मुकाबला: हुंडई ट्यूसॉन Vs होंडा सीआर-वी Vs स्कोडा येती

संशोधित: नवंबर 16, 2016 05:11 pm | nabeel | हुंडई ट्यूसॉन 2016-2020

  • 10 व्यूज़
  • Write a कमेंट

हुंडई की ट्यूसॉन एसयूवी ने भारत में एक बार फिर वापसी कर ली है। इसकी शुरूआती कीमत 18.99 लाख रूपए (एक्स-शोरूम, दिल्ली) है। हुंडई कारों की रेंज में इसे क्रेटा और सेंटा-फे के बीच रखा गया है। इसका मुकाबला स्कोडा येती और होंडा सीआर-वी से है। मुकाबले में कौन किस पर भारी पड़ती है, यह जानने के लिए हमने कई मोर्चों पर तीनों कारों की एक-दूसरे से तुलना की है। क्या रहे नतीजे, यह जानने के लिए बढ़ते हैं आगे...

इंजन

शुरूआत करते हैं इनके इंजन से... पावर स्पेसिफिकेशन के मामले में तीनों एसयूवी में अलग-अलग खूबियां समाई है। हुंडई ट्यूसॉन जहां एक पेट्रोल और एक डीज़ल इंजन में उपलब्ध है, वहीं होंडा सीआर-वी में दो पेट्रोल इंजन का विकल्प मौजूद है। स्कोडा येती केवल एक डीज़ल इंजन के साथ आती है।

ट्यूसॉन और सीआर-वी दोनों में 2.0 लीटर का पेट्रोल इंजन लगा है। पावर और टॉर्क के मामले में दोनों लगभग बराबर हैं। ट्यूसॉन पेट्रोल की पावर 155 पीएस और टॉर्क 192 एनएम है। इसमें 6-स्पीड मैनुअल और ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प है। इसमें केवल टू-व्हील ड्राइव की सुविधा मिलेगी। ट्यूसॉन मैनुअल का माइलेज 13.03 किलोमीटर प्रति लीटर और ऑटोमैटिक वेरिएंट का माइलेज 12.95 किलोमीटर प्रति लीटर है।

सीआर-वी 2.0 पेट्रोल की बात करें तो इसकी पावर ट्यूसॉन से एक पीएस ज्यादा (156 पीएस) और टॉर्क दो एनएम कम (190 एनएम) है। इसमें 6-स्पीड मैनुअल और 5-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प मिलेगा। ट्यूसॉन की तरह यह भी टू-व्हील ड्राइव कार है। इसका माइलेज 13.7 किलोमीटर प्रति लीटर है। वहीं 2.4 लीटर इंजन वाली सीआर-वी की ताकत 190 पीएस और टॉर्क 226 एनएम का है। यह इंजन 5-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स से जुड़ा है, जो सभी पहियों पर पावर सप्लाई करता है। इसका माइलेज दावा 12 किलोमीटर प्रति लीटर का है।

बात करें तो डीज़ल वर्जन की तो ट्यूसॉन और येती दोनों में 2.0 लीटर का डीज़ल इंजन लगा है। ट्यूसॉन डीज़ल की पावर 185 पीएस और टॉर्क 400 एनएम है। यह इंजन 6-स्पीड मैनुअल और 6-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स से जुड़ा है। इसमें भी टू-व्हील ड्राइव की सुविधा दी गई है। इसके मैनुअल वेरिएंट में 18.42 किलोमीटर प्रति लीटर और ऑटोमैटिक वेरिएंट में 16.38 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज मिलेगा। बात करें स्कोडा येती की तो इसमें 2.0 लीटर का डीज़ल इंजन, 140 पीएस की पावर और 320 एनएम का टॉर्क देता है। इंजन 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से जुड़ा है, जो सभी पहियों पर पावर सप्लाई करता है। इसका माइलेज दावा 17.67 किलोमीटर प्रति लीटर का है।

