• लॉगिन / रजिस्टर

फॉक्सवेगन ग्रुप का बड़ा फैसला, तीन भारतीय कंपनियों का होगा विलय

प्रकाशित पर Apr 04, 2019 07:16 PM द्वारा Bhanu

  • 194 व्यूज़
  • Write a कमेंट

Volkswagen

फॉक्सवेगन ग्रुप ने भारत में अपनी तीन कंपनियों के विलय का फैसला किया है। फॉक्सवेगन ग्रुप की फॉक्सवेगन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, फॉक्सवेगन ग्रुप सेल्स इंडिया लिमिटेड और स्कोडा ऑटो इंडिया प्राइवेट लिमिटेड मिलकर अब एक कंपनी बन जाएगी। तीनों कंपनियों का विलय होने के बाद इसकी अगुवाई स्कोडा ऑटोमोबाइल करेगी। तीनों कंपनियों के बोर्ड द्वारा इस विलय को मंजूरी दे दी गई है। अब इस विलय को केवल कानूनी रूप से मंजूरी मिलना बाकि रह गया है।

Volkswagen T-Cross

यह फैसला फॉक्सवेगन ग्रुप के 'इंडिया 2.0' प्रोजेक्ट के लिहाज़ से काफी महत्वपूर्ण है, इस प्रोजेक्ट के तहत फॉक्सवेगन ग्रुप सबसे छोटे मॉड्यूलर प्लेटफॉर्म एमक्यूबी (ओ) को तैयार कर रही है। भविष्य में फॉक्सवेगन और स्कोडा इसी प्लेटफॉर्म पर कई कारों का निर्माण करेगी। भारत में इस प्लेटफॉर्म पर तैयार की जाने वाली पहली कार स्कोडा कामिक होगी। इसका मुकाबला हुंडई क्रेटा से होगा। कामिक के बाद कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट में फॉक्सवेगन की टी-क्रॉस तैयार की जाएगी। इस विलय के बावजूद फॉक्सवेगन ग्रूप के ब्रांड स्कोडा, ऑडी, पोर्श और लैंबोर्गिनी की अपनी पहचान पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। ये सभी ब्रांड सामान्य रणनीति के साथ गुरूप्रताप बोपाराई के नेतृत्व में कार्य करेंगे। वर्तमान में गुरूप्रताप बोपाराई फॉक्सवेगन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और स्कोडा ऑटो इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक के तौर पर कार्यरत हैं।

Skoda Kamiq

यह भी पढें : भारत में 2021 से पहले एमजी मोटर्स नहीं उतारेगी हैचबैक और सेडान कारें

द्वारा प्रकाशित

Write your कमेंट

Read Full News
×
आपका शहर कौन सा है?