टाटा पंच Vs निसान मैग्नाइट Vs रेनो काइगर : स्पेस एवं प्रैक्टिकैलिटी कंपेरिजन

Published On जनवरी 23, 2022 By भानु for टाटा पंच

यदि आप एक बजट कॉम्पैक्ट एसयूवी की तलाश में हैं तो जाहिर है कि निसान मैग्नाइट और रेनो काइगर सबसे अफोर्डेबल ऑफरिंग के तौर पर उपलब्ध है। ये ना केवल फैमिली के लिए प्रेक्टिकल कारेंं हैं बल्कि इनमें अच्छे खासे फीचर्स भी दिए गए हैं। अब इन दोनों कारों को प्राइसिंग और फीचर्स के दम पर कड़ी टक्कर देने के लिए टाटा ने पंच माइक्रो एसयूवी को उतार दिया है। हालांकि ये काफी छोटी एसयूवी है मगर इसमें अच्छे खासे फीचर्स दिए गए हैं जिससे ये एक वैल्यू फॉर मनी प्रोडक्ट साबित होता है। हमनें यहां कुछ मोर्चों पर टाटा पंच का कंपेरिजन रेनो काइगर और निसान मैग्नाइट से किया है जिसकी ज्यादा डीटेल्स आपको मिलेगी आगे:

लुक्स

  • निसान मैग्नाइट और रेनो काइगर के मुकाबले टाटा पंच साइज मेंं काफी छोटी लगती है। मगर ये इन दोनों से ऊंची कार है। 
  • इसके अलावा टाटा पंच इन दोनों के आगे कुछ दमदार भी लगती है। क्रीज के साथ ऊंचा बोनट, उभरे हुए व्हील आर्क और टाटा की दूसरी एसयूवी कारों जैसे लुक्स के कारण ये भीड़ से अलग भी नजर आती है। 
  • इसके एक्सटीरियर फीचर्स को कंपेयर करें तो आपको काफी असमानताएं नजर आएंगी। पंच इनमें एकमात्र ऐसी कार है जिसमें हेलोजन हेडलैंप्स दिए गए हैं जबकि मैग्नाइट और काइगर में एलईडी सेटअप लगा है। टाटा पंच के फॉगलैंप्स में भी कंपनी ने रेगुलर बल्ब का इस्तेमाल किया है। वहीं मैग्नाइट में एलईडी फॉगलैंप्स तो काइगर में फॉगलैंप्स दिए ही नहीं गए हैं। तीनों कारों का व्हील साइज 195/60 R16 है और तीनों में अलग अलग डिजाइन के अलॉय व्हील्स दिए गए हैं। 

  • रियर प्रोफाइल को देखें तो यहां से निसान मैग्नाइट और रेनो काइगर अपने चौड़े स्टांस के कारण एसयूवी कार जैसी ही नजर आती है। वहीं पंच यहां से देखने पर कुछ कुछ हैचबैक कार जैसी दिखाई देती है। पंच और काइगर के एलईडी टेललैंप्स मॉडर्न लगते हैं तो वहीं मैग्नाइट में रेगुलर बल्ब का इस्तेमाल किया गया है जो रात में ज्यादा आकर्षक नजर आते हैं। 
  • कुल मिलाकर पंच में दिए गए फंकी कलर ऑप्शंस और ऊंचा स्टांस इसे एक बेहतर रोड प्रजेंस देते हैं। साइज में छोटी होने के बावजूद ये कार सभी का ध्यान अपनी ओर खींचने में सक्षम है। हालांकि आपको और भी अच्छी रोड प्रजेंस चाहिए तो काइगर इनमें सबसे अच्छी साबित होती है। 

बूट स्पेस

  • पेपरों में तो पंच का बूट स्पेस काइगर और मैग्नाइट के बराबर ही बताया गया है। नतीजतन इसमें बड़े सूटकेस को आप सीधा नहीं रख सकते हैं। सूटकेस को सीधा रखने के लिए भी इसमें कड़े जतन करने पड़ते हैं। हालांकि इसमें मीडियम साइज का सूटकेस, छोटे सूटकेस और दो छोटे सॉफ्ट बैग्स आराम से रखे जा सकते हैं। 
  • काइगर और मैग्नाइट का बूट साइज लगभग बराबर ही है। दोनों में अलग अलग साइज के तीन सूट केस और 1 सॉफ्ट बैग आराम से रखे जा सकते हैं। हालांकि काइगर की लोडिंग लिप ऊंची है जिससे लगेज रखने या उसे बाहर निकालने में एक्सट्रा दम लगाना पड़ता है। 

