• English
  • Login / Register

फोक्सवैगन टाइगन : फर्स्ट ड्राइव रिव्यू

Published On सितंबर 03, 2021 By भानु for फॉक्सवेगन टाइगन

 

एक बार फोक्सवैगन की कोई कार ड्राइव कर लेने के बाद किसी को दूसरी कार चलाना शायद ही पंसद आता होगा। ये बात हम नहीं बल्कि पोलो या वेंटो ड्राइव कर चुके ओनर्स का मानना है। जब हमने उनसे इस चीज कार कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि इस कंपनी की कारों का लुक काफी क्लासी होता है और इनकी बिल्ड क्वालिटी भी काफी सॉलिड होती है। उन्होनें तीसरा कारण बताया कि फोक्सवैगन की कारों में एक से बढ़कर एक फीचर्स भी मिलते है और इनके ड्राइविंग डायनैमिक्स भी काफी अच्छे होते हैं। ऐसे में इन सभी पैमानों पर हमने फोक्सवैगन की अपकमिंग कार टाइगन को टेस्ट किया जो कि मेड इन इंडिया प्लेटफॉर्म पर ही तैयार की गई है। तो क्या रहे हमारे इस टेस्ट के नतीजे ये आप जानेंगे आगे:

लुक्स 

फोक्सवैगन टाइगन के लुक्स काफी क्लासी हैं। भले ही कंपनी ने इसकी बॉडी में क्रोम का काफी इस्तेमाल किया हो मगर इसका ओवरऑल डिजाइन काफी स्टाइलिश है। इसमें स्टाइलिश हेडलैंप्स के साथ ग्रिल और फुल एलईडी सेटअप दिया गया है। हालांकि इसके बेस लाइन वेरिएंट्स में मल्टीपल एलईडी डेटाइम रनिंग लैंप्स के साथ कन्वेंशनल बल्ब दिए गए हैं। दमदार लुक के लिए इसमें स्कवायर शेप का बोनट दिया गया है। और चूंकि ये इसका जीटी लाइन वेरिएंट है ऐसे में इसमें ग्रिल, बूट और साइड फेंडर पर जीटी की बैजिंग भी दी गई है। कुल मिलाकर इन एलिमेंट्स के दम पर इसका फ्रंट लुक काफी दमदार नजर आता है।

फोक्सवैगन टाइगन के जीटी लाइन वेरिएंट में रेड ब्रेक कैलिपर्स के साथ 17 इंच के अलॉय व्हील्स दिए गए हैं। टाइगन में ग्लास एरिया, बॉडी लाइंस, डोर हैंडल्स, ओआरवीएम और क्लेडिंग जैसे काफी एलिमेंट्स कुशाक से लिए गए हैं, मगर इसकी फ्रंट और​ रियर स्टाइलिंग काफी अलग है। 

इसके रियर प्रोफाइल में कनेक्टेड टेललैंप्स स्टैंडर्ड दिए गए हैं। यहां आपको 'टाइगन' नाम के लैटर्स भी नजर आएंगे। े

इंटीरियर 

इसके इंटीरियर का लेआउट काफी क्लासी नजर आता है। हालांकि कुछ जगहों पर इसमें क्वालिटी में कमी भी नजर आती है।

फोक्सवैगन ने इसके केबिन का लेआउट काफी सिंपल सोबर रखा है। इसमें फ्लोटिंग टचस्क्रीन की जगह डैशबोर्ड पर इंटीग्रेटेड यूनिट दी गई है। 

यहां आपको कलरफुल पैनल्स और मिडिल पार्ट पर स्ट्रिप भी नजर आएगी। हमारी नजर में इसमें दिए गए एसी वेंट्स का डिजाइन काफी प्लेन है जहां इन्हें स्टाइलिश बनाने के लिए सिल्वर एसेंट्स का इस्तेमाल किया गया है। यहां तक कि क्लाइमेट कंट्रोल टच पैनल भी काफी अच्छा है। 

इसका स्टीयरिंग व्हील होल्ड करने में काफी अच्छा है और इससे अच्छा फीडबैक भी मिलता है। इसके जीटी लाइन वेरिएंट में लैदरेट और फैब्रिक अपहोल्स्ट्री दी गई है जिसकी क्वालिटी काफी अच्छी है और इनसे केबिन का लुक भी काफी सॉलिड हो जाता है। इसके जीटी लाइन में रेड एंबिएंट लाइटिंग भी दी गई है। वहीं रेगुलर वेरिएंट्स में आपको व्हाइट एंबिएंट लाइटिंग मिलेगी। 

