• लॉगिन / रजिस्टर

ऑटो एक्सपो 2020: वोल्वो जैसे एक्टिव सेफ्टी फीचर्स से लैस महिंद्रा मराज़ो हुई शोकेस

प्रकाशित पर feb 11, 2020 07:44 pm द्वारा nikhil for महिंद्रा मराज़ो

  • 3967 व्यूज़
  • Write a कमेंट

भारतीय कार बाजार में सुरक्षा फीचर्स को पीछे कुछ समय पहले तक उतनी ज्यादा प्राथमिकता नहीं दी जाती थी लेकिन सेफ्टी नॉर्म्स लागू होने के बाद एयरबैग, एबीएस, रियर पार्किंग सेंसर्स, सीट बेल्ट रिमाइंडर और स्पीड अलर्ट सिस्टम जैसे कुछ बेसिक सेफ्टी फीचर्स ने अब हर कार तक अपनी पहुंच बना ली है। लेकिन अब भी देश के ऑटो मार्केट में ऐसे एडवांस फीचर्स की गुंजाईश है जो एक्सीडेंट होने से आपको बचा सकें। ऐसे फीचर्स को "एक्टिव सेफ्टी फीचर्स" कहते हैं। महिंद्रा ने इस बात को समझते हुए ऑटो एक्सपो 2020 में अपनी मराज़ो एमपीवी को रेडर बेस्ड सेफ्टी फीचर्स के साथ पेश किया है।

आईये यहां विस्तार से जाने इन एक्टिव सेफ्टी फीचर्स के बारे में:-

  • ड्रॉज़ी ड्राइवर डिटेक्शन सिस्टम (Drowsy driver detection system): यह ड्राइवर के स्टीयरिंग मूवमेंट को मॉनिटर करता है और फीडबैक के आधार पर ड्राइवर को ब्रेक लगाने के लिए कहता है। 

  • क्रॉस-ट्रैफिक अलर्ट (Cross-traffic alert): यह सिस्टम कैमरा रेंज से बाहर उन ऑब्जेक्ट या अन्य वाहनोँ को मॉनिटर करता है जो कार के पास आ रहे है या पास है और ड्राइवर को इस बारे में सूचित करता है।  

  • अटेंशन डिटेक्शन (Attention detection): यह सिस्टम असावधानी का पता लगाने पर ड्राइवर को चेतावनी देता है। 

  • ब्लाइंडस्पॉट डिटेक्शन (Blindspot detection): यह एक सेंसर बेस्ड डिवाइस या सिस्टम है जो कार के उन हिस्सों में किसी ऑब्जेक्ट या अन्य वाहन के पास होने के बारे में जानकारी देता है जो हिस्से ड्राइवर की पहुंच में नहीं होते हैं। जैसे, रियर में या साइड में। 

  • लेन कीप असिस्ट (Lane keep assist): इस सिस्टम के तहत कार के अगले हिस्से में एक कैमरा लगा होता है जो फीडबैक के आधार पर ड्राइवर को अनजाने में लेन से बाहर जाने से रोकता है।

  • ऑटोनोमस इमरजेंसी ब्रेकिंग सिस्टम (Autonomous emergency braking system): यह रेडर बेस्ड सिस्टम जरूरत पड़ने पर ऑटोमेटिकली कार के ब्रेक लगा देता है।

महिंद्रा मराज़ो को दिसंबर 2018 में ग्लोबल एनकैप के सेफ्टी टेस्ट में 4-स्टार रेटिंग हासिल हुई थी। यह क्रैश टेस्ट मराज़ो के बेस वेरिएंट पर किया गया था जिसमे  ड्यूल फ्रंट एयरबैग्स, एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस), इलेक्ट्रोनिक ब्रेकफोर्स डिस्ट्रीब्यूशन (ईबीडी), रियर पार्किंग सेंसर्स, आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट माउंट्स, फ्रंट सीटबेल्ट रिमाइंडर और इंजन इम्मोबिलाइज़र जैसे फीचर्स मिलते हैं। इससे पहले कि महिंद्रा इन एक्टिव सेफ्टी फीचर्स को मराज़ो में शामिल पेश इसे लॉन्च करें, हम उम्मीद है करते है कि इसमें साइड, कर्टेन और घुटने के एयरबैग्स, फ्रंट पार्किंग सेंसर जैसे फीचर्स भी शामिल किए जाने चाहिए जो कि एक्सयूवी300 में भी उपलब्ध हैं।

मास-मार्केट कारों में पुख्ता पैसिव सेफ्टी फीचर्स दिए जाने की बाद ही एक्टिव सेफ्टी फीचर्स की ओर बढ़ना चाहिए। साथ ही, मार्केट और रोड इंफ्रास्ट्रक्चर को भी इस हिसाब से अपडेट होना जरुरी है जहां ये एक्टिव फीचर्स अच्छे से काम कर सकें। और शायद यही वजह है कि देश में उपलब्ध कई प्रीमियम ब्रांड्स भी अपनी कारों में ये फीचर्स पेश नहीं कर रही है। 

महिंद्रा मराज़ो के इंडियन वर्ज़न को इन एडवांस सेफ्टी फीचर्स के साथ बाजार में उतारा जाएगा या नहीं, इसके बारे में अब तक कंपनी ने कोई घोषणा नहीं है। लेकिन हमारे अनुसार मास-मार्केट कारों में ऐसे फीचर्स इस दशक के बाद ही आ सकेंगे। 

द्वारा प्रकाशित

महिंद्रा मराज़ो पर अपना कमेंट लिखें

1 कमेंट
1
k
kia
Feb 12, 2020 5:46:22 AM

nice car...

    जवाब
    Write a Reply
    Read Full News

    कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

    एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
    • ट्रेंडिंग
    • हाल का
    ×
    आपका शहर कौन सा है?