फोक्सवैगन वर्टस Vs स्कोडा स्लाविया Vs होंडा सिटी : फीचर्स, कंफर्ट, स्पेस व प्रेक्टिकेलिटी कंपेरिजन

प्रकाशित: जून 21, 2022 11:04 am । स्तुतिफॉक्सवेगन विर्टस

  • 2413 व्यूज़
  • Write a कमेंट

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

फोक्सवैगन वर्टस कॉम्पेक्ट सेडान सेगमेंट में लॉन्च होने वाला पांचवा मॉडल है। इस सेगमेंट में होंडा सिटी कई सालों तक सबसे पॉपुलर कार रही है। यह गाड़ी फीचर्स के मामले में इतनी दमदार नहीं है, लेकिन पैसेंजर्स को राइड कम्फर्ट काफी अच्छा देती है। इसमें नेचुरली एस्पिरेटेड आई-वी टेक पेट्रोल इंजन, डीजल इंजन और सेल्फ-चार्जिंग हाइब्रिड ऑप्शन दिया गया है।

वर्टस का मुकाबला सेगमेंट में स्कोडा स्लाविया से भी है जिसे अपनी बेहतरीन ड्राइव और राइड एक्सपीरिएंस और पावरफुल टीएसआई टर्बो-पेट्रोल इंजन के लिए जाना जाता है। यहां हमने स्पेस, प्रेक्टिकेलिटी, फीचर्स और राइड क्वालिटी के मामले में सिटी, स्लाविया और वर्टस का कंपेरिजन किया है, तो चलिए जानते हैं इन तीनों कारों में से कौनसी सेडान सबसे ज्यादा कम्फर्टेबल और प्रैक्टिकल साबित होती है :-

लुक्स

 

वर्टस 

स्लाविया 

  सिटी 

लंबाई 

4561 मिलीमीटर 

4541 मिलीमीटर 

4549 मिलीमीटर 

चौड़ाई 

1752 मिलीमीटर 

1752 मिलीमीटर 

1748 मिलीमीटर 

ऊंचाई 

1507 मिलीमीटर 

1507 मिलीमीटर 

1489 मिलीमीटर 

व्हीलबेस 

2651 मिलीमीटर 

2651 मिलीमीटर 

2600 मिलीमीटर 

बूट स्पेस 

521 लीटर 

521 लीटर 

506 लीटर 

इस लिस्ट की तीनों सेडान कारें काफी प्रीमियम लगती हैं और एक बड़ी कार का अहसास भी दिलाती है। यहां वर्टस सबसे लंबी सेडान कार है, इसकी ऊंचाई, चौड़ाई, व्हीलबेस और बूट स्पेस का साइज़ स्लाविया के बिलकुल बराबर है। इन तीनों ही कारों में से होंडा सिटी हर मामले में सबसे छोटी कार है। स्लाविया, वर्टस और होंडा सिटी तीनों ही सेडान कारों में 16-इंच अलॉय व्हील्स, एलईडी लाइटिंग एलिमेंट्स और 3-बॉक्स सेडान डिज़ाइन मिलती है।

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

वर्टस के एक्सटीरियर हाइलाइट्स में स्पोर्टी बंपर, पतले एलईडी प्रोजेक्टर हेडलैंप्स, दमदार शोल्डर लाइन और जेट्टा जैसी रियर प्रोफाइल शामिल है, जबकि स्लाविया पहली ही नजर में मिनी ऑक्टाविया जैसी लगती है। इसका एक्सटीरियर लेआउट वर्टस से मिलता जुलता है, लेकिन इसमें कई एक्सक्लूसिव एक्सटीरियर एलिमेंट्स भी दिए गए हैं। इस सेडान कार में स्कोडा की दूसरी कारों की तरह ही आकर्षक दिखने वाली ग्रिल, दमदार बंपर, शार्प एलईडी प्रोजेक्टर हेडलाइटें और नए डज़ाइन के अलॉय व्हील्स दिए गए हैं।

