• लॉगिन / रजिस्टर

ऑडी ए6 Vs मर्सिडीज़-बेंज ई 220डी: कंपेरिजन रिव्यू

Published On मई 22, 2020 By भानु for मर्सिडीज ई-क्लास

मर्सिडीज़-बेंज ने भारत में लॉन्ग व्हीलबेस वाली ई-क्लास को उतारकर लग्जरी कार सेगमेंट में कंफर्ट को नए आयाम देने का काम किया है। दूसरी तरफ ऑडी ए6 एक ज्यादा मॉर्डन और अच्छे फीचर्स वाली कार है। दोनों कारों में जो एक बात कॉमन है वो ये कि इन्हें ड्राइवर फोकस कार कहा जा सकता है। तो दोनों कारों में क्या है अलग, ये जानेंगे इस कंपेरिजन रिव्यू के जरिए:-

स्टाइलिंग

  • ऑडी ए6 की स्टाइलिंग एलिमेंट में लंबी चौड़ी ग्रिल और शार्प लाइन शामिल है। 
  • यह कार काफी लंबी दिखाई देती है।
  • इसमें एलईडी मेट्रिक्स हेडलैंप्स, एलईडी टेललैंप्स और सेमी एयरो 18 इंच अलॉय व्हील दिए गए हैं। 
  • मर्सिडीज बेंज ई 220डी ​जनरेशन 6 एस-क्लास की याद दिलाती है। 

  • साइज की बात करें तो मर्सिडीज़ ई क्लास लंबी और ऊंची है, मगर ए6 का रोड प्रजेंस भी इसी के जैसा लगता है। 

केबिन में खास क्या

  • ऑडी ए6 के इंटीरियर में डार्क ब्राउन फॉक्स वुड और पियानो ब्लैक कलर से फिनिशिंग की गई है। 
  • इसमें तीन स्क्रीन दी गई है और ड्राइवर को किसी एयरोप्लेन के कॉकपिट में बैठने जैसा एक्सपीरियंस मिलता है। 
  • ए6 की फिट और फिनिशिंग भी काफी लाजवाब है। इसके एंबिएंट लाइटिंग में काफी सारे कलर्स का ऑप्शन दिया गया है। 
  • इसमें एसी एडजस्ट करने के लिए बटन नहीं दिया गया है जिसकी कार चलाते वक्त कमी जरूर महसूस होती है। 
  • ई क्लास के केबिन में कुछ पुराने और कुछ मॉर्डन एलिमेंट्स दिए गए हैं। 
  • इसमें वुडन ट्रिम, राउंड क्रोम एयरकॉन वेंट्स और टैन लैदर अपहोल्स्ट्री दी गई है, जिससे इसका केबिन काफी रिच दिखाई देता है। दूसरी तरफ ए6 में ये एलिमेंट्स नहीं दिए गए हैं। 
  • इसमें दिए गए मॉर्डन एलिमेंट्स की बात करें तो इंफोटेनमेंट और एमआईडी के लिए दो स्क्रीन दी गई है, वहीं पीछे की तरफ मिनी टचस्क्रीन रिमोट कंट्रोल और वायरलैस चार्जिंग भी दिए गए हैं।

फीचर्स

  • ए6 में वर्चुअल कॉकपिट दिया गया है जो कि ए4, क्यू7 और क्यू5 में भी देखने को मिलता है। इसमें हर प्रकार की इंफोर्मेशन मिलती है और नेविगेशन मैप भी डिस्प्ले होता है।
  • इसमें 10.1 इंच की इंफोटेनमेंट स्क्रीन दी गई है जो काफी रिस्पॉन्सिव भी है, मगर टच फंक्शनिंग उतनी खास नहीं है। अच्छी बात ये है कि इसे स्विच ऑफ भी किया जा सकता है। 
  • ए6 में ई क्लास की तरह 4-जोन क्लाइमेट कंट्रोल, वायरलैस चार्जिंग, पैनोरमिक सनरूफ, विंडो में मैनुअल सन शेड्स और इलेक्ट्रिक रियर विंडस्क्रीन एवं एंबिएंट लाइटिंग का फीचर दिया गया है। 

  • इसके अलावा इसमें एडजस्टेबल इलेक्ट्रिक स्टीयरिंग और ड्राइवर सीट पर मैमोरी फंक्शन भी दिया गया है जो ई क्लास में मौजूद नहीं है। 
  • ए6 में बैंग एंड ओलुफ्सन साउंड सिस्टम दिया गया है जो ई क्लास में दिए गए बर्मस्टर साउंड सिस्टम से ज्यादा अच्छा है। 

