• लॉगिन / रजिस्टर

जानिये, नई फॉक्सवेगन पोलो जीटीआई से जुड़ी पांच अहम बातें...

Modified On jun 20, 2017 12:34 pm By raunak for फॉक्सवेगन जीटीआई

  • 14 Views
  • Write a comment

फॉक्सवेगन ने छठवीं जनरेशन की पोलो हैचबैक से पर्दा उठा दिया है, कंपनी ने इसके हाइ-परफॉर्मेंस वर्जन पोलो जीटीआई से जुड़ी जानकारियां भी साझा की है, संभावना है कि आने वाले महीनों में कंपनी इनके प्रोडक्शन वर्जन को पेश करेगी, यहां हम लाए हैं नई पोलो जीटीआई से जुड़ी वो पांच अहम बातें जो कई मामलों में इसे बनाती हैं कुछ खास और अलग...

 

1. प्लेटफार्म

नई पोलो को फॉक्सवेगन ग्रुप के सबसे छोटे मॉड्यूलर ट्रांसवर्स मैट्रिक्स (एमक्यूबी) प्लेटफार्म पर तैयार किया गया है, मौजूदा गोल्फ की तरह इसकी ऊंचाई कम है, गोल्फ भी इसी प्लेटफार्म पर बनी है।

नई पोलो हैचबैक की लंबाई और चौड़ाई को बढ़ाया गया है, इस में बड़े और चौड़े व्हील आर्च दिए गए हैं।

नई पोलो जीटीआई में 18 इंच के अलॉय व्हील (ऑप्शनल) मिलेंगे, वहीं मौजूदा जीटीआई में 17 इंच के व्हील स्टैंडर्ड दिए गए हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजार में उपलब्ध कई 4-मीटर वाली हॉट हैचबैक में 18 इंच के अलॉय व्हील देखें जा सकते हैं।

 

क्लासिक जीटीआई की स्पोर्टी डिजायन को पहली की तरह बरकरार रखा गया है, इस में पहले की तरह हैडलैंप्स तक फैली रेडिएटर ग्रिल, रेड हाइलाइट स्ट्रिप के साथ दी गई है, हैडलैंप्स में डे-टाइम रनिंग एलईडी लाइटें लगी हैं। कुछ नए बदलाव बंपर्स, हनीकॉम्ब ग्रिल पैटर्न और अलॉय व्हील में हुए हैं, अलॉय व्हील के साथ रेड ब्रेक क्लिपर्स दी गई हैं।

 

2. इंजन

मौजूदा पोलो जीटीआई में 1.8 लीटर का टर्बोचार्ज्ड इंजन लगा है, जबकि नई जीटीआई में 2.0 लीटर का टीएसआई टर्बोचार्ज्ड इंजन मिलेगा, यह इंजन 200 पीएस की पावर देगा, पुराने मॉडल की तुलना में इस में 8 पीएस की ज्यादा पावर मिलेगी। इंजन के साथ 6-स्पीड मैनुअल और 7-स्पीड ड्यूल-क्लच ऑटोमैटिक (डीएसजी) गियरबॉक्स का विकल्प मिलेगा, यही ट्रांसमिशन मौजूदा जीटीआई में भी दिए गए हैं। अगर आप स्पोर्ट सिलेक्ट चेसिस का विकल्प चुनते हैं तो आप 15 एमएम कम ऊंची और अडेप्टिव डंपर्स वाली जीटीआई की राइडिंग का मजा लेंगे, इसकी पावर और टॉर्क के आंकड़ों की जानकारी आने वाले महीनों में मिलेगी।

 

3. क्लासिक जीटीआई केबिन

बाहरी डिजायन की तरह इसका केबिन भी स्पोर्टी होगा, इस में स्पोर्ट सीटों के साथ क्लार्क टारटन पैटर्न वाली अपहोल्स्ट्री और जीटीआई का पहचान रहा लैदर वाला स्टीयरिंग व्हील, रेड स्टिचिंग के साथ आएगा। रूफ लाइन और रूफ पिलर्स पर ब्लैक फिनिशिंग मिलेगी। इस्ट्रूमेंट क्लस्टर और इंफोटेंमेंट सिस्टम दोनों बराबर में एक जैसी डिजायन में आएंगे, डैशबोर्ड के लिए 13 कलर का विकल्प मिलेगा।

जीटीआई का ऑल-ब्लैक केबिन ग्रे कलर वाले डैशबोर्ड के साथ काफी फबता है, इस में पोलो वाला ऑल-डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर भी आएगा, इसे मनमुताबिक कस्टमाइज किया जा सकता है, मौजूदा जीटीआई में यह फीचर नहीं दिया गया है।

 

4. थ्री-डोर में नहीं आएगी नई पोलो जीटीआई

फॉक्सवेगन ने पोलो और जीटीआई के थ्री-डोर वर्जन की कोई जानकारी नहीं दी है, इसका मतलब ये हुआ कि कंपनी इस में थ्री-डोर नहीं देगी। भारत में उपलब्ध मौजूदा पोलो जीटीआई थ्री-डोर में आती है, इसका मुकाबला नई फिएस्टा से है, फिएस्टा थ्री-डोर में उपलब्ध है।

 

5. भारत को लेकर स्थिति

छठवीं जनरेशन की पोलो को भारत में उतारा जाएगा या नहीं, इसके बारे में कंपनी ने अभी कोई जानकारी नहीं दी है, एमक्यूबी प्लेटफार्म पर बनने की वजह से इसकी कीमत मौजूदा मॉडल से काफी ज्यादा है, ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि कंपनी इस प्लेटफार्म का भारत आने वाली पोलो में इस्तेमाल नहीं करेगी। फॉक्सवेगन ने हाल ही में नए एएमपी प्लेटफार्म के लिए टाटा मोटर्स से करार किया है, उम्मीद है कि भारत आने वाली नई पोलो इस नए प्लेटफार्म पर बनी हो सकती है।

भारत में पोलो जीटीआई के नाम को जिंदा रखने के लिए कंपनी नई पोलो जीटीआई को भी यहां उतार सकती है। मौजूदा जीटीआई को भारत में इंपोर्ट करके बेचा जाता है, नई जीटीआई को भी इंपोर्ट करके बेचा जा सकता है।

यह भी पढें : मिलिये फॉक्सवेगन की नई पोलो हैचबैक से...

Published by

फॉक्सवेगन जीटीआई पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
  • Trending
  • Recent
×
आपका शहर कौन सा है?