• लॉगिन / रजिस्टर

2020 हुंडई क्रेटा Vs किया सेल्टोस: कंपेरिजन रिव्यू

Published On जून 26, 2020 By भानु for हुंडई क्रेटा

कागजों में किया सेल्टोस और 2020 हुंडई क्रेटा को एक जैसी एसयूवी कहा जा सकता है लेकिन असल में ये एक दूसरे से काफी अलग हैं। एक ही जैसे चेसिस पर तैयार और समान इंजन ऑप्शन वाली इन दोनों कारों में केवल यही समानता है। हमने इन दोनों कारों का हर मोर्चे पर कंपेरिजन किया है जिससे आप को यह तय करने में आसानी होगी कि आपके और आपकी फैमिली की जरूरत के हिसाब से इन दोनों एसयूवी में से कौनसी कार ज्यादा बेहतर रहेगी।

दोनों के लुक्स में कितना है अंतर?

दोनों कारें एक ही प्लेटफॉर्म पर बेस्ड हैं, मगर इनमें इस्तेमाल किए गए बॉडी पैनल काफी अलग हैं। यहां तक कि इन दोनों एसयूवी के मिरर और डोर हैंडल तक एक दूसरे से अलग हैं। क्रेटा के नए 2020 मॉडल की बात करें तो इसका डिजाइन उतना शानदार नहीं है मगर हां, इसमें दूसरों का ध्यान अपनी ओर खींचने वाली बात जरूर है। इसके फ्रंट में बड़ी सी ग्रिल दी गई है जिसके चारों ओर ज्यादा चमकदार क्रोम​ स्ट्रिप का इस्तेमाल किया गया है। इसमें आइसक्यूब जैसी स्टाइलिश थ्री एलिमेंट एलईडी हेडलैंप दिए गए हैं जिनके ऊपर एलईडी डेटाइम रनिंग लैंप का फीचर मौजूद है। टर्न इंडिकेटर्स को फॉगलैंप केसिंग में पोजिशन किया गया है। मगर, किया सेल्टोस के विपरीत इसमें एलईडी फॉगलैंप के बजाए हेलोजन यूनिट्स का इस्तेमाल किया गया है। नई क्रेटा के पिछले हिस्से की बात करें तो यहां दमदार बूटलिड दिया गया हैं, वहीं इसके एलईडी टेललैंप का लुक काफी मॉडर्न है। साइड प्रोफाइल की बात करें तो जहां फ्लेयर्ड व्हील आर्क से इसे दमदार लुक मिलता है तो वहीं स्लोपिंग रूफलाइन के कारण ये काफी स्टाइलिश नजर आती है और बॉक्सी शेप के कारण इसका स्टांस एक परफैक्ट एसयूवी जैसा नजर आता है। 

बात की जाए सेल्टोस की तो इसका लुक काफी क्लासी और सिंपल है। इसके फ्रंट में किया मोटर्स की आकर्षक 'टाइगर ​ग्रिल' दी गई है और इसके पतले एलईडी हेडलैंप्स भी काफी स्टाइलिश लगते हैं। इसके स्पोर्टी लुक वाले फ्रंट बंपर पर मॉर्डन लुकिंग एलईडी फॉगलैंप्स दिए गए हैं। सेल्टोस के पिछले हिस्से की बात करें तो स्पोर्टी बंपर, स्टाइलिश एलईडी टेललैंप्स और बूट लिड पर मोटी क्रोम स्ट्रिप होने के चलते सिंपल लुक्स होने के बावजूद भी ये यहां से काफी आकर्षक लगती है। यहां तक कि उभरे हुए व्हील आर्क और शार्पली कट अलॉय व्हील्स के चलते सेल्टोस काफी स्पोर्टी लगती है। इसके एक्सटीरियर की फिनिशिंग क्रेटा से ज्यादा अच्छी है।

साइज

हुंडई क्रेटा 2020

किया सेल्टोस

अंतर

लंबाई

4300मिलीमीटर

4315मिलीमीटर

15मिलीमीटर (सेल्टोस ज्यादा लंबी)

चौड़ाई

1790मिलीमीटर

1800मिलीमीटर

10मिलीमीटर (सेल्टोस ज्यादा चौड़ी)

ऊंचाई (रूफ रेल्स समेत)

1635मिलीमीटर

1645मिलीमीटर

10मिलीमीटर (सेल्टोस ज्यादा उंची)

व्हीलबेस

2610मिलीमीटर

2610मिलीमीटर

-

दोनों के इंटीरियर में कितना है अंतर?