होंडा सिटी का लुक बाकी दोनों गाड़ियों के मुकाबले स्पोर्टी नहीं है, लेकिन यह एकदम क्लासी और प्रीमियम अहसास जरूर दिलाती है। कंपनी ने इस गाड़ी में जापानी डिज़ाइन थीम अपनाई है। इस सेडान कार के हाइलाइट फीचर्स में अकॉर्ड इंस्पायर्ड एलईडी हेडलाइटें, क्लीन फ्रंट बंपर, फ्लैशी अलॉय व्हील्स और सिंपल रियर प्रोफाइल शामिल है।

बूट स्पेस

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

हमारे टेस्ट में हम फोक्सवैगन और स्कोडा दोनों ही कारों में तीन अलग-अलग साइज़ के सूटकेस और दो डफल बैग्स को फिट करने में कामयाब रहे। सिटी (506-लीटर) के मुकाबले स्लाविया और वर्टस में ज्यादा बूट स्पेस (521-लीटर) मिलता है। हालांकि, यह अंतर ऑन-रोड इतना पता नहीं चलता है। स्कोडा और फोक्सवैगन में बॉक्सी-शेप्ड बूट दिया गया है जिसमें ज्यादा लगेज को आसानी से रखा जा सकता है। इन दोनों ही कारों में 60:40 रियर स्प्लिट सीटें दी गई हैं जिसे फोल्ड करने पर इसमें ज्यादा स्टोरेज स्पेस मिलती है।

इंटीरियर

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

फोक्सवैगन वर्टस और स्कोडा स्लाविया का केबिन एकदम सिंपल व आकर्षित करने वाला लगता है। वर्टस में क्रोम डिटेलिंग के साथ ब्लैक और बेज कलर थीम और थ्री-लेयर डैशबोर्ड थीम दी गई है जो बेहद लुभाने वाली लगती है। स्लाविया में यूनीक राउंड एसी वेंट्स और टू-स्पोक स्टीयरिंग व्हील दिए गए हैं। वहीं, होंडा सिटी के इंटीरियर में सॉफ्ट-टच मटीरियल का काफी इस्तेमाल किया गया है जिसके चलते इसका लुक काफी प्रीमियम लगता है। हालांकि, बाकी दोनों सेडान कारों से इसका कंपेरिजन करें तो इसके इंटीरियर का लुक बेहद सिंपल और थोड़ा पुराना लगता है।

वर्टस की प्लास्टिक क्वालिटी और फिट व फिनिश क्वालिटी स्कोडा स्लाविया से कहीं ज्यादा बेहतर है। हालांकि, सिटी कार अब भी अपने फिट व फिनिश को लेकर एक बेंचमार्क सेट करती है। इस मामले में स्लाविया और वर्टस दोनों ही सेडान कारें लो क्वालिटी प्लास्टिक को लेकर सिटी से काफी पीछे हैं।

फर्स्ट रो एक्सपीरियंस

सीटिंग कम्फर्ट

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

डाइमेंशन 

वर्टस 

स्लाविया 

सिटी 

लेगरूम (न्यूनतम-अधिकतम)  

900 मिलीमीटर  - 1100 मिलीमीटर

880 मिलीमीटर - 1060 मिलीमीटर

980-1200 मिलीमीटर  

नीरूम  (न्यूनतम-अधिकतम)  

580 मिलीमीटर - 790 मिलीमीटर  

510 मिलीमीटर  - 730 मिलीमीटर  

580

-800 मिलीमीटर  

सीट बेस लंबाई 

480 मिलीमीटर  

470 मिलीमीटर  

510 मिलीमीटर  

सीट बेस चौड़ाई 

490 मिलीमीटर  

490 मिलीमीटर  

510 मिलीमीटर  

सीट बैक ऊंचाई 

680 मिलीमीटर  

650 मिलीमीटर  

580 मिलीमीटर  

हेडरूम (न्यूनतम-अधिकतम)  

