टाटा टिगॉर आईसीएनजी से जुड़ी वो 10 बातें जिससे साबित होता है कि सेगमेंट की गेम चेंजर कार है ये

प्रकाशित: मार्च 24, 2023 07:18 pm । sponsoredटाटा टिगॉर

  • 1370 व्यूज़
  • Write a कमेंट

2023 में आपको कई ऐसी सेडान कार खरीदने के ऑप्शंस मिल जाएंगे जिनमें फैक्ट्री फिटेड सीएनजी किट दी गई है। मगर फिर भी टाटा टिगॉर आईसीएनजी अपने सेगमेंट की सबसे अलग कार है जिसमें आपको कुछ ऐसा खास मिलेगा जो आप एक सीएनजी कार से उम्मीद करते हैं। बूट में टैंक के अलावा इस सीएनजी सेडान में बायो फ्यूल इंजन, एक ऐसा रीट्यून्ड सस्पेंशन जिसपर टैंक के एक्सट्रा वजन का कोई असर नहीं पड़ता है और कुछ यूनीक फीचर्स दिए गए हैं। 

किस तरह टाटा टिगॉर आईसीएनजी अपने सेगमेंट में गेम चेंजर हो रही है साबित, ये आप समझिए नीचे दिए गए कुछ पॉइन्ट्स के जरिए:

काफी गुड लुकिंग कार है ये 

टिगॉर की शार्प स्टाइलिंग और कूपे कारों जैसी रूफलाइन से इसे एक स्लीक और स्टाइलिश स्टांस मिलता है। इसके फ्रंट में अलग सी शार्क नोज़ ग्रिल दी गई है जिसके दोनों सिरों पर हेलोजन प्रोजेक्टर हेडलाइट्स और एलईडी डेटाइम रनिंग लैंप्स दिए गए हैं। साइड से देखें तो यहां स्लीक कूपे रूफलाइन बूट लिड तक पहुंच रही है। टॉप वेरिएंट्स में दिए गए 'हाइपरस्टाइल' व्हील्स से इसका ओवरऑल लुक और भी शानदार नजर आता है। 

अपडेटेड इंजन

2023 टिगॉर में 1.2 लीटर रेवोट्रॉन इंजन दिया गया है जिसे कंपनी ने अब ज्यादा स्मूद और पहले से ज्यादा रिफाइंड कर दिया है। आरडीई एमिशन के अनुरूप और ई2ओ फ्यूल पर काम करने में सक्षम इस इंजन से अब पहले से बेहतर ड्राइवेबिलिटी मिली है और रिफाइनमेंट में सुधार होने से अब नॉइस, वाइब्रेशन और हार्शनैस से जुड़ी कोई समस्या इसमें नहीं आएगी। रेगुलर ड्राइविंग के हिसाब से टिगॉर आईसीएनजी परफॉर्मेंस के मामले में पेट्रोल मॉडल जितनी ही अच्छी दिखाई देती है और आपको ओवरटेक करने या किसी ऊंचे स्थान पर जाने के दौरान पेट्रोल पावर की जरूरत ही महसूस नहीं होगी। 

डीजल कार का बेहतर विकल्प है टिगॉर आईसीएनजी

टिगॉर में सीएनजी के विकल्प ने सोने पर सुहागा का काम किया है, क्योंकि एक समय ये भारत की बेस्ट सेलिंग सेडान कारों की लिस्ट में नंबर 2 पर थी। इस कार में सीएनजी का ​ऑप्शन मिलने से उन ग्राहकों को भी फायदा पहुंचा है जो डीजल सेडान खरीदने के इच्छुक हैं क्योंकि नए ​एमिशन नॉर्म्स आने के बाद से डीजल इंजन वाली कारों के उतने ऑप्शंस नहीं बचे हैं। डीजल कारों के मुकाबले सीएनजी कारों से उतना टॉर्क भले ही ना मिल पाता हो, मगर ये इनसे ज्यादा नहीं तो इनके बराबर ही फ्यूल एफिशिएंट साबित होती हैं। टिगॉर आईसीएनजी पर भी ये बात लागू होती है क्योंकि इसका एआरएआई सर्टिफाइड माइलेज 26.49 किलोमीटर प्रति किलोग्राम है, मगर हमारी टेस्ट टीम को इससे भी बेहतर माइलेज के आंकड़े मिले। 

अपने सेगमेंट की सबसे सेफ कार है ये!