Hyundai Creta cabin (turbo-petrol variant)

क्रेटा 2020 के कंपेरिजन में अंदर से ​भी किया सेल्टोस ज्यादा अच्छी लगती है। सेल्टोस के डैशबोर्ड का डिजाइन यूरोपियन कारों की तरह हाईटेक लगता है। वहीं इसके इंटीरियर डिजाइनिंग एलिमेंट्स किसी ना किसी लग्जरी कार से प्रभावित लगते हैं। उदाहरण के तौर पर इसमें इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर और 10.25 इंच के इंफोटेनमेंट सिस्टम को जिस अपर रेक्टेंग्यूलर सेक्शन में पोजिशन किया गया है वो मर्सिडीज बेंज ई-क्लास से प्रभावित लगता है। वहीं, एयरकॉन वेंट और ऑटो क्लाइमेट कंट्रोल एरिया ऑडी कारों की याद दिलाता है। मगर इन सबको देखें तो इनसे ही इस कार का इंटीरियर काफी शानदार नजर आता है। दूसरी तरफ, इस मोर्चे पर क्रेटा काफी सिंपल नजर आती है। इसमें एक सिंपल सेंटर कंसोल​ दिया गया है और कंट्रोल्स बटन को इस तरह से पोजिशन किया गया है कि वो आसानी से आपकी पहुंच में आ जाते हैं। क्रेटा का डैशबोर्ड काफी नीचा है जिससे अच्छी फ्रंट विजिबिलिटी मिलती है और केबिन में खुलेपन का अहसास होता है। 

दोनों कारों में समान 10.25 इंच की इंफोटेनमेंट स्क्रीन दी गई है। इसके हॉरिजॉन्टल स्क्रीन लेआउट और बड़े आयकन्स के के कारण टचस्क्रीन को गाड़ी चलाते समय आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है। दोनों कारों में स्क्रीन को काफी ऊपर पोजिशन किया गया है, मगर स्क्रीन बेजल से मैचिंग वाली ग्लॉस ब्लैक कलर की फिनिशिंग से सेल्टोस की डिस्प्ले ज्यादा बड़ी दिखाई पड़ती है। हालांकि, क्रेटा में फिजिकल बटन भी दिए गए हैं जिससे मैन्यू को स्क्रॉल किया जा सकता है और ये काम ड्राइविंग के दौरान आसानी से किया जा सकता है। 

एक्सटीरियर की ही तरह सेल्टोस के इंटीरियर की भी मैटेरियल क्वालिटी काफी अच्छी है। इसमें स्टीयरिंग व्हील, गियर लिवर और लैदर से कवर किए गए आर्मरेस्ट जैसे टचपॉइन्ट्स आलीशान लगते हैं। इसका मतलब ये बिल्कुल भी नहीं है कि क्रेटा इस मोर्चे में कमतर है। हालांकि, इसमें अब भी कुछ छोटी-मोटी कमियां रह गई हैं। उदाहरण के तौर पर डैशबोर्ड के टॉप पर स्पीकर ग्रिल को बेहतर फिनिशिंग दी जा सकती थी और यहां तक कि क्लाइमेट कंट्रोल और गियर सिलेक्टर के चारों ओर प्लास्टिक का इस्तेमाल काफी हल्का लगता है। दोनों कारों के 1.4 लीटर टर्बो पेट्रोल वेरिएंट में कॉन्ट्रास्ट कलर वाली रेड स्टिचंग के साथ ऑल ब्लैक केबिन इंटीरियर थीम दी गई है जिससे इनके केबिन का लुक ज्यादा स्पोर्टी हो जाता है। दोनों कारों में एंबिएंट लाइटिंग का फीचर मौजूद है, मगर सेल्टोस में आपको ज्यादा कलर ऑप्शंस मिलते हैं। 