870 मिलीमीटर  - 950 मिलीमीटर  

860 मिलीमीटर  - 955 मिलीमीटर  

865-960 मिलीमीटर  

केबिन चौड़ाई  

1390 मिलीमीटर  

1390 मिलीमीटर  

1390 मिलीमीटर  

होंडा सिटी में फ्रंट सीट पर सबसे ज्यादा लेगरूम और नीरूम स्पेस मिलता है। इन तीनों ही कारों में एक जैसा हेडरूम स्पेस मिलता है, वहीं इनमें फ्रंट रो पैसेंजर के लिए एक जैसी चौड़ाई रखी गई है।

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

इन तीनों ही गाड़ियों में फ्रंट सीटों पर अच्छी बोलस्टरिंग मिलती है जो पैसेंजर्स को अच्छा ख़ासा सपोर्ट देती है। वर्टस और स्लाविया में दी गई सीटों की कुशनिंग भी काफी अच्छी है जिसके चलते लंबे सफर के दौरान यह आपके लिए बेहद कम्फर्टेबल रहेंगी। हालांकि, इन दोनों ही कारों में फ्रंट सीटों को सिटी के मुकाबले थोड़ा नीचे पोज़िशन किया गया है, ऐसे में इस गाड़ी में बुजुर्गों के लिए अंदर जाना व बाहर निकलना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। वहीं, सिटी में सॉफ्ट कुशनिंग और फ्लैट सीट बेस मिलता है जिसके चलते इसमें अलग-अलग साइज़ के एडल्ट पैसेंजर कम्फर्टेबल होकर बैठ पाते हैं।

फ्रंट रो प्रेक्टिकेलिटी व फीचर्स

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

स्लाविया, वर्टस और सिटी तीनों कारों में बेसिक स्टोरेज और प्रेक्टिकेलिटी स्पेस मिलती है, जैसे डोर पर 1-लीटर बोतल होल्डर, कप होल्डर, आर्मरेस्ट स्टोरेज के साथ और फोन डॉकिंग स्पेस। हालांकि, वर्टस में सबसे कम स्टोरेज स्पेस दी गई है। सिटी में सबसे ज्यादा स्टोरेज स्पेस मिलती है जिसके चलते यह सबसे ज्यादा प्रेक्टिकल कार साबित होती है।

कॉमन फीचर्स 

वर्टस / स्लाविया हाइलाइट 

सिटी हाइलाइट 

  • पुश बटन स्टार्ट-स्टॉप

  • कीलैस एंट्री 

  • इलेक्ट्रिक सनरूफ

  • फुल एलईडी लाइटिंग 

  • ऑटोमेटिक एसी

  • क्रूज कंट्रोल 

  • लेदरेट अपहोल्स्ट्री

  • फ्रंट सेंटर आर्मरेस्ट

  • 16-इंच अलॉय व्हील्स

  • ड्राइवर सीट के लिए हाइट एडजस्टमेंट 

  • ऑटोमेटिक  हेडलैम्प

  • एम्बिएंट लाइटिंग 

  • 8-स्पीकर साउंड सिस्टम

  • पैडल शिफ्टर्स

  • 8 इंच का डिजिटल ड्राइवर डिस्प्ले

  • 10.1-इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम

  • वायरलैस एंड्रॉइड ऑटो और एप्पल कारप्ले 

  • वेंटिलेटेड फ्रंट सीटें

  • वायरलैस चार्जिंग

  • रेन-सेंसिंग वाइपर

  • को-ड्राइवर सीट हाइट एडजस्टमेंट 

  • सेमी-डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर

  • इंटीग्रेटेड एलेक्सा कनेक्टिविटी

  • 8 इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट

  • सभी चार विंडो के लिए ऑटो वन-टच अप/डाउन

  • रिमोट इंजन स्टार्ट (सीवीटी)

