• लॉगिन / रजिस्टर

गुड न्यूज राउंडअप: कारोना के बीच अब खुलने लगी राहें, सामान्य जीवन की ओर लौटने लगे हम

प्रकाशित: मई 25, 2020 02:32 pm । भानु

  • 2272 व्यूज़
  • Write a कमेंट

दो महीने के लॉकडाउन के बावजूद देश में कोरोनोवायरस के मामलों की संख्या बढ़ रही है और इस वायरस की चेन टूटने का नाम नहीं ले रही है। मगर, संकट की इस घड़ी में हमारे पास कुछ ऐसी भी खबरें हैं जिन्हें जानने के बाद आप थोड़ा हल्का जरूर महसूस करेंगे। तो क्या है वो दिल खुश कर देने वाली खबरें ये जानेंगे आगे:

20 लाख मरीज ठीक हो चुके इस बीमारी से

सप्ताहभर पहले पूरी दुनिया में करीब 4 लाख मरीज कोविड-19 बीमारी को मात दे चुके हैं। भारत में 40 प्रतिशत की रिकवरी रेट दर्ज की गई है। यहां तक कि यहां मृत्युदर 0.2/लाख है जबकि दुनिया में मृत्युदर 4.1/लाख है। 

न्यूज सोर्स

12 साल के बच्चे ने कोविड-19 प्रोटेक्शन डिवाइस किया तैयार 

जहां एकतरफ हम इस वायरस के डर से किसी भी चीज़ को छूने से बच रहे हैं जो जरूरी भी है वहीं, दूसरी तरफ 12 साल के बच्चे ने हमारे इस डर का ईलाज ढूंढ लिया है। सैन फ्रांसिस्को के एक 12 वर्षीय लड़के ने ऐसा डिवाइस तैयार किया है जिससे दरवाज़ों, एटीएम और कैश रजिस्टर को बिना छुए खोला जा सकता है। इसे सेफ टच प्रो नाम दिया गया है जो दिखने में किसी हुक जैसा लगता है। इसे किसी पौधे पर बेस्ड प्लास्टिक से तैयार किया गया है जो ईको फ्रेंडली है और इसकी सतह पर कीटाणु नहीं टिक सकते हैं। 

न्यूज सोर्स

भारत में फिर से पटरी पर लौटने लगी जिंदगी

भारत में लॉकडाउन के चौथे चरण में सरकार की ओर से काफी रियायतें दी गई है तो अब भी कई चीजों पर बंदिशे लगी हुई है। सरकार ने निजी दफ्तरों को कम से कम स्टाफ के साथ खोले जाने की अनुमति दे दी है। पार्क और स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स भी अब खुलने लगे हैं तो वहीं ट्रेनें और घरेलु उड़ानों का संचालन भी शुरू हो गया है। इन रियायतों के बावजूद भी अब आपसे इतना ही कहेंगे कि अति आवश्यक स्थिती में ही घर से बाहर निकलें। 

यह भी पढ़ें: निसान ने लॉन्च किया ऑनलाइन शोरूम व सेल्स प्लेटफार्म, अब घर बैठे खरीदी जा सकेंगी कारें

भारत दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा पीपीई किट मेकर

कोरोना के कारण आजकल वर्साचे या अरमानी के कपड़ों से ज्यादा तो पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट पीपीई किट लो​कप्रिय हो चले हैं। दुनिया में चीन के बाद भारत ऐसा देश हैं जहां सबसे ज्यादा पीपीई किट तैयार किए जा रहे हैं। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि डॉक्टर्स,मेडिकल स्टाफ और जरूरी सामान की सप्लाय करने वाले हमारे फ्रंटलाइन वॉरियर्स की सुरक्षा पूरी तरह से सुनिश्चित की जा सकेगी। 

यह भी पढ़ें: मारुति का नया ऑफर: आज घर लाएं कार और दो महीने बाद से शुरू करें किश्तों का भुगतान

प्रमुख शहरों में साइकिल चालकों और पैदल यात्रियों के लिए तैयार हुई स्पेशल लेन

दुनियाभर में लगे लॉकडाउन के चलते कई प्रमुख शहरों में मुख्य सड़कों को साइकिल चालकों के अनुरूप किया जा रहा है। कोलंबिया के बोगोटा में 600 किलोमीटर से ज्यादा लंबी वहीं पेरिस में 650 किलोमीटर की सड़क को साइकिल चालकों के लिए अलग से लेन तैयार की गई है। बुडापेस्ट, मिलान और न्यूयॉर्क भी अब इसी दिशा में काम कर रहे हैं। यदि भारत में भी साइकिल चालकों के लिए ऐसे ही कॉरिडॉर बना दिए जाए तो सरकार के सिर से पेट्रोल,डीजल आदि जैसे नॉन रिन्यूएबल रिसोर्सेज का बोझ कम हो सकता है। 

यदि आपने पिछला गुड न्यूज राउंडअप नहीं पढ़ा तो अभी यहां क्लिक कर पढ़िए

द्वारा प्रकाशित

Write your कमेंट

Read Full News
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का
×
आपका शहर कौन सा है?