• लॉगिन / रजिस्टर

मारुति ओमनी और टाटा नैनो सहित 2019 में बंद हो सकती हैं ये कारें

संशोधित पर Jan 02, 2019 03:52 PM द्वारा Raunak

  • 23 व्यूज़
  • Write a कमेंट

नया साल शुरू हो चुका है। इस साल भारतीय कार बाजार में कई नए बदलाव देखने को मिलेंगे, इनमे भारत स्टेज-6 उत्सर्जन मानदंडों से लेकर भारत की अपनी क्रैश टेस्ट रेटिंग लागू होना शामिल हैं। इनकी बदौलत भारत में बेची जाने वाली सभी कारें जल्द ही वैश्विक मानकों के अनुरूप होंगी। इन सभी नए बदलावों के चलते कुछ मौजूदा कारों के बंद होने का भी अनुमान है। कुछ ऐसी ही कारों की सूची आज हमने आपके लिए तैयार की है, जिन्हे आप यहां जानेंगे :

ध्यान दें : यहाँ हमने उन कारों को लिया है, जिनकी कीमत 15 लाख रुपए से कम है। हमने कारों को उनकी बिक्री, आगामी बीएस-6 उत्सर्जन मानक और क्रैश टेस्ट मानदंडों को ध्यान में रख चुना है।

मारुति सुजुकी जिप्सी 

  • कीमत : 5.70 लाख रुपए 6.40लाख रुपए (एक्स-शोरूम दिल्ली)
  • औसत मासिक बिक्री : 500 से कम यूनिट 

Maruti Suzuki Gypsy

मारुती सुजुकी जिप्सी ने 1980 के दशक में भारतीय कार बाजार में कदम रखा था। उम्मीद है कि कंपनी जिप्सी को अब 2019 में बंद कर देगी। इसके पीछे मुख्य वजह इस साल से लागू होने वाले 'भारत न्यू व्हीकल सेफ्टी एसेस्मेंट प्रोग्राम (बी.एन.वी.एस.ए.पी.)' को माना जा रहा है। इसके अलावा, जिप्सी में मिलने वाला 1.3 लीटर पेट्रोल इंजन भी भारत स्टेज-6 उत्सर्जन मानदंडों के अनुरूप नहीं है। जिप्सी को अपनी ऑफ-रोड क्षमता और कम कर्ब वेट (980 किलों) के लिए ‘माउंटेन गोट’ के रूप में जाना जाता है। इसे भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा भी उपयोग किया जाता है, परन्तु इसके बावजूद भी कंपनी जिप्सी के नए वर्ज़न को भारत में लॉन्च नहीं करेगी। 

Maruti Suzuki Gypsy

मारुति सुजुकी ओमनी 

  • कीमत : 2.76 लाख रुपए (एक्स-शोरूम दिल्ली) 
  • औसत मासिक बिक्री : 6000 यूनिट से 8000 यूनिट 

Maruti Suzuki Omni

जिप्सी की तरह, ओमनी भी देश में लंबे समय से बिकने वाली मारुति कारों में से एक है। इसे 1985 में भारत में लॉन्च किया गया था। पिछले तीन दशकों से कंपनी ने ओमनी के नए जनरेशन मॉडल को लॉन्च नहीं किया है। हालांकि कंपनी ने नए जनरेशन मॉडल के तौर पर मारुति सुज़ुकी वर्सा को लॉन्च किया था। जिसे भी 2010 में बंद कर कंपनी ने ईको वेन को भारतीय बाजार में उतारा था। मौजूदा ओमनी न तो क्रैश टेस्ट मानदंडों को पूरा करेगी और न ही इसका पुराना 796 सीसी कार्बोरेटेड इंजन कड़े बीएस-6 उत्सर्जन मानदंडों को पूरा करने में सक्षम है, लिहाज़न कंपनी ओमनी को बंद कर सकती है। गौरतलब है कि, ओमनी की मासिक बिक्री अब भी कई कारों की तुलना में बहुत ज्यादा है। 

महिंद्रा जायलो   

  • कीमत : 9.17 लाख रुपए से 12.00लाख (एक्स-शोरूम दिल्ली) 
  • औसत मासिक बिक्री : ~ 500 यूनिट 

Mahindra Xylo

महिंद्रा भी इस साल अपनी जायलो एमपीवी को बंद कर सकती है। इसे 2009 में लॉन्च किया गया था, जिसके बाद से अब तक कंपनी ने इसके नए जनरेशन मॉडल को लॉन्च नहीं किया है। महिंद्रा जायलो को फर्स्ट-जनरेशन स्कॉर्पियो के प्लेटफार्म पर बनाया गया है, जो आगामी क्रैश टेस्ट को पास करने में असमर्थ है। यही नहीं, सेकेंड जनरेशन स्कॉर्पियो को ग्लोबल एनकैप क्रैश टेस्ट में शून्य अंक मिले थे। कार की बॉडी को भी टेस्ट के दौरान "अस्थिर" बताया गया था। ऐसे में उम्मीद है कि कंपनी जायलो को भारत में बंद कर देगी। इसके बदले में कंपनी टीयूवी300 प्लस को पहले ही लॉन्च कर चुकी है।  