जैसे ही आप इस कार में दिए गए बटन का इस्तेमाल करते हैं तो आपको कुछ कमियां जरूर महसूस होगी। इसकी केबिन लाइट, लाइट कंट्रोल, लॉक अनलॉक और हेडलैंप का स्विच काफी लो क्वालिटी का महसूस होता है। वहीं रिवर्स कैमरा डिस्प्ले का रेजोल्यूशन भी उतना अच्छा नहीं लगता है। पावर विंडो के स्विच में भी आपको प्लास्टिक महसूस होगा जहां केवल ड्राइवर के लिए ही वन टच ऑपरेशन दिया गया है। ऐसे में टाइगन एसयूवी भारत की एकमात्र ऐसी कार होगी जिसमें पैसेंजर्स के लिए वन टच ऑपरेशन नहीं दिया गया है। 

इन सबके अलावा फोक्सवैगन टाइगन जीटी लाइन में वेंटिलेटेड सीट्स, परफोरेटेड लैदरेट अपहोल्स्ट्री और सब वूफर का फीचर भी नहीं दिया गया है। ये सभी फीचर आपको इसके हाइलाइन वेरिएंट में मिलेंगे। वहीं आप यदि मैनुअल गियरबॉक्स वाली कारें ड्राइव करना पसंद करते हैं तो आपको इस वेरिएंट में डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, सनरूफ, क्रूज कंट्रोल, एलईडी हेडलैंप, डुअल टोन अलॉय व्हील और रेड ब्रेक कैलिपर्स जैसे फीचर्स नहीं मिलेंगे। 

टाइगन में जो फीचर्स दिए गए हैं उनपर डालते हैं एक नजर:

  • ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल
  • ऑटो हेडलैंप और वाइपर

  • हाइट एडजस्टेबल ड्राइवर सीट
  • टिल्ट एंड टेलीस्कोपिक स्टीयरिंग एडजस्टमेंट
  • ऑटो डे नाइट आईआरवीएम

  • वायरलैस चार्जर 
  • ऑटोमैटिक वेरिएंट्स में पैडल शिफ्टर्स

अगर इसमें पैनोरमिक सनरूफ और पावर्ड ड्राइवर सीट दे दी जाती तो ये और भी प्रीमियम फील दे सकती थी।

इस कार में अच्छे खासे सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं। टॉप वेरिएंट में 6 एयरबैग मौजूद है जबकि इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल स्टैंडर्ड फीचर के तौर पर मौजूद है। वहीं टायर प्रेशर डिफ्लेशन, रियर सीट पर तीन हेडरेस्ट, रियर पार्किंग सेंसर्स, सभी पैसेंजर्स के लिए 3 पॉइन्ट सीटबेल्ट्स, हिल होल्ड कंट्रोल, रियर पार्किंग कैमरा, ब्रेक डिस्क वाइपिंग, आईएसओफिक्स एंकर्स, इलेक्ट्रॉनिक डिफ्रेंशियल लॉक और मल्टी कॉलिजन ब्रेक्स जैसैै फीचर्स भी स्टैंडर्ड दिए गए हैं।

केबिन स्पेस और प्रैक्टिकल फीचर्स

टाइगन सही मायनो में काफी प्रेक्टिकल कार है। ये 4 लोगों वाली फैमिली के हिसाब से पूरी तरह कंफर्टेबल है और इसमें हेडरूम, नीरूम और लेगरूम स्पेस की कोई कमी नहीं है। वहीं इसकी सीट्स पर बैठने के बाद आपको काफी अच्छा अंडर थाई सपोर्ट भी मिलेगा। हालांकि इसके केबिन की च़ौड़ाई काफी कम है जिससे इसकी रियर सीट पर तीन लोग कंफर्टेबल होकर नहीं बैठ सकते हैं। 

प्रेक्टिकैलिटी के मोर्चे पर इस कार में कोई कमी नहीं है। इसमें बड़े फ्रंट और रियर डोर पॉकेट्स, फ्रंट कप होल्डर्स में रबर स्टॉपर्स, निक नैक स्टोरेज, कूल्ड ग्लव बॉक्स, रियर आर्मरेस्ट कप होल्डर्स और रियर एसी वेंट्स जैसे फीचर्स मौजूद है। इसके अलावा इसमें 4 यूएसबी टाइप सी चार्जर और 12 वोल्ट का सॉकेट भी दिया गया है। 

इसका बूट साइज 385 लीटर का है जिसमें तीन सूटकेस आराम से आ सकते हैंं। हालांकि इसमें 60:40 सीट्स को फोल्ड नहीं किया जा सकता है जिससे कुछ एक्स्ट्रा लगेज रखने में आपको दिक्कत आ सकती है। 

टाइगन के जीटी लाइन वेरिएंट में 1.5 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन दिया गया है जिसमें मैनुअल और ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के ऑप्शन मौजूद हैं। वहीं इसमें 1.0 लीटर 3 सिलेंडर पेट्रोल इंजन का ऑप्शन भी मौजूद है।

इंजन - 1.0  लीटर टर्बो पेट्रोल

सिलेंडर - 3

पावर - 115पीएस

टॉर्क - 178एनएम

गियरबॉक्स - 6-स्पीड मैनुअल / 6-स्पीड ऑटोमैटिक

इंजन - 1.5 लीटर टर्बो पेट्रोल

सिलेंडर- 4

पावर- 150पीएस

टॉर्क - 250एनएम

गियरबॉक्स -  6-स्पीड मैनुअल / 7-स्पीड डीएसजी

इसमें दिए गए 1.5 लीटर इंजन का रिफाइनमेंट लेवल काफी अच्छा है। वहीं इसकी पावर डिलीवरी भी कमाल की है। ये लोअर आरपीएम पर अच्छी टॉर्क भी डिलीवर करता है। 2000 आरपीएम के बाद इसमें टर्बो जनरेट होता है जिसके बाद आपको स्पोर्टी ड्राइविंग करने का मौका मिलता है। इसके मैनुअल गियरशिफ्ट्स काफी स्मूद हैं और सिटी में दूसरे या तीसरे गियर पर आप इसे अच्छे से ड्राइव कर सकते है। 

इसमें दिया गया 7 स्पीड डीएसजी गियरबॉक्स भी काफी स्मूद है जिसमें मैनुअल कंट्रोल करने के लिए पैडल शिफ्टर्स भी दिए गए हैं। 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड पकड़ने में इसे 9.1 सेकंड्स का समय लगता है। 

हालांकि 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ड्राइव करने पर आप अच्छे माइलेज की उम्मीद नहीं कर सकते। हाईवे पर इसके इंजन के 2 सिलेंडर को डिएक्टिवेट किया जा सकता है, मगर तब भी ये डीजल इंजन जितना अच्छा माइलेज नहीं देता है। 

राइड और हैंडलिंग

इसकी राइड क्वालिटी व्हील्स के साइज पर काफी निर्भर करती है। हमने इसका जीटी लाइन वेरिएंट ड्राइव किया था जिसमें 16 इंच के व्हील्स दिए गए हैं। इस वजह से इसकी राइड क्वालिटी काफी अच्छी हो जाती है।

वहीं इसमें 17 इंच के व्हील्स का भी ऑप्शन दिया गया है जिनके रहते आपको राइड क्वालिटी में फर्क महसूस होगा। इसके 17 इंच व्हील्स से राइड में आपको थोड़ी हार्शनैस महसूस होगी। 

कॉर्नर्स पर ये कार काफी स्मूद तरीके से चलती है। वहीं स्टी​यरिंग व्हील का फीडबैक भी काफी अच्छा है। इसमें इलेक्ट्रॉनिक लॉकिन्ग डिफ्रेंशियल भी दिए गए हैं जिससे ट्रेक्शन नहीं आने पर आपको काफी मदद मिलती है। 

निष्कर्ष

फोक्सवैगन टाइगन के लुक्स काफी अच्छे हैं और इसकी बिल्ड क्वालिटी भी लाजवाब है। हालांकि ये क्रेटा से थोड़ी छोटी नजर आती है और पोलो एवं वेंटो के ​मुकाबले इसकी फिट और फिनिशिंग भी कमतर ही नजर आती है। लेकिन इस कार में फीचर्स की भरमार है और सेफ्टी फीचर्स की भी कोई कमी नहीं है। यदि कंपनी ने इसकी प्राइस 17.5 लाख रुपये से कम रखी तो ये काफी हिट प्रोडक्ट साबित हो सकता है। बता दें कि 23 सितंबर को टाइगन एसयूवी मार्केट में लॉन्च कर दी जाएगी।

नई एसयूवी कारें

अपकमिंग कारें

पॉपुलर एसयूवी कारें

*Estimated Price New Delhi
×
We need your सिटी to customize your experience