• English
  • Login / Register

होंडा सिटी vs वरना vs वेंटो vs रैपिड vs यारिस : जानिए किसका टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम है ज्यादा बेहतर

प्रकाशित: जून 03, 2021 03:06 pm । स्तुतिहुंडई वरना

  • 2333 व्यूज़
  • Write a कमेंट

भारत में होंडा सिटी, वरना, वेंटो और रैपिड जैसी सेडान कारें लंबे समय से बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। वहीं, यारिस इनके मुकाबले सबसे ज्यादा नई कार है।  होंडा सिटी कार को अपने कम्फर्ट, रैपिड को दमदार ड्राइव क्वॉलिटी, वेंटो को आकर्षक लुक्स, वरना को फीचर्स और यारिस को अपनी विश्वसनीयता के लिए जाना जाता है। हालांकि, अब नई कारों में ग्राहकों द्वारा जिस चीज़ पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जाता है वो होता है इंफोटेनमेंट सिस्टम। यह फीचर ओनरशिप एक्सपीरिएंस को बढ़ावा देता है। 

यहां हमनें इंफोटेनमेंट सिस्टम की पांच पैरामीटर्स पर तुलना की है :-

  • डिस्प्ले क्वॉलिटी 

  • इस्तेमाल करने में आसान 

  • फीचर्स 

  • साउंड सिस्टम 

  • इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर 

तो चलिए जानते हैं कौनसी सेडान कार सबसे अच्छा इंफोटेनमेंट एक्सपीरिएंस देती है:-

1. कौनसी सेडान का डिस्प्ले सबसे अच्छा है? 

सबसे अच्छा इंफोटेनमेंट : स्कोडा रैपिड

बेहतर हो सकता है : होंडा सिटी 

हाइलाइट्स : इंफोटेनमेंट सिस्टम की डिस्प्ले क्वॉलिटी ग्राहकों के दिमाग में सबसे पहला इम्प्रेशन छोड़ती है।

  • स्कोडा रैपिड के इंफोटेनमेंट सिस्टम का डिस्प्ले सबसे अच्छा है क्योंकि यह एक आफ्टरमार्किट एंड्रॉइड टेबलेट है। जैसा की आप एक एंड्रॉइड टेबलेट से उम्मीद करते हैं ठीक उसी तरह इसकी ब्राइटनैस रेंज, कलर ऑप्शंस और कॉन्ट्रास्ट लेवल बेहद अच्छा है। इस कार के इंफोटेनमेंट सिस्टम के साथ परेशानी केवल स्क्रीन की आती है जो फिंगरप्रिंट मैगनेट है, ऐसे में आपको एक साफ कपड़े को हैंडी र रखने की जरूरत पड़ सकती है। 

  • इसके बाद वरना का डिस्प्ले सबसे अच्छा है। इस पर मैट फिनिश मिलती है, ऐसे में आपको फिंगरप्रिंट के बारे में सोचने की जरूरत नहीं पड़ती है। इसकी डिस्प्ले क्वालिटी भी बेहद अच्छी है, इस पर अच्छा कॉन्ट्रास्ट और आकर्षक आइकन्स भी मिलते हैं। 

  • इस मामले में फॉक्सवैगन वेंटो और टोयोटा यारिस को तीसरी पोज़िशन मिलती है। इन दोनों ही कारों के डिस्प्ले बेहद अच्छे हैं। हालांकि, वेंटो का देखने का एंगल ज्यादा बेहतर है, लेकिन इसकी ब्राइटनैस इतनी दमदार नहीं है। यारिस का डिस्प्ले बेहद कलरफुल है, लेकिन सूरज की रोशनी पड़ने पर इसे पढ़ना इतना ज्यादा आसान नहीं होता है।  

  • यहां सभी कारों में से होंडा सिटी का डिस्प्ले सबसे ज्यादा पिक्सेलेटेड है। कंपनी इसे हाई रिज़ॉल्यूशन के साथ दे सकती थी। दूसरी कारों के मुकाबले इसका कॉन्ट्रास्ट और वाइब्रेंस भी अच्छी नहीं है जिसके चलते इसे सूरज की रोशनी में पढ़ना बेहद मुश्किल हो जाता है। 

  2. कौनसा इस्तेमाल करने में सबसे ज्यादा आसान है?

