• लॉगिन / रजिस्टर

महिंद्रा थार 2020 फर्स्ट लुक रिव्यू

Published On अगस्त 21, 2020 By भानु for महिंद्रा थार

एक्सटीरियर

किसी को बिना नाराज़ किए एक पुराने डिजाइन को अपडेट करना काफी मुश्किल होता है, मगर महिंद्रा ने ये काम एकदम सही ढंग से करके दिखाया है। इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि नई थार का लुक रैंगलर 2 डोर जैसा लगता है। नई थार ना केवल पहले से कई ज्यादा मॉडर्न लुक वाली एसयूवी बन गई है बल्कि इसका रोड प्रजेंस भी पहले से काफी बेहतर हो गया है। 

मुंबई की सड़कों पर जब हम नई थार को लेकर निकले तो हमें रास्ते में एक भी ऐसा शख्स नहीं मिला जिसने इस एसयूवी को पलट कर देखा ना हो। इसका हर पैनल काफी मोटा कर दिया गया है, वहीं 18 इंच के नए व्हील काफी अच्छे ढंग से डिजाइन किए गए हैं और इसकी लंबाई (+65मिलीमीटर), चौड़ाई (+129मिलीमीटर) और व्हीलबेस (+20मिलीमीटर) बढ़ गया है। हालांकि इसकी ऊंचाई अब कम हो गई है, भले ही आप हार्ड टॉप या कन्वर्टिबल सॉफ्ट टॉप ही क्यों ना लें।  

Mahindra Thar 2020

एक नए जमाने की एसयूवी होने के साथ-साथ थार 2020 में कुछ पुराने या यूं कहें तो विंटेज एलिमेंट्स भी मौजूद हैं। इसमें हटाए जा सकने वाले दरवाज़ों के लिए डोर हिंजेस, हुड पर बोनट क्लैंप्स, स्क्वायर शेप के टेललैंप्स और टेलगेट माउंटेड स्पेयर व्हील जैसे फीचर्स दिए गए हैं। 

इसकी फ्रंट ग्रिल रेट्रो स्टाइलिंग लिए हुए है जिससे इसका फ्रंट काफी हद तक महिंद्रा ​की अर्माडा ग्रांड की याद दिलाता है। इसमें फेंडर पर एलईडी डेटाइम रनिंग लैंप का फीचर दिया गया है, मगर हेडलाइट्स और फॉगलैंप्स में हेलोजन बल्ब का इस्तेमाल किया गया है। 

नई थार की फ्रंट विंडशील्ड पर दो ऊंट के प्रतीक चिन्ह दिए गए हैं तो वहीं रियर विंडशील्ड पर पेड़ की शाख का प्रतीक चिन्ह दिया गया है। इसके अलावा फ्रंट बंपर, फ्रंट फेंडर, व्हील, मिरर और टेललैंप्स पर 'थार' की ब्रांडिंग की गई है। यदि आप महिंद्रा सैंगयॉन्ग की रेक्सटन को देखेंगे तो ये बात समझ आ जाएगी कि महिंद्रा को बैजिंग से इतना प्यार क्यों है। 

Mahindra Thar 2020

नई थार में फिक्स्ड सॉफ्ट टॉप, कनवर्टिबल और हार्ड टॉप तीन प्रकार की फैक्ट्री फिटेड रूफ दी गई है। इसके न्यू जनरेशन मॉडल में कनवर्टिबल सॉफ्ट टॉप और हार्ड टॉप ऑप्शन पहली बार दिए गए हैं। सबसे अच्छी बात ये है कि सभी रूफ फैक्ट्री फिटेड है। महिंद्रा थार जीप माॅडल में फिक्स्ड सॉफ्ट टॉप का ऑप्शन केवल एंट्री लेवल वेरिएंट में ही मिलेगा। वहीं, कनवर्टिबल और हार्ड टॉप ऑप्शंस एएक्स (ऑप्शनल) और एलएक्स वेरिएंट में दिए जाएंगे। नई थार में 6 कलर रेड रेज, मिस्टिक कॉपर, गैलेक्सी ग्रे, एक्वामरीन, रॉकी बैज और नपोली ब्लैक का ऑप्शन मिलेगा। आश्चर्य की बात ये है कि इसमें व्हाइट कलर का ऑप्शन नहीं रखा गया है। 