  • फीचर्स के मामले में ई क्लास भी ए6 से कम नहीं है। इसमें 12.3 इंच की डिस्प्ले, सेंट्रल इंफोटेनमेंट स्क्रीन को कंट्रोल करने के लिए स्टीयरिंग माउंटेड कंट्रोल्स, पैनोरमिक सनरूफ और 3-जोन क्लाइमेट कंट्रोल जैसे फीचर्स दिए गए हैं। 
  • ई क्लास में रियर सीट्स पर भी काफी अच्छे कंफर्ट फीचर्स दिए गए हैं। इनमें वायरलैस चार्जिंग पैड, सभी सन शेड्स को कंट्रोल करने के लिए टच स्क्रीन रिमोट दिया गया है। यही रिमोट मीडिया को मैनेज और 3 जोन क्लाइमेट कंट्रोल को सेट करने के काम भी आता है। 
  • इसके अलावा ई क्लास में सॉफ्ट क्लोजिंग डोर, रियर सीट्स पर मैमोरी फंक्शन और रिक्लाइन का फीचर भी दिया गया है। इसमें फ्रंट सीट्स को एडजस्ट भी किया जा सकता है और व्हीलबेस लंबा होने की वजह से अच्छा खासा लेगरूम स्पेस मिलता है। 

राइड क्वालिटी और कंफर्ट

  • ए6 की राइड क्वालिटी काफी बैलेंस्ड है और इसके सस्पेंशन सिस्टम खराब रास्तों और गड्ढों से आने वाले झटकों को आराम से झेल लेते हैं। हालांकि थोड़ा ऊंचा स्पीड ब्रेकर आ जाने से कार थोड़ा ज्यादा उछाल ले लेती है। 
  • ए6 को हाईवे पर ड्राइव करते हुए काफी कंफर्टेबल महसूस हुआ। इस दौरान इसके सस्पेंशन काफी फ्लैट रहे। 

  • ए6 की रियर सीट्स काफी सपोर्टिव है, मगर इसका सीट बैक एंगल खड़ा हुआ सा है जो कि लग्जरी कारों में नहीं देखा जाता है। 
  • इसमें रियर पर ट्रांसमिशन टनल दिया गया है जिससे बीच वाले पैसेंजर को थोड़ा अनकंफर्टेबल होकर बैठना पड़ता है। 

  • सिटी में ड्राइव करते वक्त ई क्लास में सफर करना काफी कंफर्टेबल रहता है। इसके सस्पेंशन किसी तरह की भी परेशानी को झेलने में अच्छे से सक्षम है। 
  • हालांकि हाईवे पर इसके सस्पेंशन को किसी खराब जगह से गुजरने के बाद सैटल होने में थोड़ा समय लगता है। सिटी में भी खराब सड़कों पर साइड टू साइड मोशन को फील किया जा सकता है। 

  • ई क्लास की रियर सीट्स ज्यादा कंफर्टेबल है जो रिक्लाइनेबल तो है ही, साथ में इनमें अच्छा खासा लेगरूम स्पेस मिलता है। इतना लेगरूम कि आप चाहे तो यहां 5 पैसेंजर्स को बैठा सकते हैं। 

परफॉर्मेंस

ऑडी ए6 में केवल पेट्रोल इंजन का ही ऑप्शन दिया गया है, वहीं ई क्लास में डीजल इंजन का ऑप्शन भी मिलता है। 

  • पेट्रोल यूनिट के तौर पर ए6 में 2.0 लीटर टीएसआई इंजन दिया गया है। ये इंजन काफी स्मूद और रिफाइन्ड है। इस इंजन के रहते खुली-खुली और चौड़ी सड़कों पर ए6 को चलाने का अपना ही मजा है। 
  • यह इंजन 245 पीएस की पावर जनरेट करने में सक्षम है जिससे इस सेडान को 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ने में 7.04 सेकंड का समय लगता है। 
  • इस इंजन के साथ 8-स्पीड गियरबॉक्स दिया गया है जिसकी शिफ्टिंग काफी स्मूद है और सिटी में तो इसके शिफ्ट्स होने का पता ही नहीं लगता है। 
  • ऑडी की कारों से लोगों को बस एक ही शिकायत रहती है और वो है हल्के स्टीयरिंग व्हील। यही बात ए6 में भी नजर आती है। 