महिंद्रा नूवोस्पोर्ट  

  • कीमत : 7.77 लाख रुपए से 10.25 लाख रुपए  
  • औसत मासिक बिक्री : शून्य 

Mahindra NuvoSport
पिछले छः महीनों में महिंद्रा नूवोस्पोर्ट की केवल एक यूनिट की बिक्री दर्ज हुई है। ऐसे में साफ़ है कंपनी इसे भी 2019 में बंद कर देगी। यह एक सब-4 मीटर कॉम्पैक्ट एसयूवी है, जिसे टीयूवी300 के प्रीमियम विकल्प के रूप में लॉन्च किया गया था। हालांकि ग्राहकों पर यह कोई कमाल नहीं दिखा पायी। अब कंपनी जल्द ही एक्सयूवी300 को इस सेगमेंट में उतारने जा रही है। 

होंडा ब्रियो 

  • कीमत : 4.73 लाख रुपए से 6.81 लाख रुपए (एक्स-शोरूम दिल्ली)
  • औसत मासिक बिक्री : 200 यूनिट से कम 

Honda Brio Facelift

अपनी खास टेल डिज़ाइन के लिए जानी जाने वाली होंडा ब्रियो भी इस सूची में शामिल है। स्विफ्ट और ग्रैंड आई10 जैसे अपने मौजूदा प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले ब्रियो की बिक्री बहुत कम है। ब्रियो की डिज़ाइन में भी कंपनी ने काफी समय से कोई अपडेट नहीं किया है। फीचर के मामले में भी यह सगमेंट की अन्य कारों से पीछे है। वहीं, फोर्ड फ्रीस्टाइल इस सेगमेंट में सुरक्षा के मामले में सबसे आगे है। इसे अलावा, फोर्ड फिगो फेसलिफ्ट भी जल्द लॉन्च होनी है। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि होंडा इस साल ब्रियो को भारत में बंद कर देगी। नवम्बर 2018 में ब्रियो की केवल 10 यूनिट की बिक्री हुई थी। जिसके चलते कार के प्रोडक्शन बंद किये जाने की बातें भी सामने आई थी, लेकिन कंपनी ने इसकी पुष्टि नहीं की थी। होंडा ने ब्रियो के अपडेटेड वर्ज़न को 2018 में इंडोनेशिया में पेश किया था। हालांकि इसे भारत में लॉन्च नहीं किया जाएगा। 

Second-gen Honda Brio

हुंडई इयॉन

  • कीमत : 3.35 लाख रुपए से 4.68 लाख रुपए (एक्स-शोरूम दिल्ली)
  • औसत मासिक बिक्री : अक्टूबर और नवंबर 2018 में 6 यूनिट 

Hyundai EON

हुंडई ने इयॉन को 2011 में लॉन्च किया गया था, जिसके बाद से कंपनी ने इसका कोई अपडेटेड वर्ज़न बाजार में नहीं उतारा है। ऐसे में फीचर लोडेड नई सैंट्रो के लॉन्च होने से इयॉन की बिक्री प्रभावित हुई है। नई सैंट्रो को ग्रैंड आई10 के प्लेटफार्म पर तैयार किया गया है, जो इसे कद-काठी के मामले में इयॉन से बड़ी बनाती है। यही नहीं, सैंट्रो का रियर केबिन स्पेस ग्रैंड आई10 से भी ज्यादा है। ऐसे में नई जनरेशन इयॉन के लॉन्च होने तक इसके बंद होने की संभावनाएं बनी हुई है, क्योंकि यह आगामी क्रैश टेस्ट को पास करने में सक्षम नहीं है। 

फिएट पुंटो और लीनिया 

  • कीमत :
  1. पुंटो : 5.35 लाख रुपए से 7.47 लाख रुपए (एक्स-शोरूम दिल्ली) 
  2. लीनिया : 7.15 लाख रुपए से 9.97 लाख रुपए (एक्स-शोरूम दिल्ली) 
  • औसत मासिक बिक्री : 100 यूनिट से कम 

Fiat Linea 125
इस लेख की अन्य कारों की तुलना में इन कारों की बिक्री लम्बे समय से खराब रही है। ये दोनों कारें अपने सेगमेंट की सबसे पुरानी कारें भी हैं। लीनिया की  सालाना औसत बिक्री 10 यूनिट से भी कम है। वहीं, पुंटो रेंज की मासिक बिक्री लगभग 50 यूनिट तक है, जिनमे अवेंचुरा और अर्बन क्रॉस शामिल हैं। कंपनी इन कारों को खराब सेल्स के चलते बंद कर सकती है।  हालांकि जब तक फिएट कोई नया मॉडल नहीं लॉन्च करती तब तक कंपनी अबर्थ की बिक्री जारी रख सकती है।  

Abarth Punto

टाटा नैनो 

  • कीमत : 2.36 लाख रुपए से 3.34 लाख रुपए 
  • औसत मासिक बिक्री : ~ 50 यूनिट

Tata Nano

2008 में अपनी लॉन्च के बाद टाटा नैनो दुनिया की सबसे सस्ती कार के रूप में उबरी। हालांकि कम कीमत के बावजूद भी नैनो कंपनी की तय उम्मीदों पर खड़ी नहीं उतर पायी। आगामी मानदंडों के चलते कंपनी इसे बंद कर सकती है। 
यह भी पढ़ें : 2019 में लॉन्च होंगी ये सेडान कारें

द्वारा प्रकाशित

Write your कमेंट

Read Full News
×
आपका शहर कौन सा है?