• लॉगिन / रजिस्टर

विटारा ब्रेज़ा में ऐसा होता तो और अच्छा रहता !

संशोधित: अप्रैल 06, 2016 04:34 pm | saad | मारुति विटारा ब्रेज़ा 2016-2020

  • 10 व्यूज़
  • Write a कमेंट

कारों में दिए जाने वाले फीचर्स के मामले में ख्वाहिशों की कोई सीमा नही होती। कंपनियों के सामने कार की कीमत के मुकाबले दिए जाने लेटेस्ट और जरूरी फीचर्स में तालमेल बैठा पाना सबसे मुश्किल काम होता है। कुल मिलाकर यह कहना गलत नहीं होगा कि सही कीमत पर सर्वगुण संपन्न कार पेश करना किसी टेढ़ी खीर से कम नहीं है। मारूति की ताजा पेशकश विटारा ब्रेज़ा के मामले में भी कुछ ऐसा ही है। इसमें कोई शक नहीं कि बेहद आकर्षक दाम पर आई ब्रेज़ा में प्रतियोगी कारों के मुकाबले काफी अच्छे फीचर्स मिलते हैं लेकिन फिर भी कुछ बातें हैं जहां मारूति थोड़ा ध्यान देती तो यह बेहतर से ज्यादा एक बेजोड़ छोटी एसयूवी साबित होती।

यहां जानते हैं ऐसी ही कुछ चीजों के बारे में...

इंजन

मारूति वैसे तो पेट्रोल कारों पर सबसे ज्यादा दांव खेलती आई है और ब्रेज़ा के मामले में भी ऐसी कुछ उम्मीद थी। लेकिन कंपनी ने इसे सिर्फ डीज़ल इंजन में उतारा। ब्रेज़ा के एसयूवी होने की वजह से इसे अच्छा कदम कहा जा सकता है मगर 1.3 लीटर का डीडीआईएस इंजन इसे उतनी ताकत नहीं दे पाता, जिसकी इसे जरुरत है। यह इंजन 90 पीएस की पावर देता है वहीं ईकोस्पोर्ट में लगा 1.5 लीटर का टीडीसीआई डीज़ल इंजन 100 पीएस की पावर जनरेट करता है। ईकोस्पोर्ट के अलावा ब्रेज़ा की एक और प्रतियोगी टीयूवी-300, पेट्रोल और डीज़ल इंजन में मौजूद है। यह  तथ्य ब्रेज़ा की स्थिति को थोड़ा सा कमजोर बनाते हैं। ऐसे में मारूति अगर ब्रेज़ा को पेट्रोल इंजन में भी उतारती तो यह अच्छा कदम रहता।

ऑटोमैटिक मैनुअल ट्रांसमिशन (एएमटी वेरिएंट)

भारतीय बाजार में इन दिनों ऑटोमैटिक मैनुअल ट्रांसमिशन (एएमटी) की काफी मांग देखने को मिल रही है। शहरों के भीड़-भाड़ भरे ट्रैफिक की स्थिति में ऑटोमैटिक कारें बेहद आरामदायक साबित होती हैं। ईकोस्पोर्ट और टीयूवी-300 में ऑटोमैटिक और एएमटी का विकल्प मौजूद है लेकिन ब्रेज़ा में फिलहाल यह सुविधा नहीं दी गई है। अगर इसमें ऑटोमैटिक का विकल्प दिया जाता तो सेगमेंट में मुकाबले को देखते हुए यह अच्छा और प्रभावी कदम साबित होता। वो भी तब जब मारूति सेलेरियो, ऑल्टो के-10 और वैगन-आर में एएमटी की सुविधा दे रही है।

सीटिंग कैपेसिटी

विटारा ब्रेज़ा युवाओं या फिर मध्यम आकार के परिवार (4 से 5 लोग) के लिए अच्छी गाड़ी है। लेकिन बड़ी फैमिली के लिहाज़ से इसे बेहतर नहीं कहा जा सकता। आकर्षक डिजायन और अच्छी फीचर लिस्ट के साथ ही अगर इसमें 6 या 7 पैसेंजरों के बैठने की सुविधा दी जाती तो और बेहतर हो सकता था। इस मामले में महिन्द्रा की टीयूवी-300, केयूवी-100 और नूवोस्पोर्ट बाज़ी मार ले जाती हैं। लोग भी इन ज्यादा पैसेंजर क्षमता वाली छोटी कारों को काफी पसंद कर रहे हैं। मारूति चाहती तो इस मौके को भुनाया जा सकता था।

तो यह थीं वह कुछ बातें जहां मारूति ध्यान देकर विटारा ब्रेज़ा को बेहतर से ज्यादा एक बेजोड़ छोटी एसयूवी में बदल सकती थी। हालांकि कार को अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। लेकिन फिर भी कंपनी को चाहिये की इन मोर्चे पर ध्यान दे क्योंकि ब्रेज़ा में सिर्फ अपने सेगमेंट ही नहीं दूसरे सेगमेंट में भी सेंध लगाने की जबरदस्त क्षमताए हैं।

यह भी पढ़ें : टाटा टियागो का मुकाबला बीट, सेलेरियो और आई-10 से, जानिये कौन, किस पर पड़ेगी भारी

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

मारुति विटारा ब्रेज़ा 2016-2020 पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
×
आपका शहर कौन सा है?