  • ए6 के टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन से सिटी में 9.60 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज मिलता है, जबकि हाईवे पर ये कार 15.35 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देती है। 
  • इसके लाइट स्टीयरिंग की बात छोड़ दें तो स्मूद गियरबॉक्स और अच्छी पावर डिलीवरी की वजह से ए6 को ड्राइव करना काफी अच्छा लगता है। 
  • मर्सिडीज़ ई क्लास में रियर व्हील ड्राइव सिस्टम दिया गया है।  
  • ई क्लास में हमें जो कमी दिखी वो ये कि इसके सस्पेंशन काफी सॉफ्ट हैं और ए6 के मुकाबले इसमें ज्यादा बॉडी रोल महसूस किया जा सकता है। 

  • इस कार को 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ने में 8.62 सेकंड का समय लगता है जो ए6 के आसपास भी नहीं है, मगर इसे धीमा भी नहीं कहा जा सकता है। 
  • ई क्लास में 9-स्पीड गियरबॉक्स दिया गया है जिसकी बदौलत ये सेडान सिटी में 12.83 किमी प्रति लीटर और हाईवे पर 20.79 किमी लीटर का माइलेज देती है। 

सेफ्टी फीचर्स 

  • दोनों कारों में ड्यूल फ्रंट, साइड और कर्टेन एयरबैग का फीचर दिया गया है। 
  • ऑडी ए6 में पार्क असिस्ट सिस्टम का फीचर भी दिया गया है जो कार को सही ढंग से पार्क करने में मदद करता है। इसमें आपको केवल जरूरत पड़ने पर कार को रिवर्स और ब्रेक लगाने का काम ही करना पड़ता है। 
  • इसके अलावा इसमें लेन डिपार्चर वॉर्निंग सिस्टम भी दिया गया है जो स्टीयरिंग के जरिए फीडबैक देता है और आपको अपनी लेन में चलने की याद दिलाता रहता है। 
  • दूसरी तरफ मर्सिडीज ई क्लास में फ्रंट कॉलिजन वॉर्निंग सिस्टम भी दिया गया है और किसी तरह के टकराव की स्थिति से निपटने के लिए ब्रेक असिस्ट का फीचर भी दिया गया है। 
  • ऑडी ए6 में डीजल इंजन का ऑप्शन नहीं होने से इसमें दूसरी लग्जरी सेडान कारों के मुकाबले इंजन की ज्यादा चॉइस नहीं मिलती। 

  • यह कार केवल दो वेरिएंट प्रीमियम प्लस (54.42 लाख रुपये) और टेक्नोलॉजी (59.42 लाख रुपये) में उपलब्ध है। 
  • दूसरी तरफ ई क्लास की प्राइस 59.07 लाख रुपये से शुरू होती है जो कि 75.29 लाख रुपये तक पहुंचती है। इसका ई350 डी डीजल वेरिएंट सबसे महंगा है। जबकि इस कंपेरिजन में शामिल ई 220 डी एक्सक्लूजिव डीजन वेरिएंट की प्राइस 64.32 लाख रुपये (एक्स-शोरूम दिल्ली) है। 
  • जहां ऑडी ए6 अपनी लुभावनी कीमत के चलते ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर खींचने में सक्षम है, वहीं ई क्लास की कीमत थोड़ी ज्यादा तो है मगर यह एक फीचर रिच लग्जरी कार भी है। 

ऑडी ए6 और बीएमडब्ल्यू ई क्लास का कंपेरिजन करते हुए हमने पाया कि प्राइसिंग और लग्जरी फीचर्स के मामले में ये दोनों कारें एक ही सेगमेंट की है। मगर लोगों के एक सेगमेंट को ध्यान में रखते हुए कार में लग्जरी फैक्टर्स को शामिल करने के मामले में ये दोनों कारें एक-दूसरे से बिल्कुल अलग हैं। यदि आप अक्सर खुद कार ना ड्राइव कर आराम से पीछे बैठकर आने जाने में समय बिताना पसंद करते हैं तो यहां आपको मर्सिडीज बेंज ई क्लास लेनी चाहिए। यह काफी कंफर्टेबल कार है और अगर आप इसे चलाना भी चाहें तो भी ये आपको काफी पसंद आएगी। यदि आप ड्राइविंग करना पसंद करते हैं तो आपको ऑडी ए6 का वर्चुअल कॉकपिट जरूर पसंद आएगा। यह कार सिटी में चलाने के साथ-साथ हाईवे पर भी कमाल की परफॉर्मेंस देती है।

नई सेडान कारें

अपकमिंग कारें

पॉपुलर सेडान कारें

*Estimated Price New Delhi
×
आपका शहर कौन सा है?