सबसे अच्छा : हुंडई वरना

बेहतर हो सकता है : स्कोडा रैपिड 

इनसाइट : एक अच्छे इंफोटेनमेंट सिस्टम का यूजर के इशारों पर काम करना काफी ज्यादा महत्वपूर्ण फैक्टर माना जाता है,ऐसे में देखते हैं कि किस गाड़ी का सिस्टम इस काम को बखूबी अंजाम देता है।

 हुंडई वरना के इंफोटेनमेंट सिस्टम पर होम स्क्रीन मेन्यू और फिज़िकल बटन का अच्छा ख़ासा कॉम्बिनेशन मिलता है। ऐसे में इस कार में यूज़र के लिए इंफोटेनमेंट सिस्टम को ऑपरेट करना बेहद आसान रहता है।  इसके अलावा इसमें कई आइकन भी मिल पाते हैं।

  • इस मामले में होंडा सिटी दूसरे स्थान पर है। इसका डिस्प्ले इतना ज्यादा आकर्षित करने वाला नहीं है, लेकिन इसकी कस्टमाइज़ेबल होम स्क्रीन और फिज़िकल बटन के साथ आने वाले आसान मेन्यू नेविगेशन इसे इस्तेमाल करना बेहद आसान बनाता है। इसमें स्क्रीन के नीचे की तरफ जगह दी गई है जिसके चलते यूज़र इसमें स्क्रीन का इस्तेमाल करते हुए आप अपने हाथों को रेस्ट के लिए आसानी से रख भी सकते हैं।

  • वेंटो को इस मोर्चे पर तीसरी पोज़िशन मिलती है। इसके इंफोटेनमेंट सिस्टम का स्क्रीन साइज़ 6.5-इंच है। हालांकि, इसका आइकन साइज़ इतना बड़ा नहीं है। लेकिन, इसका लेआउट और फिज़िकल मेन्यू बटन जरूर अच्छे हैं।  

  • यारिस वेंटो के काफी करीब है, लेकिन इस मामले में इसे चौथी जगह मिलती है। इस गाड़ी का मेन्यू नेविगेशन कई ग्राहकों को थोड़ा कन्फ्यूजिंग जरूर लग सकता है क्योंकि इसमें कई ऑप्शंस से बाहर निकलने के लिए बैक सॉफ्ट-टच की को लंबे समय तक दबाकर रखना पड़ता है।

  • इस मामले में रैपिड को सबसे आखिरी पोज़िशन मिलती है।  इसमें बड़ी स्क्रीन छोटे आइकन के साथ मिलती है जिसे कार चलाते समय इस्तेमाल करना थोड़ा मुश्किल रहता है।

3. सबसे ज्यादा काम के फीचर्स किस में दिए गए हैं? 

सबसे अच्छा : हुंडई वरना  

अपडेट की जरूरत : टोयोटा यारिस

हाइलाइट : इंफोटेनमेंट सिस्टम में ज्यादा फीचर्स का देना यानि पैसेंजर्स को ज्यादा कम्फर्ट मिलना।  

  • हुंडई वरना कार के इंफोटेनमेंट सिस्टम में सबसे ज्यादा काम के फीचर्स दिए गए हैं।  इसमें कनेक्टेड कार टेक्नोलॉजी, इन बिल्ड नेविगेशन, वॉइस कमांड, एंड्रॉइड ऑटो और एप्पल कारप्ले जैसे फीचर्स दिए गए हैं। हालांकि, ब्लूलिंक का इस्तेमाल करने के लिए एक अच्छे नेटवर्क कनेक्शन का होना बेहद जरूरी है।  

  • इस मोर्चे पर होंडा सिटी हुंडई वरना से काफी पीछे है, लेकिन इसे दूसरा स्थान मिलता है।  इसमें कई सारे कनेक्टेड फीचर्स समेत एंड्रॉइड ऑटो और एप्पल कारप्ले का ऑप्शन दिया गया है। लेकिन, यह इतना अच्छे से काम नहीं करता है। इसका रिवर्स कैमरा पिक्सेलेटेड लगता है और खासकर रात में इसे इस्तेमाल करना बेहद मुश्किल रहता है। ऐसा ही कुछ इसके लेन वॉच कैमरा फीचर की कैमरा क्वॉलिटी के साथ भी महसूस होता है। यह इंफोटेनमेंट स्क्रीन पर दाएं तरफ के ओआरवीएम कैमरा से फीड को डिस्प्ले करता है। 

  •  इस मामले में एंड्रॉइड ऑटो और एप्पल कारप्ले से लैस वेंटो तीसरे स्थान पर आती है। इसमें स्टीयरिंग व्हील पर वॉइस बटन भी दिए गए हैं जो कनेक्टेड स्मार्टफोन के वॉइस असिस्टेंट को एक्टिवेट भी कर देता है।  

  • स्कोडा रैपिड चौथे स्पॉट पर आती है। इसमें एंड्रॉइड डिवाइस वाले सभी फीचर्स मिलते हैं, लेकिन इसका इंफोटेनमेंट एंड्रॉइड7 पर चलता है जो बेहद पुराना लगता है। इसके जरिये नेटफ्लिक्स, यूट्यूब (वीडियो तब ही काम करते हैं जब कार मूव नहीं कर रही हो) और टेबलेट पर गेम को भी डाउनलोड किया जा सकता है। इसमें एंड्रॉइड ऑटो और एप्पल कारप्ले फीचर नहीं दिया गया है, इसकी बाकी सभी इंटरनेट बेस्ड ऐप्स फोन के हॉटस्पॉट कनेक्शन पर काम करती है। इसके अलावा इसमें एक यूएसबी पोर्ट भी दिया गया है जिसे ग्लवबॉक्स के अंदर की तरफ पोज़िशन किया गया है। 

  • यारिस को इस मामले में आखिरी पोज़िशन मिलती है। इस गाड़ी में मिररलिंक फीचर दिया गया है। वहीं, इसमें कोई फोन एप्स और नेविगेशन नहीं मिलता है। इसमें वॉइस कमांड का इस्तेमाल करने के लिए इंफोटेनमेंट स्क्रीन पर दिए गए आइकन को एक्टिवेट करने की जरूरत पड़ती है।

चलिए अब नजर डालते हैं बूट अप और रिवर्स कैमरा डिस्प्ले की इग्निशन टाइमिंग्स पर:

 

यारिस 

सिटी 

रैपिड 

वरना

  वेंटो   

बूट 

6.07 सेकंड 

6.20 सेकंड 

38.65 सेकंड 

1.90  सेकंड 

0.80 सेकंड 

रिवर्स 

4.11 सेकंड 

4.18 सेकंड 

5.21 सेकंड 

3.00s सेकंड 

3.00 सेकंड 

4. किसमें दिया गया है सबसे बेस्ट साउंड सिस्टम?

सबसे अच्छा : होंडा सिटी 

अपडेट की जरूरत : किसी में भी नहीं 

हाइलाइट : एक अच्छा साउंड सिस्टम अधिकतर ग्राहकों की जरूरत बन गई है। 

  • होंडा सिटी में आठ, वरना में छह और बाकी कारों में चार स्पीकर दिए गए हैं। 

  • सभी कारों में से होंडा सिटी का साउंड सिस्टम सबसे बेस्ट है। इस गाड़ी में अच्छा साउंड एक्सपीरिएंस मिल पाता है। तेज़ वॉल्यूम पर इसमें ना तो   म्यूज़िक और ना ही म्यूज़िक की क्लैरिटी खराब होती है। हालांकि, इसमें वॉल्यूम के पहले 20 लेवल काफी लो लगते हैं।

  • इस मोर्चे पर टोयोटा यारिस दूसरे नंबर पर आती है। इसकी क्लैरिटी और बास बेहद अच्छा है, हालांकि साउंड एक्सपीरिएंस होंडा सिटी के मुकाबले इतना दमदार नहीं है। इसमें म्यूज़िक को एन्जॉय करने के लिए इसे तेज़ बढ़ाना पड़ता है। 

  • इस मामले में रैपिड और वेंटो को बराबर की जगह मिलती है। रैपिड और वेंटो दोनों कारों में क्लियर ऑडियो अच्छे बास के साथ मिल पाता है , हालांकि अच्छे साउंड एक्सपीरिएंस के लिए इसके वॉल्यूम को बढ़ाने की जरूरत जरूर पड़ती है। रैपिड में बेहद कन्फ्यूजिंग इक्वललाइज़र दिया गया है जिसके आधे से ज्यादा फंक्शन्स अच्छे से काम नहीं करते हैं।  

  • वेंटो और रैपिड के मुकाबले वरना का साउंड एक्सपीरिएंस इतना दमदार नहीं है, लेकिन यह गाड़ी सभी वॉल्यूम लेवल पर मनोरंजक जरूर साबित होती है। 

5. इनमें से किसका इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर है सबसे अच्छा

सबसे अच्छा : फॉक्सवैगन होंडा सिटी

अपडेट की जरूरत : स्कोडा रैपिड, फॉक्सवैगन वेंटो 

हाइलाइट : इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर ड्राइवर के लिए सबसे महत्वपूर्ण डिस्प्ले होता है क्योंकि उन्हें एक क्लियर लेआउट में सभी जरूर जानकारी मिल पाती है।  

  • होंडा सिटी का इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर सबसे अच्छा है। इसमें क्लस्टर के बाएं तरफ क्रिस्टल क्लियर डिस्प्ले दिया गया है जिसे कई बार लोग देखकर कंज़्यूज़ भी हो जाते हैं कि यह एनालॉग डिस्प्ले है या फिर डिजिटल। इसमें कई सारे ऑप्शंस जैसे जी-मीटर, ड्राइव इन्फॉर्मेशन, ऑडियो और कॉल इन्फॉर्मेशन कवर आर्ट के साथ और सेटिंग करने की लंबी  लिस्ट मिलती है। इसमें ब्लैक कलर के डिस्प्ले पर व्हाइट लाइट मिलती है जिसके चलते इसमें कई सारे फंक्शन्स को आसानी से ऑपरेट किया जा सकता है।  

  • इस मामले में टोयोटा यारिस दूसरे स्थान पर आती है। इसमें छोटी व डिटेल्ड एमआईडी दी गई है।  इसका एनालॉग क्लस्टर स्पीड को कन्वेंशनल तरह से दिखाता है। वहीं, इसमें लगी डिजिटल स्क्रीन ग्राफ्स और माइलेज से जुड़ी जानकारी देती है। 

  • इस मोर्चे पर हुंडई वरना को तीसरी पोज़िशन मिलती है। इस गाड़ी में ऑल-डिजिटल डिस्प्ले दिया गया है, लेकिन इसका एकदम फिक्सड सेटअप है और इसमें ज्यादा एनिमेशन नहीं दिए गए हैं। इस कार में लगी एमआईडी कन्वेंशनल है और इस पर सभी जानकारी अच्छे से नहीं दिख पाती है। यह तीन थीम के साथ आती है, लेकिन हमें लगता है कि इससे भी इसमें शायद ही कोई फर्क पड़ता है। 

  • वेंटो और रैपिड इस मामले में आखिरी पोज़िशन पर हैं। इसमें एक जैसे क्लस्टर दिए गए हैं जो काफी पुराने लगते हैं। लेकिन, वेंटो की यूनिट में दो ट्रिपमीटर और रैपिड में केवल एक ट्रिपमीटर ही दिया गया है। हालांकि, यह सभी जानकारी को अच्छी तरह से दिखाते हैं, लेकिन कार के इंफोटेनमेंट के साथ कनेक्शन में कमी इन्हें आखिरी स्थान पर रखती है।

फाइनल स्कोरकार्ड 

 

वरना 

सिटी 

वेंटो 

यारिस 

रैपिड 

डिस्प्ले 

दूसरे 

पांचवे 

तीसरे 

तीसरे 

पहले 

इस्तेमाल करने में आसान 

पहले 

दूसरे 

तीसरे 

चौथे 

पांचवे 

फीचर्स 

पहले 

  दूसरे   

तीसरे 

पांचवे 

चौथे 

ऑडियो क्वॉलिटी 

पांचवे 

पहले 

तीसरे 

दूसरे 

तीसरे 

इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर

तीसरे 

पहले 

चौथे 

दूसरे 

चौथे 

  • इस कम्पेरिज़न में हुंडई वरना 5 में से 2 पैरामीटर्स 'इस्तेमाल करने में आसान, फीचर्स' में विजेता रही है। वहीं, बाकी दोनों केटेगरी में यह दूसरे और तीसरे स्थान पर है। हमें लगता है कि वरना का साउंड सिस्टम और ज्यादा बेहतर हो सकता था जिसके चलते यह पैसेंजर्स को अच्छा एक्सपीरिएंस दे पाती। 

  • इस लिस्ट में होंडा सिटी दूसरे स्थान पर है। वरना की तरह ही यह गाड़ी भी ऑडियो एक्सपीरिएंस और इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर जैसी दो केटेगरी में विजेता रही है, लेकिन ज्यादा मार्जिन से नहीं। इसके रिवर्स कैमरा की क्वॉलिटी काफी खराब लगती है और वरना के मुकाबले इसका डिस्प्ले भी बिलकुल आकर्षित करने वाला नहीं लगता है। 

  • फॉक्सवैगन वेंटो इस कम्पेरिज़न में तीसरे स्पॉट पर आती है। छोटी स्क्रीन और पुरानी एमआईडी होने के बावजूद भी इस कार का इंफोटेनमेंट  अच्छा साबित होता है। पांच में से चार केटेगरी में इस कार को तीसरी पोज़िशन मिलती है। 

  • टोयोटा यारिस को चौथी पोज़िशन मिलती है। इस गाड़ी का डिस्प्ले बेहद अच्छा है और इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर बेहद काम का साबित होता है। वहीं, इसमें ऑडियो एक्सपीरिएंस भी काफी अच्छा मिल पाता है। मगर, इसमें कोई काम के फीचर्स नहीं दिए गए हैं और दूसरी कारों के मुकाबले इसे इस्तेमाल करना भी इतना आसान नहीं लगता है। इसमें एंड्रॉइड ऑटो और एप्पल कारप्ले की कमी काफी खलती है। 

  • स्कोडा रैपिड आखिरी पोज़िशन पर आती है। लेकिन, यह आश्चर्य की बात नहीं है क्योंकि इसमें इंफोटेनमेंट यूनिट नहीं दी गई है। इसकी बजाए इसमें एंड्रॉइड टेबलेट मिलता है जिसे डैशबोर्ड पर पोज़िशन किया गया है। इसमें कई सारे मेन्यू और कई सारे ऑप्शंस दिए गए हैं। हालांकि, इसे इस्तेमाल करने का एक्सपीरिएंस इतना ज्यादा दमदार नहीं लगता है। इसका आफ्टरमार्किट जैसा टचस्क्रीन पैसेंजर्स को इतना अच्छा एक्सपीरिएंस नहीं देता है। स्कोडा इसमें इस स्क्रीन की बजाए वेंटो वाला इंफोटेनमेंट दे सकती थी। 

यह भी पढ़ें महिंद्रा अपने कस्टमर्स के लिए लाई नए फाइनेंस ऑप्शंस

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

हुंडई वरना पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
बड़ी बचत !!
28% की बचत करें! पुरानी हुंडई कारें पर सरवोततम सौदो का पता लगाए
नई दिल्ली में उपलब्ध हुंडई वरना के यूज़्ड मॉडल्स देखे

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
×
We need your सिटी to customize your experience