• लॉगिन / रजिस्टर

2021 टेस्ला मॉडल वाय एसयूवी को क्रैश टेस्ट में मिली 5-स्टार रेटिंग, भारत में लॉन्च हो सकती है ये कार

प्रकाशित: जनवरी 18, 2021 06:19 pm । भानुटेस्ला मॉडल वाई

  • 2350 व्यूज़
  • Write a कमेंट

  • एनएचटीएसए ने किया है 2021 टेस्ला मॉडल वाय का क्रैश टेस्ट 
  • अमेरिका में व्हीकल स्टैंडर्ड्स और रेगुलेशन तय करने में सर्वोच्च संस्था के रूप में काम करती है एनएचटीएसए
  • मॉडल वाय के रियर व्हील ड्राइव वर्जन को छोड़कर बाकी सभी वेरिएंट्स को मिली है 5-स्टार रेटिंग 
  • टक्कर को झेलने में सक्षम है मॉडल वाय की बॉडी जिसमें बैठे पैसेंजर्स तक नहीं होता कोई असर 
  • भारत में मॉडल वाय के बजाए जल्द मॉडल 3 सेडान के साथ एंट्री ले सकती है टेस्ला

पॉपुलर इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला ने एक और उपलब्धि हासिल की है। अमेरिका की नेशनल हाईवे ट्रैफिक सेफ्टी एसोसिएशन (एनएचटीएसए) ने मॉडल वाय एसयूवी को क्रैश टेस्ट में 5 स्टार सेफ्टी रेटिंग दी है। बता दें कि एनएचटीएसए अमेरिका में बिकने वाली सभी गाड़ियों के लिए व्हीकल स्टैंडर्ड तय करती है और उन्हें क्रैश टेस्ट रेटिंग भी देती है। 

मॉडल वाय को फ्रंट क्रैश टेस्ट, साइड क्रैश टेस्ट, रोलओवर क्रैश टेस्ट और गाड़ी में मौजूद सेफ्टी फीचर्स के आधार पर ये रेटिंग दी गई है। सबसे अच्छी बात ये है कि मॉडल वाय के सभी वेरिएंट्स को 5 स्टार रेटिंग दी गई है। जबकि ग्लोबल एनकैप क्रैश टेस्ट में गाड़ी के केवल किसी एक वेरिएंट का क्रैश टेस्ट किया जाता है। 

यह भी पढ़ेंः कंफर्म: 2021 में भारत आएगी टेस्ला मोटर्स, जानिए यहां लॉन्च होने वाली कंपनी की पहली कार के बारे में सबकुछ

एनएचटीएसए द्वारा मॉडल वाय के ऑल व्हील ड्राइव और रियर व्हील ड्राइव वर्जन का क्रैश टेस्ट किया गया। एनएचटीएसए ने इसके रियर व्हील ड्राइव वर्जन का ना तो रोलओवर क्रैश टेस्ट किया और ना ही इसके क्रैश टेस्ट की रेटिंग को उजागर किया। इसका मतलब साफ है कि इस वर्जन को उतनी अच्छी रेटिंग नहीं दी गई होगी। हालांकि, रोलओवर क्रैश टेस्ट को छोड़कर मॉडल वाय के रियर व्हील ड्राइव का परफॉर्मेंस ऑल व्हील ड्राइव वर्जन के बराबर ही रहा। 

यह भी पढे़ेंःकुछ ऐसी है टेस्ला की मॉडल वाय इलेक्ट्रिक एसयूवी जिसे भारत में किया जा सकता है लॉन्च

मॉडल वाय एसयूवी इतनी सेफ इसलिए है क्योंकि इसके फ्रंट में इंजन के ना होने से इंजीनियरों को यहां कुछ फीचर्स डालने का अच्छा मौका मिला। दूसरी तरफ इसकी बॉडी इतने अच्छे ढंग से डिजाइन की गई है कि एक्सीडेंट होने पर गाड़ी में लगने वाली फोर्स का असर पैसेंजर्स तक नहीं पहुंचता है। 

रोलओवर के मोर्चे पर बात की जाए तो अमेरिका में बिकने वाली दूसरी एसयूवी कारों के मुकाबले मॉडल वाय के पलटने की संभावना काफी कम रहती है। मॉडल वाय की ग्लास रूफ कुछ इस तरह से डिजाइन की गई है कि फोर्स का इंपैक्ट पूरी रूफ ही झेल लेती है। इससे पैसेंजर्स तक कोई आंच आने से पहले ही खतरा टल जाता है। 

टेस्ला ने भारत में कामकाज शुरू करने के लिए बेंगलुरु में एक रिसर्च एंड डेवलपमेंट विंग तैयार की है। भारत में मॉडल वाय एसयूवी को सबसे पहले पेश किए जाने के चांस काफी कम है। लेकिन टेस्ला की सभी कारें मॉडल वाय जितनी ही सेफ हैं और इनमें अच्छे खासे सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं। कंपनी भारत में सबसे पहले मॉडल 3 सेडान को उतार सकती है जो कि उतनी ही सेफ कार होगी। 

यह भी पढ़ेंः टेस्ला साइबरट्रक की वो 5 बातें जो इसे बनाती है भारत के लिए एक आइडियल कार

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

टेस्ला मॉडल वाई पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
space Image
×
आपका शहर कौन सा है?