मारुति ब्रेजा के कंपेरिजन में ग्रैंड विटारा की 4 बड़ी खूबियों और 4 कमियों के बारे में जानिए यहां

प्रकाशित: अगस्त 16, 2022 07:31 pm । भानुमारुति ग्रैंड विटारा

  • 5680 व्यूज़
  • Write a कमेंट

मारुति ने हाल ही में हमें हरियाणा के रोहतक में अपने रिसर्च और डेवलपमेंट सेंटर पर आमंत्रित किया। हम एक बेहद शानदार नाॅलेज शेयरिंग टूर की उम्मीद लेकर गए थे मगर किस्मत से हमें मारुति सुजुकी ग्रैंड विटारा को ड्राइव करने का भी मौका मिल गया। 

हालांकि हमनें इसे काफी कम ड्राइव किया और इसका पूरा रिव्यू तो हम आपके साथ अभी शेयर कर नहीं सकते। मगर इस टेस्ट राइड में हमनें कुछ बाते समझी कि आखिर क्यूं ये कार ब्रेजा से एक बेहतर कार साबित होगी और ये भी समझा कि ये ब्रेजा का ही कोई अपग्रेडेड वर्जन नहीं है। 

4 पाॅइन्ट्स जहां ग्रैंड विटारा में नजर आता है अपग्रेडेशन

रोड प्रजेंस 

इसमें कोई शक नहीं कि ब्रेजा के मुकाबले ग्रैंड विटारा एक बड़ी कार है जो इसके डिजाइन में नजर भी आता है। इसका रोड प्रजेंस भी काफी अच्छा है। इसके अलावा ब्रेजा के मुकाबले ग्रैंड विटारा का डिजाइन ग्लोबल मार्केट को भी आकर्षित करने का दम रखता है। 

केबिन एक्सपीरियंस

ग्रैंड विटारा की प्लास्टिक क्वालिटी काफी ज्यादा अच्छी है और इसका फिटमेंट लेवल भी बेहतर है। पूरे केबिन से लेकर डोर हैंडल्स के एक एक कोने तकं लैदरेट पैडिंग का काफी अच्छे से उपयोग किया गया है जो काफी प्रीमियम नजर आता है। 

यह भी पढ़ेंः क्या नई ग्रैंड विटारा के जरिए खुलेंगे मारुति की दूसरी कई प्रीमियम माॅडल्स के लिए रास्ते ? पढ़िए ये रिपोर्ट

स्पेस

ब्रेजा भी काफी स्पेशियस सब काॅम्पैक्ट एसयूवी है और इसमें कुछ और सुधार करने की थोड़ी सी जरूरत लगती है। दूसरी तरफ ग्रैंड विटारा में काफी अच्छा नीरूम स्पेस मिलता है और इसमें 4 पैसेंजर्स आराम से बैठ सकते हैं। यहां तक कि इसकी फ्रंट रो में 6 फुट तक का लंबे पैसेंजर को अच्छा खासा स्पेस मिल जाता है भले ही फिर वो हेडरूम स्पेस ही क्यों ना हो। 

इसके अलावा डैशबोर्ड और ड्राइवर के बीच इतनी दूरी रखी गई है कि उसकी लंबाई उसके कंफर्ट के आड़े ना आ सके। साथ ही इसकी सीटों पर एक अच्छी खासी कद काठी का व्यक्ति भी आराम से बैठ सकता है। 

हाइब्रिड फ्यूल एफिशिएंसी

ग्रैंड विटारा की दावाकृत फ्यूल एफिशिएंसी 28 किलोमीटर प्रति लीटर के करीब है और यही इस कार का सबसे बड़ा सेलिंग पाॅइनट साबित होने वाला है। ये मारुति की डीजल कारों की कमी को भी पूरा करेगा। सिटी में ग्रैंड विटारा को प्योर ईवी मोड पर भी ड्राइव किया जा सकेगा। 

अगर आप सिटी ड्राइविंग के हिसाब से कार खरीदना चाहते हैं तो ग्रैंड विटारा काफी अच्छा ऑप्शन साबित होने वाला है। हालांकि हमारे ट्रैक एक्सपीरियंस और पिछली बार हाइब्रिड कारों की टेस्ट राइड की बात करें तो आप इन्हें हाईवे पर केवल 80 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ही ड्राइव कर सकते हैं 

अब वो 4 कारण जिनसे नहीं आता इसमें नहीं महसूस होती अपग्रेडेशन वाली बात 

परफाॅर्मेंस

हम ग्रैंड विटारा के कई वर्जन का एक्सपीरियंस कर चुके है जिनमें पेट्रोल ऑटोमैटिक/मैनुअल और स्ट्राॅन्ग हाइब्रिड शामिल हैं। आपकी डेली ड्राइविंग की जरूरतों पर तो ये खरा उतरते हैं मगर इनमें आपको ब्रेजा जैसा पंच नजर नहीं आएगा। ग्रैंड विटारा के मुकाबले में मौजूद टर्बो पेट्रोल कारों के मुकाबले मारुति ने इसमें एक स्मूद और कंफर्टेबल ड्राइविंग एक्सपीरियंस देने वाला पावरट्रेन दिया है। 

इसका स्टीयरिंग,क्लच और मैनुअल गियर सब काफी लाइट हैं और इस एसयूवी की मैन्युवरिंग भी काफी अच्छी है। इसका 6 स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन काफी स्मूदली गियर बदलता है और इसमें पैडल शिफ्टर तक का फीचर दिया गया है। ब्रेजा में ऑटोमैटिक के मुकाबले आपको मैनुअल गियर को थोड़ा जल्दी अपशिफ्ट करना होता है। 

ग्रैंड विटारा के हाइब्रिड वर्जन में इको,नाॅर्मल और स्पोर्ट ड्राइव मोड्स और प्योर ईवी मोड बटन दिया गया है। ईवी मोड की वैसे तो कोई जरूरत नहीं पड़ती है क्योंकि बैट्री अच्छे से चार्ज होने पर हाइब्रिड सिस्टम सबसे पहले इलेक्ट्रिक ड्राइविंग को ही प्रयोरिटी पर रखता है। इसके गियर सलेक्टर पर ‘बी‘ मोड भी दिया गया है जो ब्रेक एनर्जी रीजनरेशन बढ़ाता है मगर इसमें एडजस्टेबल रीजनरेशन मोड्स नहीं दिए गए हैं। 

रियर सीट हेडरूम 

ब्रेजा में अच्छा खासा हेडरूम मिलता है। ग्रैंड विटारा में आपको फ्रंट सीट पर तो हेडरूम मिल जाएगा मगर रियर सीट पर किसी 6 फुट तक के लंबे पैसेंजर को इसकी कमी महसूस होगी। 

यह वीडियो देखेंः हाइब्रिड कारों की खूबियां और कमियां

इसकी एक वजह पैनोरमिक सनरूफ को माना जा सकता है और हम इसके नाॅन सनरूफ माॅडल में बैठकर ये देखेंगे कि हेडरूम स्पेस में कितना फर्क आ जाता है। 

यह भी पढ़ेंः भारत में इलेक्ट्रिक पावरट्रेन का विकल्प होंगे हाइब्रिड पावरट्रेन, इन्हें तैयार करने की रेस में जापानी ब्रांड्स सबसे आगे

एक्सटीरियर टच एंड फील

नई ग्रैंड विटारा में ब्रेजा और बलेनो जैसे लुक्स और फील वाली शीट मैटल/एक्सटीरियर ट्रिम का इस्तेमाल किया गया है। चूंकि ग्रैंड विटारा नेक्सा शोरूम्स के जरिए बेची जाएगी ऐसे में इसके डोर को बंद करने और खोलने पर ही आपको ये मालूम चल जाएगा हम किस चीज की बात कर रहे हैं। 

हालांकि मारुति की सभी न्यू जनरेशन कारों की बिल्ट क्वालिटी काफी अच्छी हो चुकी है ऐसे में एक एसयूवी के तौर पर आप ग्रैंड विटारा से कुछ ज्यादा ही उम्मीद करेंगे। 

यह भी पढ़ेंः टोयोटा हाइराइडर के एंट्री-लेवल स्ट्रॉन्ग-हाइब्रिड वेरिएंट की ऑन-रोड प्राइस 20 लाख रुपये से होगी कम

इंटीरियर स्विचगियर

ग्रैंड विटारा का इंटीरियर वैसे तो काफी प्रीमियम नजर आता है मगर कुछ पार्ट्स पर ये एक एवरेज कार नजर आती है। इसका स्टीयरिंग व्हील,स्टीयरिंग माउंटेड कंट्रोल्स,सीट हाइट एडजस्टमेंट लिवर्स,एसी वेंट्स,डैश टाॅप प्लास्टिक और कई चीजें ब्रेजा से ली गई है। हालांकि ये सभी कंट्रोल्स ब्रेजा में उतने प्रीमियम नजर नहीं आते जितना ग्रैंड विटारा में नजर आ रहे हैं। 

प्राइसिंग की बात करें तो ग्रैंड विटारा को इंजन साइज का एडवांटेज मिलेगा जो  ब्रेजा का डिस्एडवांटेज है। ब्रेजा में 1.5 लीटर के15सी पेट्रोल के तौर पर केवल एक ही इंजन का ऑप्शन दिया गया है जिससे इसे सब 4 मीटर टैक्स बेनिफिट नहीं मिलता है और ये अपने सेगमेंट की महंगी कार साबित हो रही है। हालांकि इससे मारुति को एक फायदा प्राइस गैप का जरूर मिलेगा और ये चीज कस्टमर्स को सेगमेंट में खुद को अपग्रेड कर एक बड़ी कार लेने के प्रति भी आकर्षित करेगी। बता दें कि सितंबर में ग्रैंड विटारा की प्राइस से पर्दा उठाया जाएगा। 

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

मारुति ग्रैंड विटारा पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

नई दिल्ली में *एक्स-शोरूम कीमत
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का

ट्रेंडिंगएसयूवी

  • लेटेस्ट
  • अपकमिंग
  • पॉपुलर
×
We need your सिटी to customize your experience