• लॉगिन / रजिस्टर

ऑटो एक्सपो 2018 की वे चर्चित कारें जो आज तक नहीं आईं नज़र

संशोधित: दिसंबर 17, 2019 11:24 am | भानु

  • 662 व्यूज़
  • Write a कमेंट

भारत में हर दो साल के बाद ऑटो एक्सपो का आयोजन किया जाता है। इस इवेंट के ज़रिए ही इंडियन ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के आने वाले दो वर्षो की रूपरेखा देखने को मिलती है।यहां कंपनियां अपनी ओर से नए नए कॉन्सेप्ट मॉडल को शोकेस करती है। साथ ही इन कंपनियों द्वारा अपने ग्लोबल लाइनअप में मौजूद कार को भारत में लॉन्च करने से पहले शोकेस किया जाता है। 

हालांकि, कभी कभी ऐसा भी होता है कि विभिन्न कंपनियों द्वारा शोकेस किए गए कॉन्सेप्ट मॉडल को प्रोडक्शन मॉडल में तब्दील नहीं किया जाता। ऐसे में हमनें कुछ ऐसे ही कॉन्सेप्ट मॉडल की एक लिस्ट तैयार की है जिन्हें 2018 ऑटो एक्सपो में शोकेस तो किया गया, मगर वो फिर कभी प्रोडक्शन मॉडल के रूप में बिक्री के लिए उपलब्ध ही नहीं हो पाए।

मारुति

भारतीय बाज़ार के लिए मारुति नए नए प्रोडक्ट पेश करती रहती है। कुछ सालों से कंपनी ने ना ही सिर्फ नए प्रोडक्टस लॉन्च किए हैं बल्कि कंपनी एक नई प्रीमियम रीटेल चेन भी लेकर आई। कंपनी ने 2018 ऑटो एक्सपो में ई सर्वाइवर कॉन्सेप्ट को शोकेस किया था। इस कॉन्सेप्ट को प्रोडक्शन फॉर्म में भारत की सड़कों पर दौड़ते देखने का इंतजार आज भी किया जा रहा है। यह एक 4 व्हील ड्राइव इलेक्ट्रिक कॉन्सेप्ट था जिसे जिम्नी, जिप्सी और ग्रैंड विटारा जैसे 4 डब्ल्यूडी मॉडल से प्रभावित होकर तैयार किया गया था। 

हुंडई 

 

2018 ऑटो एक्सपो में शोकेस किए जाने के बाद हुंडई की आइयॉनिक के बारे में फिर कभी कोई जानकारी सामने नहीं आई। हुंडई मोटर्स ने 2018 ऑटो एक्सपो में आइयॉनिक के हायब्रिड और इलेक्ट्रिक वेरिएंट को शोकेस किया था। माना जा रहा था कि कंपनी 2018 के मध्य तक इन्हें भारत में लॉन्च कर देगी मगर, ऐसा हुआ नहीं। इसके बजाए कंपनी ने यहां ऑल इलेक्ट्रिक एसयूवी कोना को लॉन्च किया है। 

टाटा मोटर्स 

टाटा मोटर्स द्वारा 2018 ऑटो एक्सपो में शोकेस की गई रेसमो ने उस वक्त जमकर सुर्खियां बंटोरी थी।यह काफी हद तक एक स्पोर्ट्स कार थी जिसमें बिल्ट इन कैमरे का फीचर दिया गया था। भारतीय बाज़ार के लिए ये कार काफी महंगी साबित हो सकती थी। बस, यही सोचकर टाटा ने इस कार को यहां लॉन्च नहीं किया। इसके साथ ही ग्राहकों के लिए अफोर्डेबल मेड इन इंडिया स्पोर्ट्स कार का सपना भी अधूरा ही रह गया। 

महिंद्रा

महिंद्रा ने 2018 ऑटो एक्सपो में काफी सारे कॉन्सेप्ट पेश किए थे। इनमें से यूडो और एटम भी शामिल थे। इन दोनों कॉन्सेप्ट का साइज़ तो मोटरसाइकिल जैसा था मगर फीचर्स छोटी कार जैसे थे।  माना जा रहा था कि इन दोनों कॉन्सेप्ट को भविष्य में पर्सनल मोबिलिटी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है मगर, धरातल पर ऐसा संभव नहीं हो पाया। इसके अलावा कंपनी की ओर से ई2ओ एनएक्सटी और ईकेयूवी को भी शोकेस किया गया था। ई2ओ एनएक्सटी ई2ओ का एक प्रीमियम वर्जन था जिसे कंपनी ने लॉन्च ही नहीं किया। वहीं महिंद्रा द्वारा ईकेयूवी का प्रोडक्शन मॉडल तैयार किया जा रहा है और उम्मीद है कि कंपनी जल्द ही इसे भारत में लॉन्च करेगी। इन सब के अलावा कंपनी ने 2018 ऑटो एक्सपो में स्टिंगर नाम से आधा कन्वर्टिबल और आधा पिकअप ट्रक कॉन्सेप्ट भी शोकेस किया था। यह टीयूवी300 पर बेस्ड था जिसे दर्शकों की ओर से काफी सराहना मिली थी। हालांकि, महिंद्र की ओर से इस तरह के व्हीकल को लॉन्च किए जाने की दूर दूर तक कोई उम्मीद नहीं है। 

होंडा

होंडा ने 2018 ऑटो एक्सपो में स्पोर्ट्स ईवी को शोकेस किया था जिसका डिज़ाइन काफी शानदार था। यह होंडा द्वारा 2019 फ्रैंकफर्ट मोटर शो में शोकेस किए गए ई-कॉन्सेप्ट जैसा दिखाई दिया था। होंडा ने तब इसे भारत में लॉन्च करने की कोई जानकारी नहीं दी थी और आज भी स्थिती यही है। इसके अलावा होंडा क्लैरिटी सेडान के रेग्यूल मॉडल के फ्यूल सेल पावर्ड वर्जन क्लैरिटी एफसीवी को भी शोकेस किया था। हालांकि, इसे भी भारत में लॉन्च किए जाने की कोई उम्मीद नहीं है। 

टोयोटा 

टोयोटा लग्ज़री एमपीवी वैलफायर को जल्द ही भारत में लॉन्च करने जा रही है। इसे भारत में इंपोर्ट कराया जाएगा जिसकी कीमत 85 लाख रुपये के करीब होगी। 2018 में कंपनी ने अल्फार्ड नाम के मॉडल को शोकेस किया था। अल्फार्ड और वेलफायर में ज्यादा अंतर नहीं है मगर ये दोनों मॉडल एक दूसरे से अलग हैं। वैसे भी टोयोटा ने भारत में अल्फार्ड को लॉन्च किए जाने के बारे में कोई जानकारी भी नहीं दी है। 

रेनो 

रेनो ने ज़ो ईवी को 2018 ऑटो एक्सपो में शोकेस किया था। यह क्लिओ प्लेटफॉर्म पर बेस्ड एक कॉम्पैक्ट ईवी थी जो किसी प्रीमियम हैचबैक की जगह ले सकती थी। ज़ो यूरोपियन बाज़ार में उपलब्ध है मगर कंपनी द्वारा इसे भारत मेंं फिलहाल लॉन्च किए जाने की कोई संभावना नहीं है। ज़ो के बाद रेनो ट्रेज़र कॉन्सेप्ट को शोकेस किया था जिसने काफी वाहवाही लूटी थी। हालांकि,इस कॉन्सेप्ट मॉडल को प्रोडक्शन फॉर्म में तैयार करना काफी मुश्किल माना जा सकता है। इस कॉन्सेप्ट की खास बात ये रही कि कार में बैठने के लिए इसकी पूरी रूफ को उठाया जा सकता था। 

ऑटो एक्सपो 2018 के दौरान किया मोटर्स ने भारत में अपने पैर नहीं जमाए थे। हालांकि, इस ब्रैंड ने यहां अपने ग्लोबल लाइनअप में मौजूद सभी कारों को शोकेस किया था जिनमें से कुछ को तो फिलहाल भारत में लॉन्च किए जाने की कोई योजना नहीं है। शोकेस किए मॉडल्स में स्टिंगर स्पोर्ट्स सेडान, निरो प्लग इन हायब्रिड, ऑप्टिमा प्लग इन हायब्रिड,रियो हैचबैक और सोल ईवी शामिल थी। फिलहाल तो किया मोटर्स द्वारा शोकेस की गई इनमें से कुछ कारों के भारतीय सड़कों पर दिखाई देने के चांस काफी कम है। मगर इन्हें देखकर कंपनी की काबिलियत को परखा जा सकता है। 

यह भी पढ़ें: ऑटो एक्सपो 2020:स्कोडा की ओर से इन मॉडल्स को किया जाएगा शोकेस, जानिए सबकी खासियत

किया

2018 ऑटो एक्सपो के समय किया मोटर्स की भारतीय बाज़ार में एंट्री ही नहीं हुई थी। अपनी ब्रांड इमेज को स्थापित करने के लिए कंपनी ने ग्लोबल लाइनअप में मौजूद लगभग सभी कारों को इस इवेंट में शोकेस किया था। इनमें से कई कारें तो ऐसी है जिनका भारत में लॉन्च होना फिलहाल तय नहीं है। इन मॉडल्स में स्टिंगर स्पोर्ट्स सेडान, निरो प्लग इन हायब्रिड, ऑप्टिमा प्लग इन हायब्रिड, रियो हैचबैक और सोल ईवी शामिल है। हालांकि, फिलहाल तो इन कारों का भारत में लॉन्च होना तय नहीं है, मगर इन्हें देखकर कंपनी की काबिलियत को आंका जा सकता है। 

डीसी

डीसी ने 2018 ऑटो एक्सपो में टीसीए को शोकेस किया था जिसका डिज़ाइन बहुत ही ज्यादा आकर्षक दिखाई दिया। माना जा रहा था कि कस्टमाइज़ कारें तैयार करने वाली इस कंपनी इसे दूसरी सूपरकार के तौर पर पेश करती मगर, डीसी की ओर से इसे भारत में लॉन्च किए जाने की कोई जानकारी नहीं दी गई है। 

यह भी पढ़ें: 2018 ऑटो एक्सपो में शोकेस की गईं वो कारें जो बाज़ार में हैं उपलब्ध

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

Write your कमेंट

Read Full News
×
आपका शहर कौन सा है?