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

इन तीनों ही सेडान कारों में बड़ा टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट, ऑटोमेटिक हेडलैंप्स, इलेक्ट्रिक सनरूफ, क्रूज़ कंट्रोल, एम्बिएंट लाइटिंग, 8-स्पीकर साउंड सिस्टम और पैडल शिफ्टर्स जैसे फीचर्स दिए गए हैं। हालांकि, वर्टस और स्लाविया में इनके अलावा और भी कई हैंडी फीचर्स मिलते हैं।

सिटी के बेसिक 8-इंच यूनिट के मुकाबले वर्टस और स्लाविया का 10.1-इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम ज्यादा बेहतर व प्रीमियम है। इन दोनों गाड़ियों का इंफोटेनमेंट सिस्टम स्मूद होने के साथ-साथ इस्तेमाल करने में भी काफी आसान है। इनमें वायरलैस चार्जिंग, फ्रंट वेंटिलेटेड सीटें और को-ड्राइवर सीट के लिए हाइट एडजस्टमेंट जैसे फीचर्स भी दिए गए हैं जो बेहद काम के साबित होते हैं। सिटी सेडान में सभी चारों विंडो पर ऑटो वन-टच अप/डाउन फीचर दिया गया है। इस गाड़ी के बेस वेरिएंट वी में स्लाविया और वर्टस से ज्यादा फीचर्स मिलते हैं।

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

स्लाविया में विंडस्क्रीन पर टिकट होल्डर, डॉक्युमेंट होल्डर इलास्टिक स्ट्रिंग और डैशबोर्ड पर स्मॉल स्टोरेज स्पेस भी मिलती है।

फीचर्स के मामले में फोक्सवैगन और स्कोडा की सेडान कारें सबसे अच्छी साबित होती है, वहीं सिटी सेडान केबिन प्रेक्टिकेलिटी को लेकर सबसे बेस्ट है।

रियर सीट एक्सपीरिएंस

सेडान कारों की बैक सीट बेहद महत्वपूर्ण होती है। चाहे कार को रोज़ाना चलाने की बात हो या फिर लंबी ड्राइव पर ले जाने की यह तीनों ही सेडान कारें पीछे बैठे पैसेंजर्स को अच्छा कम्फर्ट देती हैं। इनमें इलेक्ट्रिक सनरूफ का फीचर भी दिया गया है जिसके चलते इन सभी कारों का केबिन काफी बड़ा लगता है। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि इन तीनों सेडान कारों की सीटें काफी नीची हैं, ऐसे में बुजुर्गों के लिए केबिन के बाहर निकलना व अंदर जाना थोड़ा मुश्किल हो सकता है।

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

स्लाविया और वर्टस दोनों ही कारों में पीछे की तरफ बोल्स्टर्ड सीटें दी गई हैं। मजबूत बोलस्टरिंग के साथ इनमें कम शोल्डर रूम और थोड़ी लिफ्टेड सेंटर सीट मिलती हैं जिससे मिडल सीट में बैठे पैसेंजर को थोड़ी असुविधा महसूस होती है। इनमें रियर सीट पर तीन की बजाए दो पैसेंजर कम्फर्टेबल होकर बैठ सकते हैं। होंडा सिटी कार के केबिन में ज्यादा नीरूम स्पेस मिलता है, जबकि वर्टस और स्लाविया में ज्यादा फुट रूम और हेडस्पेस मिलता है। वर्टस और स्लाविया में रियर सीट पर 6-फुट के पैसेंजर आसानी से बैठ सकते हैं, जबकि सिटी सेडान में 6-फुट स्पेस के पैसेंजर को थोड़ी असुविधा महसूस हो सकती है। हमें फिर भी लगता है कि सिटी सेडान रियर सीटिंग के मामले में ज्यादा अच्छी है, वहीं वर्टस और स्लाविया इस मामले में इससे ज्यादा भी पीछे नहीं है।

