• लॉगिन / रजिस्टर

इन कार फ़ैल वीडियोज़ से सीखिए ड्राइविंग के दौरान लापरवाही हो सकती है कितनी भयंकर 

संशोधित: अप्रैल 07, 2020 12:51 pm | nikhil

  • 2418 व्यूज़
  • Write a कमेंट

लॉकडाउन के इस पीरियड में लोग अधिकांश लोग यूट्यूब वीडियोस देखने में अपना समय व्यतीत कर रहे हैं। अजीब है लेकिन इस दौरान अधिकतर ऑटो फील्ड में लोगो की पसंद 'कार फ़ैल' वीडियोस देखना हैं।इसमें कोई दोराह नहीं है कि दूसरों को उनकी मूर्खता के कारण अपनी कार से भिड़ते देखना कई बार मजाकिया लगता है, जब तक यह एहसास नहीं होता कि ऐसे लोग हमारे बीच खुलेआम घूम रहे हैं और उनका अगला शिकार संभवतः आप भी हो सकते हैं! तो क्या ऐसे सार्वजनिक खतरों पर रोक लगाने के लिए कुछ किया जा सकता है? इसमें से कुछ कम सतर्कता के कारण हैं, तो कुछ बस ड्राइविंग की बुरी आदतें हैं जिन्हें हमें छोड़ना चाहिए। यहां हमने ऐसी ही सबसे कॉमन 5 ड्राइविंग गलतियों के बारे में बताया हैं जो अक्सर लोग करते हैं और उनसे बचने के लिए आपको क्या करना चाहिए:

कार खाड़ी करते समय हैंडब्रेक का उपयोग करें और रोलिंग से बचें

आप शायद सोच रहे होंगे कि कार खड़ी करते समय आप हैंडब्रेक लगाना भूल जाएं ऐसा शायद आपके साथ कभी नहीं हो सकता। लेकिन ऐसा करने वालो कि संख्या काफी अधिक है। यह ऐसी एक चीज़ हैं जिसे अक्सर लोग भूल जातें हैं और इसके परिणाम कई बार बेहद खतरनाक भी हो सकते हैं। कार पार्क करते समय हमेशा हैंड ब्रेक लगाएं। इससे आपकी कार की सुरक्षा के साथ-साथ हाथों की कसरत भी हो जाएगी :P  

  • मैनुअल कार में ऐसा करने का सही तरीका है कि हैंड ब्रेक लीवर के आगे लागे बटन को दबाएं और फिर लीवर को ऊपर उठाएं। 

  • ऑटोमैटिक गियरबॉक्स वाली कार में पहले अपनी कार को न्यूट्रल या पार्क मोड में डालें और ऊपर वाला पॉइंट दोहराएं। न्यूट्रल का उपयोग तब करें जब आप सिग्नल खड़ें हो और पार्क मोड का तब जब आप कार से उतर रहें हो। 

तेज़ी से ना भगाएं

कल्पना कीजिए कि आप शहर के एक व्यस्त हिस्से से गुजर रहे हैं, जहां सड़क के दोनों ओर कारें खाड़ी या चल रही हैं। अचानक, आप देखते हैं कि आगे सड़क का एक हिस्सा खाली है। ऐसे में आपको स्पीड बढ़ाने का मन करता हैं लेकिन इस चीज़ से बचिए! क्योंकि हो सकता हैं कि कोई अपनी लेन से निकल रहा हो या ट्रैफिक आपकी लेन में शिफ्ट हो रहा हो या आगे कोई चौराहा हो या सबसे खतरनाक, आगे कोई कार्नर हो। ऐसे में स्थति आपके कण्ट्रोल से बाहर जा सकती हैं। ऐसे में ड्राइव करते समय अपना धैर्य ना खोएं और अपनी लेन में ही ट्रैफिक नियमों का पालन करते हुए ही ड्राइव करें। ओवरस्पीडिंग या जोश में आने से बचें। स्पीड लिमिट का ख़ास तौर पर ध्यान रखें ताकि आप विषम परिस्थिति होने पर भी अपनी गाड़ी को कण्ट्रोल कर पाएंगे। 