  • काइगर और मैग्नाइट में स्पिल्ट फोल्डिंग रियर सीट्स दी गई हैं वहीं पंच में सीटों को बांटने का ऑप्शन नहीं दिया गया है। तीनों ही एसयूवी कारों में फ्लैट फ्लोर भी नहीं दिया गया है। 

रियर सीट स्पेस और एक्सपीरियंस

  • टाटा पंच के डोर्स काफी अच्छे से खुलते हैं जिससे इस कार के केबिन में एंटर करना और उससे बाहर निकलना आसान रहता है। ये बुजुर्गों के लिए काफी अच्छी चीज रहती है। सीट पर बैठने के बाद इसमें आपको अच्छी कुशनिंग और सपोर्ट मिलता है। वहीं अंडर थाई सपोर्ट भी काफी अच्छा है और बैकरेस्ट एंगल भी काफी कंफर्टेबल है। 
  • इसके अलावा पंच की सीटें ऊंची रेल्स पर सेट की गई हैं जिससे पैरों को काफी आराम मिलता है। इस कार में नी और हेडरूम स्पेस की भी कोई कमी नजर नहीं आती है। दो पैसेंजर्स के बैठने के लिए इसकी सीटें काफी कंफर्टेबल साबित होती हैं। वहीं तीन पैसेंजर्स बैठ जाएं तो उन्हें थोड़ा कंफर्ट से समझौता करना पड़ सकता है। 

  • काइगर की सीटें थोड़ी नीचे की तरफ सेट की हुई लगती है। चूंकि इसमेंं स्लोपी रूफ दी गई है ऐसे में कार में एंट्री लेते वक्त आपको अपने सिर का भी ध्यान रखना होता है। ऊंचे कद वाले और बुजुर्गों के लिए ये चीज ज्यादा कंफर्टेबल साबित नहीं होती है। हालांकि आपको इस कार में लेग, नी और हेडरूम स्पेस की कोई कमी नहीं लगेगी। चूंकि इसका केबिन भी काफी चौड़ा है तो पंच के मुकाबले यहां तीन पैसेंजर ज्यादा आराम से बैठ सकते हैं। 

  • काइगर के मुकाबले मैग्नाइट की सीटों की पोजिशनिंग थोड़ी ऊंची है और इसकी रूफलाइन भी ऊंची है। बड़ी विंडो और क्वार्टर ग्लास के कारण इस कार मेंं ज्यादा खुलेपन का अहसास होता है। इसका केबिन स्पेस काइगर के बराबर ही है। तीन पैसेंजर्स के हिसाब से यहां काफी कंफर्टेबल स्पेस मिलता है। 

  • प्रेक्टिकल फीचर्स के तौर पर काइगर और मैग्नाइट दोनों ही पंच से ज्यादा अच्छी साबित होती है जिनमें आर्मरेस्ट के अंदर कपहोल्डर्स और मोबाइल होल्डर दिया गया है और साथ ही इसमें रियर केबिन लाइट और 12 वोल्ट सॉकेट जैसे फीचर्स दिए गए हैं। इनमें बड़े डोर पॉकेट्स भी दिए गए हैं जिनमें पानी की बोतलें आराम से रखी जा सकती है। 

केबिन क्वालिटी और फीचर्स

  • इसमें कोई शक नहीं कि पंच का केबिन ज्यादा बेहतर लगता है। इसमें इस्तेमाल किए गए मैटेरियल और टेक्सचर काफी प्रीमियम लगते हैं। यहां तक कि स्टीयरिंग, बटन और गियर शिफ्टर भी इस्तेमाल करने में काफी सॉफ्ट महसूस होते हैं। मैग्नाइट और काइगर का केबिन ज्यादा प्रीमियम नजर नहीं आता है वहीं इनमें इस्तेमाल हुए प्लास्टिक की क्वालिटी भी अच्छी नहीं लगती है। 
  • इन तीनों कारों के कॉमन फीचर्स की बात करें तो इनमें हाइट एडजस्टेबल ड्राइवर सीट, टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट, स्टीयरिंग माउंटेड कंट्रोल, डिजिटल ड्राइवर डिस्प्ले, ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल और पुश-बटन स्टार्ट के साथ कीलेस एंट्री जैसे फीचर्स दिए गए हैं। 

  • ड्राइवर के पॉइन्ट ऑफ व्यू से देखें तो यहां पंच काफी कंफर्टेबल नजर आती है। इसमें ऑटोमैटिक हेडलैंप्स और रेन सेंसिंग वाइपर्स जैसे फीचर्स दिए गए हैं। एंड्रॉयड ऑटो और एपल कारप्ले कनेक्टिविटी के साथ 7-इंच की टचस्क्रीन  और 4 स्पीकर एवं 2 ट्वीटर साउंड सिस्टम दिए गए हैं। 
  • हालांकि इसमें वायरलेस चार्जर, वायरलेस एंड्रॉइड ऑटो और एप्पल कारप्ले और वन-टच ड्राइवर विंडो अप जैसे फीचर्स नहीं दिए गए हैं। मैग्नाइट और काइगर में फुल डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर दिया गया है जबकि पंच में सेमी डिजिटल यूनिट ही मौजूद है। 
  • पंच में आईआरए पैक के साथ कनेक्टेड कार फीचर भी दिया गया है जिसकी डीटेल आपको मिलेगी आगे:

रिमोट लाइट्स ऑन/ऑफ

रोडसाइड असिस्टेंस

जियो-फेंसिंग

पैनिक नोटिफिकेशन

रिमोट लॉक/अनलॉक

शेयर लोकेशन

स्पीड अलर्ट

फाइंड माय कार

मोस्ट एफिशिएंट यूजर्स ऑफ द वीक/मंथ

कार हेल्थ अपडेट। 

कार के पैरामीटर्स के बारे में महत्वपूर्ण अलर्ट्स

नेविगेशन (मैप्स इंटीग्रेशन) 


  • मैग्नाइट का सबसे यूनीक फीचर इसमें दिया गया 360 डिग्री कैमरा है, मगर इसकी पिक्सल क्वालिटी ज्यादा अच्छी नहीं है। वहीं काइगर का यूनीक फीचर पीएम2.5 फिल्टर है और मल्टीपल ड्राइव मोड्स है। मगर इसमें क्रूज कंट्रोल नहीं दिया गया है। 

हाइलाइट फीचर्स

पंच

मैग्नाइट

काइगर

ऑटोमैटिक हेडलैंप्स

वायरलेस चार्जर

वायरलेस चार्जर

रेन सेंसिंग वायपर्स

वायरलेस एंड्रॉयड ऑटो और एपल कारप्ले

ड्राइव मोड्स

क्रूज कंट्रोल

360 डिग्री कैमरा

एंबिएंट लाइट्स

6-स्पीकर साउंड सिस्टम

वन टच अप/डाउन विंडो

वन टच अप/डाउन विंडो

 

 

वायरलेस एंड्रॉयड ऑटो और एपल कारप्ले

 

 

एमपी 2.5 फिल्टर

  • इन तीनों कारों में से टाटा पंच में सबसे ज्यादा काम के फीचर्स दिए गए हैं। 

केबिन प्रेक्टिकैलिटी

  • तीनों कारों में 2 कपहोल्डर्स, छोटे मोटे सामान के लिए स्टोरेज, बड़ा ग्लवबॉक्स और बड़े डोर पॉकेट्स दिए गए हैं। चार्जिंग के लिए यूएसबी पोर्ट भी दिया गया है। मैग्नाइट और काइगर में वायरलेस चार्जर का फीचर भी मौजूद है। मगर काइगर में प्लग्ड इन 12 वोल्ट सॉकेट की जगह यूएसबी पोर्ट दिया गया है। 
  • इन तीनों कारों में से टाटा पंच का केबिन सबसे ज्यादा प्रेक्टिकल है जिसमें निक नैक स्टोरेज, ड्राइवर के लिए भी इसी तरह का स्टोरेज और बड़ा कूल्ड ग्लवबॉक्स जैसे फीचर्स दिए गए हैं। इसके डोर पैकेट्स में अंब्रेला पॉकेट और पैसेंजर फुटवेल में शॉपिन्ग बैग हुक दिए गए हैं। हालांकि इस कार में सेंट्रल आर्मरेस्ट नहीं दिया गया है। वहीं मैग्नाइट में आपको आर्मरेस्ट मिल जाएगा, मगर इसमें अंब्रेला पॉकेट और ग्लवबॉक्स में कूलिंग सिस्टम नहीं दिया गया है। 