इंटीरियर

नई थार में जो सबसे बड़ा और अच्छा बदलाव हुआ है वो इसका इंटीरियर पार्ट है। पहले वाली थार केवल ऑफ रोडिंग के शौकीनों को ही पसंद आया करती थी, जिसे एक फैमिली कार तो बिल्कुल नहीं माना जाता था। पुरानी थार में फीचर्स के नाम पर केवल बेसिक सा इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर और एसी ही दिया गया था जो कि किसी बजट हैचबैक में भी मिल जाते हैं। 

अब नई थार के केबिन में प्रवेश करते ही आपको एक अलग सा अनुभव होगा। इसमें ब्रांड न्यू डैशबोर्ड दिया गया है जो दिखने में काफी शानदार लगता है। क्लासिक ऑफ रोड एसयूवी की तरह इसके डैशबोर्ड को काफी फ्लैट रखा गया है, जिससे आप विंडशील्ड को अपने नजदीक पाते हैं। इसके डैशबोर्ड को आईपी54 वॉटरप्रूफ रेटिंग दी गई है। हालांकि, इस रेटिंग के हिसाब से इसे पावर वॉश के बजाए किसी कपड़े से ही साफ किया जाए तो ज्यादा बेहतर है। 

इसमें इस्तेमाल किए गए प्लास्टिक की क्वालिटी काफी मोटी और अच्छी महसूस होती है, क्योंकि इसमें एक से ज्यादा टैक्सचर्स का इस्तेमाल नहीं हुआ है। हमें इसकी फ्रंट पैसेंजर साइड पर दिए गए सीरियल नंबर और थार की ब्रांडिंग काफी पसंद आई। 

इसके इंटीरियर में प्रैक्टिकैलिटी भी नजर आती है जहां गियर लिवर के आगे बड़ा सा स्टोरेज स्पेस दिया गया है और उसमें दो यूएसबी पोर्ट, एक ऑक्स पोर्ट और 12 वोल्ट का सॉकेट दिया गया है। इसके अलावा फ्रंट पैसेंजर और ड्राइवर सीट के बीच में दो कप होल्डर्स भी दिए गए हैं। 

इसके अलावा कंपनी ने थार के मौजूदा मॉडल में छोड़ी गई कमियों को न्यू जनरेशन मॉडल में पूरा कर दिया है। उदाहरण के तौर पर इसमें दी गई सीटबेल्ट को लंबे कद का पैसेंजर भी आराम से बांध सकता है। स्टीयरिंग और पैडल के बीच अब मिसअलाइनमेंट नहीं होता है, वहीं एयर कॉन, इंफोटेनमेंट सिस्टम और ट्रांसफर लिवर केस तक पहुंच भी आसान हो गई है। 

हालांकि नई महिंद्रा थार में कुछ कमियां भी मौजूद है। जैसे कि इसके फुटवेल एरिया में बायां पैर रखने के लिए जगह की कमी पड़ती है। यहां तक कि इसके ऑटोमैटिक वेरिएंट्स में डैड पैडल और फुटवैल एरिया में सेंट्रल पैनल नहीं दिया गया है। इससे लंबे और छोटे कद के ड्राइवरों को काफी परेशानी होती है। 

नई थार में लंबे कद के ड्राइवरों को अच्छा हेडरूम और नीरूम स्पेस मिलता है। नई थार मे पहले की तरह​ साइड फेसिंग रियर सीट्स कॉन्फिग्रेशन में उपलब्ध होने के साथ फ्रंट फेसिंग सीटों के साथ 4-सीटर कॉन्फिग्रेशन में भी उपलब्ध होगी। इसमें रियर सीटों पर बैठने के लिए फ्रंट सीट बैकरेस्ट पर रिलीज बटन दिया गया है जिसे दबाते ही फ्रंट सीट आगे हो जाती है। इसके बाद बनने वाले गैप में जो कि बहुत चौड़ा है उसमें से एक औसत साइज का व्यक्ति थोड़ा कमर झुककर रियर सीटों पर जा सकता है। 