फ़ोन का ना करें इस्तमाल 

हम बेहद अच्छे से जानते हैं कि मोबाइल फ़ोन अब रोटी, कपड़ा और मकान के बाद लोगो की अगली प्राथमिकता बन गयी है। आजकल लोगो की दुनिया फ़ोन की स्क्रीन में ही समाई हुई है। लेकिन ड्राइविंग के दौरान ऐसा करना बेहद ही घातक साबित हो सकता है। नीचे दिए गए वीडियो में आप देख सकते हैं कि कैसे लोग ड्राइविंग के दौरान फ़ोन का इस्तमाल करने से कार पर से अपना कण्ट्रोल खो देते हैं और परिणाम आपके सामने हैं। 

डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट के अनुसार, जो चालक ड्राइविंग के दौरान अपने स्मार्टफोन का उपयोग करते हैं, उनके दुर्घटना होने की संभावना चार गुना अधिक होती है। इसके अलावा, यह एक दंडनीय अपराध भी है। भारत में इसके लिए आपको 5,000 रुपये का जुर्माना देना होगा। लेकिन आपकी जान से बड़ी कीमत क्या हो सकती हैं?  

जब कार का स्टीयरिंग व्हील आपके हाथ में हो तब आपके लिए इससे ज्यादा जरुरी कोई और चीज़ नहीं होनी चाहिए। और आपकी ऑंखें सदैव रास्ते पर होनी चाहिए। इसलिए बेहतर होगा आप ड्राइविंग के दौरान मोबाइल को अपने से दूर और साइलेंट ही रखें। 

अचानक लेन चेंज ना करें

हाईवे पर ड्राइविंग के दौरान आपने देखा होगा कि कैसे लोग अचानक से अपनी लेन बदल देते हैं। यहां तक की कई लोग शहरों में भी ऐसा करते हैं। यह कदम बेहद खतरनाक हैं और जरुरी नहीं कि हर बार आपका भाग्य आपका साथ दें। 

अचानक से लेन चेंज करना और वो भी बिना इंडिकेटर के सिटी स्पीड और शायद आपकी कार के केवल फेंडर और बम्पर को ही नुकसान पहुँचाये लेकिन हाईवे पर यह आपको बड़े जोखिम में डाल सकता हैं। और एक पॉइंट जो मैं यहां विशेष रूप से कहना चाहूंगा कि कई ऐसे लोग हैं जो ड्राइविंग के दौरान अपने आउट-साइड मिरर बंद रखते हैं। कृपया ऐसा ना करें। हमेशा लेन बदलते समय तीनों रियर व्यू मिरर में देखे लें और सुनिश्चित कर लें कि कोई वाहन आपके आस-पास या पीछे तो नहीं। फिर इंडिकेटर देते हुए सावधानी से अपनी लेन बदलें। इंटरसेक्शन या टनल वाले रास्तों में लेन चेंज ना करें। 

रेलवे क्रासिंग को हलके में ना लें

शायद इस बात का स्पष्टीकरण भी हमें देने की जरूरत नहीं हैं कि ऐसा क्यों। ट्रेनों को रुकने में कार की तुलना में ज्यादा समय लगता है ऐसे में आपके द्वारा रेलवे क्रासिंग को मज़ाक में लेने पर कुछ ऐसा हो सकता हैं जिसकी आपने कभी कल्पना भी ना की हो। 

देश के कई हिस्सों में आज भी ऐसी रेलवे क्रासिंग हैं जहां कोई फाटक नहीं हैं। या फाटक हो भी तब भी कई बार लोग इसके नीचे से निकलने या फाटक बंद होते समय जट से इसे पार करने की कोशिश भी करते हैं। ऐसा ना करें। हमेशा क्रासिंग पर लगें ट्रैफिक सिग्नल पर ध्यान दें। जब आपको सिग्नल ग्रीन मिलें तब ही फाटक क्रॉस करें। 

 

साथ ही पढ़ें: लॉकडाउन में अपनी कार को ऐसे रखें सुरक्षित, लंबे समय तक नहीं होगी कोई परेशानी

द्वारा प्रकाशित

Write your कमेंट

Read Full News
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का
×
आपका शहर कौन सा है?