भले ही आप इसका एंट्री लेवल वेरिएंट ही क्योंं ना चुने आपको इसमें डुअल एयरबैग, रियर पार्किंग सेंसर, एबीएस और कॉर्नर स्टेबिलिटी कंट्रोल जैसे फीचर्स मिल जाएंगे। इन सभी सेफ्टी फीचर्स के साथ टिगॉर आईसीएनजी सेडान में आपको स्ट्रॉन्ग बॉडी जैसी खूबी भी मिलती है, जिसकी बदौलत इसको ग्लोबल एनकैप की तरफ से 4 स्टार सेफ्टी रेटिंग मिली, जिससे ये अपने सेगमेंट की सबसे सेफ कार साबित होती है। इस कार के टॉप वेरिएंट में टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम और काफी सारे कंफर्ट फीचर्स के साथ साथ कई अन्य फीचर्स भी दिए गए हैं। 

टिगॉर आई सीएनजी में भी कुछ अलग से सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं, जिनमें हाई क्वालिटी स्टेनलेस स्टील ट्यूब्स और फिटिंग्स शामिल है, जिन्हें कई तरह के तापमान और प्रेशर के दौरान टेस्ट किया जा चुका है जो गैस लीकेज को रोकने में सक्षम है। इस कार में लीक डिटेक्शन फीचर भी दिया गया है, जो सिस्टम के किसी प्रकार के लीकेज को डिटेक्ट करने पर ऑटोमैटिकली इंजन को पेट्रोल पर स्विच कर देता है। ये एक माइक्रो स्विच से भी जुड़े हैं जो फ्यूल लिड के खुले रह जाने पर कार को बंद कर देता है और जब तक ये लिड बंद नहीं कर दी जाती तब तक ये कार को दोबारा स्टार्ट नहीं होने देता है। ऐसे फीचर्स के रहते ये कार काफी सेफ बनती है। 

एक से बढ़कर एक फीचर्स दिए गए हैं इसमें 

​अपने इंफोटेमेंट की वजह से टिगॉर अपने सेगमेंट में सबसे अच्छी कार साबित हुई है और चूंकि अब कॉम्पिटशन काफी बढ़ रहा है, ऐसे में टाटा की इस सेडान में दिया गया 8 स्पीकर हर्मन कार्डन साउंड सिस्टम का साउंड काफी ​बढ़िया है और केबिन इंसुलेनशन के साथ इसका तालमेल भी बढ़िया नजर आता है। इसमें एंड्रायॅड ऑटो और एपल कारप्ले कनेक्टिविटी वाला 7 इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है और टिगॉर में रेन सेंसिंग वायपर भी दिया गया है जो कि सेगमेंट फर्स्ट फीचर है। इसके अलावा इस कार में दिए गए ऑटोमैटिक प्रोजेक्टर हेडलाइट्स, एलईडी डीआरएल, फ्रंट फॉग लैंप्स, पुश-बटन स्टार्ट, स्टीयरिंग-माउंटेड ऑडियो कंट्रोल्स, कीलेस एंट्री, ऑटो-फोल्डिंग रियर व्यू मिरर, क्लाइमेट कंट्रोल, हाइट-एडजस्टेबल ड्राइवर सीट और ऑप्शनल लेदरेट सीट्स जैसे कुछ हाइलाइटेड फीचर्स भी मौजूद हैं जो इसके मुकाबले में मौजूद दूसरी कारों में आपको नहीं मिलेंगे। 

बूट में भी सामान रखने की मिल जाती है जगह

केवल पेट्रोल इंजन वाली स्टैंडर्ड टिगॉर में 419 लीटर का बूट स्पेस दिया गया है जो सेगमेंट में सबसे ज्यादा है। चूंकि टिगॉर आईसीएनजी के बूट में सीएनजी टैंक जगह घेर लेता है, मगर दूसरी सीएनजी कारों के मुकाबले इस सेडान की कूपे रूफलाइन के चलते इसके आईसीएनजी वेरिएंट्स में कुछ सामान रखने जितना स्पेस मिल जाता है। 

तीन साल की अच्छी खासी वॉरन्टी 

अब टाटा की कारें काफी भरोसेमंद बन चुकी हैं, मगर कस्टमर्स को अच्छे खासे समय के लिए मिलने वाला वॉरन्टी पीरियड उन्हें काफी हद तक तनावमुक्त रखता है। टिगॉर आईसीएनजी के सभी वेरिएंट्स के साथ तीन साल की स्टैंडर्ड वॉरन्टी दी जा रही है। यानी आप बिना किलोमीटर की परवाह किए 1 लाख किलोमीटर तक इस कार को ड्राइव कर सकते हैं और रोड ट्रिप्स पर भी जा सकते हैं। 