  • काइगर में प्रैक्टिकल फीचर्स की कमी महसूस होती है। इसका बड़ा सेंट्रल कंसोल काफी संकरा और गहरा है जिसका इस्तेमाल करना काफी मुश्किल हो जाता है। वहीं सेंट्रल कंसोल की पोजिशनिंग भी सीट की तरह ज्यादा है जिससे सीटबेल्ट बांधना भी मुश्किल हो जाता है। मगर इसमें दो ग्लवबॉक्स जहां नीचे वाला कूल्ड ग्लवबॉक्स है। 

  • इस मामले में पंच काफी अच्छी कार साबित होती है। यदि आपको फ्रंट आर्मरेस्ट की जरूरत नहीं है तो आपको प्रैक्टिकैलिटी के मोर्चे पर ये कार काफी पसंद आएगी। 

राइड कंफर्ट

  • काइगर में आपको बैलेंस्ड राइड क्वालिटी मिलती है। इस कार के सस्पेंशंन उछाल भरे रास्तों और गड्ढों पर से कार को आराम से गुजरने देते हैं। टूटी फूटी सड़कों पर भी इसकी राइड क्वालिटी काफी स्टेबल रहती है और ये कार सड़क पर किसी भी चुनौती का सामना करने का दमखम रखती है। 

  • टाटा पंच भी आपको स्पीडब्रेकर्स और पॉटहोल्स आने के बावजूद अच्छी कुशनिंग देती है, मगर फिर भी रियर पैसेंजर्स को थोड़ा बहुत जर्क महसूस होता है।

  • सीधी सपाट सड़कों पर इन तीनों कारों में मैग्नाइट काफी कंफर्टेबल साबित होती है जिसके सस्पेंशन काफी सॉफ्ट हैं। हालांकि ज्यादा स्पीड, बड़े गड्ढों और टूूटी हुई सड़कों पर आपको केबिन में थोड़े झटके महसूस जरूर होंगे। 

सेफ्टी

  • इन तीनों कारों में टाटा पंच एकमात्र ऐसी कार है जिसे 5 स्टार सेफ्टी रेटिंग मिल चुकी है, और ये क्वालिटी इसके बॉडी पैनल, सीटबेल्ट बकल्स और डोर शटिंग साउंड में नजर आ जाएगी। 
  • आसियान एनकैप से मैग्नाइट को 4 स्टार सेफ्टी रेटिंग मिल चुकी है। वहीं काइगर का अभी क्रैश टेस्ट नहीं हुआ है। तीनों कारों में कौनसे सेफ्टी फीचर्स हैं मौजूद इस पर डालिए एक नजर:

 

