1500
बूट स्पेस (लीटर) 222 177 300 215
ग्राउंड क्लीयरेंस (एमएम) 185 160 180 170

कद-काठी औऱ जगह के मामले में रेनो क्विड बाज़ी मार ले जाती है। यह सेगमेंट की सबसे लंबी और चौड़ी कार है। इसका बूट स्पेस भी काफी ज्यादा है। ऊंचाई के मामले में रेडी-गो सबसे आगे है। इसमें ज्यादा हैडरूम मिलेगा।

फीचर्स

मॉडल फीचर्स
डैटसन रेडी-गो डे-टाइम रनिंग लैंप, रेडियो, सीडी, एमपी-3, यूएसबी और ऑक्स इन, फ्रंट पावर विंडोज़, माइलेज़ और फ्यूल रेंज गियर शिफ्ट इंडीकेटर
मारूति ऑल्टो-800 फॉग लैंप्स, सीएनजी का ऑप्शन, फैब्रिक डोर पैनल, रियर डोर चाइल्ड लॉक, रिमोट की-लैस एंट्री
रेनो क्विड एसयूवी जैसा डिजायन, 7 इंच का टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम, लेन चेंज इंडीकेटर, डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, इंटीग्रेटेड रूफ स्पॉइलर
हुंडई इयॉन टिंटेड ग्लास, गियर शिफ्ट इंडीकेट, अंदर एडजस्ट होने वाले विंग मिरर, आई पॉड और यूएसबी कनेक्टिविटी, डैशबोर्ड स्टोरेज़

फीचर्स के मामले में भी क्विड सेगमेंट में सबसे आगे है। सात इंच का टचस्क्रीन और नेविगेशन सपोर्ट वाला इंफोटेंमेंट सिस्टम इसकी सबसे बड़ी खासियत है। रेडी-गो में भी डीएलआर लैंप्स, माइलेज़ डिस्प्ले और कितनी दूरी का फ्यूल बचा है (फ्यूल रेंज या डिस्टेंस टू एंपटी) जैसे फीचर्स दिए गए हैं। हालांकि यह क्विड जितने प्रभावित करने वाले नहीं हैं। बाकी फीचर्स की बात करें तो करीब-करीब हर कार में एक जैसे ही फीचर्स दिए गए हैं।

नतीजा

कीमत, डिजायन और माइलेज़ के हिसाब से फैसला करें तो जाहिर तौर पर रेडी-गो एक अच्छी पेशकश है। जो ग्राहक पहली बार कार खरीदने जा रहे हैं उन्हें इसमें एकदम नया डिजायन और अच्छे फीचर्स मिलेंगे। कार की राइड और ड्राइविंग क्वालिटी भी अच्छी है। ऑल्टो-800 को हाल ही में अपडेट किया गया है लेकिन फिर भी क्विड और रेडी-गो के मुकाबले यह पुरानी ही नज़र आती है। हुंडई इयॉन जब से आई है इसमें कोई बदलाव नहीं हुए हैं। इसे बदलावों की सख्त जरूरत है। क्विड को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है और यह खुद को सफल साबित कर चुकी है। इन तीनों के बीच रेडी-गो ग्राहकों के लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकती है। 2.39 लाख रूपए से 3.30 लाख रूपए की कीमत में यह काफी किफायती कार है। अगर डैटसन इस बार ग्राहकों का भरोसा जीतने में कामयाब रही तो यह कार कंपनी के लिए क्विड जैसी सफलता जुटा सकती है।

यह भी पढ़ें : लेनी है डैटसन की रेडी-गो, जानिये किस वेरिएंट में क्या मिलेगा

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

डैटसन रेडी-गो 2016-2020 पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
×
आपका शहर कौन सा है?