रियर सीट प्रेक्टिकेलिटी व फीचर्स

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

कॉमन फीचर्स 

  वर्टस/स्लाविया 

सिटी हाइलाइट 

  • रियर एसी वेंट्स

  • रियर सेंटर आर्मरेस्ट

  • आर्मरेस्ट में कपहोल्डर 

  • फोन होल्डर के साथ सीट बैक पॉकेट

  • रियर स्प्लिट 60:40 सीटें 

  • एडजस्टेबल हेडरेस्ट 

  • रियर 2 सी-टाइप यूएसबी चार्जर

  • रियर सनशेड 

  • रियर 2 यूएसबी चार्जर 

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

प्रेक्टिकेलिटी के मामले में इन तीनों ही कारों में सेंटर आर्मरेस्ट के साथ दो कप होल्डर, रियर एसी वेंट्स और डोर पर बॉटल होल्डर दिए गए हैं। सिटी में रियर सनशेड ब्लाइंड दिया गया है, वहीं वर्टस और स्लाविया में रियर एडजस्टेबल हेडरेस्ट भी दिए गए हैं। स्लाविया में दो रियर 60:40 स्प्लिट सीटें दी गई हैं जिसके चलते इसमें ज्यादा स्पेस मिलता है। इन तीनों ही कारों की रियर साइड बेहद प्रैक्टिकल है, वहीं वर्टस और स्लाविया में कई अतिरिक्त फीचर्स भी मिलते हैं।

सेफ्टी

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

कॉमन फीचर्स 

वर्टस/स्लाविया हाइलाइट 

सिटी हाइलाइट 

  • छह एयरबैग तक

  • ट्रेक्शन कंट्रोल 

  • ईएससी 

  • रियर पार्किंग कैमरा

  • हिल स्टार्ट असिस्ट

  • टीपीएमएस

  • आइएसोफिक्स सीट एंकरेज

  • मल्टी कोलिजन ब्रेकिंग

  • इलेक्ट्रॉनिक डिफ्रेंशियल लॉकिंग सिस्टम

  • चार एयरबैग्स स्टैंडर्ड 

  • लेन-वॉच कैमरा 

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

सेफ्टी के मामले में यह तीनों ही सेडान कारें बेहद अच्छी हैं। इन सभी सेडान कारों में ट्रेक्शन कंट्रोल, इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल और टीपीएमएस फीचर स्टैंडर्ड दिए गए हैं। सिटी सेडान में चार एयरबैग्स स्टैंडर्ड दिए गए हैं, वहीं स्लाविया में दो एयरबैग्स मिलते हैं। स्लाविया और वर्टस में कई सारे एक्टिव सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि इन तीनों ही कारों में से किसी भी कार का क्रैश टेस्ट नहीं हुआ है।

राइड व कम्फर्ट

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

चाहे बात सिटी ड्राइविंग की हो या फिर हाइवे ड्राइविंग की, इन तीनों ही कारों की राइड कम्फर्टेबल है। यह सभी कारें गड्ढों से आसानी से गुज़र जाती है जिसके चलते पैसेंजर्स को रोड की खराबी के बारे में बहुत कम ही चल पाता है। अगर आप बड़े स्पीड ब्रेकर को पार करते हैं तो ऐसे में इन तीनों ही कारों में आपको थोड़ी आवाज़ जरूर सुनने को मिलेगी। होंडा सिटी कार में खुरदुरी सड़कों को पार करते समय वर्टिकल और तेज़ मूवमेंट महसूस होता है। वहीं, स्लाविया और वर्टस उबड़-खाबड़ सड़कों और बड़े गड्ढों को आसानी से पार कर लेती है और 100 या उससे ज्यादा की स्पीड में भी स्टेबल रहती है।

