हुंडई वरना लैटिन एनकैप क्रैश टेस्ट में हुई फेल, मिली 0 स्टार सेफ्टी रेटिंग

प्रकाशित: दिसंबर 16, 2021 02:05 pm । सोनूहुंडई वरना

  • 2171 व्यूज़
  • Write a कमेंट

क्रैश टेस्ट मेड इन इंडिया हुंडई वरना का हुआ था लेकिन इसमें भारतीय मॉडल से कम सेफ्टी दिए गए थे।

  • वरना का व्यस्क और चाइल्ड पैसेंजर की सेफ्टी के लिए क्रमशः नौ और 13 प्रतिशत स्कोर रहा।
  • क्रैश टेस्ट मॉडल में सिंगल ड्राइवर साइड एयरबैग, ड्राइवर सीट बेल्ट रिमाइंडर, ईबीडी के साथ एबीएस और आईएसओफिक्स स्टैंडर्ड दिया गया था।
  • भारतीय मॉडल में को-पैसेंजर एयरबैग, पैसेंजर सीट बेल्ट रिमाइंडर और रियर पार्किंग सेंसर भी स्टैंडर्ड सेफ्टी फीचर लिस्ट में शामिल है।
  • सीआरएस (चाइल्ड रेस्टरेंट सिस्टम) के अभाव में चाइल्ड पैसेंजर सेफ्टी रेटिंग खराब रही।
  • क्रैश टेस्ट  में इस सेडान कार का बॉडीशेल स्टेबल पाया गया।

हुंडई वरना को लैटिन एनकैप कैश टेस्ट में जीरो स्टार सेफ्टी रेटिंग मिली है। क्रैश टेस्ट हुआ मॉडल भारत में बना था। यही जनरेशन मॉडल इंडिया में भी बिक्री के लिए उपलब्ध है लेकिन क्रैश टेस्ट हुए मॉडल में भारतीय मॉडल की तुलना में कम सेफ्टी फीचर दिए गए थे। इससे पहले लैटिन एनकैप ने मेड-इन इंडिया ट्यूसॉन का भी क्रैश टेस्ट किया था।

क्रैश टेस्ट मॉडल में सिंगल ड्राइवर साइड एयरबैग, ड्राइवर सीट बेल्ट रिमाइंडर, ईबीडी के साथ एबीएस और आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट माउंट जैसे फीचर स्टैंडर्ड दिए गए थे। वहीं इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल (ईएससी), पैसेंजर सीट बेल्ट रिमाइंडर, को-ड्राइवर एयरबैग और साइड एयरबैग का ऑप्शन इसके टॉप लाइन वेरिएंट्स में मिलता है।

वरना का व्यस्क पैसेंजर की सुरक्षा के लिए नौ प्रतिशत और चाइल्ड पैसेंजर की सुरक्षा के लिए 13 प्रतिशत स्कोर रहा। पैदल चल रहे लोगों और सेफ्टी असिस्ट सिस्टम के लिए इसका स्कोर क्रमशः 53 प्रतिशत और 7 प्रतिशत रहा।

क्रैश टेस्ट में वरना को ड्राइवर और पैसेंजर की गर्दन व सिर की सुरक्षा के मामले में अच्छी रेटिंग दी गई। वहीं ड्राइवर की चेस्ट की सेफ्टी के मामले में इसका स्कार औसत और पैसेंजर की चेस्ट की सुरक्षा के मामले में इसे खराब रेटिंग मिली। ड्राइवर के दोनों घुटनों व फ्रंट पैसेंजर के एक घुटनों के लिए इसका स्कोर ठीक-ठाक रहा। क्रैश में डमी के घुटने डैशबोर्ड के टच हो रहे थे। वहीं फ्रंट पैसेंजर के एक घुटने का स्कोर अच्छा रहा। क्रैश टेस्ट में इसका ओवरऑल सेफ्टी स्कोर जीरो रहा।

क्रैश टेस्ट के दौरान हुंडई वरना के बॉडीशेल और फुटवेल एरिया को स्टेबल पाया गया। वरना में सीआरएस (चाइल्ड रेस्टरेंट सिस्टम) का अभाव था और इसी के चलते चाइल्ड पैसेंजर सेफ्टी के मामले में इसका खराब प्रदर्शन रहा। ओवरऑल सेफ्टी रेटिंग कम होने के पीछे इसमें बेसिक सेफ्टी फीचर का अभाव होना था।

वरना के भारतीय मॉडल में ड्यूल फ्रंट एयरबैग, रियर पार्किंग सेंसर, फ्रंट सीट बेल्ट रिमाइंडर और आईएसओफिक्स चाइल्ड सीट जैसे फीचर स्टैंडर्ड दिए गए हैं। वहीं टॉप लाइन मॉडल्स में साइड और कर्टन एयरबैग, हिल स्टार्ट असिस्ट, इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी, फ्रंट पार्किंग सेंसर, रियर पार्किंग कैमरा और टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम जैसे फीचर भी मिलते हैं। 

यह भी पढ़ें : नई हुंडई वरना टेस्टिंग के दौरान आई नज़र, भारत में 2022 में हो सकती है लॉन्च

भारत में वर्तमान में हुंडई वरना की प्राइस 9.28 लाख से 15.35 लाख रुपये (एक्स-शोरूम दिल्ली) के बीच है। सेगमेंट में इस सेडान कार का कंपेरिजन मारुति सुजुकी सियाज, होंडा सिटी, फोक्सवैगन वेंटो और अपकमिंग स्कोडा स्लाविया से है।

यह भी देखें: हुंडई वरना ऑन रोड प्राइस

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

हुंडई वरना पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
बड़ी बचत !!
38% की बचत करें! पुरानी हुंडई कारें पर सरवोततम सौदो का पता लगाए
नई दिल्ली में उपलब्ध हुंडई वरना के यूज़्ड मॉडल्स देखे

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

नई दिल्ली में *एक्स-शोरूम कीमत

ट्रेंडिंगसेडान

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience