मर्सिडीज जीएलबी और ईक्यूबी: फर्स्ट ड्राइव रिव्यू

Published On जनवरी 16, 2023 By भानु for मर्सिडीज जीएलबी

जीएलबी और ईक्यूबी दोनों ​ही कारें जीएलए के पॉकेट फ्रेंडली प्लेटफॉर्म पर बेस्ड है और इनका साइज भी जीएलसी के आसपास है तो वहीं इनमें जीएलएस की तरह 3 रो सीटिंग अरेंजमेंट भी मिलता है। मगर इन सब फॉर्मूला को कंबाइन करें तो क्या आपको इन कारों में कुछ समझौते करने पड़ते हैं? और सवाल ये भी उठता है कि क्या आपको जीएलए और जीएलसी के बजाए जीएलबी या ईक्यूबी लेनी चाहिए? ऐसे तमाम सवालों के जवाब आपको मिलेंगे इस फर्स्ट ड्राइव रिव्यू में:

लुक्स 

जीएलएस जैसी रोड प्रजेंस और लुक्स वाली जीएलबी भी काफी हैंडसम कार लगती है। इसका अपराइट स्टांस, क्रीज के साथ ऊंचा बोनट, और ओवरऑल बॉक्सी शेप इसे एक पुराने जमाने का लुक देता है। इसके फ्रंट में 3 पॉइन्टेड स्टार दिए गए हैं और यहां तक कि इसमें दिए गए डेटाइम रनिंग लैंप्स भी जीएलएस जैसे नजर आते हैं। हालांकि इसमें फेक एयरडैम्स भी दिए गए हैं जो मर्सिडीज की गाड़ी पर बिल्कुल सूट नहीं करते हैं। 

साइड की बात करें तो इसकी रूफ थर्ड रो में आखिर तक काफी फ्लैट नजर आती है। वहीं एंगुलर व्हील आर्क और हर तरफ क्लैडिंग होने से इसे एक दमदार लुक मिल रहा है। एएमजी लाइन में आपको एमजी इं​स्क्रिप्शन के साथ 18 इंच के स्टार शेप्ड व्हील्स दिए गए हैं, मगर ये कार के बॉक्सी डिजाइन के साथ बिल्कुल सूट नहीं करते हैं। यहां इंटरनेशनल मार्केट में दिए जा रहे मल्टी स्पोक व्हील्स ज्यादा अच्छे साबित हो सकते थे। स्लीक टेललैंप्स के साथ इसका बैक प्रोफाइल काफी दमदार नजर आता है, मगर यहां भी फेक एग्जॉस्ट टिप्स और डिफ्यूजर दिए गए हैं जो बिना काम के लगते हैं। 

दूसरी तरफ ईक्यूबी काफी सिंपल सोबर कार नजर आती है। इसमें कवर्ड ग्रिल दी गई है और बूट का डिजाइन भी काफी सिंपल नजर आता है। इसे इलेक्ट्रिक कार दिखाने के लिए जरूरत के सभी बदलाव किए गए हैं और इसका ओवरऑल शेप भी इलेक्ट्रिक कार जैसा ही नजर आता है। 

इंटीरियर

इसके इंटीरियर का लेआउट जीएलए और जीएलसी जैसी एसयूवी कारों से लिया गया है, मगर इसमें थ़ोड़ा बहुत बदलाव जरूर किया गया है। इसके लेफ्ट साइड पर एल्यूमिनियम की फिनिशिंग दी गई है और सभी टचपॉइन्ट्स काफी प्रीमिेयम लगते हैं।

एएमजी लाइन में आपको अलाकांट्रा जैसी अपहोल्स्ट्री और स्पोर्टी ऑल ब्लैक केबिन मिलेगा। हालांकि, ईक्यूबी में रोज़ गोल्ड थीम दी गई है जिससे केबिन ज्यादा शानदार नजर आ रहा है। यहां तक कि डैशबोर्ड पर भी किसी म्यूजिक इक्वलाइजर जैसा पैटर्न दिया गया है जो काफी कूल और फंकी नजर आता है। इसमें दी गई अपहोल्स्ट्री थीम से मैच कर रही है और क्वालिटी जीएलबी जैसी ही है।

इनकी फीचर लिस्ट भी काफी लंबी है जिनमें इंफोटेनमेंट और क्लस्टर के लिए दो 10.25 इंच की स्क्रीन, डुअल ज़ोन क्लाइमेट कंट्रोल, मेमोरी के साथ पावर्ड फ्रंट सीट, एक वायरलेस चार्जर, 10 स्पीकर साउंड सिस्टम, एक पावर्ड टेलगेट और एक डुअल पेन सनरूफ जैसे फीचर्स दिए गए हैं। हालांकि इनकी प्राइस को देखते हुए वेंटिलेटेड सीट्स, एक हेड-अप डिस्प्ले और एक 360 डिग्री कैमरा जैसे फीचर्स की कमी नजर आती है। 

सेकंड रो 

यदि आप जीएलबी को एक 5 सीटर कार के तौर पर इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको ​इसमें काफी स्पेस मिलेगा। इसकी सीटें स्लाइड भी होती हैं और रिक्लाइन भी। यहां तक कि इसमें 6 फुट तक के लंबे पैसेंजर्स  को भी अच्छा लेगरूम और नीरूम स्पेस मिलता है। इसकी सीटें तो काफी कंफर्टेबल है, मगर आपको इनसे एक जगह बैठे रहने का सपोर्ट नहीं मिलता है। सीटों का बेस और बैकरेस्ट काफी फ्लैट है। वहीं यदि सेकंड रो पर तीन लोग बैठने वाले हैं तो केबिन की चौड़ाई आपको कम लग सकती है। 

यहां आपको बेसिक फीचर्स दिए गए हैं। यहां एसी वेंट्स तो दिए गए हैं, मगर अलग से ब्लोअर नहीं दिया गया है। इसके अलावा यहां छोटा सा स्टोरेज स्पेस, एक टाइप सी चार्जर और आर्मरेस्ट दिया गया है। यहां अगर विंडो शेड्स भी दे दिए जाते तो बेहतर होता, क्योंकि ये चीज कुछ अफोर्डेबल एसयूवी कारों में भी मिल रही है। हालांकि ड्युअल पेन पैनोरमिक सनरूफ केबिन में खुलेपन का अहसास जरूर कर ​देती है। 

थर्ड रो 

चूंकि ये एक 3 रो एसयूवी है, मगर इसे एक सही 7 सीटर एसयूवी नहीं कहा जा सकता है। मर्सिडीज ने भी साफ साफ कहा था कि आखिरी रो बच्चों या आपके पैट्स के लिए ही बनी है। स्पेस की बात करें तो सेकंड रो की सीटों को आगे करने के बाद यहां एक 5.5” का एक एडल्ट पैसेंजर बैठ सकता है और वो भी केवल किसी शॉर्ट ट्रिप पर ही कंफर्टेबल रह सकता है। यहां फोन होल्डर, दोनों तरफ टाइप-सी चार्जर और कप होल्डर जैसे कंफर्ट फीचर्स दिए गए हैं, मगर एसी वेंट्स नहीं दिए गए हैं। 

बूट स्पेस

कार की सभी सीटों को उपयोग में लेने पर आप इसके स्टैंडर्ड बूट स्पेस में डफल और लैपटॉप बैग्स ही रख सकते हैं। हालांकि थर्ड रो की सीटों को फोल्ड करने के बाद आप अपने मन मुताबिक वीकेंड ट्रिप पर जाने जितना लगेज रख सकते हैं। सेकंड रो की सीटों को फोल्ड करने के बाद तो आप इसमें एक पूरा बैड डालकर ले जा सकते हैं।

इंजन और परफॉर्मेंस

इन कारों में कई तरह के ड्राइवट्रेन ऑप्शंस दिए गए हैं जिनमें 1.3 लीटर टर्बो पेट्रोल, 2.0 लीटर डीजल, ऑल व्हील ड्राइव के साथ डीजल 2 मोटर सेटअप के साथ ऑल व्हील ड्राइव इलेक्ट्रिक शामिल है। 
 

स्पेसिफिकेशन

ईक्यूबी 300 ऑल व्हील ड्राइव

जीएलबी 220डी डीजल ऑल व्हील ड्राइव

जीएलबी 220डी डीजल

जीएलबी 20पेट्रोल

डिस्प्लेसमेंट

-

1,950सीसी

1,950सीसी

1,332सीसी

पावर

228पीएस

190पीएस

190पीएस

163पीएस

टॉर्क

390एनएम

400एनएम

400एनएम

250एनएम

ड्राइवट्रेन

ऑल व्हील ड्राइव

ऑल व्हील ड्राइव

फ्रंट व्हील ड्राइव

फ्रंट व्हील ड्राइव

0-100किमी/घंटा

8.0सेकंड्स

7.6सेकंड्स

7.7सेकंड्स

9.1सेकंड्स


इसका डीजल इंजन काफी रिफाइंड है और आपको मुश्किल से ही कोई वाइब्रेशन महसूस होगा। यहां तक कि इसमें बैठने वाले पैसेंजर को भी एकबारगी तो ऐसा लगेगा कि वो किसी डीजल नहीं बल्कि पेट्रोल कार में बैठे हैं। इसमें पावर डिलीवरी भी काफी स्मूद तरीके से होती है और ड्राइव करते हुए आपको ज्यादा एफर्ट्स नहीं लगाने पड़ते हैं। ट्रांसमिशन भी तब तक काफी स्मूद रहता है जब तक आपको ओवरटेकिंग के लिए डाउनशिफ्ट की जरूरत महसूस ना हो। मगर इस समय ये काफी समय लेता है, कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि इसका डीजल इंजन सिटी और हाईवे दोनों ही जगह काफी अच्छी परफॉर्मेंस देता है। 

इलेक्ट्रिक ईक्यूबी300 में ड्युअल मोटर सेटअप दिया गया है और ये तब तक रियर व्हील ड्राइव कार रहेगी जब तक कि आपको ज्यादा परफॉर्मेंस की जरूरत महसूस ना हो। और दूसरी इलेक्ट्रिक लग्जरी कारों की तरह ये भी थ्रॉटल इनपुट देने के बाद काफी तेजी से रिस्पॉन्ड करती है। ओवरटेकिंग करते हुए भी ये कार काफी जबरदस्त नजर आती है। डीजल मॉडल के मुकाबले इस इलेक्ट्रिक कार को 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ने में ज्यादा समय लगता है, मगर अर्जेंट पावर डिलीवरी से ये ड्राइव करने में काफी शानदार लगती है। ईक्यूबी में 66.5 केडब्ल्यूएच का बैट्री पैक दिया गया है जिसकी डब्ल्यूएलटीपी रेंज 423 किलोमीटर बताई गई है। हालांकि फुल चार्ज में ये आपको 350 किलोमीटर की रेंज तो दे ही देगी। 

राइड एंड हैंडलिंग 

इंडियन रोड कंडीशन के अनुसार जीएलबी के सस्पेंशंस काफी अच्छे हैं। ये खराब सड़कों और गड्ढों को काफी अच्छे से हैंडल करने में सक्षम है और केबिन में कोई शोर नहीं आता है। हालांकि आपको सस्पेंशन से थोड़ी आवाज जरूर आती है, मगर ओवरऑल एक्सपीरियंस काफी कंफर्टेबल रहता है। यहां तक कि इसका स्टीयरिंग भी कंट्रोल करने में काफी स्मूद लगता है। इसके अलावा इसमें पैसेंजर्स को ज्यादा बॉडी रोल भी महसूस नहीं होते हैं और ये कार ​हाईवे पर तो एक दम सपाट दौड़ती है। 

जीएलबी के मुकाबले ईक्यूबी का वजन 400 किलोग्राम ज्यादा है​, फिर भी आपको इसकी ड्राइवेबिलिटी को देखकर बिल्कुल इस बात पर यकीन नहीं होगा। इसकी हैंडलिंग क्वालिटी भी जीएलबी के टक्कर की लगती है, मगर चूंकि सस्पेंशन थोड़े स्टिफ हैं इसलिए आपको रोड नॉइज जरूर सुनाई देगी। हालांकि ये फिर भी एक कंंफर्टेबल कार है और आपको बिल्कुल शिकायत का मौका नहीं देगी।

वेरिएंटस

ये एसयूवी 4 वेरिएंट्स में उपलब्ध है जिनमें जीएलबी 200 पेट्रोल, जीएलबी 220 डी डीजल, जीएलबी 220डी डीजल एडब्ल्यूडी एएमजी लाइन और ईक्यूबी 300 एडब्ल्यूडी शामिल है। जीएबली की प्राइस 65 लाख रुपये से लेकर 70 लाख रुपये के बीच है। वहीं ईक्यूबी की कीमत 80 लाख रुपये एक्स शोरूम तक रखी जा सकती है।

निष्कर्ष 

मर्सिडीज की जीएलबी और ईक्यूबी दोनों ही काफी अच्छी कारें है। अगर आप एक फैमिली एसयूवी की तलाश में हैं जो बहुत सारी खूबियों के साथ लग्जरी भी हो तो दोनों ही कारें अपनी अपनी जगह काफी अच्छी है। हालांकि इनकी कीमत थोड़ी ज्यादा लगती है।

मर्सिडीज जीएलबी

वेरिएंट*एक्स-शोरूम कीमत नई दिल्ली
220डी (डीजल)Rs.66.80 लाख*
220डी 4मैटिक (डीजल)Rs.69.80 लाख*
200 (पेट्रोल)Rs.63.80 लाख*

नई एसयूवी कारें

अपकमिंग कारें

पॉपुलर एसयूवी कारें

×
We need your सिटी to customize your experience