ड्राइव एक्सपीरिएंस

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

सिटी में ड्राइव करने के लिहाज से यह तीनों ही कारें बेहद अच्छी है।  वहीं, हाइवे ड्राइविंग की बात करें तो वर्टस और स्लाविया सिटी से ज्यादा बेहतर साबित होती है। इसकी वजह इसमें पुराने नेचुरली एस्पिरेटेड की बजाए दिया गया टर्बो-पेट्रोल इंजन है। वर्टस और स्लाविया में दिया गया इंजन (1.0-लीटर टर्बो पेट्रोल) सिटी के 1.5-लीटर इंजन के मुकाबले ज्यादा टॉर्क भी जनरेट करता है। स्लाविया और वर्टस के 1.5-लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन ऑप्शंस ज्यादा पावरफुल है।

स्लाविया और वर्टस में 1.0-लीटर इंजन के साथ 6-स्पीड ऑटोमेटिक गियरबॉक्स और ज्यादा पावरफुल 1.5-लीटर इंजन के साथ 7-स्पीड डीएसजी गियरबॉक्स मिलता है। वहीं, सिटी में पेट्रोल इंजन के साथ केवल सीवीटी ऑटोमेटिक ऑप्शन मिलता है, जबकि हाइब्रिड पेट्रोल पावरट्रेन के साथ ई-सीवीटी गियरबॉक्स दिया गया है। इस लिस्ट में सिटी एकमात्र ऐसी सेडान कार है जिसके साथ डीजल इंजन का ऑप्शन भी मिलता है।

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

प्राइस

वर्टस 1-लीटर 

स्लाविया 1-लीटर 

होंडा सिटी 

11.22 लाख रुपए से 15.72 लाख रुपए

10.99 लाख रुपए से 15.79 लाख रुपए

11.46 लाख रुपए से 15.41 लाख रुपए

इन तीनों ही सेडान कारों की प्राइस लगभग एक जैसी है, लेकिन सिटी का बेस वेरिएंट वर्टस और स्लाविया के मुकाबले ज्यादा फीचर लोडेड है। सिटी सेडान के वी वेरिएंट का सीधा मुकाबला स्लाविया और वर्टस के मिड वेरिएंट से है। वर्टस और स्लाविया की प्राइस रेंज 1.5-लीटर टर्बो पेट्रोल वेरिएंट के साथ बढ़ जाती है, जबकि सिटी के स्ट्रॉन्ग-हाइब्रिड सेल्फ चार्जिंग ऑप्शन की प्राइस लगभग 20 लाख रुपए के आसपास है।

volkswagen virtus vs skoda slavia vs honda city

निष्कर्ष

यदि आप कोई ऐसी कार चाहते हैं जो आपको बड़ी कार का अहसास दिलाए, कम्फर्टेबल रियर सीट एक्सपीरिएंस दे और जिसका केबिन फीचर लोडेड हो तो ऐसे में यह तीनों ही कारें काफी अच्छी हैं। स्लाविया और वर्टस की राइड क्वालिटी काफी अच्छी है और इसके बूट का साइज़ भी काफी बड़ा है। यह दोनों ही गाड़ियां अच्छा हाइवे ड्राइविंग एक्सपीरिएंस भी देती हैं और इसमें कई दमदार फीचर्स भी दिए गए हैं। इन कारों के साथ टर्बो-पेट्रोल इंजन का ऑप्शन मिलता है जिसके चलते यह एकदम रोमांचक ड्राइविंग एक्सपीरिएंस भी देती हैं। यदि आप होंडा सिटी कार को चुनते हैं तो आपको इसमें ज्यादा प्रेक्टिकल केबिन मिल सकेगा। यह गाड़ी नेचुरली एस्पिरेटेड इंजन और डीजल इंजन के साथ आती है और पैसेंजर्स को बेहतरीन रियर सीट एक्सपीरिएंस भी देती है। रियर सीट पर इसमें तीन पैसेंजर कम्फर्टेबल होकर बैठ सकते हैं।

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

फॉक्सवेगन विर्टस पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
  • होंडा सिटी
  • स्कोडा स्लाविया
  • फॉक्सवेगन विर्टस

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

नई दिल्ली में *एक्स-शोरूम कीमत
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का

ट्रेंडिंगसेडान

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience