एपल का इलेक्ट्रिक कार प्रोजेक्ट हुआ बंद: 10 सालों से इस पर काम कर रही थी कंपनी, अब जेनरेटिव एआई पर करेगी फोकस

संशोधित: फरवरी 28, 2024 03:24 pm | सोनू

  • 510 Views
  • Write a कमेंट

शायद कंपनी ने दुनियाभर में इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री में गिरावट के कारण एक दशक से चल रहा प्रोजेक्ट बंद किया है

Apple EV Plans Get Scrapped

  • एपल ने सेल्फ ड्राइविंग इलेक्ट्रिक कार बनाने के लिए 2014 में प्रोजेक्ट टाइटन शुरू किया था।

  • पहले एपल ने लेवल 4 ऑटोनॉमस इलेक्ट्रिक गाड़ी तैयार करने की योजना बनाई थी लेकिन बाद में इसे लेवल 2+ ईवी में बदल दिया गया।

  • ईवी प्रोजेक्ट बंद करने के बाद अब एपल का फोकस जेनरेटिव एआई पर रहेगा।

  • गूगल, सोनी और शाओमी जैसी दूसरी टेक कंपनियों ने सेल्फ ड्राइविंग इलेक्ट्रिक कार बनाने में प्रगति की है।

सूत्रों से पता चला है कि एपल का इलेक्ट्रिक कार प्रोजेक्ट टाइटन बंद कर दिया गया है, हालांकि कंपनी ने इस पर अभी तक कोई ऑफिशियल स्टेटमेंट नहीं दिया है। एपल का यह प्रोजेक्ट करीब एक दशक से चल रहा था, रिपोर्ट की मानें तो इस प्रोजेक्ट पर करीब 2,000 कर्मचारी काम कर रहे थे जिनमें से कुछ को एपल के जेनरेटिव एआई प्रोजेक्ट में शिफ्ट किया जाएगा। यहां देखिए एपल इलेक्ट्रिक कार प्रोग्राम की वो सब बाते हैं जो हम जानते हैंः

प्रोजेक्ट टाइटन

वर्ष 2014 में ऐपल ने ऑटोनॉमस इलेक्ट्रिक व्हीकल तैयार करने की योजना बनाई और तब से कंपनी के ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में कदम रखने की चर्चाएं शुरू हो गई। शुरुआत में एपल की योजना लेवल 4 ड्राइवर असिस्टेंस सिस्टम का इस्तेमाल करके बिना स्टीयरिंग व्हील और पेडल वाली कार तैयार करने की थी जिसे वॉइस कमांड से ऑपरेट किया जा सकता था।

Apple EV - AI Generated

एपल ने कई व्हीकल डिजाइन का परीक्षण किया और अपने ड्राइवर असिस्टेंस सिस्टम की टेस्टिंग भी शुरू कर दी थी, लेकिन बाद में रिपोर्ट आई कि कंपनी ने मैनुअल कंट्रोल्स के साथ पारंपरिक तरीके से व्हीकल तैयार करने का निर्णय लिया है और ड्राइवर असिस्टेंस को लेवल 4 से लेवल 2+ पर शिफ्ट कर दिया गया है। इन सब समझौतों के बाद आखिरी रिपोर्ट में एपल इलेक्ट्रिक कार को 2028 में लॉन्च करने की बात कही गई जो काफी लंबा समय था।

यह भी पढ़ेंः बीवाईडी सील इलेक्ट्रिक सेडान के किस वेरिएंट में मिलेंगे कौनसे फीचर, जानिए यहां

हालांकि एक दशक से ज्यादा काम करने के बाद अब एपल ने इस प्रोजेक्ट को बंद कर दिया है और अब हमें नहीं लगता कि हम इस कंपनी की इलेक्ट्रिक गाड़ी मार्केट में देखेंगे। हालांकि एपल ने इसकी कोई वजह नहीं बताई है, लेकिन कुछ रिपोर्ट में कहा गया है कि शायद ग्लोबल मार्केट में इलेक्ट्रिक कारों की घटती बिक्री इसकी वजह हो सकती है।

Apple EV Cabin - AI Generated

ऐसे और भी कई कारण है जो एपल को ईवी प्रोजेक्ट में नया निवेश करने से रोक सकते हैं। इनमें एक तो ये है कि इलेक्ट्रिक कारों की कीमत पेट्रोल और डीजल मॉडल से ज्यादा होती है, दूसरा ये कि हाइब्रिड व्हीकल्स की तरफ लोगों का रूझान बढ़ रहा है, इसके अलावा ऑटोनॉमस ड्राइविंग टेक्नोलॉजी डेवलप करने में भी कई तरह की चुनौतियां हैं।

जेनरेटिव एआई

Apple Vision Pro

कई बड़ी टेक कंपनियों की तरह एपल भी जनरेटिव आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसी पर काम कर रही है। जेनरेटिव एआई एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल है जो यूजर इनपुट के आधार पर टेक्स्ट, फोटो, ऑडियो और यहां तक कि वीडियो तैयार कर सकता है। इस टेक्नोलॉजी का एक बड़ा उदाहरण चेटजीपीटी है, जिसने दुनियाभर के लोगों को अपनी क्षमताओं से आश्चर्यचकित कर दिया है।

यह भी पढ़ेंः विनफास्ट ने तमिलनाडु में ईवी मैन्युफैक्चरिंग प्लांट का कंस्ट्रक्शन किया शुरू, जल्द उतारेगी भारत में अपनी कारें

ईवी प्रोजेक्ट को बंद करने के बाद अब एपल अपनी मैनपावर को जेनरेटिव एआई की तरफ शिफ्ट करेगी। एपल अपने फ्यूचर प्रोडक्ट के हिसाब से इस टेक्नोलॉजी को विकसित करेगी और इसे कंपनी के लेटेस्ट प्रोडक्ट में भी दिया जा सकता है।

एपल ईवी का भविष्य

Apple EV - AI Generated

भले ही एपल ने इलेक्ट्रिक कार बनाने की योजना बंद कर दी है लेकिन यह प्रोजेक्ट टाइटन का अंत नहीं हो सकता है। एपल की तरह दूसरी कई इलेक्ट्रॉनिक और टेक कंपनियां ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में ईवी सेगमेंट में एंट्री करने की योजना बना रही है, लेकिन ये फुल ऑटोनॉमस कारें नहीं लाएंगी। शाओमी और सोनी जैसी कंपनियों ने अपनी खुद की इलेक्ट्रिक कार तैयार की है जिसमें सोनी ने होंडा के साथ पार्टनरशिप की है। इनके अलावा गूगल भी सेल्फ ड्राइविंग व्हीकल प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है।

Apple EV - AI Generated

शायद 2030 के आसपास एपल वहीं से आगे बढ़ेगा जहां उसने बंद किया है और तब एपल इलेक्ट्रिक कार का सपना सच हो सकता है। क्या आप एपल की इलेक्ट्रिक कार देखना चाहते हैं? हमें कमेंट में अपने विचार जरूर बताएं।

सोर्स

द्वारा प्रकाशित
was this article helpful ?

0 out ऑफ 0 found this helpful

Write your कमेंट

Read Full News

कार न्यूज़

  • ट्रेंडिंग न्यूज़
  • ताजा खबरें

ट्रेंडिंग इलेक्ट्रिक कारें

  • पॉपुलर
  • अपकमिंग
×
We need your सिटी to customize your experience