ऑडी क्यू2 40टीएफएसआई : रिव्यू

Published On दिसंबर 31, 2020 By भानु for ऑडी क्यू2

भले ही इंटरनेशनल मार्केट में ऑडी क्यू2 का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च होने के बाद भारत में इसका प्री फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च किया गया हो, मगर इसका इस पर कोई फर्क नहीं पड़ा है। यहां तक की इसके इंडियन वर्जन में क्वात्रो ऑल व्हील ड्राइव सेटअप के साथ ज्यादा पावरफुल इंजन दिया गया है। इससे ये कार सही मायनों में ऑडी वाला ही एक्सपीरियंस देती। लेकिन एक बात जो हर किसी को पसंद नहीं आएगी वो ये है कि 5 वेरिएंट में उपलब्ध इस कार की प्राइस वैसे तो ठीक ठाक है, मगर इसके टेक्नोलॉजी वेरिएंट की एक्सशोरूम प्राइस 48.89 लाख रुपये कुछ ज्यादा ही है। ऐसे में क्या प्राइस के मामले में ऑडी क्यू2 वैल्यू फॉर मनी साबित होती है? या फिर ये मर्सिडीज जीएलए और बीएमडब्ल्यू एक्स1 की पॉपुलैरिटी के आगे टिक नहीं पाएगी? इसके बारे में हम जानेंगे यहां:

लुक्स

इसके फ्रंट पार्ट की बात करें तो यहां इसे सबसे आकर्षक दिखाने का श्रेय चौड़ी ग्रिल और एयरडैम को जाता है, वहीं ग्रिल पर ऑल ब्लैक कलर इसे दमदार लुक देता है। इसके हेडलैंप्स के नीचे एलईडी डेटाइम रनिंग लैंप्स दिए गए हैं जिससे ये यूनिट आकर्षक लगती है। हालांकि ये डेटाइम रनिंग लैंप्स काफी हद तक वोल्वो के सिग्नेचर थोर हैमर एलईडी डेटाइम रनिंग लैंप्स जैसे दिखाई देते हैं जो कि आजकल सभी मॉडर्न कारों में देखने को मिल जाते हैं। कुल मिलाकर फ्रंट पर गौर करें तो यह क्यू2 एसयूवी जैसी ही लगती है।

हालांकि साइज में ऑडी क्यू2 आपको छोटी नजर आएगी। इसकी लंबाई 4318 मिलीमीटर, चौड़ाई 1805 मिलीमीटर और ऊंचाई 1548 मिलीमीटर है, वहीं इसका व्हीलबेस 2593 मिलीमीटर है। ऐसे में साइज के मोर्चे पर ये किया सेल्टोस के लगभग बराबर है और ये भी कहा जा सकता है कि लंबाई और चौड़ाई के मामले में ये सेल्टोस से भी छोटी है। साइज को छोड दें तो क्यू2 की दमदार बॉडी लाइंस इसे आकर्षक बनाती है, खासतौर पर हेडलैंप्स से शुरू होकर दरवाजों से होते हुए टेललैंप्स तक ये काफी दमदार लगती है। इसके 17 इंच के व्हील्स भी काफी सोबर लगते हैं।

पीछे से देखकर शायद लोग इसे ऑडी की कोई हैचबैक कार समझने की भूल कर सकते हैं। इसके रियर प्रोफाइल में 3डी कट टेललैंप्स, लेयर्ड बूट गेट और ड्यूल एग्जॉस्ट पाइप्स दिए गए हैं।

ऑडी क्यू2 में दमदार क्रीज लाइंस और हेडलैंप्स में अच्छी डीटेलिंग के साथ महंगी लग्जरी कारों जैसे एलिमेंट्स दिए गए हैं। बस इस कार की साइज को लेकर ही लोग थोड़े बहुत निराश हो सकते हैं। इसे एक छोटी लग्जरी कॉम्पैक्ट एसयूवी कहा जा सकता है और इसका रोड प्रजेंस भी उतना खास नहीं है।

इंटीरियर

ऑडी क्यू2 का डैशबोर्ड मॉडर्न नहीं है। इसमें ऑडी की नई कारों में मिलने वाला थ्री स्क्रीन लेआउट नहीं दिया गया है। इसके अलावा इसमें पुरानी कारों की तरह राउंडेड एसी वेंट्स और फ्री स्टैंडिंग इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है। ऐसे में इन चीजों को देखकर आपको इसके लेआउट से शिकायत रह सकती है। इसके केबिन की क्वालिटी दूसरी ऑडी कारों की तरह काफी शानदार है। केबिन के अंदर इस्तेमाल हुए मैटेरियल काफी प्रीमियम हैं और बटन भी इस्तेमाल करने में काफी अच्छे हैं। कुल मिलाकर आपको क्यू2 में बैठकर ही अहसास हो जाएगा कि आप वाकई किसी महंगी कार में बैठे हैं।