केबिन स्पेस

Hyundai Creta front seats (turbo-petrol variant)
Hyundai Creta rear seats (turbo-petrol variant)

केबिन स्पेस की बात करें तो दोनों कारों की आगे और पीछे वाली रो में समान नीरूम और शोल्डर रूम स्पेस मिलता है। मगर सेल्टोस में टेलिस्कोपिक स्टीयरिंग होने की वजह से एक अच्छी ड्राइविंग पोजिशन पर आने में मदद मिलती है। दूसरी तरफ क्रेटा में टिल्ट एडजस्टेबल स्टीयरिंग दिया गया है जिनका डिजाइन कुछ खास नहीं है। ये कार को पूरी तरह टर्न करते वक्त आपके हाथों से टकराने लगता है। यहां तक कि क्रेटा के इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर का लेआउट भी उतना अच्छा नहीं है। इसमें ज्यादा बड़े हाई रेज्योलूशन टीएफटी स्क्रीन दी गई है जिनमें स्पीडोमीटर और ट्रिप कंप्यूटर का फीचर भी मौजूद है। इसके स्क्रीन की क्वालिटी तो काफी अच्छी है, मगर इसमें टैकोमीटर के लिए एनालॉग डायल और फ्यूल व टेंपरेचर गेज काफी छोटे दिए गए हैं जिससे उन्हें पढ़ पाना आसान नहीं होता है। 

सीटिंग कंफर्ट की बात करें तो सेल्टोस की सीटें वैसे तो काफी कंफर्टेबल हैं, मगर थोड़ी हार्ड कुशनिंग होने के कारण लंबी यात्राओं के दौरान इनपर ज्यादा देर टिककर नहीं बैठा जा सकता है। क्रेटा की सीटें इससे ज्यादा कंफर्टेबल है। यहां तक कि इसकी रियर सीट्स पर भी काफी देर तक कंफर्टेबल होकर बैठा जा सकता है। हुंडई ने इसकी बैक सीट्स के बेस के पिछले पोर्शन को ज्यादा घुमावदार बना दिया है जिससे इसमें अच्छा खासा हेडरूम और अंडरथाई सपोर्ट मिलता है। बड़ी पैनोरमिक सनरूफ होने के कारण नई क्रेटा के केबिन में एक खुलेपन का अहसास भी होता है। इन दोनों कारों में पिछली सीटों पर रियर एसी वेंट्स, एक यूएसबी पोर्ट, रियर विंडो सनब्लाइंड्स और एडजस्टेबल बैकरेस्ट का फीचर दिया है। हालांकि, नई क्रेटा में पिछले सीट पर बीच में बैठने वाले पैसेंजर के लिए एडजस्टेबल हैडरेस्ट का फीचर नहीं दिया है। 

दोनों कारों में समान रूप से स्टोरेज स्पेस दिए हैं, मगर हुंडई क्रेटा में ये चीज़ थोड़ी अच्छी है। क्रेटा में गियर लिवर के पास काफी बड़ा स्टोरेज स्पेस दिया गया है और इसका ग्लवबॉक्स सेल्टोस के कंपेरिजन में काफी गहरा और चौड़ा है। दोनों कारों में डोर पॉकेट्स का साइज भी समान है, मगर क्रेटा में इसका लेआउट कुछ ऐसा रखा गया है कि ड्राइविंग के दौरान सामान इधर से उधर नहीं हिलता है।  

दोनों कारों के बूट का शेप एक जैसा होने के साथ साथ इनकी लोडिंग कैपेसिटी भी 433 लीटर है। इन दोनों कारों में पीछे की तरफ 60:40 के अनुपात में बंटी फोल्डेबल सीटें दी गई हैं जिन्हें फोल्ड कर और भी ज्यादा बूट स्पेस तैयार किया जा सकता है। 

