• English
  • Login / Register

यूएस में महिंद्रा के फार्म व्हीकल रॉक्सर की बिक्री पर लगी रोक

संशोधित: जून 16, 2020 07:59 pm | स्तुति | महिंद्रा थार 2015-2019

  • 3876 व्यूज़
  • Write a कमेंट
  • एफसीए के साथ चल रही महिंद्रा की कानूनी लड़ाई एफसीए के पक्ष में रही।
  • यूएस में महिंद्रा की रॉक्सर एसयूवी को बेचने और इसके नए पार्ट्स इम्पोर्ट करने पर अभी के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है।
  • रॉक्सर की डिज़ाइन को लेकर एफसीए ने महिंद्रा के खिलाफ बौद्धिक संपदा का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है।
  • पीटीआई के अनुसार, यूएस और कनाडियन मार्केट के लिए महिंद्रा अपनी अपडेटेड रॉक्सर पर काम कर रही है।  

यूएस में महिंद्रा (Mahindra) को रॉक्सर एसयूवी बेचने और इसके पार्ट्स को इम्पोर्ट करने पर प्रतिबंध लगाया गया है। महिंद्रा पिछले कुछ समय से एफसीए (फिएट क्रिसलर ऑटो) ग्रुप के साथ कानूनी लड़ाई लड़ रही थी, जिसका फैसला एफसीए के पक्ष में हुआ है। अमेरिकी नियामक का कहना है कि रॉक्सर एसयूवी की डिज़ाइन एफसीए के जीप ब्रांड के बौद्धिक संपदा अधिकारों का उल्लंघन करती है।

यूनाइटेड स्टेट्स में महिंद्रा ने रॉक्सर कार को अपनी सहायक कंपनी महिंद्रा ऑटोमोटिव नॉर्थ अमेरिका (माना) के साथ मिलकर लॉन्च किया था। इसके बाद जीप ने रॉक्सर के 2018 मॉडल के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया था। जीप ब्रांड का मानना है कि इस एसयूवी की डिज़ाइन कंपनी की ट्रेडमार्क इमेज या फिर इसके किसी प्रोडक्ट के बाहरी लेआउट से चुराई गई है। एफसीए के अनुसार, रॉक्सर बहुत से पहलुओं में विलीज़ या जीप सीजे90 की याद दिलाती है। लेकिन, इस कार की जीप ब्रांड से सबसे ज्यादा मेल खाने वाली चीज़ जो है वो है इसकी मल्टी-स्लेट ग्रिल।  

यह भी पढ़ें : अब नई कारों के लिए नहीं करानी होगी 3 साल लंबी कॉम्प्रिहेन्सिव इंश्योरेंस पॉलिसी: आईआरडीएआई

बता दें कि महिंद्रा ने रॉक्सर को नया अपडेट 2020 में दिया था, जिसके चलते इसे कानूनी पचड़ों में भी फंसा पड़ना। इस बार भी यह कुल छह पहलुओं में जीप ब्रांड के जैसी ही दिखाई पड़ रही थी। ऐसे में महिंद्रा को नए पार्ट्स या फिर अपनी किट को इम्पोर्ट नहीं करने के भी निर्देश दे दिए गए थे। हालांकि, इस बार इसकी ग्रिल पहले से अलग रखी गयी थी।

यह भी पढ़ें : देश में अब बीएस4 वाहनों की बिक्री नहीं होगी : सुप्रीम कोर्ट

हालांकि, यूएस के बाजार में यह महिंद्रा का अंतिम सफर नहीं है। यह ब्रांड अब भी उच्च अधिकारियों को आकर्षित करता रहेगा। नई रिपोर्ट्स के अनुसार, महिंद्रा की 2020 रॉक्सर ने सभी क़ानूनी विनिर्देशों का पालन किया है। आने वाले समय में इस में कई नए बदलाव किए जायेंगे। अनुमान है कि रॉक्सर नए बदलावों के साथ शोरूम में जल्द एक बार फिर दस्तक देगी।  

महिंद्रा के फार्म व्हीकल रॉक्सर को ‘माना’ के मिशिगन प्लांट में असेंबल किया जाता है। वहीं, इसकी किट्स को भारत से इम्पोर्ट किया जाता है। यूएस में इसकी एक्स-शोरूम प्राइस भारतीय करेंसी के मुताबिक 12.62 लाख रुपए ($16,599) है।  इसमें 2.5-लीटर डीजल इंजन दिया गया है, जो 62 पीएस की पावर और 195 एनएम का टॉर्क जनरेट करने में सक्षम है। इसमें इंजन के साथ 5-स्पीड मैनुअल या फिर 6-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन का ऑप्शन मिलता है। इसके अलावा इसमें 2-स्पीड मैनुअल ट्रांसफर केस के साथ ऑप्शनल 4X4 सिस्टम भी दिया गया है।

यह भी पढ़ें : जल्द महिंद्रा से अलग हो सकती है सैंग्यॉन्ग, कंपनी तलाश कर रही है नया खरीददार

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

महिंद्रा थार 2015-2019 पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
×
We need your सिटी to customize your experience