इसमें ड्राइवर की कॉकपिट में ऑडी वर्चुअल कॉकपिट और पूरी तरह से डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर दिया गया है। इसका स्टीयरिंग व्हील काफी भारी भरकम और पकड़ने में काफी अच्छा है।

फीचर्स की बात करें तो ऑडी क्यू2 में बताने के लिए काफी कुछ है। इसमें एंड्रॉयड ऑटो और एपल कारप्ले कनेक्टिविटी से लैस 8 इंच इंफोटेनमेंट स्क्रीन दी गई है जिसमें टच फीचर मौजूूद नहीं है। इसकी स्क्रीन को सेंटर कंसोल पर दी गई डायल और ट्रैकपैड के जरिए ऑपरेट किया जा सकता है। इसके अलावा इसमें वायरलैस चार्जिंग पैंड, बड़ी सनरूफ, अच्छा म्यूजिक सिस्टम, 2 जोन क्लाइमेट कंट्रोल जैसे फीचर्स दिए गए हैं, मगर इसमें रियर एसी वेंट्स मौजूद नहीं है। इसकी सीटों की बनावट अच्छी है जिससे इसमें वेंटिलेशन का फीचर दिए जाने की जरूरत नहीं पड़ी और इसमें पावर का फीचर भी मौजूद नहीं है। ऐसे में 50 लाख रुपये तक आने वाली इस कार में ऐसे फीचर्स ना होना थोड़ा अखरता है।

रियर सीट्स

इसमें रियर सीट स्पेस भी काफी कम है। सीटों की बनावट तो अच्छी है और ये कंफर्टेबल भी है, मगर कुछ लोगों को बैकरेस्ट एंगल ज्यादा खड़ा हुआ सा लग सकता है। बड़े सेंटर टनल और सीमित शोल्डर रूम की वजह से ऑडी इस कार की पीछे वाली सीट पर केवल दो पैसेंजर के आराम से बैठने लायक जगह बनती है। फीचर्स के तौर पर यहां कपहोल्डर्स के साथ सेंट्रल आर्मरेस्ट, दो सी टाइप यूएसबी पोर्ट्स और 12वोल्ट के सॉकेट​ जैसे फीचर्स दिए गए हैं। हालांकि यहां एसी वेंट्स और ग्रैब हैंडल्स नहीं दिए गए हैं।

अंदर से भी ऑडी क्यू2 एक बड़ी और प्रीमियम हैचबैक लगती है। इसके केबिन की क्वालिटी काफी अच्छी है, मगर इसमें कुछ फीचर्स की कमी लगती है और कुछ बेहद अच्छे फीचर्स भी दिए गए हैं।

बूट

क्यू2 एसयूवी में 355 लीटर का बूट स्पेस दिया गया है जो कि वेन्यू और सोनेट जैसी सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी के लगभग बराबर ही है। इसमें पूरे वीकेंड का लगेज लेकर जाया जा सकता है।

इंजन और परफॉर्मेंस

इस एसयूवी कार में 2.0 लीटर टीएसआई टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन दिया गया है जो 190 पीएस की पावर और 320 एनएम का टॉर्क जनरेट करने में सक्षम है। इस इंजन के साथ 7-स्पीड डीएसजी गियरबॉक्स दिया गया है जो क्वात्रो ऑल व्हील ड्राइव सिस्टम के जरिए गाड़ी के चारों टायरों पर पावर भेजता है। ये इंजन ना सिर्फ पंची और दमदार है बल्कि इसका साउंड भी काफी अच्छा लगता है। जितना आप इस गाड़ी को तेज चलाएंगे उतना ही इसका ड्राइवट्रेन आपको पसंद आएगा।

कंपनी के अनुसार इस कार को 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार हासिल करने में 6.6 सेकंड का समय लगता है, मगर हमारे टेस्ट में इसे 7.5 सेकंड का समय लगा जो भी तारीफ के काबिल है। 6000 आरपीएम तक इसे सही पावर मिलना शुरू होती है। वहीं टर्बोचार्ज्ड इंजन होने के बावजूद भी 1500 आरपीएम तक पावर में कमी महसूस होती है।

