हैचबैक सेगमेंट में मारूति ऑल्टो का दबदबा बरकरार, बिकीं 1.07 लाख कारें

संशोधित: जून 30, 2017 03:32 pm | akas | मारुति ऑल्टो के10 2014-2020

मारूति सुज़ुकी ऑल्टो को देश में आए करीब 17 साल हो गए हैं, अब तक कंपनी इसके कई अपडेट और फेसलिफ्ट वर्जन उतार चुकी है, यही वजह है कि ऑल्टो आज भी मांग में बनी हुई है। साल 2017 के पहले पांच महीनों में मारूति ने ऑल्टो हैचबैक की 1.07 लाख से ज्यादा यूनिट बेची है।

कंपनी से मिली जानकारी के अनुसार ऑल्टो को खरीदने वाले 25 फीसदी ग्राहक 30 साल से कम उम्र के हैं, पिछले तीन सालों से इसकी मांग में 4 फीसदी की बढ़ोतरी हो रही है। ऑल्टो को मिल रही लोकप्रियता की अहम वजह इसकी आक्रामक कीमत, कम मेंटेनेंस खर्च, मारूति का बड़ा सर्विस नेटवर्क और कंपनी का बड़ा नाम है। यह टियर-1 और टियर-2 शहरों के अलावा उन पहाड़ी लोगों की भी पसंदीदा कार है जहां पर स्पेयर पार्ट्स और मैकेनिक आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं।

 

ऑल्टो हैचबैक में 0.8 लीटर और 1.0 लीटर पेट्रोल इंजन का विकल्प मिलता है, ज्यादा माइलेज चाहने वाले सीएनजी और ऑटोमैटिक वेरिएंट का विकल्प चुन सकते हैं। फन-टू-ड्राइव का शौक रखने वाले इसका पावरफुल अवतार ऑल्टो के10 ले सकते हैं। सेगमेंट में के10 का ऑटोमैटिक वेरिएंट सबसे किफायती दाम पर मिलता है। इसका माइलेज भी अच्छा-खासा है और इसे सिटी के बंपर-टू-बंपर ट्रैफिक में भी चलाना आसान है।

सेगमेंट में जब से रेनो क्विड और डैटसन रेडी-गो की एंट्री हुई है, यहां मुकाबला काफी कड़ा हो गया है, अब देखने वाली बात ये होगी कि आने वाले सालों में मारूति ऑल्टो अपनी पोजिशन को बरकरार रख पाती है या नहीं।

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

मारुति ऑल्टो के10 2014-2020 पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News

ट्रेंडिंगहैचबैक

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience