• लॉगिन / रजिस्टर

जानिए असल में कैसा परफॉर्म करती है और कितनी रेंज देती है एमजी जेडएस ईवी

प्रकाशित: जुलाई 27, 2020 01:40 pm । भानुएमजी जेडएस ईवी

  • 2546 व्यूज़
  • Write a कमेंट

 

भारत में भी अब इलेक्ट्रिक कारों के बारे में लोग जानने लगे हैं। यहां लंबी रेंज वाली तीन इलेक्ट्रिक कारें मौजूद हैं जिनकी कीमत 14 लाख रुपये से 24 लाख रुपये के बीच है। अगर कोई अपने लिए दूसारी या तीसरी कार खरीद रहा है तो ये उनके हिसाब से बजट फ्रैंडली भी है। मगर इलेक्ट्रिक कारों की डेली परफॉर्मेंस और रेंज से जुड़े सवाल अक्सर पूछे जाते रहे हैं। आज हम भारत में उपलब्ध एमजी मोटर्स की एकमात्र इलेक्ट्रिक कार जेडएस ईवी की बात करेंगे जिसकी हमनें टेस्टिंग की है और परफॉर्मेंस के मोर्चे पर हमनें इसका कंपेरिजन आईसी इंजन वाली कॉम्पैक्ट एसयूवी से किया है। तो क्या रहे असल नतीजे जानेंगे आगे:

एक्सलरेशन

इंटरनेट पर कुछ देर सर्च करने के बाद हमने पाया कि एक्सलरेशन के मोर्चे पर आईसी इंजन वाली कारों से इलेक्ट्रिक कारें कई ज्यादा अच्छी होती हैं। सबसे अच्छी बात ये है कि इन-गियर एक्सलरेशन होने से इनमें गियर डाउन करने की जरूरत नहीं पड़ती है और इंजन द्वारा टॉर्क जनरेट होने का भी इंतजार नहीं करना पड़ता है। तो परफॉर्मेंस के मोर्चे पर आईसी इंजन वाली कारों के मुकाबले कैसी है एमजी जेडएस ईवी नीचे दिए गए आंकड़ों से समझें:.

 

एमजी जेडएस ईवी

हुंडई क्रेटा पेट्रोल टर्बो एटी

जीप कंपास पेट्रोल टर्बो एटी

बीएमडब्ल्यू एक्स1 डीजल

0-100किलोमीटर प्रति घंटा

8.36 सेकंड्स

9.41 सेकंड्स

09.99 सेकंड्स

7.99 सेकंड्स

20-80किलोमीटर प्रति घंटा

4.56 सेकंड्स

5.55 सेकंड्स

06.48 सेकंड्स

4.75 सेकंड्स

एमजी जेडएस ईवी को 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार हासिल करने में केवल 8.36 सेकंड का समय लगता है। यह 1.4 लीटर टर्बोचार्ज्ड इंजन एवं 7-स्पीड डीसीटी गियरबॉक्स से लैस हुंडई क्रेटा से एक सेकंड ज्यादा तेज है। यहां तक कि ये टर्बो पेट्रोल इंजन वाली जीप कंपास से भी ज्यादा तेज है जिसकी कीमत इसके लगभग आसपास ही है। इस मोर्चे पर जेडएस ईवी को केवल एक ही कार टक्कर देती है जो कि लग्जरी सेगमेंट से है। जी,हां यहां बीएमडब्ल्यू एक्स1 ही एक ऐसी कार है जो इस मोर्चे पर जेडएस ईवी से ज्यादा तेज है। 

निष्कर्ष: यदि आप बार बार एक्सलरेशन करना पसंद करते हैं तो जेडएस ईवी के इन गियर एक्सलरेशन आपको काफी पसंद आएंगे। जरा सा एक्सलरेट करने पर ये कार ऐसे भागती है कि जब दूसरे वाहनों को ओवरटेक करने लगते हैं तो उनकी स्पीड इसके सामने कुछ नहीं रहती है। हालांकि इसका प्रभाव गाड़ी की रेंज पर जरूर पड़ सकता है। 

ब्रेकिंग

इसमें कोई शक नहीं कि कार में ब्रेकिंग काफी महत्वपूर्ण होती है। मगर ये तब अ​ति महत्वपूर्ण हो जाती है जब बात 4.5 सेकंड में 20 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार हासिल करने की हो। ऐसे अब इन चारों कारों की ब्रेकिंग पर डालते हैं एक नजर:

 

एमजी जेडएस ईवी

हुंडई क्रेटा टर्बो पेट्रोल एटी

जीप कंपास टर्बो एटी

बीएमडब्लयू एक्स1

100-0किलोमीटर प्रति घंटा

40.49m

40.12मीटर

47.76मीटर

43.37मीटर

80-0किलोमीटर प्रति घंटा

25.09मीटर

26.05मीटर

29.05मीटर

26.70मीटर

ब्रेकिंग के मामले में हमें हुंडई क्रेटा ने सबसे ज्यादा इंप्रेस किया। वो कोई भी कार जिसमें 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पर होने के बाद ब्रेक लगाने पर 40 मीटर आगे जाकर रुक जाए वहीं 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार में होने पर ब्रेक लगाने 25 मीटर आगे जाकर रुक जाए तो मानकर चलें वो इस मोर्चे पर काफी अच्छी है। जेडएस ईवी में मिशलिन प्राइमेसी 215/50 आर17 टायर दिए गए हैं जो अच्छी फोर्स के साथ ब्रेक लगाने पर रुकते हैं। रियल वर्ल्ड में जेडएस ईवी की ब्रेकिंग परफॉर्मेंस क्रेटा के आसपास ही है। 

