सुजुकी स्विफ्ट और रेनो डस्टर को मिली 0 सेफ्टी रेटिंग, लैटिन एनकैप क्रैश टेस्ट में फेल हुईं दोनों कारें

प्रकाशित: अगस्त 30, 2021 06:31 pm । सोनूमारुति स्विफ्ट

  • 1490 व्यूज़
  • Write a कमेंट

Made-in-India Suzuki Swift Performs Terribly At Latin NCAP, Similar Results For Brazil-Spec Renault Duster

लैटिन एनकैप ने मेड-इन इंडिया सुजुकी स्विफ्ट और सेकंड जनरेशन रेनो डस्टर (ब्राजील और रोमोनिया में बनी) कार का क्रैश टेस्ट किया है। इस क्रैश टेस्ट में दोनों कारों को पैसेंजर सेफ्टी के लिए जीरो स्टार रेटिंग दी गई है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत में बिकने वाली स्विफ्ट कार को ग्लोबल एनकैप के क्रैश टेस्ट में 2 स्टार रेटिंग मिली हुई है।

Made-in-India Suzuki Swift Performs Terribly At Latin NCAP, Similar Results For Brazil-Spec Renault Duster

लैटिन एनकैप ने इनके दो एयरबैग लगे मॉडल का क्रैश टेस्ट किया था। पैसेंजर सेफ्टी के लिए मेड-इन-इंडिया स्विफ्ट में ड्यूल फ्रंट एयरबैग, ईबीडी के साथ एबीएस, ब्रेक असिस्ट और आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट एंकर जैसे फीचर स्टैंडर्ड मिलते हैं। लैटिन एनकैप के अनुसार स्विफ्ट के 5 डोर सेडान वर्जन (डिजायर) को भी यही रेटिंग मिलेगी। टेस्ट में हैचबैक का व्यस्क पैसेंजर की सुरक्षा के लिए स्कोर 15.53 प्रतिशत (6.21 पॉइंट) रहा, वहीं बच्चों की सुरक्षा के लिए इसका स्कोर 0 रहा। सेफ्टी असिस्ट के लिए इसे 6.98 प्रतिशत (3 पॉइंट) और पैदल यात्रियों की सुरक्षा के लिए 66.07 प्रतिशत (31.71 पॉइंट) स्कोर मिला।

लैटिन एनकैप के अनुसार क्रैश टेस्ट में स्विफ्ट का ड्राइवर और पैसेंजर के सिर व गर्दन का प्रोटेक्शन अच्छा रहा। टेस्ट में पैसेंजर की चेस्ट पर चोट आने की संभावनाए रही, वहीं ड्राइवर की चेस्ट का स्कोर खराब रहा। क्रैश टेस्ट में इसका फुटवेल एरिया अनस्टेबल रहा जिससे बॉडीशेल को भी अस्थिर बताया गया।

साइड से क्रैश टेस्ट करने पर सिर का प्रोटेक्शन अच्छा रहा। वहीं साइड इंपेक्ट में चेस्ट की रेटिंग खराब रही और जीरो स्कोर मिला।

Made-in-India Suzuki Swift Performs Terribly At Latin NCAP, Similar Results For Brazil-Spec Renault Duster

डस्टर को क्रैश टेस्ट में व्यस्क पैसेंजर की सुरक्षा के लिए 29.47 प्रतिशत (11.78 पॉइंट) और बच्चों की सुरक्षा के लिए 50.79 प्रतिशत (24.38 पॉइंट) स्कोर मिला।

Made-in-India Suzuki Swift Performs Terribly At Latin NCAP, Similar Results For Brazil-Spec Renault Duster

क्रैश टेस्ट में डस्टर के ड्राइवर और पैसेंजर के सिर व गर्दन का सेफ्टी स्कोर अच्छा रहा। हालांकि चेस्ट और घुटनों का प्रोटेक्शन औसत रहा। टक्कर के दौरान पैर डैशबोर्ड से टच हो रहे थे जिससे चोट आने की संभावनाएं रहती है। इसका भी फुटवेल और बॉडीशेल एरिया अस्थिर रहा। साइड इंपेक्ट में सिर और पेट की सुरक्षा को अच्छा बताया गया। 

भारत में दूसरी जनरेशन की रेनो डस्टर को अभी तक लॉन्च नहीं किया गया है। कंपनी यहां आने वाले सालों में तीसरे जनरेशन मॉडल को लॉन्च करने की योजना बना रही है।

यह भी पढ़ें : मारुति सुजुकी पर इन कारणों से लगा 200 करोड़ रुपये का भारी जुर्माना

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

मारुति स्विफ्ट पर अपना कमेंट लिखें

1 कमेंट
1
M
ml graphix
Aug 31, 2021 4:47:02 PM

What the f...... Why Maruti Suzuki Hike the Prices very time in this year this is 3rd time So baned the Maruti Suzuki Cars from Karnataka (India). Zero Safety Rating and one of the worst Company

और देखें...
    जवाब
    Write a Reply
    Read Full News
    • मारुति स्विफ्ट
    • रेनॉल्ट डस्टर

    कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

    एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
    ×
    We need your सिटी to customize your experience