एडवांस्ड सीएनजी सिस्टम 

टिगॉर के नाम में आईसीएनजी ‘iCNG’ का मतलब है 'इन्क्रेडिबल परफॉर्मेंस' 'आईकॉनिक सेफ्टी','इंटेलिजेंट टेक्नोलॉजी' और 'इंप्रेसिव फीचर्स'। परफॉर्मेंस की बात करें तो आईसीएनजी 73 पीएस की पावर और 95 एनएम का टॉर्क डिलीवर करती है। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि टिगॉर के सीएनजी सिस्टम में सेगमेंट फर्स्ट ‘डायरेक्ट स्टार्ट’ दिया गया है जिससे आप पेट्रोल के बजाए इसे सीधे सीएनजी से स्टार्ट कर सकते हैं। जबकि टिगॉर के सेगमेंट वाली दूसरी सीएनजी कारों में पहले आपको पेट्रोल से स्टार्ट करना होता है और इंजन गर्म होने के बाद ही उन्हें सीएनजी पर स्विच करना पड़ता है। 

इसके अलावा इसमें सिंगल ईसीयू दिया गया है जिससे पेट्रोल और सीएनजी मोड्स के बीच बिना अटके आराम से स्विच किया जा सकता है और ड्युअल ईसीयू वाली दूसरी कारों की तरह इसमें परफॉर्मेंस का कोई खास अंतर पता नहीं चलता है। साथ ही टिगॉर आईसीएनजी में एक ऐसा सिस्टम भी दिया गया है जो पेट्रोल या सीएनजी कम होने पर आवश्यकता अनुसार ऑटोमैटिकली स्विच करता रहता है। 

काफी अच्छा है इसका सस्पेंशन सिस्टम 

टिगॉर आईसीएनजी में टैंक के भार को हैंडल करने के लिए काफी अलग तरह का सस्पेंशन सेटअप और ट्यूंड डैंपर्स दिए गए हैं। बंप्स आने पर अच्छी कुशनिंग के लिए इसके रियर में ड्युअल पाथ स्ट्रट्स के साथ स्टिफ ओवरऑल सस्पेंशन सेटअप दिए गए हैं जो सेगमेंट की दूसरी कारों के मुकाबले काफी अच्छे हैं और एक आलीशान और मैच्योर राइड क्वालिटी देते हैं। इस कार में 165 मिलीमीटर का अच्छा खासा ग्राउंड क्लीयरेंस भी मिलता है जो स्टैंडर्ड पेट्रोल टिगॉर से महज 5 मिलीमीटर ही कम है। 

इंजन और वेरिएंट ऑप्शन

टिगॉर आईसीएनजी में तीन वेरिएंट्स: एक्सएम, एक्सजेड और एक्सजेड+ के ऑप्शंस दिए गए हैं। टाटा की ये सेडान अपने सेगमेंट में इसलिए भी खास है, क्योंकि इसके टॉप वेरिएंट एक्सजेड+ तक में सीएनजी का ऑप्शन मिलता है और इस वेरिएंट में लैदरेट सीट्स, 'हायपरस्टाइल' व्हील्स के साथ साथ ऊपर बताए गए ऑटो एसी, सात इंच की टचस्क्रीन और आठ स्पीकर वाला हरमन साउंड सिस्टम जैसे फीचर्स भी दिए गए हैं। 

इसमें 1.2 लीटर रेवोट्रोन इंजन के साथ 5 स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन स्टैंडर्ड दिया गया है और पेट्रोल मॉडल में एएमटी का ऑप्शन भी मिलता है जिसकी फ्यूल एफिशिएंसी 19.6 किलोमीटर प्रति लीटर है। इसके आईसीएनजी वेरिएंट में केवल मैनुअल ट्रांसमिशन का ऑप्शन ही मिलता है जिसकी रनिंग कॉस्ट काफी कम है। 

हमारी राय 

एक स्पेशियस फैमिली सेडान ढूंढ रहे लोगों के लिए टाटा टिगॉर आईसीएनजी एकदम परफैक्ट है जिसकी रनिंग कॉस्ट काफी कम आती है। कंपनी के इंजीनियरों ने इसमें जो भी बदलाव किए हैं उससे टिगॉर आईसीएनजी एक भरोसेमंद और लंबे समय तक साथ देने वाली कार के तौर पर सामने आई है और वाकई ये अपने सेगमेंट में एक स्पेशल कार कही जा सकती है। कुल मिलाकर टाटा टिगॉर एक अच्छा ऑल राउंड पैकेज है जिसकी कीमत 6.19 लाख रुपये से लेकर 8.70 लाख रुपये (एक्सशोरूम) के बीच है।  

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

टाटा टिगॉर पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News

और देखें on टाटा टिगॉर

Used Cars Big Savings Banner

found ए कार यू want से buy?

Save upto 40% on Used Cars
  • quality पुरानी कारें
  • affordable prices
  • trusted sellers

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

नई दिल्ली में *एक्स-शोरूम कीमत

कार न्यूज़

  • ट्रेंडिंग न्यूज़
  • ताजा खबरें

ट्रेंडिंगसेडान कारें

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience