• लॉगिन / रजिस्टर

वो पांच बातें, जो फॉक्सवेगन एमियो को बनाती है सेगमेंट की सबसे बेहतर कार

संशोधित पर jun 15, 2016 03:59 pm द्वारा arun for फॉक्सवेगन एमियो

  • 9 व्यूज़
  • Write a कमेंट

कॉम्पैक्ट सेडान सेगमेंट में लगभग हर कंपनी मौजूद है। फॉक्सवेगन की एमियो यहां सबसे नई एंट्री है। अच्छी बिल्ट क्वालिटी, शानदार एडवांस फीचर्स और किफायती दाम जैसी कई बातें हैं जो एमियो को इस सेगमेंट में एक आदर्श कार बनाती हैं।

1. कीमत

कीमत के बारे में तो हमने पहले ही कहा था कि यह अपनी प्रतिद्विंदी होंडा अमेज़ से सस्ती होगी। लेकिन लॉन्चिंग के दौरान तो एमियो एक कदम और आगे निकल गई है। इसकी कीमत 5.24 लाख रूपए (एक्स-शोरूम, दिल्ली) से शुरू होती है। इस मामले में यह सेगमेंट की किंग मानी जाने वाली मारूति सुज़ुकी स्विफ्ट डिजायर से भी सस्ती है। यहां सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात तो यह है कि एक ही प्लेफटार्म पर बनी होने के बावजूद एमियो, पोलो हैचबैक से भी सस्ती है।

2. फीचर्स

हालांकि फॉक्सवेगन ने कॉम्पैक्ट सेडान सेगमेंट में काफी देरी से कदम रखा है। लेकिन एमियो के साथ कंपनी ने यह साबित कर दिया कि एंट्री भले ही देर से हुई लेकिन पूरी तरह दमदार तरीके से हुई है। फॉक्सवेगन ने एमियो में फ्लैट बॉटम स्टीयरिंग व्हील, टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल जैसे फीचर्स दिए गए हैं। इसके अलावा इसमें कुछ ऐसे फीचर्स भी दिए गए हैं जो इस सेगमेंट की किसी दूसरी कार में मौजूद नहीं है। इनमें रेन सेंसिंग वाइपर्स और क्रूज़ कंट्रोल शामिल है।

3. सेफ्टी

बात करें सेफ्टी की तो हाल ही में एनसीएपी द्वारा आयोजित क्रैश टेस्ट में पोलो और वेंटो को उतारा गया था। इनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा। वेंटो के टीएसआई वेरिएंट ने सेफ्टी के मामले में 5-स्टार रेटिंग हासिल की है। एमियो का फिलहाल कोई क्रैश टेस्ट तो नहीं हुआ है, लेकिन फीचर्स और एक जैसे प्लेटफार्म की बदौलत कहा जा सकता है कि 10 लाख रूपए के अंदर आने वाली कारों में यह काफी सुरक्षित है। फॉक्सवेगन एमियो में सुरक्षा के लिए ड्यूल एयरबैग और एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम स्टैंडर्ड दिया गया है। एमियो के अलावा फोर्ड फीगो एस्पायर ही अकेली कार है, जिसमें ड्यूल एयरबैग स्टैंडर्ड दिया गया है। हालांकि एस्पायर के बेस वेरिएंट में आपको एबीएस नहीं मिलेगा। वहीं सेगमेंट में सबसे अधिक बिकने वाली मारूति सुज़ुकी स्विफ्ट डिजायर में एयरबैग को ऑप्शनल रखा गया है।

4. राइड और हैंडलिंग क्वालिटी

राइड क्वालिटी और हैंडलिंग की बात करें तो इसके सस्पेंशन की सेटिंग काफी अच्छी है। सस्पेंशन अच्छी राइड के साथ-साथ भरोसेमंद हैंडलिंग भी देता है। कार का स्टीयरिंग अच्छा रिस्पॉन्स देता है, तेज़ रफ्तार में मोड़ने पर भी स्टीयरिंग अच्छा रिस्पॉन्स देता है।

5. डीज़ल में डीएसजी ऑटोमैटिक

फॉक्सवेगन एमियो को फिलहाल पेट्रोल इंजन में उतारा गया है। जल्द ही इसका डीज़ल वेरिएंट भी आने वाला है। डीज़ल इंजन के साथ 7-स्पीड ड्यूल क्लच ऑटोमैटिक गियरबॉक्स मिलेगा। यह गियरबॉक्स काफी अच्छे और स्मूद रिस्पॉन्स के लिए जाना जाता है। लिहाज़ा एमियो का इस मामले में बेहतर होना स्वाभाविक है। इसके मुकाबले में मौजूद मारूति सुज़ुकी स्विफ्ट डिजायर और टाटा ज़ेस्ट में ऑटोमैटेड मैनुअल गियरबॉक्स दिया गया है। माइलेज और रिफाइनमेंट के मामले में डीएसजी गियरबॉक्स, ऑटोमैटेड मैनुअल गियरबॉक्स से कहीं ज्यादा बेहतर है।

तो ये थीं वो बातें जो एमियो को सेगमेंट में एक बेंचमार्क कार के तौर पर स्थापित करती हैं। इस सेगमेंट में हर कार कुछ कमी और कुछ खासियतों के साथ आती है। एमियो भी इस मामले में अलग नहीं है। हालांकि एमियो में जो भी कमियां हैं वो ऐसी नहीं हैं कि ग्राहक को इस शानदार पैकेज़ से दूर कर दें। ज्यादातर मामलों में एमियो बाकी कारों से बेहतर ही साबित होती है।

यह भी पढ़ें : जानिये क्या अंतर है फॉक्सवेगन पोलो और एमियो में…

द्वारा प्रकाशित

फॉक्सवेगन एमियो पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का
×
आपका शहर कौन सा है?