यह भी पढ़ें: क्या देश में चलनी चाहिए एचसीएनजी कारें? सरकार ने मांगे सुझाव

निष्कर्ष: सिटी में जेडएस ईवी की ब्रेकिंग उतनी खास नहीं लगती है जहां इसमें थोड़े बहुत जर्क नजर आते हैं। हालांकि, किसी आपात स्थिति में इसकी स्टॉपिंग फोर्स काफी इंप्रेस करती है। 

रेंज

तो जिस सवाल के जवाब का आपको सबसे ज्यादा इंतजार था उसके बारे में जानने से पहले एक बार ये समझ लें कि रियल वर्ल्ड रेंज यानी असल में ईवी की रेंज कैसे कैलक्यूलेट की जाती है। 

क्या कहती है थ्योरी: जैसे हम आईसी इंजन वाली कारों में किलोमीटर प्रति लीटर ईंधन (किमी प्रति ली.) के हिसाब से माइलेज को कैल्कुलेट करते हैं, वही तर्क इलेक्ट्रिक वाहनों में बैटरी चार्ज (किमी / केडब्ल्यूएच) किलोमीटर प्रति केडब्ल्यूएच हो जाता है। यह दर्शाता है कि एक इलेक्ट्रिक व्हीकल बैटरी चार्ज के बाद कितने प्रति किलोमीटर चल सकता है। जेडएस ईवी में 44.5केडब्ल्यूएच का बैट्री पैक दिया गया है। बैटरी की क्षमता के साथ इस आंकड़े को गुणा करने से हमें फुल चार्ज पर रेंज का आंकड़ा मिलता है। आईसी इंजन वाले व्हीकल की ही तर​ह यहां भी हाईवे और सिटी के आंकड़े अलग अलग होते हैं जिनमें बहुत बड़ा अंतर होता है। 

सिटी और हाईवे पर रेंज के आंकड़ों में एक बड़ा अंतर ब्रेक एनर्जी ​रीजनरेशन की वजह से आता है। सिटी के अंदर हम ज्यादा थ्रॉटल देते हैं रीजनरेशन के कारण बैट्री चार्ज होती रहती है। वहीं हाईवे पर हम एक ही स्पीड में कई देर तक बिना ब्रेक लगाए गाड़ी चलाते रहते हैं जिससे रीजनरेशन ना होने के कारण बैट्री चार्ज नहीं हो पाती है। ऐसे में सिटी के मुकाबले हाईवे पर इलेक्ट्रिक कार कम दूरी तय कर पाती है। 

दावों के विपरीत रेंज की असल तस्वीर कुछ इस प्रकार से है

एमजी जेडएस ईवी

सिटी

हाईवे

दावाकृत

माइलेज

7.58 किमी/केडब्ल्यूएच

6.12 किमी/केडब्ल्यूएच

7.64 किमी/केडब्ल्यूएच

रेंज

337.31 किलोमीटर

272.34 किलोमीटर

340 किलोमीटर

हाईवे पर जेडएस ईवी को 102 किलोमीटर तक ड्राइव करने के बाद इसकी बैट्री 63 प्रतिशत तक कम हो गई। वहीं हमनें सिटी में इसे 63.3 किलोमीटर तक ड्राइव किया जिसके बाद इसकी बैट्री 84 प्रतिशत तक डाउन हुई। इसके बाद 100 प्रतिशत तक डाउन होने के बाद और कुल केडब्ल्यूएच इनपुट को कुल किलोमीटर के साथ भाग देकर फाइनल वैन्यू निकाली गई।

खास बात: हमने एमजी जेडएस ईवी को हाईवे पर 100 किलोमीटर प्रति घंटे जबकि सिटी में 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ाया और इस दौरान ना तो इससे कोई शोर उत्पन्न हुआ और ये स्मूद चलती रही। 

यह भी पढ़ें: जीप कंपास का ये इलेक्ट्रिक वर्जन देगा 50 किलोमीटर की रेंज और 50 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज

तो क्या निकला आखिरी निष्कर्ष

परफॉर्मेंस के मोर्चे पर एमजी जेडएस ईवी हमारी उम्मीदों पर खरा उतरी। इसमें इलेक्ट्रिक एक्सलरेशन दिया गया है और इस पिकअप भी काफी फास्ट है। सिटी की दौड़धूप वाली जिंदगी में आप एक बार इसे पूरा चार्ज करने के बाद सप्ताहभर तक इस्तेमाल कर सकते हैं। और यदि इसे चार्ज करने की नौबत आ भी जाए तो अपने घर पर ही रेगुलर सॉकेट की मदद से इसे रातभर चार्ज कर सकते हैं जिससे आप एक्सट्रा दो दिन और इसे चला सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: यदि आपकी कार में दिए गए हैं ये दो फीचर तो स्पेयर व्हील रखने की नहीं पड़ेगी जरूरत

द्वारा प्रकाशित

एमजी जेडएस ईवी पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का
×
आपका शहर कौन सा है?