सेफ्टी एंड फीचर्स 

इन दोनों कारों के कॉमन फीचर्स पर नजर डालें तो दोनों में 8 तरीकों से एडजस्ट हो सकने वाली पावर्ड ड्राइवर सीट, कूल्ड फ्रंट सीट, पुश बटन इंजन स्टार्ट स्टॉप, इंजन ड्राइव मोड्स, ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल, एपल कारप्ले और एंड्रॉयड  ऑटो कनेक्टिविटी से लैस 10.25 इंच इंफोटेनमेंट सिस्टम, कनेक्टेड कार टेक्नोलॉजी, लैदर अपहोल्स्ट्री, वायरलैस चार्जिंग पैड, टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, ईएसपी और 6 एयरबैग जैसे फीचर्स दिए गए हैं। इन दोनों एसयूवी में बोस का प्रीमियम साउंड सिस्टम ​भी दिया गया है मगर, क्रेटा में इसकी आवाज की क्वालिटी काफी बेहतर आती है क्योंकि इसमें अच्छे बेस साउंड के लिए अलग से सबवूफर भी दिया गया है। 

यूनीक फीचर्स के तौर पर सेल्टोस में हेडअप डिस्प्ले, टेलीस्कोपिक स्टीयरिंग व्हील और साउंड मूड लाइटिंग का फीचर दिया गया है। इसके अलावा इसमें 360 डिग्री कैमरा, ब्लाइंड व्यू मॉनिटर, फ्रंट पार्किंग सेंसर और मिडिल पैसेंजर के लिए एडजस्टेबल हेडरेस्ट जैसे हाईटेक फीचर्स दिए गए हैं। 

दूसरी तरफ क्रेटा में ऑटोमैटिक वेरिएंट्स के लिए पैडल शिफ्टर्स, इलेक्ट्रॉनिक पार्किंग ब्रेक और बड़ी पैनोरमिक सनरूफ दी गई है। 

यह भी पढ़ें : किया सेल्टोस फर्स्ट ड्राइव रिव्यू

इंजन एवं परफॉर्मेंस 

2020 हुंडई क्रेटा और किया सेल्टोस दोनों एसयूवी में 1.4 टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन दिया गया है। जहां सेल्टोस में इस इंजन के साथ मैनुअल गियरबॉक्स का ऑप्शन रखा गया है तो वहीं क्रेटा में केवल 7 स्पीड डीसीटी गियरबॉक्स का ऑप्शन रखा गया है। दोनों के इंजन का आउटपुट फिगर भी समान 140 पीएम और 242 एनएम है। ऐसे में एक जैसा इंजन होने के बावजूद दोनों का ड्राइविंग एक्सपीरियंस भी है एक जैसा,ये जानेंगे आगे:

जैसे ही आप क्रेटा को ड्राइव करना शुरू करेंगे तो आपको ये महसूस होने लगेगा कि सेल्टोस के कंपेरिजन में इसका इंजन काफी स्मूद और शांत है। सेल्टोस में ड्यूल क्लच गियरबॉक्स को इंस्टेंट पावर देने के हिसाब से ट्यून किया गया है तो वहीं क्रेटा के गियरबॉक्स इसके आगे थोड़ा फीका साबित होता है मगर ये काफी तेज है। नतीजतन धीमे ट्रैफिक में क्रेटा चलाने में आसान गाड़ी है। वहीं ईको मोड में सेल्टोस में थोड़ा जर्क महसूस होता है। हालांकि इस मामले में क्रेटा भी कुछ ज्यादा परफैक्ट एसयूवी नहीं है क्योंकि टॉर्क कन्वर्टर या सीवीटी के मुकाबले इसका डीसीटी गियरबॉक्स उतना स्मूद नहीं लगता है। 