पंच

मैग्नाइट

काइगर

ड्युअल फ्रंट एयरबैग्स

साइड एयरबैग्स

❌

❌

एबीएस के साथ ईबीडी

आईएसओफिक्स

टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम

❌

❌

सीट बेल्ट प्रीटेंशनर

ड्राइवर+को ड्राइवर

केवल ड्राइवर के लिए

इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल

❌

केवल टर्बो मॉडल में

❌

हिल असिस्ट

❌

केवल टर्बो मॉडल में

❌

ब्रेक स्वे कंट्रोल

❌

❌

  • इस कंपेरिजन में हमनें इन तीनों एसयूवी कारों के टॉप मैनुअल वेरिएंट्स को कंपेयर किया है। जहां टाटा पंच के इस वेरिएंट की प्राइस 8.5 लाख रुपये है तो वहीं निसान मैग्नाइट की प्राइस 9 लाख रुपये है। इन दोनों कारों में ऑप्शनल पैक भी दिए गए हैं जहां पंच के आईआरए पैक की कीमत 30,000 रुपये है तो वहीं मैग्नाइट के टेक पैक की प्राइस 39,000 रुपये है। 
  • टाटा पंच के टॉप मॉडल की प्राइस 8.79 लाख रुपये है तो वहीं निसान मैग्नाइट की फाइनल प्राइस 9.38 लाख रुपये और रेनो काइगर की 9.01 लाख रुपये है। कुल मिलाकर मैग्नाइट और पंच के बीच प्राइस डिफरेंस 60,000 रुपये है। वहीं मैग्नाइट के मुकाबले काइगर 40,000 रुपये सस्ती है। 

निष्कर्ष

निसान मैग्नाइट और रेनो काइगर अपने स्पेस, प्रैक्टिकैलिटी, फीचर लिस्ट और वैल्यू फॉर मनी पैकेज के लिए जानी जाती है। इस टेस्ट में भी ये कारें इस मोर्चे पर खरी उतरी हैं। मगर टाटा पंच एक सस्ती कार होने के बावजूद ज्यादा कॉम्पैक्ट साबित होने में कहीं भी पीछे नहीं रही है। ये इन दोनों कारों के ​मुकाबले काफी सॉलिड बिल्ट अप क्वालिटी वाली कार है। वहीं इसमें ज्यादा प्रेक्टिकल फीचर्स भी दिए गए हैं और 4 पैसेंजर्स के बैठने के लिहाज से इसके केबिन में अच्छा कंफर्ट भी मिलता है। वहीं ये 5 स्टार सेफ्टी रेटिंग पा चुकी कार भी है। यदि आप कम प्रीमियम रियर सीट एक्सपीरियंस, कम बूट स्पेस, फेंसी फीचर्स और अच्छी रोड प्रजेंस से समझौता करने के लिए तैयार है तो पंच आपके लिए बेस्ट रहेगी। 

मगर दूसरी तरफ आपको अपनी कार में एक पूरी तरह एसयूवी जैसा लुक चाहिए तो काइगर और मैग्नाइट एक राइड चॉइस साबित होती है। इन दोनों में से किसी एक को चुनना हो तो काइगर को राइड कंफर्ट के लिए चुना जा सकता है। वहीं मैग्नाइट को ओवरऑल बैलेंस के लिए चुना जा सकता है, मगर ये इन तीनों में से काफी महंगी है।

टाटा पंच

वेरिएंट*एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
प्योर (पेट्रोल)Rs.5.83 लाख*
प्योर rhythm (पेट्रोल)Rs.6.15 लाख*
एडवेंचर (पेट्रोल)Rs.6.65 लाख*
एडवेंचर rhythm (पेट्रोल)Rs.7.00 लाख*
एडवेंचर एएमटी (पेट्रोल)Rs.7.25 लाख*
एडवेंचर एएमटी rhythm (पेट्रोल)Rs.7.60 लाख*
अकंप्लिश्ड (पेट्रोल)Rs.7.50 लाख*
अकंप्लिश्ड dazzle (पेट्रोल)Rs.7.88 लाख*
अकंप्लिश्ड एएमटी (पेट्रोल)Rs.8.10 लाख*
अकंप्लिश्ड एएमटी dazzle (पेट्रोल)Rs.8.48 लाख*
क्रिएटिव (पेट्रोल)Rs.8.32 लाख*
क्रिएटिव एएमटी ira (पेट्रोल)Rs.9.32 लाख*
क्रिएटिव ira (पेट्रोल)Rs.8.62 लाख*
क्रिएटिव kaziranga एडिशन (पेट्रोल)Rs.8.59 लाख*
क्रिएटिव एएमटी (पेट्रोल)Rs.9.02 लाख*
क्रिएटिव kaziranga एडिशन एएमटी (पेट्रोल)Rs.9.19 लाख*
kaziranga एडिशन एएमटी ira (पेट्रोल)Rs.9.49 लाख*
kaziranga एडिशन ira (पेट्रोल)Rs.8.89 लाख*

नई एसयूवी कारें

अपकमिंग कारें

पॉपुलर एसयूवी कारें

×
We need your सिटी to customize your experience