• लॉगिन / रजिस्टर

लग्ज़री कार और एसयूवी पर बढ़ा सेस, 7 फीसदी तक हुईं महंगी

प्रकाशित: सितंबर 11, 2017 03:33 pm । jagdev kalsi

  • 10 व्यूज़
  • Write a कमेंट

जीएसटी काउंसिल की 9 सितंबर को हुई बैठक में मिड-साइज कार, लग्ज़री कार और एसयूवी पर सेस बढ़ाने का निर्णय लिया गया है, इन पर क्रमशः 2, 5 और 7 फीसदी सेस बढ़ाया गया है।

जीएसटी काउंसिल के अनुसार यह निर्णय हाइब्रिड कारों को मिड-साइज, लग्ज़री और एसयूवी की तुलना में कम टैक्स के दायरे में लाने के लिए किया गया है। अब हाइब्रिड कारों पर मिड-साइज और लग्ज़री कारों की तुलना में कम टैक्स लगेगा, हालांकि इलेक्ट्रिक और छोटी कारों की तुलना में इन पर ज्यादा टैक्स देना होगा।

नई जीएसटी दर इस प्रकार है...

    बेस सेस नेट
स्मॉल कार पेट्रोल 28.00 % 1.00 % 29.00 %
  डीज़ल 28.00 % 3.00 % 31.00 %
मिड साइज कार   28.00 % 17.00 % (+2%) 45.00 %
लग्ज़री कार   28.00 % 20.00 % (+5%) 48.00 %
एसयूवी   28.00 % 22.00 % (+7%) 50.00 %
हाइब्रिड   28.00 % 15.00 % 43.00 %
इलेक्ट्रिक   12.00 % 0.00 % 12.00 %

जीएसटी काउंसिल की इससे पहले हुई मीटिंग में लग्ज़री कारों और एसयूवी पर सेस को 15 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी करने का प्रस्ताव रखा गया था, लेकिन अब जीएसटी काउंसिल ने मिड-साइज कार, लग्ज़री कार और एसयूवी सेगमेंट में क्रमशः 2, 5 और 7 फीसदी सेस बढ़ाया है।

कारों को इन श्रेणियों में रखा गया है

1. स्मॉल कार: चार मीटर से कम लंबी कार, जिस में 1.2 लीटर से ज्यादा क्षमता वाला पेट्रोल और 1.5 लीटर से ज्यादा क्षमता वाला डीज़ल इंजन ना लगा हो।

Maruti Suzuki Alto 800

2. मिड-साइज कार: चार मीटर से ज्यादा लंबी कार, जिस में 1.5 लीटर से ज्यादा क्षमता वाला पेट्रोल और डीज़ल इंजन ना लगा हो।

Maruti Suzuki Ciaz (petrol)

3. लग्ज़री कार: चार मीटर से ज्यादा लंबी कार, जिस में 1.5 लीटर से ज्यादा क्षमता वाला पेट्रोल और डीज़ल इंजन लगा हो।

BMW 5 Series

4. एसयूवी: 170 एमएम ग्राउंड क्लीयरेंस वाली चार मीटर से ज्यादा लंबी कार, जिस में 1.5 लीटर से ज्यादा क्षमता वाला पेट्रोल और डीज़ल इंजन लगा हो।

Toyota Fortuner

द्वारा प्रकाशित

Write your कमेंट

Read Full News
  • ट्रेंडिंग
  • हाल का
×
आपका शहर कौन सा है?