हाईवे पर इन दोनों कारों की ड्राइवेबिलिटी लगभग एक जैसी है। यदि आप जल्दी से ओवरटेक करना चाहें तो आपको ड्यूल क्लच गियरबॉक्स से काफी मदद मिलती है, वहीं इंजन से पंच मिलने में भी कोई कमी महसूस नहीं होती है। हमारे एक्सलरेशन टेस्ट में इन दोनों कारों को 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार हासिल करने में 9.4 सेकंड का समय लगा। 

स्मूद इंजन के साथ-साथ क्रेटा में नॉइस इंसुलेशन भी काफी अच्छा है। इसमें इंजन की आवाज कम आने के साथ-साथ आपको सड़क और हवा लगने से आने वाली आवाज भी ज्यादा नहीं आती है। 

 

हुंडई क्रेटा 2020

किया सेल्टोस

इंजन

1.4-लीटर टर्बो

1.4-लीटर टर्बो

गियरबॉक्स

7-स्पीड डीसीटी 

7-स्पीड डीसीटी 

पावर/टॉर्क

140पीएस/242एनएम

140पीएस/242एनएम

एक्सलरेशन (0-100किमी/घंटा)

9.41सेकंड्स

9.51सेकंड्स

20-80किमी/घंटा 

5.55सेकंड्स

5.47

ब्रेकिंग (100-0किमी/घंटा)

40.12मीटर

40.93मीटर

राइड और हैंडलिंग 

जब बात राइड क्वालिटी की आती है तो यहां ​सेल्टोस के मुकाबले क्रेटा ज्यादा कंफर्टेबल है। जहां सेल्टोस में छोटे से छोटा गड्ढा आ जाने पर भी सस्पेंशन से थोड़ी आवाज आने लगती है तो वहीं क्रेटा इन सबसे आराम से निकलते हुए गुजर जाती है। क्रेटा के सस्पेंशन काफी अच्छे हैं और इसमें एक आरामदायक सफर का अहसास होता है। यहां तक कि हाईवे पर भी सेल्टोस के मुकाबले क्रेटा 2020 में राइड एकदम सैटल्ड सी लगती है। कुल मिलाकर कंफर्टेबल सीट्स, शांत केबिन और खुले खुले इंटीरियर के चलते दोनों कारों में से नई क्रेटा में सफर करना ज्यादा आरामदायक है। 

निष्कर्ष

जब हमने सेल्टोस को पहली बार ड्राइव किया था तो हमें इसके हर चीज में सक्षम होने की खूबियों ने काफी प्रभावित किया था। यह अंदर और बाहर से काफी शानदार लगती है। इसकी बिल्ड क्वालिटी भी काफी अच्छी है और ये एक फीचर लोडेड कार है। हालांकि इसकी राइड क्वालिटी हमें उतना नहीं लुभा पाई जितना कि अब नई क्रेटा ने इस मोर्चे पर हमें एक अच्छा अनुभव दिया है। 

भले ही क्रेटा का लुक हर किसी को पसंद ना आए, मगर इसका ड्राइव एक्सपीरियंस आपको ये सब बातें भुलवा देगा। इसमें ज्यादा कंफर्टेबल सीटें, ज्यादा स्मूद गियरबॉक्स, अच्छी राइड क्वालिटी, शांत केबिन और पैनोरमिक सनरूफ जैसे फीचर्स का होना ये बता देगा कि इस कार को क्यूं ना खरीदा जाए। 

कुल मिलाकर आपको ये दोनों कारें ही निराश नहीं करेगी, मगर आप अपनी फैमिली के हिसाब से इन दोनों में से कोई एक एसयूवी चुनना चाहते हैं तो हमारी राय में आपको 2020 हुंडई क्रेटा लेनी चाहिए।

यह भी पढ़ें : 2020 हुंडई क्रेटा: फर्स्ट ड्राइव रिव्यू

नई एसयूवी कारें

अपकमिंग कारें

पॉपुलर एसयूवी कारें

*Estimated Price New Delhi
×
आपका शहर कौन सा है?