टाटा नेक्सन इलेक्ट्रिक का वेटिंग पीरियड जल्द नहीं होगा कम, यह है वजह

प्रकाशित: अप्रैल 08, 2022 08:19 pm । स्तुतिटाटा नेक्सन ईवी प्राइम

  • 2862 व्यूज़
  • Write a कमेंट

  • मेट्रो सिटी में नेक्सन ईवी पर औसत 3 महीने का वेटिंग पीरियड चल रहा है।
  • पिछले कुछ महीनों में ज्यादा अफोर्डेबल लंबी रेंज वाली ईवी कारों की डिमांड तेज़ी से बदी है।
  • नेक्सन ईवी की ज्यादा डिमांड को पूरा करने के लिए टाटा प्रोडक्शन को बढ़ा रही है।
  • सेमीकंडक्टर की कमी प्रोडक्शन बढ़ाने को लेकर सबसे बड़ी बाधा बनी हुई है।
  • यह गाड़ी पेट्रोल-डीजल नेक्सन पर बेस्ड है जिसकी डिमांड भी मार्केट में काफी ज्यादा है।

पर्सनल व्हीकल सेगमेंट की ग्रोथ में टाटा नेक्सन इलेक्ट्रिक का सबसे बड़ा योगदान है। यह गाड़ी भारत में दो से ज्यादा साल से बिक्री के लिए उपलब्ध है और इसकी पॉपुलेरिटी पेट्रोल-डीजल कारों के महंगे होने के चलते काफी बढ़ती जा रही है। ज्यादा डिमांड के चलते नेक्सन इलेक्ट्रिक पर लंबा वेटिंग पीरियड भी चल रहा है। कंपनी इसके वेटिंग टाइम के कम होने की उम्मीद बिलकुल भी नहीं कर रही है।

वर्तमान में नई नेक्सन ईवी कार पर अधिकतर मेट्रो सिटी में तीन महीने का वेटिंग पीरियड चल रहा है। राज्य अनुसार इसका डिलीवरी टाइम और भी लंबा बढ़ सकता है। इसकी एकमात्र वजह इस मॉडल की सप्लाई से ज्यादा बढ़ती डिमांड है।

लॉन्चिंग के शुरूआती महीनों में नेक्सन ईवी की मासिक डिमांड लिमिटेड थी, ऐसे में टाटा भी इस कॉम्पेक्ट एसयूवी के पेट्रोल और डीजल वर्जन पर ज्यादा फोकस करते हुए इसकी लिमिटेड यूनिट्स लगभग 600 का ही प्रोडक्शन करती थी। टाटा मोटर्स पैसेंजर व्हीकल्स के प्रेजिडेंट शैलेश चंद्रा का कहना है कि जहां नेक्सन ईवी का प्रोडक्शन प्रति माह लगभग 3500 यूनिट्स तक बढ़ गया है, वहीं इसकी डिमांड लगभग 6,500 यूनिट प्रति माह तक पहुंच गई है।

टाटा नेक्सन ईवी का प्रोडक्शन भी रेगुलर नेक्सन की तरह ही बढ़ाने में कामयाब रही है। अब कंपनी इस एसयूवी के दोनों वर्जन की डिमांड को पूरा करने के लिए एक बैलेंस बना कर चल रही है। चंद्रा का यह भी कहना है कि सेमीकंडक्टर की कमी टाटा ईवी की डिमांड को पूरा करने में सबसे बड़ी बाधा बनी हुई है। चूंकि यह समस्या ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री को 2023 तक प्रभावित करेगी, ऐसे में नेक्सन ईवी पर वेटिंग टाइम भी लंबा चल सकता है।

नेक्सन ईवी में 30.2 किलोवाट आवर का बैटरी पैक दिया गया है। इस गाड़ी की एआरएआई रेंज 312 किलोमीटर है। इस ईवी में लगी इलेक्ट्रिक मोटर का पावर आउटपुट 129 पीएस और 245 एनएम है। टाटा की इस गाड़ी में लगी ज़िपट्रोन टेक्नोलॉजी बैटरी को डीसी फास्ट चार्जिंग के जरिये एक घंटे में 0 से 80 परसेंट तक चार्ज कर देती है। इस कार में रेगुलर नेक्सन वाले ही फीचर्स दिए गए हैं जिनमें सेमी-डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, 7-इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और ऑटो एसी शामिल हैं।

टाटा ने हाल ही में नेक्सन ईवी की प्राइस में भी इज़ाफा किया था। भारत में इस गाड़ी की प्राइस 14.45 लाख रुपए से शुरू होकर 17.15 लाख रुपए (एक्स-शोरूम दिल्ली) तक जाती है। सेगमेंट में इसका मुकाबला एमजी की अपकमिंग सब-4 मीटर इलेक्ट्रिक एसयूवी से होगा जिसे 2023 में उतारा जाएगा।

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

टाटा नेक्सन ईवी प्राइम पर अपना कमेंट लिखें

Read Full News
  • टाटा नेक्सन ईवी प्राइम
  • कार

कंपेयर करने के लिए मिलती-जुलती कारें

नई दिल्ली में *एक्स-शोरूम कीमत
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का

ट्रेंडिंग इलेक्ट्रिक कारें

  • पॉपुलर
  • अपकमिंग
×
We need your सिटी to customize your experience