• English
  • Login / Register

ग्लोबल एनकैप क्रैश टेस्ट में टाटा टियागो और टिगॉर फेसलिफ्ट को मिली इतनी रेटिंग

संशोधित: जनवरी 23, 2020 11:29 am | भानु | टाटा टिगॉर

  • 4100 व्यूज़
  • Write a कमेंट

  • ग्लोबल एनकैप क्रैश टेस्ट में टियागो और टिगॉर के एंट्री लेवल वेरिएंट का किया गया इस्तेमाल
  • दोनों मॉड्ल्स में नहीं दिया गया आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट एंकर का फीचर
  • दोनों कारों में दिया गया है 1.2 लीटर बीएस6 पेट्रोल इंजन

#SaferCarsForIndia कैंपेन के तहत ग्लोबल एनकैप द्वारा हाल ही में टाटा (Tata) की टियागो (Tiago 2020) और टिगॉर (Tigor 2020) के फेसलिफ्ट मॉडल का क्रैश टेस्ट किया गया। इस दौरान वयस्क पैसेंजर की सुरक्षा के लिए इन दोनों कारों को 4 स्टार रेटिंग दी गई है जबकि चाइल्ड सेफ्टी के लिए ये दोनों हैचबैक और सब-4 मीटर सेडान 3 स्टार रेटिंग ही हासिल कर पाई। 

इस क्रैश टेस्ट में दोनों कारों के एंट्री लेवल वेरिएंट का इस्तेमाल किया गया था। इन दोनों कारों में ड्यूल फ्रंट एयरबैग,प्रीटेंशनर से लैस फ्रंट सीटबेल्ट और एबीएस एवं एबीडी जैसे सेफ्टी फीचर्स स्टैंडर्ड दिए गए हैं। इन दोनों अपडेटेड हैचबैक और सेडान को वयस्क पैसेंजर की सेफ्टी के लिए 17 में से 12.52 पॉइन्ट मिले, जबकि चाइल्ड सेफ्टी के लिए दोनों कारों ने 49 में से 34.15 पॉइन्ट हासिल किए।

हमेशा की तरह टियागो (Tiago Facelift) और टिगॉर (Tigor Facelift) फेसलिफ्ट का क्रैश टेस्ट 64 किलोमीटर घंटे की रफ्तार पर किया गया। रिपोर्ट में इन दोनों कारों के स्ट्रक्चर और फुटवैल एरिया को अस्थिर बताया गया है। वयस्क पैसेंजर के सिर और गर्दन की सुरक्षा को अच्छा बताया गया है। हालांकि, पैसेंजर की छाती की सुरक्षा को संतोषजनक बताया गया है वहीं, इसी मोर्चे पर ड्राइवर की सुरक्षा को औसत करार दिया गया है। दोनों कारों में थाईबोन और घुटनों की सुरक्षा को भी औसत ही बताया गया है। 

यह भी पढ़ें: भारत में लॉन्च हुई टाटा टियागो फेसलिफ्ट, कीमत 4.60 लाख से शुरू

टाटा मोटर्स की इन दोनों कारों के बेस वेरिएंट में आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट एंकर नहीं दिए गए हैं। क्रैश टेस्ट में तीन साल के बच्चे की डमी को एडल्ट सीट बेल्ट और सपोर्ट लेग के ज़रिए आगे की तरफ फेस करके रखा गया था, जिसके बाद कार के टकराने पर डमी द्वारा आगे की तरफ मूवमेंट देखा गया मगर उसका चेस्ट प्रोटेक्शन सही रहा। इसके बाद 18 महीने के बच्चे की डमी को इंस्टॉल किया गया, जिसमें इसका लेग सपोर्ट और सेफ्टी लेवल काफी अच्छा रहा। 

इन दोनों हैचबैक और सेडान में पैसेंजर एयरबैग को डिस्कनेक्ट करने की सुविधा नहीं दी गई है। ऐसे में अगर आप आगे की तरफ सीआरएस सीट लगाते हैं तो आप एयरबैग को डिस्कनेक्ट नहीं कर सकते हैं, जिससे दुर्घटना की स्थिति में बच्चे को चोट लगने की संभावनाएं बनी रहती है। थ्री पॉइन्ट सीटबेल्ट और आईएसओफिक्स चाइल्ट सीट एंकर का अभाव होने के कारण इन दोनों कारों को चाइल्ड सेफ्टी के लिए केवल 3 स्टार रेटिंग ही दी गई। 

यह भी पढ़ें: टाटा टिगॉर फेसलिफ्ट हुई लॉन्च, कीमत 5.75 लाख रुपये से शुरू

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

टाटा टिगॉर पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
×
We need your सिटी to customize your experience