पावर में कमी महसूस ना हो इसके लिए इसका गियरबॉक्स एक सही गियर पर गाड़ी को ला देता है। ओवरटेकिंग के लिए इसका गियर डाउन हो जाता है जिससे गाड़ी अच्छे से ओवरटेक कर लेती है। इसे 20 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार हासिल करने में 5.17 सेकंड का समय लगता है जो अच्छा कहा जा सकता है। चाहे किसी गैप से गाड़ी को निकालना हो या ओवरटेक करना हो, क्यू2 आराम से इन चीजों को हैंडल कर लेती है।

चाहे सिटी की ट्रैफिक वाली सड़के हो या हाईवे की खुली खुली सड़कें, क्यू2 इन दोनों पर ही अच्छा परफॉर्म करती है। सातवें गियर पर 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पर इंजन 1700 आरपीएम पर आराम से पावर डिलीवर करता है। सिटी में तो इसका गियरबॉक्स और भी अच्छा अहसास कराता है। ये काफी तेज, रिस्पॉन्सिव और जर्क फ्री है। यहां तक कि सिटी में भी डायनैमिक ड्राइव मोड पर आप गाड़ी को बड़े आराम से चला सकते हैं। इस एसयूवी कार की ब्रेकिंग परफॉर्मेंस भी काफी लाजवाब है। 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलते हुए ब्रेक लगाने के बाद गाड़ी 36.92 मीटर चलकर रुक जाती है। वहीं कुछ मॉडर्न कारों को 40 मीटर लगते हैं।

राइड और हैंडलिंग

इस मोर्चे पर क्यू2 आपको बेहद प्रभावित करेगी। क्वात्रो ऑल व्हील ड्राइव सिस्टम के साथ ये व्हील पर बराबर से पावर ट्रांसफर करती है और कॉर्नर्स पर बड़े आराम से बैलेंस होकर चलती है। इसकी ग्रिप काफी अच्छी है और जैसे जैसे आप स्पीड बढ़ाते हैं ये आपको कॉन्फिडेंस भी देती है। इसके स्टीयरिंग का बैलेंस काफी सटीक है जिसे पावरट्रेन से इतना अच्छा रिस्पॉन्स मिलता है कि नौसिखिया ड्राइवर भी कार आराम से संभाल सकता है।

राइड क्वालिटी की बात करें तो इसके सस्पेंशन थोड़े कठोर हैं। फिर तो जाहिर है कि केबिन तक गड्ढों से आने वाले झटकों को महसूस किया जा सकता है। वहीं स्पीड ब्रेक और उछाल भरे रास्तों से आने वाले झटके भी कार में महसूस किए जा सकते हैंं। हालांकि इस दौरान भी कार में बैठे पैसेंजर्स कंफर्टेबल रहते हैं।

निष्कर्ष

पहली बार लग्जरी कार खरीदने जा रहे ग्राहक को इस कार के लुक्स और केबिन का डिजाइन उतना खास नहीं लगेगा। कॉम्पैक्ट साइज, सिंपल व्हील्स, नॉन टचस्क्रीन डिस्प्ले, मैनुअल सनरूफ शेड, मैनुअल सीट हाइट एडजस्टमेंट और लिमिटेड रियर सीट स्पेस जैसे आउटडेटेड फीचर्स से समझौता तब किया जा सकता है जब इसकी प्राइस बीएमडब्ल्यू एक्स1 (42.90 लाख रुपये) जैसी कार से कम हो, मगर इसका टेक्नोलॉजी वेरिएंट तो बिल्कुल भी वैल्यू फॉर मनी नहीं है।

आजकल काफी लग्जरी कार में ग्राहकों की पसंद को देखते हुए हर चीज का ख्याल रखा जाता है, मगर क्यू2 के मामले में ऐसी बात नहीं है। इसे एक ड्राइवर सेंट्रिक कार कहा जा सकता है जिसका पावरट्रेन काफी सॉलिड है। ये कार चलाने में काफी स्पोर्टी है जिसमें बैठकर लंबी से लंबी दूरी तय की जा सकती है। यदि आप एक छोटी और स्पोर्टी कार की तलाश में हैं और बजट की कोई चिंता नहीं है तो आप ऑडी क्यू2 की तरफ देख सकते हैं जो आपका सोशल स्टेटस भी बढ़ाने का काम करेगी।

नई एसयूवी कारें

अपकमिंग कारें

पॉपुलर एसयूवी कारें

*Estimated Price New Delhi
×
We need your सिटी to customize your experience