4 पैसेंजर के लिए तो ये कार अच्छी है। अच्छे हेडरूम और शोल्डर रूम मिलने के कारण यहां 6 फुट तक के चार लंबे व्यक्ति कंफर्टेबल होकर बैठ सकते हैं। हालांकि इसमें फ्रंट सीटों पर फुटवेल एरिया में जगह की कमी पड़ती ​है जिससे सीटिंग पोजिशन अच्छी नहीं मिल पाती है। इसके हार्डटॉप मॉडल में भी रियर विंडो पूरी तरह से नहीं खुलती है। रियर सीट पर बैठने वालों के लिए बड़े एडजस्टेबल हेडरेस्ट और रोल पर केज पर लगी 3-पॉइन्ट सीटबेल्ट का फीचर दिया गया है। इसके अलावा इसकी रियर सीट्स फोल्डेबल भी है। 

टेक्नोलॉजी

नई थार में अब पहले से कई ज्यादा फीचर्स दे दिए गए हैं। इनमें फ्रंट पावर विंडो, इलेक्ट्रिक एडजस्टेबल मिरर, टिल्ट स्टीयरिंग, हाइट एडजस्टेबल ड्राइवर सीट, स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो फोन कंट्रोल्स और क्रूज़ कंट्रोल जैसे फीचर्स शामिल है। 

इसके अलावा इसमें रिमोट की-लैस एंट्री, कलरफुल मल्टी इंफॉर्मेशन डिस्प्ले, एंड्रॉयड ऑटो, एपल कारप्ले और नेविगेशन से लैस नया 7 इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम जैसे फीचर्स भी दिए गए हैं। इसके टचस्क्रीन इंफोटेमेंट सिस्टम पर ड्राइविंग से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे रोल एवं पिच एंगल्स, कंपास, टायर पोजिशन, जी मॉनिटर आदि देखी जा सकती है। इसके अलावा इसमें 6 स्पीकर से लैस म्यूजिक सिस्टम और रूफ पर दो ट्वीटर्स भी दिए गए हैं। 

परफॉर्मेंस 

नई थार में 2.0 लीटर पेट्रोल इंजन दिया गया है जो 150 पीएस की पावर और 320/300 एनएम का टॉर्क (एटी/एमटी) जनरेट करने में सक्षम है। इसके अलावा इसमें नया 2.2 लीटर डीजल इंजन ​भी दिया गया है जो 130 पीएस की पावर और 300 एनएम का टॉर्क जनरेट करने में सक्षम है। दोनो इंजन टर्बोचार्ज्ड यूनिट है जिनमें 6-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन स्टैंडर्ड दिया गया है, वहीं एआईएसआईएन 6-स्पीड ऑटोमैटिक का ऑप्शन भी रखा गया है। इसके अलावा इसमें 4x4 ड्राइवट्रेन स्टैंडर्ड दी गई है। 

हमने कुछ देर के लिए इसके पेट्रोल  ऑटोमैटिक, डीजल ऑटोमैटि​क और डीजल मैनुअल वेरिएंट को चलाकर देखा जिससे जुड़ा एक्सपीरियंस आप जानेंगे आगे.. 

डीजल मैनुअल 

नई थार में सबसे पहले आपको जो बड़ा फर्क महसूस होगा वो है इसका रिफाइनमेंट लेवल। यदि आपने पहले कभी पुरानी थार को ड्राइव किया है तो आप पाएंगे कि इसके नॉइस, वाइब्रेशन और हार्शनैस (एनवीएच) लेवल में काफी सुधार हो गया है। इसके कंट्रोल्स काफी हल्के और ईजी टू यूज़ हैं। इसका स्टीयरिंग महिंद्रा एक्सयूवी300 के जितना ही हल्का है और इसका थ्रो ज्यादा लंबा भी नहीं है और ज्यादा हैवी भी नहीं है, जिसे ट्रैफिक में मैनेज करने पर कोई दिक्कत नहीं होती है। यहां तक कि इसका गियर लिवर भी काफी स्मूद है। 

सेकंड गियर में 900 आरपीएम और 18 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से एक सीधी ढलान से उतरते वक्त आपको टॉर्क की बिल्कुल भी कमी महसूस नहीं होगी। इसका डीजल इंजन शोर भी नहीं करता है। हालांकि 3000 आरपीएम के बाद ये शोर करने लगता है लेकिन वो शोर केबिन के अंदर सुनाई नहीं देता है। टॉप गियर पर ड्राइव करते वक्त इंजन एकदम शांत र​हता है और कार भी आराम से चलती है। 

डीजल ऑटोमैटिक 

थार का 6-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स एकदम एक्सयूवी500 ऑटोमैटिक की याद दिलाता है। ये एक टॉर्क कन्वर्टर यूनिट है जो रेगुलर यूज़ के हिसाब से अच्छा खासा रिस्पॉन्स देती है। हालांकि इसमें थ्रॉटल और गियर चेंज काफी कम महसूस होता है। इसमें ट्रिपट्रॉनिक स्टाइल मैनुअल मोड दिया गया है, मगर पैडल शिफ्टर्स का फीचर मौजूद नहीं है। 

पेट्रोल ऑटोमैटिक 

इसके पेट्रोल इंजन का रिफाइनमेंट लेवल भी काफी अच्छा है। डीजल इंजन को शुरू करते वक्त थोड़ा वाइब्रेशन भले ही होता हो, मगर इसके पेट्रोल इंजन में जरा सा भी कंपन महसूस नहीं होता है। हालांकि इसमें थोड़ा टर्बो लैग महसूस होता है, मगर ये इंजन ढीला नहीं पड़ता है और तुरंत रफ्तार पकड़ लेता है। इसका थ्रॉटल रिस्पॉन्स भी काफी अच्छा है और लगातार रेव्स के बावजूद भी इसपर कोई फर्क नहीं पड़ता है। इसके पेट्रोल इंजन के साथ दिया गया  ऑटोमैटिक गियरबॉक्स भी काफी स्मूद है और ​डीजल ऑटो के कंपेरिजन में दोनों में काफी कम ही अंतर है। 

किसी चढ़ाई वाली जगह पर थार पेट्रोल ऑटोमैटिक​ को ले जाते वक्त आपको इसके इंजन से शोर जरूर सुनाई देगा। लेकिन एक नॉर्मल ड्राइविंग कंडीशन में आपको ये चीज़ महसूस नहीं होगी। 

शहरी लोगों को नई थार का पेट्रोल इंजन जरूर पसंद आएगा। ऑफ रोडिंग के दौरान ये डीजल इंजन जैसी ही परफॉर्मेंस देने में सक्षम है और अपने लिए एक रेट्रो लुक वाली दूसरी या तीसरी कार खरीदने वालों के लिए ये सही साबित होती है। हालांकि हमने आज तक जितनी भी टर्बो पेट्रोल इंजन वाली बड़ी एसयूवी चलाई है उनके माइलेज फिगर को देखकर संतुष्टि नहीं मिली है। नई थार का माइलेज टेस्ट फिलहाल हमने नहीं किया है और इसके बारे में हम आपको जल्द ही बताएंगे। 

राइड और हैंडलिंग 

ये एक लैडर फ्रेम पर तैयार एसयूवी है। इसकी राइड क्वालिटी थोड़ी सी सख्त महसूस होती है और खराब रास्तों के कारण आने वाले झटके केबिन में महसूस होते हैं। इसमें कई मौकों पर बॉडी रोल भी महसूस होता है, वहीं हार्ड ब्रेकिंग के दौरान आप अपनी ही जगह से खिसकने लगते हैं। 

कुल मिलाकर यदि आप एक कॉम्पैक्ट एसयूवी या सब कॉम्पैक्ट एसयूवी लेते हैं तो हैचबैक सेडान कारों जैसे ड्राइव एक्सपीरियंस मिलने के बारे में बिल्कुल भी ना सोचें। थार को एक रेगुलर अर्बन एसयूवी तो नहीं कहा जा सकता है, मगर हां ऑफ रोडिंग के लिहाज से ये काफी शानदार एसयूवी है। 

ऑफरोडिंग

महिंद्रा थार में 4 मोड्स: 2एच (2 व्हील ड्राइव), 4एच (4 व्हील ड्राइव), एन (न्यूट्रल) और 4एल (क्रॉल रेशो) के साथ शिफ्ट ऑन द फ्लाय 4x4 सिस्टम स्टैंडर्ड दिया गया है। इसके अलावा इसमें ऑटो लॉकिंग रियर मैकेनिकल डिफरेंशियल का फीचर भी स्टैंडर्ड दिया गया है, वहीं इसके एलएक्स वेरिएंट में ईएसपी और ब्रेक पर बेस्ड इले​क्ट्रॉनिक लॉकिन्ग डिफ्रेंशियल का फीचर दिया गया है। ब्रेक लॉकिन्ग डिफ्रेंशियल तब एक्टिवेट होता है जब 60 आरपीएम से ज्यादा व्हील की स्पीड में फर्क डिटेक्ट हो जाए। 

नई और पुरानी थार के अप्रोच, डिपार्चर और ब्रेकओवर एंगल्स एवं ग्राउंड क्लीयरेंस में भी काफी फर्क आ गया है जो इस प्रकार है:

 

पुरानी थार सीआरडीई

नई थार एएक्स/एएक्स (ओ) वेरिएंट

नई थार एलएक्स वेरिएंट

ग्राउंड क्लीयरेंस

200 मिलीमीटर

219 मिलीमीटर

226 मिलीमीटर

एप्रोच एंगल

44°

41.2°

41.8°

रैंपओवर एंगल

15°

26.2°

27°

डिपार्चर एंगल

27°

36°

36.8°

सेफ्टी

पैसेंजर की सेफ्टी के लिए थार के 2020 मॉडल में ड्यूल फ्रंट एयरबैग, ईबीडी के साथ एबीएस, ब्रेक असिस्ट, ईएसपी, हिल होल्ड, हिल डिसेंट कंट्रोल, रियर पार्किंग सेंसर, आईएसओफिक्स और फ्रंट सीटबेल्ट रिमांइडर जैसे फीचर दिए गए हैं। ऑफ रोडिंग के लिए इसमें टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम और टायर पोजिशन इंडिकेटर जैसे फीचर्स भी दिए गए हैं। हालां​कि इसमें रियर कैमरा नहीं दिया गया है। 

वेरिएंट्स

नई महिंद्रा थार तीन वेरिएंट्स: एएक्स, एएक्स (ओ) और एलएक्स में उपलब्ध होगी। एएक्स और एएक्स (ओ) में डीजल और पेट्रोल इंजन के साथ मैनुअल ट्रांसमिशन दिया जाएगा। वहीं एलएक्स में पेट्रोल इंजन के साथ ऑटोमैटिक और डीजल इंजन के सा​थ मैनुअल व ऑटोमैटिक दोनों ट्रांसमिशन का ऑप्शन मिलेगा।

निष्कर्ष

महिंद्रा थार हमेशा अपनी प्राइस के हिसाब से अपने को एक सही एसयूवी साबित करने में नाकामयाब साबित हुई है। इसकी ऑफ रोडिंग क्षमताओं को छोड़ दिया जाए तो कोई भी इसे रेगुलर बेसिस पर इस्तेमाल की जा सकने वाली अच्छी एसयूवी नहीं कहेगा। 

मगर अब, महिंद्रा ने ऐसी शिकायतों को दूर करते हुए इसे एक अर्बन एसयूवी बना दिया है जो ऑफ रोडिंग के काम भी आ सकेगी। इसमें आपको वैसे कंफर्ट और फीचर्स नहीं मिलेंगे जो एक दूसरी कॉम्पैक्ट एसयूवी में मिलते हैं, मगर ये अपने लुक्स के कारण एक अलग तरह के ग्राहकों को काफी पसंद आती है। कंपनी ने नई थार के साथ छोटे-मोटे प्रयोग कर इसमें काफी हद तक कुछ कमियों को दूर कर दिया है। यदि आप कार रखने के ​शौकीन है तो इसे अपने गैराज में दूसरी या तीसरी कार के तौर पर खरीदकर रख सकते हैं। हां यदि आप पहली बार ही कोई कॉम्पैक्ट एसयूवी खरीदने जा रहे हैं तो इस बारे में थोड़ा और सोच विचार कर लें।

नई एसयूवी कारें

अपकमिंग कारें

पॉपुलर एसयूवी कारें

*Estimated Price New Delhi
×
आपका शहर कौन सा है?