पावर के मामले में होंडा की सीआर-वी सबसे आगे है। इसके 2.4 लीटर पेट्रोल इंजन में 190 पीएस की पावर मिलती है। टॉर्क और माइलेज के मामले में डीज़ल इंजन वाली ट्यूसॉन आगे है। इसमें 400एनएम का टॉर्क और 18.42 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज मिलेगा।

कद-काठी

कद-काठी की बात करें तो तीनों ही एसयूवी किसी ना किसी मामले में एक-दूसरे से आगे है। लम्बाई के मामले में सीआर-वी सबसे आगे है। इसकी लम्बाई 4545 एमएम, ट्यूसॉन की लम्बाई 4475 एमएम और स्कोडा येती की लम्बाई 4222 एमएम है। ट्सूयॉन सभी से ज्यादा चौड़ी है। इसकी चौड़ाई 1850 एमएम है। सीआर-वी की चौड़ाई 1820 एमएम और स्कोडा येती की चौड़ाई 1793 एमएम है। ऊंचाई में स्कोडा येती ने बाजी मारी है। येती की ऊंचाई 1691 एमएम, सीआर-वी की ऊंचाई 1685 एमएम और ट्यूसॉन की ऊंचाई 1660 एमएम है। केबिन में सबसे ज्यादा स्पेस होंडा सीआर-वी में है। इस मामले में हुंडई ट्यूसॉन दूसरे और स्कोडा येती तीसरे नम्बर पर है।

ऑन रोड इमेज की बात करें तो सीआर-वी लंबी लगती है, ट्यूसॉन चौड़ी और आक्रामक लगती है लेकिन येती इन दोनों के मुकाबले छोटी लगती है।

प्रमुख फीचर

हुंडई ट्यूसॉन

  • पावर टेलगेट के साथ हाइट एडजस्टमेंट
  • ईसीएम पर कम्पास
  • 6 एयरबैग
  • रिवर्स पार्किंग कैमरा और एडेप्टिव स्टीयरिंग गाइडेंस की सुविधा
  • ड्यूल बरैल प्रोजेक्टर एलईडी हैडलैंप्स
  • एलईडी डीआरएलएस

होंडा सीआर-वी

  • वॉशर वाले एचआईडी हैडलैंप्स
  • 7 इंच का टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम
  • इलेक्ट्रिक सनरूफ
  • मल्टी-एंगल रियर कैमरा डिस्प्ले
  • ईकॉन मोड
  • पैडल शिफ्टर (5-स्पीड एटी के साथ)

स्कोडा येती

  • टायर प्रेशर मॉनिटरिंग
  • 6.5 इंच का एलसीडी टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम
  • ड्यूल जोन क्लाइमेट कंट्रोल
  • 12 तरह से एडजस्ट होने वाली इलेक्ट्रिक ड्राइवर सीट
  • क्रूज़ कंट्रोल
  • पडल लैंप्स

तीनों ही एसयूवी में अच्छे और प्रीमियम फीचर दिए गए हैं। ये सभी फीचर 20 लाख रूपए तक जाने वाली इनकी कीमतों को जायज़ ठहराते हैं। यहां ट्यूसॉन नई पेशकश है। इसमें कई एडवांस फीचर और डिजायन को निखारने वाली एलईडी डे-टाइम रनिंग लाइटें, ड्यूल-बरैल एलईडी हैडलैंप्स और 18 इंच के डायमंड कट अलॉय व्हील मिलेंगे।

सेगमेंट में सीआर-वी और स्कोडा येती काफी पुरानी पड़ गई हैं और ये नए ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित नहीं कर पा रही हैं। ट्यूसॉन यहां नई एंट्री है। उम्मीद है कि हुंडई ट्यूसॉन से इन दोनों एसयूवी को कड़ी टक्कर मिलेगी।

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

हुंडई ट्यूसॉन 2016-2020 पर अपना कमेंट लिखें

1 कमेंट
1
s
s.k. sharma
Dec 9, 2016 8:15:03 PM

Why would anybody in his right mind be interested in spending his hard-earned money on a Yeti or CR-V when he can get the Fortuner or Pajerosport for just 3-4 lacs more ?

और देखें...
    जवाब
    Write a Reply
    Read Full News
    ×
    We need your सिटी to customize your experience